Ad

Archive for: August 2012

राज ठाकरे ने आशा भोंसले पर आँखें तरेरी

मनसे प्रमुख राज ठाकरे आये दिन प्रसिद्धि प्राप्त करने के लिए किसी न किसी विवादित मुद्दे या फिर किसी सेलेब्रेटी को निशाना बनाते रहते हैं|असाम दंगों के विरोध में मुम्बई को घंटों बंधक बनाने के बाद अब महाराष्ट्रियन आशा भोंसले को धमकी दे डाली है| महान गायिका आशा भोसले को पत्र लिखकर कहा गया है कि वह पाकिस्तानी कलाकारों के साथ काम न करें।
श्री ठाकरे की पार्टी महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) ने कलर्स टीवी चैनल को इस मामले में धमकाने की भी कोशिश की है।
आगामी 8 सितंबर को आशा भोसले कलर्स चैनल पर पाकिस्तानी गायकों के साथ गाएंगी। मनसे ने धमकी दी है कि अगर कार्यक्रम का प्रसारण करने की कोशिश की गई तो मुंबई में चैनल की कोई शूटिंग नहीं होने दी जायेगी |
और प्रायोजकों के उत्पादों को भी बैन कर दिया जाएगा |
महाराष्ट्र नवनिर्माण चित्रपट कर्मचारी सेना ने आशा भोसले को भी पत्र लिखकर इस कार्यक्रम में भाग न लेने के लिए कहा है।
पाकिस्तान में सलमान खान की फिल्म ‘एक था टाइगर’ पर बैन लगाने का हवाला देते हुए कहा कि जब पाकिस्तान हमारा सम्मान नहीं कर रहा है, तो हम भला क्यों उनके कलाकारों को तवज्जो दें।’ उन्होंने लोगों से भी इस तरह के शो नहीं देखने की अपील की।

एयर इंडिया कर्मियों को मुनाफे पर आधारित भत्ते मिलेंगें|

जस्टिस धर्माधिकारी समिति की रिपोर्ट की गाज एयर इंडिया के कर्मचारियों पर गिर ही गई है| एयर इंडिया के कर्मचारियों के वेतन भत्तों में बदलाव समिति की सिफारिशों को स्वीकार करके वेतन मान में संशोधन किया गया है।
अब वेतन भत्तों में प्रदर्शन आधारित प्रोत्साहन [पीएलआइ] की राशि नहीं मिलेगी।बेशक इसके स्थान पर व्यावसाईक द्रष्टिकोण[ उत्पादकता आधारित] अपनाया गया है मगर उस नज़रिए से कर्मियों को नुक्सान होना लाज़मी है|
पीएलआइ कर्मचारियों को वेतन राशि के एक हिस्से के तौर पर दिया जाता है।इसका भुगतान निश्चित है|
सरकारी एयरलाइंस ने जस्टिस धर्माधिकारी समिति की अरसे से लंबित सिफारिशों के आधार पर इस व्यवस्था को खत्म करने का फैसला लिया है।
अब मुनाफे या उत्पादकता आधारित [पीआरपी] व्यवस्था लागू करने का निर्णय किया गया है।
एयर इंडिया कर्मचारियों को अब सार्वजनिक उपक्रम विभाग [डीपीई] की ओर से जारी दिशानिर्देशों के मुताबिक वेतन और भत्ते मिलेंगे। यह दिशानिर्देश एक जुलाई से प्रभावी हो गया है। नई पीआरपी व्यवस्था में उत्पादकता, विमान उपयोग,यात्री लोड फैक्टर, समय पर संचालन,आय संबंधी उपलब्धियों जैसे मानकों के आधार पर भत्ते दिए जाएंगे। यह भत्ते भी एयरलाइंस के मुनाफे में लौटने के बाद से दिए जाएंगे।क्यूंकि यह भुगतान मुनाफे पर आधारित होगा और कंपनी लगातार घाटा दिखा रही है|कंपनी की सेवाओं को सुधारने के स्थान पर जहाज़ों के बेड़े में बढोत्तरी और वेतन में कटौती से फायदा की संभावनाएं तलाशी जा रही है|
विमानन मंत्री अजित सिंह धर्माधिकारी समिति की सिफारिशों को मंजूरी दे चुके हैं| इसी आधार पर अब एक जुलाई से वेतन-भत्तों में वृद्धि के लिए उत्पादकता आधारित व्यवस्था लागू की जाएगी।
वेतन-भत्तों को तार्किक बनाए जाने के लिए जस्टिस धर्माधिकारी समिति की सिफारिशों को वित्तीय संकट से जूझ रही इस कंपनी के लिए काफी अहम माना गया है।

वेतन-भत्तों पर कंपनी का सालाना खर्च करीब 3,200 करोड़ रुपये है। इसमें से 50 फीसद राशि पीएलआइ और कर्मचारियों के उड़ान भत्तों पर खर्च होती है

प्रभु से अलग होने पर अस्तित्व समाप्त

दुर्लभ मानुष जन्म है, देह न बारम्बार
तरुवर ज्यों पत्ती झड़ें, बहुरि न लागे डार

संत कबीर दास जी कहते हैं
-हे मनुष्य! एक लाख चौरासी हजार योनिओं में भटकने के बाद
तुझे यह मनुष्य का जन्म मिला है. तुझे यह शरीर बार-बार नहीं मिलेगा . अब भी समय है
तू चेत जा और ईश्वर के भजन में लग जा . नहीं तो तेरा भी वही हाल होगा जैसे एक पेड़
की टहनी के पत्ते जब अलग होकर धरती पर गिर जाते हैं तो सूख जाते हैं और कभी
उस पेड़ की टहनी पर फिर से नहीं लग पाते इसी प्रकार अगर तुम अपने प्रभु से अलग हो
जाओगे तो तुम्हारा अस्तित्व ही समाप्त हो जायेगा.
संत कबीर वाणी

चचा आजम ने भतीजे अखिलेशी सरकार पर दबाव बनाया

नगर विकास मंत्रालय में अनुशासनहीनता को लेकर कद्दावर मंत्री मुहम्मद आजम खां आज कल हड़ताल पर हैं|
उन्होंने नगर विकास विभाग के काम से फिलहाल हाथ खींच लिए हैं। उन्होंने अफसरों को कोई फाइल न भेजने की हिदायत दी है। उन्होंने कहा है कि जब तक विभाग में अनुशासनहीनता रहेगी तब तक उनके लिए विभागीय पत्रावलिया देखना संभव नहीं होगा।
अखिलेश यादव की सरकार में पहला केस है जब किसी भारी भरकम कैबिनेट मंत्री ने विभाग का काम देखना ही बंद कर दिया है।
सूत्रों के मुताबिक आजम के निर्देश पर उनके निजी सचिव ने प्रमुख सचिव नगर विकास को एक पत्र लिखा है। पत्र में मंत्री के हवाले से कहा गया है कि विभाग में अनुशासनहीनता है। जब तक विभाग में अनुशासनहीनता रहेगी तब तक उनके लिए विभागीय पत्रावली देखना संभव नहीं होगा। इस पत्र को प्रमुख सचिव नगर विकास प्रवीर कुमार द्वारा विभाग के सभी अधिकारियों को भेजा गया है।
कहा जा रहा है कि है। उन्होंने इसके जरिए लखनऊ के नगर आयुक्त प्रकरण को लेकर अपनी उपेक्षा के प्रति नाराजगी भी व्यक्त कर दी है| यह रवैया
सपा

बस ने छात्र कुचला और एक घायल किया

मेरठ के मवाना रोड पर टूरिस्ट बस से कुचल कर बी टेक के एक छात्र की मृत्यु हो गई|मौके से भागने की नियत से ड्राईवर ने बस को डिवाईडर पर चड़ा दिया और एक ट्रेक्टर वाले को भी घायल कर दिया|
जे पी कालेज के छात्रों और छेत्र वासिओं ने विरोध स्वरुप सड़क जाम रखी|पोलिस ने बाद में ड्राइवर को दबोच लिया|
तारापुर निवासी २० वर्षीय शुभम आज सुबह जे पी इंस्टीटयूट के लिए बस से उतरा पीछे से तेज रफ़्तार में आ रही बस ने रोंग साईड से ओवर टेक किया और शुभम को कुचल दिया |
इस के बाद ट्रेक्टर चालकलाल कालोनी निवासी विजय को भी घायल कर दिया|उसे नर्सिंग होम में भर्ती कराया गया है|
छात्रों ने विरोध में ट्रेफिक जाम कर दिया |इससे वाहनों की लम्बी कतारें लग गई और लोगों को बेहद परेशानी भी हुई |वाहनों के मालिकों से इनकी नौंक झौंक भी हुई बाद में मौके पर पहुंची पोलिस ने छात्रों से बात चीत करके जाम खुलवाया |

पी ओ के पकिस्तान का हिस्सा नहीं ?

केवल भारत ही नहीं पाकिस्तान में भी शिक्षा का स्तर चर्चा का विषय बन रहा है|भूगोल और सामान्य ज्ञान की अज्ञानता से वहां भी नीति निर्माताओं की किरकिरी हो रहे हैं|हाल ही में वहां पंजाब प्रान्त की सरकार ने एक नक्शा प्रकाशित करवाया है इस नक्शे में पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर [पीओके] और गिलगित-बाल्टिस्तान को भारत का हिस्सा दिखाया गया है। इस नक़्शे को अब तक 15 हजार स्कूलों को भेजा जा चुका है।ये नक्शे जर्मनी से मिली दो करोड़ 50 लाख डॉलर की वित्तीय सहायता से प्रकाशित और वितरित किए गए थे।
भारत को इसमें ज्यादा खुश होने की जरुरत नहीं है|एक तो पाकिस्तान ने इन छेत्रो पर अपनी दावे दारी छोडी नहीं है दूसरे वहां के शिक्षा विभाग ने यह नक्शा सभी स्कूलों से वापस मंगाने की कवायद भी शुरू कर दी है। तीसरे प्रकाशक को सही नक्शे के साथ एटलस दोबारा छापने के निर्देश दे दिए गए हैं
पंजाब के मुख्यमंत्री शाहबाज शरीफ की सरकार को इसके लिए आलोचना का सामना करना पड़ा है।
शिक्षा विभाग ने इसके लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने की बात कही है

मोदी के कुपोषण के जवाब पर उठ रहे हैं सवाल

: गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर से भारत और इंडिया के बीच खाई खोद कर राजनितिक हलचल मचा दी है|महिलाओं में कुपोषण के मुद्दे पर पूछे गए एक सवाल परउन्होंने कहा कि मध्य वर्ग (मिडिल क्लास) सुंदरता के प्रति स्वास्थ्य से कहीं अधिक सचेत है और यह एक चुनौती है। अमेरिका की एक पत्रिका वाल स्ट्रीट जर्नल से बातचीत में मोदी के इस तरह के जवाब से सवाल उठने शुरू हो गए हैं|
गुजरात में कुपोषण संबंधी जब एक सवाल उनसे किया गया तो उन्होंने कहा कि मिडिल क्लास की लड़कियों और को सेहत से ज्यादा सुंदरता की फिक्र है। उन्होंने कहा कि यदि कोई मां अपनी बेटी से दूध पीने को कहती है, तो उनमें कहा सुनी हो जाती है। बेटी अपनी मां से कहती है कि मैं दूध पीने से मोटी हो जाऊंगी।
इस पर कांग्रेस के राजीव शुक्ला+अम्बिका सोनी आदि ने आलोचना करते हुए गुजरात में होने वाले चुनावों में मोदी का बहिष्कार करने की बात कही है|
२००२ के दंगों पर माफ़ी
एक अन्यं सवाल पर राज्य में 2002 में हुए दंगों के लिए माफी मांगने से इनकार कर दिया है। मोदी ने कहा कि किसी से माफी मांगने के लिए तब कहना चाहिए जब वह किसी अपराध के लिए दोषी हो। यदि आपको लगता है कि यह कोई बड़ा अपराध है तो दोषी को क्यों छोड़ दिया जाए?
मुख्यमंत्री से पूछा गया कि क्या उन्हें २००२ के साम्प्रदाईक दंगों के लिए माफी मांगनी चाहिए, जैसा कि उनके आलोचक मांग कर रहे हैंतब उन्होंने प्रश्न कर्ता से अपने पुराने उतर को दोहराते हुए कहा कि केवल इसलिए कि मोदी मुख्यमंत्री हैं। उन्हें क्यों छोड़ा जाना चाहिए। मुझे लगता है कि यदि मैं दोषी हूं तो मुझे अधिकतम सजा मिलनी चाहिए। दुनिया को जानना चाहिए कि इस तरह के नेता को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।
यह पूछे जाने पर कि क्या वह खुद को भविष्य के प्रधानमंत्री के तौर पर देखते हैं, उन्होंने टालते हुए कहा कि वह गुजरात पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं। मैं इससे आगे की नहीं सोच रहा।

वायु सेना के दो हेलीकाप्टरों की टक्कर से ९ मरे

गुजरात के जाम नगर के समीप एयर फ़ोर्स के दो एम् १७ हेलीकाप्टर आपस में दुर्घटनाग्रस्त हो गए जिसमे सवार १० में से ९ के मारे जाने की पुष्ठी हो चुकी है| मृतकों में एयर फ़ोर्स के अधिकारी भी शामिल बताये जा रहे हैं|
बताया जा रहा कि दोनों चापर १२ बजे के समीप सामान्य अभ्यास उड़ान पर निकले थे थोड़ी देर बाद ही आपस में आमने सामने टकरा गए और एक में आग भी लग गई|
|बताया जा रहा है कि एक चापर में एक समय में ४ लोगों के बैठने कि व्यवस्था होती है|यदपि दुर्घटना के कारणों का तत्काल खुलासा नहीं किया जा सका है इसके लिए जांच के आदेश दे दिए गए हैं

सहयोगी सपा भी संसद में कल धरना देगी

कोयले की लड़ाई में अभी तक तटस्थ रहे सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव भी कूद पड़े हैं|३१ अगस्त को प्रात दस बजे संसद पर धरना देने का एलान कर दिया है|सपा के साथ सी पी आई +सी पी एम् और तेलगू देशम भी होंगें|
गौरतलब है कि केंद्र सरकार को बाहर से समर्थन दे रहे मुलायम सिंह यादव अभी तक कोयले के हंगामे से तटस्थ ही रहे हैं मगर पिछले दिनों यूं पी ऐ अध्यक्षा श्रीमति सोनिया गाँधी ने संसद में मुलायम सिंह से संक्षिप्त मुलाक़ात की जिसके बाद से सपा के स्टेंड में यह परिवर्तन देखा जा रहा है|
राजनीतिक पंडितों का मानना है कि सपा और कांग्रेस में कोई समजौता हुआ है जिसके फलस्वरूप सपा ने भाजपा द्वारा संसद में लाए गए गतिरोध का जवाब देने या फिर देश की एट्रेक्शन [ध्यान]भाजपा से हटाने के लिए यह धरना दिया जाना है|
सपा मुखिया श्री यादव ने मांग की है कि कोयला घोटाला और संसद में गतिरोध कि जांच के लिए सुप्रीम कोर्ट के सिटिंग जज को नियुक्त किया जाए|

किंग फिशर की छह उड़ाने केंसिल

किंग फिशर एयर लाईन्स के पायलेट्स को बार बार हड़ताल करने का या तो चस्का लग गया है या यह उनकी मजबूरी बन गई है|बुधवार को भी मुम्बई में पायलेट्स की हड़ताल के कारण किंग फिशर की छह उड़ाने रद्द कर दी गई हैं|
लंबे समय से आर्थिक मंदी से जूझ रही किंगफिशर एयरलाइंस की मुश्किलें लगातार बड़ती जा रही हैं| बीते दिन वेतन न मिलने पर एक बार फिर मुंबई के पायलट हड़ताल पर चले गए। ऐसे में कंपनी की 6 उड़ानें रद्द हो गई।
इसके पहले कंपनी के मालिक विजय माल्या ने पायलट व अन्य कर्मचारियों के भुगतान का आश्वासन दिया था।