Ad

Archive for: September 2012

गणपति बप्पा मोरेया अगले बरस तू जल्दी आ

देश भर में आज विघ्नहर्ता + मोदक प्रिय+लम्बोदर+शिव पुत्र गणपति गणेश को आज समारोह पूर्वक विदाई दी जा रही है| गणपति बप्पा के विग्रहों को जल में विसर्जन करके उन्हें उनके धाम भेजा जा रहा है|आज से ग्यारह दिन पहले गणपति की स्थापना की गई थी जिसके आज ग्यारहवें दिन विदाई समारोह आयोजित हो रहे हैं |
वैसे तो स्वतन्त्रता संग्राम में भारत वासिओं को एक जुट करने के लिए गणपति गणेश पूजन समारोह आयोजित किये जाने की प्रथा डाली गई इस समारोह में विशेषकर महाराष्ट्रा में बड़ी संख्या में भारत वासी इस पूजन से जुड़े यह पूजन आज भी जारी है और इसमें ज्यादा से ज्यादा लोग जुड़ते जा रहे हैं|उतर प्रदेश के मोदी नगर +मेरठ में भी अनंत चतुर्दशी के मौके पर गणपति पूजन धूम धाम से मनाया जा रहा है| | गणेश जी की विदाई धूमधाम से की जा रही है। शोभा यात्राओं में जोश से भरे श्र्धालू जन गाते जा रहे हैं ‘गणपति बप्पा मोरया+मंगल मूर्ती तोरिया+ अगले बरस तू जल्दी आ’ |इन जयघोषों के बीच देश भर में गणेश प्रतिमाओं का विसर्जन किया जा रहा है।

गणपति बप्पा मोरया+मंगल मूर्ती तोरिया+ अगले बरस तू जल्दी आ’

पी एम् भी तू तू में में में फंसे कहा सरकार किसी के इशारे पर काम नहीं करती

प्रधानमंत्री डाक्टर मनमोहन सिंह ने कहा था कि उन्हें तू तू में में की राजनीती नहीं आती मगर अब लगता है कि उन्होंने यह कला +आर्ट+हुनर+गुर सीख लिया है तभी उन्होंने अपने ऊपर लगाये गए आरोपों का तत्काल जवाब दे दिया है| अभी हाल ही में भाजपा द्वारा प्रधान मंत्री पर १० जन पथ के इशारे पर काम करने का आरोप लगाया गया था और २०१३ में चुनाव होने की भविष्य वाणी की जा रही है|इस तू तू का जवाब देते हुए प्रधान मंत्री ने कहा के अभी चुनाव नहीं होने जा रहे हैं और साफ कहा कि सरकार किसी के इशारे पर काम नहीं कर रही है। उन्होंने कहा कि आर्थिक सुधारों पर सरकार सहयोगियों से बात करेगी। उन्होंने ये भी कहा कि जो देश के हित में होगा वही किया जाएगा। उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी से सरकार को कोई दिक्कत नहीं है।
इससे पहले भारतीय जनता पार्टी के नेता और गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को केंद्र सरकार पर तीखा प्रहार किया और आरोप लगाया था कि प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ‘विदेशियों’ के फायदे के लिए काम कर रहे हैं। प्रधानमंत्री पर ताना मारते हुए मोदी ने उनकी तुलना एक हिंदी फिल्म के चरित्र ‘सिंघम’ से की थी और सवाल किया था कि वह ‘बोल्ड’ (कड़ा फैसला लेने वाले) क्यों बने केवल विदेशियों को फायदा पहुंचाने के लिए?
उन्होंने कहा था कि प्रधानमंत्री जी, देश जानना चाहता है कि आठ साल में आप दो ही बार सिंघम क्यों बने? एक बार अमेरिका के साथ परमाणु समझौत करने के लिए और दूसरी बार विदेशियों के लिए एफडीआई लाने के मुद्दे पर।मोदी ने सवाल किया था कि ये दोनों उदाहरण विदेशियों को फायदा पहुंचाने वाले हैं। आप भारत के लिए कभी सिंघम क्यों नहीं बने? उन्होंने यह भी कहा था कि ये दोनों मौके तब चुने गए जब अमेरिका में चुनाव के दिन करीब आए। इसमें कोई राज जरूर है। संभवत इसी का जवाब देते हुए पी एम् यह उत्तर दिया है|

पी एम् भी तू तू में में में फंसे कहा सरकार किसी के इशारे पर काम नहीं करती

कपिल सिब्बल का कहना मोबाईल पर फ्री में बात करना

टेलिकॉम मिनिस्टर कपिल सिब्बल ने कहा है कि आने वाले समय में कंपनियों को ऐसे इंतजाम करने चाहिए कि फोन पर बात करने के लिए लोगों को पैसे न चुकाने पड़ें। सीआईआई की ब्रॉडबैंड समिट में सिब्बल ने कहा कि मोबाइल कंपनियों को कमाई के लिए वॉइस कॉल के बजाय डेटा सर्विस पर ध्यान देना चाहिए। श्री सिब्बल के अनुसार टेलीकॉम इंडस्ट्री को फ्री वॉयस कॉल के लिए इनोवेटिव सॉल्यूशंस लाने चाहिए।उन्होंने कहा कि आने वाले समय में कंपनियों को डेटा सर्विस से इतना रेवेन्यू मिल जाएगा कि वे फ्री कॉल की सुविधा देने पर विचार कर सकती हैं | श्री सिब्बल ने कहा कि ब्राडबैंड लोगों की जरूरत है और इसे इस रूप में देखा जाना चाहिए कि यह लोगों के जीवन को सशक्त करने में किस तरह से योगदान कर सकता है.
ब्राडबैंड पर निवेश
उन्होंने कहा कि

सरकार ब्राडबैंड से जुड़ी विभिन्न परियोजनाओं पर करीब 35,000 करोड़ रुपये का निवेश कर रही है जिससे करीब तीन लाख करोड़ रुपये का एक अलग बाजार तैयार होगा.
करीब 20,000 करोड़ रुपये की राष्ट्रीय ब्राडबैंड योजना के बारे में बात करते हुए सिब्बल ने कहा,‘ दिसंबर, 2013 तक ‘ऑप्टिकल’ फाइबर केबल बिछा दिए जाएंगे.’

अगर कपिल सिब्बल की ये सिफारिशें मान ली जाती हैं तो जल्द मोबाइल पर एक दूसरे से फ्री में बात होगी| वैसे कहा भी जा रहा है कि फोन पर डेटा का इस्तेमाल बढ़ने पर कॉल दरें सस्ती होने की संभावना बन सकती है | सेल्युलर ऑपरेटर असोसिएशन के प्रेजिडेंट राजन मैथ्यूज ने गेंद को पुनः सरकार के पाले में ही डाल दी है| श्री राजन इस दिशा में सरकार की मदद चाहते हैं|
रोमिंग को कंट्रोल करने के लिए दूरसंचार विभाग ने मोबाइल कंपनियों को कहा है कि वे अपने लाइसेंसी सर्कल के बाहर 3जी सर्विस देना तुरंत बंद कर दें। अगर कंपनियों ने इस पर अमल किया तो तमाम ग्राहकों को रोमिंग के दौरान 3जी सर्विस एक्सेस करने में मुश्किल आ सकती है। हालांकि 2जी सर्विस जारी रहेगी। दरअसल, दूरसंचार विभाग कह चुका है कि कंपनी को जिस जोन या सर्कल के लिए लाइसेंस मिला है, उससे बाहर 3जी सर्विस मुहैया कराना गैरकानूनी है। तमाम कंपनियां आपस में समझौता करके ऐसी सर्विस उपलब्ध करा रही हैं।

कपिल सिब्बल का कहना मोबाईल पर फ्री में बात करना

केलकर समिति ने गरीबों का भी ईंधन और राशन महंगा करने की सलाह दी

भाग्य से यूं पी ऐ को सब्सिडी का एक चिराग हाथ लग गया उसे बार बार घिसने से सम्मान दिलाने वाले जिन के बजाये अब तो अपमान करने वाला जिन हाज़िर होने लग गया है|इसे चिराग को घिसने के लिए केलकर समिति ने भी सिफारिश कर दी है| केलकर समिति ने सरकार को सलाह दी है कि रसोई गैस, केरोसीन, डीजल तथा राशन की दुकान से मिलने वाले अनाज के दाम बढाकर विभिन्न तरह की सब्सिडी को समाप्त कर दिया जाना चाहिए| समिति ने डीजल के दाम में चार रुपए प्रति लीटर और गैस में 50 रुपए प्रति सिलेंडर इजाफा करने की सिफारिश की है। साथ ही अनाज और खाद की सब्सिडी खत्म करने का सुझाव दिया है। हालांकि सरकार ने फिलहाल इस रिपोर्ट को नामंजूर करने के संकेत दिए हैं।
पूर्व वित्त सचिव विजय केलकर की अध्यक्षता वाली इस समिति ने सब्सिडी बिल में कटौती के लिए कई साहसिक कदम उठाने का सुझाव भी दिया है जिनको सरकार से समर्थन नहीं मिला है। लगता है की सरकार अब छाज से भी घबराने लग गई है|
गौरतलब है कि सरकार ने हाल ही में डीजल के दाम बढाकर सस्ते रसोई गैस सिलेंडर की संख्या सीमित कर दी थी और अपने इन सुधारों को लेकर अच्छे खासे विरोध से दो चार हो रही है। यहाँ तक कि एक घटक सरकार से बाहर भी हो गया है| इसीलिए राजकोषीय मजबू ती का खाका बनाने के लिए गठित इस समिति की सिफारिशों पर अंतिम फैसला भागीदारों के सुझाव: टिप्पणियां मिलने के बाद किये जाने का निर्णय लिया गया है| समिति के अनुसार विभिन्न घरेलू तथा वैश्विक समस्याओं को देखते हुए भारतीय अर्थव्यवस्था को तूफान का सामना करना पड़ सकता है। समिति ने राजकोषीय घाटे को 2014-15 में घटाकर जीडीपी का 3.9 प्रतिशत करने का सुझाव दिया है। इसके मौजूदा वित्त वर्ष में 5.1 प्रतिशत रहने का अनुमान है। समिति के सुझावों में सार्वजनिक कंपनियों (पीएसयू) की अधिशेष जमीन की ब्रिकी, विनिवेश प्रक्रिया में तेजी तथा राजस्व बढाने के लिए सेवा कर दायरा बढाना शामिल है। समिति ने बहुप्रचारित खाद्य सुरक्षा विधेयक को चरणबद्ध तरीके से कार्यान्वित करने तथा यूरिया की कीमतों में बढोतरी का समर्थन किया है।
समिति की सिफारिशों पर सरकार का पक्ष रखते हुए आर्थिक मामलात विभाग में सचिव अरविंद मायाराम ने कहा, सरकार का मानना है कि ऐसे देश में जहां जनसंख्या का एक बड़ा हिस्सा गरीब हो, सब्सिडी का एक स्तर आवश्यक है उन्होंने कहा कि कुछ सब्सिडी को वापस लेने की समिति की सिफारिश सरकारी उल्लेखित नीति के ठीक उलटा है|
वित्त आयोग के पूर्व चेयरमैन विजय केलकर की अध्यक्षता वाली इस समिति ने डीजल तथा एलपीजी पर सब्सिडी को अगले चार साल में चरणबद्ध ढंग से समाप्त करने का सुझाव दिया है। इसी तरह समिति ने केरोसीन सब्सिडी में 2014-15 तक एक तिहाई कमी करने की सलाह दी है।
[1]आधी डीजल सब्सिडी चालू वित्तवर्ष में खत्म करने और बाकी को अगले वित्तवर्ष में खत्म कर देना चाहिए
[2] कूकिंग गैस पर सब्सिडी 2015 तक समाप्त की जाए
[3]केरोसिन सब्सिडी में दो तिहाई कमी लाकर दाम दो रुपये प्रति लीटर तक बढ़ाया जाए
[4] खाद्य सब्सिडी को चरणबद्ध तरीके से समाप्त करने की योजना बने
[5]बाल्को की बची हिस्सेदारी भी बेची जाए

अदभुत अरविन्द करिश्माई केजरीवाल की पोलिटिकल पार्टी का क्या होगा?

झल्ले दी झल्लियाँ गल्ला

एक सोश्लाईट

ओये झल्लेया ये अन्ना हजारे को कौन से कीड़े ने काट लिया है?पहले अपनी ही संस्था इंडिया अगेंस्ट करप्शन की ऐसे की तैसी कर दी+फिर बाबा राम देव से गुप्त पींगें बढाने लग गए और अब हसाड़े बोल्ड अरविन्द केजरीवाल के पीछे ही पड़ गए हैं|अन्ना ने अब वोटरों को चेतावनी दी है कि इलेक्शन में अन्ना की फोटो और नाम के आधार पर वोटें माँगी जा सकती है| अन्ना के इस ब्लॉग का उत्तर तक देने से अरविन्द ने मना कर दिया है| हुन हसाड़े अदभुत अरविन्द करिश्माई केजरीवाल की पोलिटिकल पार्टी का क्या होगा?

झल्ला

श्रीमान जी आप जी कि बातों से तो लगता है कि आप जी के अन्ना बाबु राव हजारे ने अपने नाम और फोटो के इस्तेमाल के कापी राईट [सर्वाधिकार]अरविन्द से वापिस लेकर किसी और के नाम कर दिए हैं|अब तो आप जी के अदभुत जी को अपने ही करिश्मे से चुनावी समर में उतरना होगा|

अन्ना बाबु राव हजारे ने अपने नाम और फोटो के इस्तेमाल के कापी राईट [सर्वाधिकार]अरविन्द से वापिस लेकर किसी और के नाम कर दिए हैं|

आस्ट्रेलिया ने भारत को बुरी तरह हरा कर धोनी पर अमरनाथ की टिपण्णी को सही ठहराया

शुक्रवार को टी20 चैम्पियनशिप के सुपर आठ ग्रुप के दूसरे मैच में कोलम्बो में आस्ट्रेलिया ने धोनी के सिफारिशी धुरंधरों को बुरी तरह परास्त किया इससे धोनी पर लगाये गए मोहिन्द्र अमरनाथ के प्रश्न चिन्ह और बड़ा हो गया है| कंगारूओं ने भारत को 9 विकेट से हराकर जीत दर्ज की। बैटिंग, बॉलिंग और फिल्डिंग तीनों ही चीजों में टीम इंडिया ने खराब प्रदर्शन किया। सहवाग को ना खिलाकर पांच बॉलरों के साथ उतरी टीम इंडिया ने ना तो शानदार बल्लेबाजी की और ना ही उसके गेंदबाज कुछ कमाल दिखा पाये। यहाँ तक कि मिस्टर भरोसे मंद बनाते जा रहे विराट कोहली भी केवल १५ रन पर ही सिमट गए| छक्के चौकों के लिए मशहूर युवराज दहाई का आंकड़ा नहीं छू पाए|
टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत की ओर से केवल इरफान पठान (31) और सुरेश रैना (26) ने ही संतोषजनक प्रदर्शन किया। पूरी टीम ने निर्धारित ओवर में 140 रन बनाये और कंगारूओं को 141 रनों का लक्ष्य दिया। जिसके जवाब में आस्ट्रेलिया ने शानदार शुरूआत की। शेन वाटसन के शानदार खेल से आस्ट्रेलिया को आसानी से जीत दिला दी।गेंदबाज भी वॉटसन ही रहे। उन्होंने तीन विकेट झटके। कुमिंस को दो एवं स्टार्क को एक विकेट मिला
हालांकि बारिश ने भी धोनी की खिलाडिओं में चयन के लिए हट धर्मिता को धो डालने में मदद की बारिश के बाद पिच पर नमी हो गयी जिसके कारण विकेट एकदम सपाट हो गया जो कि भारतीय गेदबाजों के लिए नुकसानदेह साबित हुआ। कुल मिलाकर भारत का प्रदर्शन औसत से भी खराब रहा।
अब भारत के लिए दो मैच जीतना बेहद जरूरी है। धोनी की टीम को अपने अगले मैच में 30 सितंबर को पाकिस्तान का सामना करना है जबकि आस्ट्रेलिया को इसी दिन दक्षिण अफ्रीका से भिड़ना है। आस्ट्रेलिया ने इस जीत के साथ सुपर आठ में दो अंक के साथ अंकतालिका में भारत से ऊपर उठ गया है|अहम की लड़ाई के कारण वीरेंद्र सहवाग को मैच से बाहर करने वाले धौनी असफल बल्लेबाज रोहित शर्मा को जबरदस्ती अंतिम-11 में सजा कर रखा गया है| अधिकाँश असफल रहने वाले रोहित आज भी एक रन बनाकर आउट हुए। यही नहीं धौनी ने रविचंद्रन अश्रि्वन को खिलाने के लिए टीम में तीन गेंदबाजों को जगह दी। तीनों स्पिनर मिलकर भी एक विकेट नहीं हासिल कर सके कप्तान धौनी

आस्ट्रेलिया ने भारत को बुरी तरह हरा कर धोनी पर अमरनाथ की टिपण्णी को सही ठहराया

खुद भी 15 के निजी योग पर कमिंस की गेंद पर जॉर्ज बेली के हाथों लपके गए।

भाजपा को विश्वसनीय और भ्रष्टाचार मुक्त बनाने के लिए एक जुट हो जाना चाहिए:एल के आडवाणी

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी ने आज शुक्रवार को कहा कि कांग्रेस के नेतृत्व वाली संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) सरकार 2014 तक नहीं चल पाएगी। उन्होंने कहा कि मध्यावधि चुनाव होना तय है। लोकसभा चुनाव भाजपा के लिए अच्छा अवसर है| कार्यकर्ताओं को पार्टी की छवि को

विश्वसनीय’ और ‘भ्रष्टाचार मुक्त’ बनाने के लिए एक जुट हो जाना चाहिए|


सूरज कुंड में आयोजित राष्ट्रीय परिषद् की तीन दिवसीय सम्मलेन के समापन भाषण में लाल कृष्ण आडवाणी ने कहा कि सरकार में भ्रष्टाचार के बढ़ते मामलों के बावजूद 10-15 दिन पहले उनकी सोच अलग थी लेकिन अब सरकार बीमार हो चुकी है। यह अब वेंटिलेटर /आईसीयू (सघन चिकित्सा कक्ष) में है।
आडवाणी ने कहा, कि कांग्रेस के सहयोगियों को भी अब लगने लगा है कि यदि सरकार गिर जाती है तो यह अच्छा ही होगा। पूर्व उप प्रधानमंत्री ने कहा, ”मुझे बहुत हद तक लगता है कि इस सरकार कि जीवन रक्षक प्रणाली २०१४ से पहले ही अलग हो जाए और वेंटिलेटर न रहे उन्होंने भाजपा अध्यक्ष नितिन गडकरी से कहा कि पार्टी को अगले लोकसभा चुनाव के लिए उम्मीदवारों के नामों को अंतिम रूप देना शुरू कर देना चाहिए। वरिष्ठ भाजपा नेता ने यूं पी ऐ की सरकार पर जम कर प्रहार करते हुए कहा, ”मैंने वर्ष 1947 में देश के आजाद होने के बाद से अब तक सभी सरकारों को करीब से देखा है, पहले एक पत्रकार के रूप में, फिर एक पार्टी कार्यकर्ता और बाद में एक सांसद के रूप में। लेकिन इस तरह की सरकार कभी नहीं देखी।”
उन्होंने सरकार के पतन के कारण गिनाते हुए कहा, [१]मौजूदा सरकार का नेतृत्व कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया के साथ है। [२]प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने अपने अधिकार सोनिया को स्थानांतरित कर दिए हैं।” श्री आडवाणी ने कहा, ”वर्ष 2009 में मैंने मनमोहन सिंह को कमजोर प्रधानमंत्री बताया था। तब कुछ लोगों ने मेरे बयान को अनुचित बताया था, लेकिन आज मेरी बात सही साबित हुई। मैंने जो कुछ भी कहा था, लोग आज उस पर सहमति जता रहे हैं।”
आडवाणी ने एन डी ऐ को एन डी ऐ+ बनाने के लिए अगले लोकसभा चुनाव को पार्टी के लिए बड़ा अवसर करार देते हुए कार्यकर्ताओं से कहा कि वे पार्टी की ‘विश्वसनीय’ और ‘भ्रष्टाचार मुक्त’ छवि बनाएं। कांग्रेस का ‘विश्वसनीय विकल्प’ बनने के लिए प्रयास करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि एन डी ऐ के घटक और अल्प संख्यकों के विशवास को जीतना होगा|

‘यदि मौजूदा परिस्थिति में भी कांग्रेस बच निकलती है तो इससे यही साबित होगा कि सभी राजनीतिक पार्टियां समान व भ्रष्ट हैं।”
”हमारा लक्ष्य साफ होना चाहिए। यदि भाजपा सत्ता में आती है तो भ्रष्टाचार नहीं होगा। हमें इस तरह की विश्वसनीयता पैदा करनी चाहिए।”
आडवाणी ने कहा, ”हमें लोगों को विश्वसनीय ढंग से बताना चाहिए कि जिस परिवर्तन की वे तलाश कर रहे हैं, वह सिर्फ सरकार बदलने से नहीं हो सकता, बल्कि ऐसी सरकार से होगा, जो देश को भ्रष्टाचार मुक्त बनाने के लिए प्रतिबद्ध हो।”

बैठक में पार्टी नेता मुरली मनोहर जोशी ने कहा, देश दोराहे पर है। कांग्रेस के नेतृत्व वाले संप्रग ने सत्ता में बने रहने का अधिकार खो दिया है। वहीं गडकरी ने कहा,कि यह देश की राजनीति को नई दिशा देने का वक्त है।

अब तक अध्यक्ष केवल तीन वर्षो के कार्यकाल के लिए अपने पद पर रह सकता था। भाजपा के संविधान की धारा 21 के अनुसार, कोई भी योग्य व्यक्ति लगातार दो कार्यकाल के लिए अध्यक्ष के पद पर हो सकता है और प्रत्येक कार्यकाल तीन-तीन वर्षो का होगा। इस प्रस्ताव से दिसंबर में कार्यकाल पूरा करने जा रहे नितिन गडकरी के दुबारा अध्यक्ष बनाने का रास्ता साफ हो गया है|

भाजपा विधायक पर करीब दस राउंड फायरिंग

उत्तर प्रदेश के सरधना क्षेत्र में भाजपा विधायक संगीत सोम पर शुक्रवार की सुबह बाइक सवार दो व्यक्तियों ने दस राउंड गोली चलायी. | इस घटना में सोम बाल-बाल बच गए.
प्राप्त जानकारी के अनुसार यह फायरिंग उस समय की गई जब सोम सरधना स्थित अपने आवास के बाहर पैदल टहल रहे थे|
इस दौरान एक बाइक पर दो व्यक्ति वहां पहुंचे जिन्होंने सोम को निशाना बनाते हुए उन पर करीब 10 राउंड फायरिंग की | विधायक ने किसी तरह फायरिंग से बचते हुए भाग कर अपनी जान बचाई.
इस घटना से भाजपा नेताओं में गहरा आक्रोश है.| विधायक ने इस मामले में बाइक सवार दो अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है |
भाजपा ने कहा कि पुलिस यदि जल्दी ही भाजपा विधायक के हमलावरों को गिरफ्तार नही करती तो भाजपा कडा कदम उठाने को मजबूर होगी.
.

उत्तर प्रदेश के सरधना क्षेत्र में भाजपा विधायक संगीत सोम पर शुक्रवार की सुबह बाइक सवार दो व्यक्तियों ने दस राउंड गोली चलायी. |

अब अन्तराष्ट्रीय एजेंसी फिच ने घटाई भारत की क्रेडिट रेटिंग

अन्तराष्ट्रीय क्रेडिट रेटिंग एजेंसीज आज कल भारत की अर्थ व्यवस्था को लेकर बेहद चिंतित हैं|आये दिन कोई न कोई एजेंसी देश की अर्थ व्यवस्था की नई गिरावट की और इशारा कर रही हैं|भारत सरकार सुधारों को रफ्तार देने की भले ही लाख कोशिश करे मगर स्टेंडर्ड & पूअर्स के ५.५% के अनुमान के बाद अब फिच नामक अन्तराष्ट्रीय क्रेडिट रेटिंग्स विशेषग्य ने [६%] साख बताई है| विकास दर अनुमान में कटौती का सिलसिला जारी है। ग्लोबल रेटिंग एजेंसी फिच ने चालू वित्त वर्ष 2012-13 के लिए अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर अनुमान को ६.५% से घटाकर ६% कर दिया है।
फिच का कहना है कि बढ़ते राजकोषीय घाटे और निवेश में कमी के चलते उसने अपने अनुमान को घटाया है। फिच की ‘ग्लोबल इकोनॉमिक आउटलुक रिपोर्ट’ में कहा गया है कि हाल में मनमोहन सरकार द्वारा सुधारों में तेजी लाने की कोशिश के बावजूद अर्थव्यवस्था के चुनौतियां बनी हुई हैं। इसके बाद जिस तरह से राजनीतिक उठापटक शुरू हुई है उससे यही लगता है कि बाकी आर्थिक फैसले लेने को लेकर सरकार पर जोखिम बरकरार है| हाल ही में केंद्र सरकार ने मल्टी ब्रांड रिटेल और विमानन क्षेत्र में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश [एफडीआइ] को मंजूरी दी है। साथ डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी और रसोई गैस सिलेंडर पर सब्सिडी में कटौती जैसे कड़े फैसले लिए हैं। इसके बाद से ही देश में राजनीतिक बवाल मचा हुआ है। पिछले हफ्ते ही रेटिंग एजेंसी स्टैंडर्ड एंड पुअर्स ने देश के विकास दर अनुमान को 5.5 % बताया है।

अब अन्तराष्ट्रीय एजेंसी फिच ने घटाई भारत की क्रेडिट रेटिंग

शेयर बाजारों में आज शुक्रवार को उछाल देखा गया

देश के

शेयर बाजारों में आज शुक्रवार को उछाल देखा गया

इससे निवेशकों में उत्साह रहा| बाज़ार पंडितों के अनुसार यह उछाल अन्तराष्ट्रीय संकेतों के बल पर हुआ है| प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स 183.24 अंकों की तेजी के साथ 18,762.74 पर और निफ्टी 53.80 अंकों की तेजी के साथ पर 5,703.30 मनोवैज्ञानिक स्तर पर बंद हुआ। मुंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का 30 शेयर पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 125.48 अंकों की तेजी के साथ 18,704.98 पर खुला और 183.24 अंकों या 0.99 फीसदी की तेजी के साथ 18,762.74 पर बंद हुआ। दिन के कारोबार में सेंसेक्स ने 18,869.94 के ऊपरी और 18,698.51 के निचले स्तर को छुआ।सेंसेक्स के 30 में से 24 शेयरों में तेजी रही।
नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी 35.30 अंकों की तेजी के साथ 5,684.80 पर खुला और 53.80 अंकों या 0.95 फीसदी की तेजी के साथ 5,703.30 पर बंद हुआ। दिन के कारोबार में निफ्टी ने 5,735.15 के ऊपरी और 5,683.45 के निचले स्तर को छुआ।बीएसई के 13 में से मात्र एक सेक्टर रियल्टी में 0.37 फीसदी की गिरावट देखी गई।
शुरुआती कारोबार में ही बाजार में तेजी देखने को मिली। हालाँकि दोपहर के कारोबार में बाजार की तेजी में थोड़ी कमी आयी। लेकिन बाजार में दिन भर मजबूती पर ही कारोबार होता रहा।