Ad

Archive for: October 2012

आयरन लेडी इंदिरा गाँधी को श्रधान्जली

आयरन लेडी प्रियदर्शनी श्रीमति इंदिरा गाँधी को आज भाव पूर्ण श्रधान्जली अर्पित की गई|मेरठ

आयरन लेडी इंदिरा गाँधी को श्रधान्जली

स्थित कांग्रेस के कार्यालय में आज श्रधान्जली सभा का आयोजन किया गया | इस अवसर पर देश की उन्नति में उनके योगदान को याद करके उनकी आत्मा को श्रधान्जली अर्पित की गई| कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने अपनी दिवंगत नेत्री के चित्र पर माल्यार्पण किया |

अरविन्द केजरीवाल ने मुकेश अम्बानी पर गैस की जमाखोरी करके सरकार को ब्लैक मेल करने का आरोप लगाया |

आई ऐ सी के नेता अरविन्द केजरीवाल ने आज देश के सबसे अमीर उद्योगपति मुकेश अम्बानी पर गैस की जमाखोरी करके सरकार को ब्लैक मेल करने का आरोप लगाया |दिल्ली के कन्स्तितुशनल क्लब में प्रेस कांफ्रेंस करके सरकार को उद्योगपतियों की जेब में बताया | राबर्ट वढेरा+नितिन गडकरी +सलमान खुर्शीद के बाद आज उन्होंने आरोप लगाया कि मुकेश अम्बानी ने गैर कानूनी लाभ के लिए अपने प्रभाव से मणि शंकर अय्यर और एस जय पाल रेड्डी को अपने रास्ते से हटवा दिया |इस घोटाले को कोयला और लैड स्कैम के सामान बताया |
अरविन्द केजरीवाल ने बताया कि

अरविन्द केजरीवाल ने मुकेश अम्बानी पर गैस की जमाखोरी करके सरकार को ब्लैक मेल करने का आरोप लगाया |


२.३४ डॉलर्स प्रति एम् एम् बी टी यूं गैस सरकार को दी जानी थी|लेकिन मात्र चार सालों के पश्चात ही रिलायंस ने ४.२ डालर्स की मांग कर दी|जिसे तत्कालीन मंत्री मणि शंकर अय्यर ने आपत्ति की तो उन्हें हटा कर मुरली देवड़ा को लाया गया |देवड़ा ने कम्पनी को एक लाख करोड़ का फायदा पहुंचाया और फिर उसके बाद २०१२ में १४.२ डालर्स प्रति एम् एम् बी टी यूं की मांग की जाने लगी | इसके लिए गैस निकालना भी कम कर दिया गया इसके अलावा बेसिन के ३०% शेयर विदेशी कंपनियों को देने के लिए मंजूरी मांगी जाने लगी|आरोप है कि गैस कि जमा खोरी की गई और दाम बढाने पर ही निकालने का निर्णय ले लिया गया|
अब जय पाल रेड्डी ने न केवल इसका विरोध किया वरन कम गैस निकालने के लिए ७००० करोड़ का दंड भी लगा दिया|इससे कुपित होकर मुकेश अम्बानी ने रेड्डी को हटवा कर मोयली को मंत्री बनवा दिया|अगर अब रिलायंस की मांग मान ली जाती है तो देश को ४३००० करोड़ का नुक्सान होगा रिलायंस को इतना ही फायदा होगा| और जनता के लिए बिजली+खाद और महंगी हो जायेगी |बिजली जो तीन रुपये प्रति यूनिट दी जानी थी वह सात रुपये हो जायेगी|
कैग ने रिलायंस के आसमान छूते खर्चों को गोल्ड प्लेटिंग बताया और रिलायंस का आडिट कराये जाने जरुरत बताई लेकिन रिलायंस ने इनकार कर दिया|
गौरतलब है कि आर आई एल ने एन टी पी सी को २००४ में और आर एन आर एल को २.३४ डालर्स प्रति एम् एम् बी टी यूं का कांट्रेक्ट साईन किया मगर अपने प्रभाव से २००७ में ही प्रणब मुखेर्जी की अध्यक्षता में ई जी ओ एम् ने ४.२ डालर्स प्रति यूनिट के लिए सरेंडर कर दिया| इससे ८००० करोड़ का फायदा कंपनी को पहुंचाया गया|
केजरीवाल ने आरोप लगाया कि सरकार इन उद्योग पतियों के गैर कानूनी दबाब में झुकती जा रही है और नवीनतम रिलायंस को फायदा पहुंचाने का प्रयास किया जा रहा है|लेकिन इससे गैस और खाद की कीमतें आसमान छूने लगी है|
सरकार के पास रसोई गैस पर सब्सिडी देने के लिए ३५००० करोड़ नहीं है मगर प्राकृतिक संसाधनों की खुली लूट का अवसर बड़े बड़े उद्योगपतियों को दिया जा रहा है| इसके साथ ही उन्होंने संदेह व्यक्त किया कि इस प्रकार महंगाई बड़ा कर कहीं मुकेश अम्बानी से चुनावों में कोई लाभ तो नहीं लिया जा रहा |
केजरीवाल ने प्रधान मंत्री की बेबसी पर व्यंग बाण भी छोड़े|और पिछले दरवाजे से मुकेश अम्बानी से लाभ लिए जाने की सम्भावना भी जताई है| इस अवसर पर उन्होंने भजपा पर भी कांट्रेक्ट में उद्योग पति के हित में क्लाज डालने का आरोप लगाया |इनके साथ प्रशांत भूषण और मनीष शिशोदिया भी थे कांफ्रेंस के |अंतिम समय में कुछ लोगों ने कांफ्रेंस में गडबडी फैलाने का प्रयास भी किया जिसे स्पोंसर्ड बताया गया |

शशि थरूर के मुद्दे को भाजपा आसानी से छोड़ना नहीं चाहती:नकवी ने शशि को लव गुरु बताया

शशि थरूर के मुद्दे को भाजपा आसानी से हाथ से जाने नहीं देना चाहती क्योंकि गुजरात के मुख्य मंत्री नरेन्द्र मोदी के बाद अब प्रवक्ता मुख़्तार अब्बास नकवी ने थरूर-नरेंद्र मोदी के जुबानी जंग को आगे बढ़ाते हुए थरूर को अन्तराष्ट्रीय लव गुरु की संज्ञा दे कर थरूर के लिए विशेष लव अफेयर्स मंत्रालय खोलने की वकालत कर डालीहै| भाजपा नेता श्री नकवी ने श्री थरूर पर व्यंग कसते हुए कहा है कि ‘लव गुरु’ शशि थरूर को ‘लव अफेयर्स’ का मंत्री बनाया जाना चाहिए.उनके जैसे इंटरनैशनल लव गुरु के लिए मिनिस्ट्री ऑफ लव अफेयर्स यानी लव मंत्रालय ही बना दिया जाना चाहिए।’

शशि थरूर के मुद्दे को भाजपा आसानी से छोड़ना नहीं चाहती:नकवी ने शशि को लव गुरु बताया

गौरतलब है कि शशि थरूर को केंद्रीय मंत्रिमंडल में एक बार फिर लाये जाने पर नरेन्द्र मोदी ने हिमाचल प्रदेश में एक चुनावी सभा में श्रीमति सुनंदा पुष्कर[थरूर] को ‘50 करोड़ रूपये की गर्लफ्रेंड’ कहा था.गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने केंद्रीय राज्यमंत्री मानव संसाधन विभाग शशि थरूर की पत्नी सुनंदा पुष्कर पर टिप्पणी करते हुए उन्हें 50 करोड़ की गर्लफ्रेंड कहा था। मोदी ने कहा था कि संसद में सुनंदा को जानने से इंकार करने वाले थरूर ने उनसे एक महीने बाद ही शादी कर ली थी। इसके उत्तर में शशि थरूर ने ट्विट किया के मेरी पत्नी की कीमत तुम्हारे काल्पनिक 50 करोड़ से कहीं ज्यादा है, वो बेशकीमती हैं लेकिन यह समझने के लिए तुम्हें प्यार करने के लायक बनना पड़ेगा। मालूम हो के तत्कालीन आईपीएल [क्रिकेट]कमिश्नर ललित मोदी ने एक ट्विट के माध्यम से सबको बताया था कि शशि थरूर ने अपनी तत्कालीन प्रेमिका और मौजूदा पत्नी सुनंदा पुष्कर के नाम पर कोच्ची टीम की खरीद-फरोख्त के लिए उन पर दवाब डाला । थरूर ने उन्हें[सुनंदा] आगे कर के खुद टीम पर पैसा लगा रहे थे। इसी विवाद के कारण उन्हें विदेश राज्यमंत्री के पद से इस्तीफा देना पड़ा था|उस समय थरूर ने सुनंदा से किसी रिश्ते से इनकार कियाथा
शशि के उत्तर के बाद मोदी ने व्यंगात्मक शैली में माफी भी मांग ली है|इस व्यंग युद्ध को आगे बढ़ाते हुए मुख्तार अब्बास नकवी ने शशि को अन्तराष्ट्रीय लव गुरु की संज्ञा दे कर थरूर के लिए विशेष लव अफेयर्स मंत्रालय खोलने की वकालत कर डालीहै|
एन डी ऐ के एक घटक दल जे डी यूं के नेता शिवानन्द तिवारी और महिला संगठनों ने ने मोदी ब्यान की आलोचना की है|
एक और नाटकीय घटना क्रम पुष्कर चर्चा में आ गई है|शशि थरूर और उनकी पत्‍नी सुनंदा पुष्‍कर सोमवार को त्रिरुवनंतपुरम एयरपोर्ट पहुंचे। दोनों के स्‍वागत के लिये कांग्रेस कार्यकर्ता भी भारी संख्‍या में एयरपोर्ट पर मौजूद थे। इस भीड़ के दौरान अचानक ऐसी स्थिति बनी कि सुनंदा ने एक व्यक्ति को थप्पड़ जड़ दिया।बताया जा रहा है की सुनंदा को किसी कांग्रेसी कार्यकर्ता ने छेड़ दिया था |

नितिन गडकरी ने आज मुम्बई में आक्रामक रुख से अपना बचाव किया

भाजपा अध्यक्ष नितिन गडकरी ने आज खुद पर लग रहे भ्रष्टाचार के आरोपों को कन्फ्यूज करने की साजिश बताया और मीडिया+कांग्रेस+आई ऐ सी पर जम कर प्रहार किये| उन्होंने कहा की जब भाजपा अध्यक्ष अपने ऊपर लगे आरोपों की जांच स्वयम करवा रहा है तब कांग्रेस अपने दामाद के विरुद्ध जांच क्यूं नहीं करवा रही?
मुंबई एयर पोर्ट पर इकट्टा हुए भाजपा के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा की केंद्र की सरकार खुद ४.३४ हज़ार करोड़ रुपयों के भ्रष्टाचार के आरोपों से घिरी हुई है|’भ्रष्टाचार से कांग्रेस का मुंह काला है। मैं हर तरह की जांच के लिए तैयार हूं। मंत्री रहते हुए मैंने एक पैसे का भ्रष्टाचार नहीं किया। मेरे पास केवल साडे बार करोड़ रुपये हैं| आदर्श सोसायटी से मेरा संबंध नहीं है। मुझे बदनाम करने की कांग्रेश द्वारा साजिश रची गयी है। मैं ईंट का जवाब पत्थर दूंगा।’
इसीलिए अब भाजपा को भी भ्रष्ट बता कर दोनों को एक सामान साबित करने में जुटी है|लेकिन मेरे पर जो भी आरोप लगाए जा रहे हैं वोह सब भ्रामक है| अरविन्द केजरीवाल और एक महिला [अंजलि दमानिया]किसी के इशारे पर भजपा को बदनाम करने पर उतारू हैं| मत दाताओं को कन्फ्यूज करने के लिए कांग्रेस की साजिश है|

नितिन गडकरी ने आज मुम्बई में आक्रामक रुख से अपना बचाव किया


गडकरी ने कहा की मीडिया के एक सेक्शन को सुपारी देकर मुझे बदनाम करने की कोशिश की जा रही है|उन्होंने अपनी उपलब्धिओं का बखान करते हुए बताया कीउन्होंने अपने मंत्री पद का कोई दुरूपयोग नहीं किया वरन २८०० हज़ार करोड़ की बचत कराई | गडकरी ने हाल ही में उन पर लगे सभी आरोपों पर एक एक करके सफाई दी। सफाई में उन्होंने यही कहा कि यह सब झूठे आरोप हैं, जबकि वह तो किसानों की भलाई के लिए काम कर रहे हैं।
उन्होंने कहा कि
पूर्ति

पूर्ति में 12 हजार शेयर होल्डर्स हैं और उन्हें खूब मुनाफा हो रहा है जबकि उनके और उनके परिवार के पास सिर्फ एक लाख रुपये के शेयर हैं। गडकरी ने कहा कि शरद पवार और अजय संचेती के साथ पार्टनरशिप जैसा आरोप बकवास है। उन्होंने कहा, मैं उनका पार्टनर नहीं हूं। मेरा उनसे कोई संबंध नहीं है। मुझे बदनाम करने की कोशिश हो रही है। शेयर होल्डर्स के धन निवेश से अपना पल्ला झाड़ते हुए उन्होंने कहा कि पूर्ति में निवेश करने वालों के धन के विषय में तो उनसे ही पुछा जाना चाहिए|गडकरी ने कहा कि वह किसी भी संदिग्ध कंपनी के डायरेक्टर नहीं हैं और हर तरह की जांच के लिए तैयार हैं। बीते दिन कांग्रेस अध्यक्षा श्रीमती सोनिया गाँधी द्वारा भाजपा पर भ्रष्टाचार के आरोपों का जवाब देते हुए गडकरी ने कांग्रेस अध्यक्षा पर सीधा निशाना साधा | उन्होंने पूछा कि क्या कांग्रेस दामाद की जांच के लिए तैयार हैं? गडकरी ने कहा, मैं डरता नहीं हूं। मैं ईंट का जवाब पत्थर से देना जानता हूं।उनके कार्यकाल में पास एक प्रोजेक्ट की कीमत ४८१ करोड़ थी उनकी सरकार बदलने के बाद वोह प्रोजेक्ट अभी तक पूरा नहीं हुआ है और उसके कीमत चार गुना बड़ा दी गई है|
गडकरी ने शरद पवार और संचेती से किसी भी प्रकार के रिश्तों से इंकार किया | उन्होंने कार्यकर्ताओं में जोश भरते हुए कहा कि अगले प्रधान मंत्री भाजपा के और सरकार एन डी ऐ की बनेगी|

वित्त मामलों में वित्त मंत्री की नहीं चल रही तो काय के वित्त मंत्री

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

एक आम आदमी

ओये झल्लेया ये क्या हो रहा है?अब सरकार की बिल्लियाँ ही म्यायुं करने लग गईहैं |आरबीआई ने सीआरआर[नकदी आरक्षी अनुपात ]में 0.25 फीसदी की कटौती कर दी है है। अब सीआरआर 4.25 फीसदी सीआरआर में कटौती से सिस्टम में 17,500 करोड़ रुपए तो जरूर आ जायेंगे लेकिन इसके साथ ही छोटी अवधि में महंगाई दर और बढाने के संकेत दिए जा रहे हैं| किसी रिस्क लेने से परहेज करते हुए रेपो रेट में कोई बदलाव नहीं किया है। लिहाजा रेपो रेट 8%और रिवर्स रेपो रेट 7 %[आरबीआई द्वारा बैंकों से कर्ज लेने की दर] पर स्थिर है
|कहा जा रहा है के ब्याज दरें कम करने से महंगाई कम नहीं होगी इसीलिए अब ब्याज दरें कम नहीं की जायेंगी|

वित्त मामलों में वित्त मंत्री की नहीं चल रही तो काय के वित्त मंत्री


झल्ला

ओ मेरे भोले बादशाहों दरअसल भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर डी सुब्बाराव ने एक जे पी सी की मीटिंग में गवाही देकर केंद्र सरकार पर एहसान क्या कर दिया की अब उन्होंने बैंक कर्जे पर लागू विशाल ब्याज दरों को कम करने से ही इनकार कर दिया है|अपने बॉस वित् मंत्री पी चिदम्बरम के सलाह को भी रद्दी की टोकरी में डाल कर ब्याज दरें कम करनेसे इनकार कर दिया है| मलहम के बिना मौद्रिक नीति पर वित्त मंत्री का मौन बता रहा है कि कहीं कुछ गड़बड़ जरूर है इसी लिए कहा जा सकता है कि अब अगर वित् सम्बन्धी मामलों में अर्थ शास्त्री वित् मंत्री की नहीं चल रही तो काय का शास्त्र काय का वित्त और काय के मंत्री ?

साडे तीन सालों के बाद इंडिगो एयरलाइंस को न्याय मिला: अपहरणकर्ता को आजीवन कारावास और जुर्माना

साडे तीन सालों के बाद आज मंगल वार को इंडिगो एयरलाइंस को न्याय मिला| एयर लाईन्स के प्लेन को आकाश में अपहरण का दावा करके भय फैलाने और यात्रियों की जान जोखिम में डालने वाले एक चार्टर्ड एकाउन्टेंट को दिल्ली की अदालत ने आजीवन कारावास की सजा सुना दी है| 2009 की फरवरी में गोवा से दिल्ली जा रहे इंडिगो एयरलाइंस के प्लेन का अपहरण का दावा करके भय फैलाया गया था अपहरण कर्ता मोहला ने काक पिट में जाकर धमकी दी कि उसके पास संक्रमित सुइयां और बन्दूक है।

ढाई सालों के बाद इंडिगो एयरलाइंस को न्याय मिला: अपहरणकर्ता को आजीवन कारावास और जुर्माना

जिला जज आईएस मेहता के अनुसार अभियुक्त जितेन्द्र कुमार मोहला को धारा-11 के तहत यह सजा सुनाई गई है और सात हजार रूपये जुर्माना भी किया गया है।
अदालत ने मोहला को भारतीय दंड संहिता की धारा 336 (दूसरे की जान या व्यक्तिगत सुरक्षा को खतरे में डालना), धारा 506 (आपराधिक धमकी) और धारा 170 (लोकसेवक का रूप धारण करना) के तहत भी दोषी ठहराया। इन अपराधों के लिए उन्हें विभिन्न अवधि के कारावास की सजा तो सुनाई गई लेकिन दो फरवरी 2009 के बाद से जेल में काटी गई अवधि के साथ इनका समायोजन कर दिया गया

ट्रांसफर पर जयपाल रेड्डी माने तो अब ऐ के एंटोनी कटारिया की न्युक्ति पर बिगड़े

मंत्री मंडल को नया चेहरा लगा कर २०१४ की तरफ कूच करने वाले डाक्टर मन मोहन सिंह को अपने ही मंत्री गणों से चुनौती मिल रही है अभी कल ही वरिष्ठ जय पाल रेड्डी को मुश्किल से साईंस मंत्रालय के लिए राजी किया था कि अब भारी भरकम रक्षा मंत्री ऐ के एंटोनी ने भी अपने नए राज्य मंत्री लाल चंद कटारिया कि न्युक्ति को लेकर नाक मुह सिकोडनी शुरू कर दी है| जाहिर है बदलाव की इस कवायद को लेकर पार्टी में नाराज मंत्रियों व नेताओं की संख्या बढ़ती जा रही है। पेट्रोलियम मंत्रालय छीने जाने से नाराज जयपाल रेड्डी के मानने के बाद अब रक्षा मंत्री एके एंटनी ने नई मुश्किलें पैदा कर दी है। खबरें लीक की जा रही है कि रक्षा मंत्री को उनके नए सहयोगी लालचंद कटारिया रास नहीं आ रहे हैं।, आम धारणा है कि एंटनी के विशवास पात्र रक्षा राज्य मंत्री पल्लम राजू अच्छा काम कर रहे थे जबकि एंटोनी को १२ वी पास कटारिया की काबिलियत पर अधिक भरोसा नहीं है। इसके अलावा दोनों रक्षा राज्य मंत्री एक ही राज्य से हो गए हैं|दूसरे राज्य मंत्री भंवर जितेंद्र सिंह अपना कार्यभार संभाल चुके थे, ऐसे में कटारिया को खाली हाथ रहना पड़ा है । इससे पहले रक्षा राज्य मंत्रालय को लेकर जितिन और जीतेन्द्र को लेकर एक और भ्रम फैल चुका था।

ट्रांसफर पर जयपाल रेड्डी माने तो अब ऐ के एंटोनी कटारिया की न्युक्ति पर बिगड़े


शायद इसी विवाद के चलते सोमवार और मंगल वार को भी कटारिया चार्ज नहीं ले पाए| अब सम्भावना जाताई जा रही है कि कटारिया बुधवार को रक्षा राज्य मंत्री का चार्ज सम्भाल सकते हैं| वहीं, रक्षा मंत्रालय की सफाई है कि कटारिया के रक्षा राज्य मंत्री बनने से कोई समस्या नहीं है। इसके बावजूद ऐ के एंटोनी को खुश करने के लिए कटारिया का मंत्रालय बदला जा सकता है|अब इसके बारे में बुधवार को फैसला होगा। गौरतलब है कि जयपुर ग्रामीण से कांग्रेस के सांसद लालचंद कटारिया को यूपीए-2 में पहली बार मंत्री बनाया गया है।मज़ाक में कहा जा रहा है कि सर मुंडाते ही ओले पड़ने शुरू हो गए|

चोरों ने शनि देव का सामान भी उड़ाया

पोलिस की सतर्कता और सरकार के तमाम दावों को धत्ता बताने वाले चोरों को अब शनि भगवान् का खौफ भी नहीं रहा| शायद इसीलिए चोरों ने आज सुबह शास्त्री नगर के ई ब्लाक में स्थित शनि मंदिर का दान पात्र ही साफ़ कर दिया|गौर तलब है कि यह मंदिर बिजली घर के समीप है और मुख्य मार्ग पर है| मंदिर के पुजारी रमेश चन्द्र जोशी ने आज सुबह मंदिर खोलते समय दान पात्र और खिड़की उखड़ी देखी |संभावना जाती जा रहे है कि किसी छोटे बच्चे को खिड़की से मंदिर में उतारा गया और चोरी को अंजाम दिया गया|

चोरों ने शनि देव का सामान भी उड़ाया


|चांदी के मुकुट और अन्य सामान भी गायब मिला इससे छेत्र वासिओं में रोष व्याप्त है|

शॉक थेरेपी देने के लिए यूं पी ऐ का नया मंत्री मंडल तैयार

डाक्टर मन मोहन सिंह ने अपने मंत्री मंडल के चेहरे को बदलने के लिए इस सरकार में आख़री कवायद कर दी है २८ अक्टूबर को ४४ पोर्ट फोलिओज को इधर से उधर किया गया है|बेशक इसमें नए मंत्री शामिल किये गए हैं|एक आध दागी या लेस परफोरमर को हटाया गया है|समस्या पैदा करने वालों को बदला गया है|लेकिन इसके बावजूद भी जनता की अपेक्षा पर यह खरा नहीं उतरा है| सलमान खुर्शीद का प्रोमोशन + श्री प्रकाश जायसवाल,बेनी प्रसाद को अभय दान+ जय पाल रेड्डी को दंड देने से इस नए चेहरे में मुस्कान नहीं आ पाई है| विपक्ष के स्वाभाविक विरोध के अलावा मीडिया ने भी खूब चटखारे लेकर उछाला है|शायद इसीलिए इस नए चेहरे में मुस्कान लाने के लिए अपनी जांची परखी शाक थेरेपी को इस्तेमाल करने के संकेत आने लग गए हैं| तीन नए मंत्री पवन बंसल+वीरप्पा मोइली और मनीष तिवारी ने इसके संकेत भी देने शुरू कर दिए है|

यूं पी ऐ का नया मंत्री मंडल शॉक थेरेपी देने के लिए तैयार

रेल मंत्रालय का कार्यभार पवन बंसल को सौंपा गया है| इससे पहले बंसल संसदीय कर मंत्री थे |बेशक बंसल संसदीय रेल नहीं चलवा पाए मगर अब उन्होंने इस रेल मंत्रालय को सुचारू रूप से चलाने की लुभावन घोषणा कर दी है|अपने पहले वक्तव्य में ही उन्होंने अपनी मंशा जाहिर करते हुए कहा है कि यात्रिओं को सुविधाएँ देने के लिए किराया बढाना होगा|जिस मंत्रालय में किराया बढाने को लेकर दो मंत्री बलिदान हुए टी एम् सी जैसी सहयोगी अलग हुई उस मंत्रालय में किराया बढ़ोत्तरी पहला शाक होगा| मोयली को पेट्रोलियम मंत्री बनाया गया है इनकी न्युक्ति पर ही बवाल मचा हुआ है ऐसे में उन्होंने पेट्रो पदार्थों पर से सब्सिडी का बोझ कम करने को बेहद जरुरी बता कर दूसरा शाक दे दिया है|युवा+तेजतरार लुधियानवी सांसद मनीष तिवारी को ढीली अम्बिका सोनी के स्थान पर सूचना एवं प्रसारण मंत्री बनाया गया है|वैसे तो इन्होने मीडिया पर किसी प्रकार की बंदिश से परहेज़ की बात कहे है मगर इसके साथ ही मीडिया में पेड न्यूज की खिलाफत भी शुरू कर दी है| जाहिर है मीडिया को सरकार के पक्ष में मैनेज करना इनकी प्राथमिकता होगी |यह भी एक शाक ही है|
बताते चलें कि शाक थेरेपी उसे कहा जाता है जहाँ आर्थिक सुधारों के लिए एक के बाद एक आर्थिक शाक /झटके दिए जाते हैं |अर्थ शास्त्र में मिल्टन फ्रेड्में और जेफरे के नाम से दो थेरेपी दर्ज़ हैं| इनकी मान्यता के अनुसार मोटे तौर पर आर्थिक स्थिति को सुद्र्ड करने के लिए सब्सिडी आदि की बैसाखियों हटाना जरुरी है| आर्थिक उदारीकरण जरुरी है|सरकार पर निर्भरता को दूर किय जाना जरुरी है| इसमें एक के बाद एक शाक उस समय तक दिए जाते हैं जब तक कि अपेक्षित लाभ नहीं मिल जाए| छठे दशक के बाद इसका प्रयोग हुआ मगर यह छोटे देशो तक ही सिमित रहा |इसका एक्सपेरिमेंट भारत में भी किया गया और पेट्रोल और रसोई गैस पर से सब्सिडी हटाई गई गई मगर तब इसका चहु और घनघोर विरोध हुआ |बेशक थोड़े समय के लिए दूसरे भ्रष्टाचार सरीखे मुद्दों से ध्यान हटा गया मगर देश इतना विशाल है कि यहाँ यह चिकित्सा ज्यादा देर नहीं चल पाई और सरकार की साख सुधरने के बजाये और दावं पर लग गई है| अपने घटक दल तक विरोधी हो गए|अब फिर वोही भ्रष्टाचार का मुद्दा हावी होता जा रहा है| इसीलिए यह विदेशी आयातित थेरेपी भारत जैसे विशाल देश के लिए उपयोगी हो पायेगी इसमें स्वाभाविक संदेह है|

तेरी सौं इसीलिए पी रहा हूँ

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

झल्ली

हैं ये क्या ?आप ने तो कहा था कि आप ओनली टाईम पास करने के लिए स्काच को हाथ नहीं लगायेंगे लेकिन आप ने तो नई बोतल खोल ली

तेरी सौं इसीलिए पी रहा हूँ


झल्ला

ओये भली लोके ये जो अपने बच्चे हैं ना इन्होने ही शराब पीने के लिए मजबूर कर दिया| ये कह रहे है कि एक खाली बोतल ला दो |दीवाली पर राकेट छोड़ने हैं |
अब घर में ही बोतल पडी थी इसे खाली करने के लिए महंगी स्काच को नाली में थोड़े ही उडेलना था| तेरी सौं इसीलिए पी रहा हूँ