Ad

Archive for: February 2013

प्रगति विज्ञानं संस्था की गणित गीत माला का विमोचन किया

[जगाधरी] गणित के सूत्रों की सीडी देश के नाम कर दी !
जगाधरी हरियाणा में आयोजित हुए एक कार्यक्रम में विज्ञानं एवं प्रोधोगिकी में वैज्ञानिक डॉ-डी के पाण्डेय ने प्रगति विज्ञानं संस्था द्वारा तैयार गणित गीत माला का विमोचन किया
उन्होंने कहा की यह बालको को गणित के सूत्रों को सीखने में इसके गाने काफी हद तक सहयोग करेंगे |.इस अवसर पर संस्था के सचिव दीपक शर्मा भी उपस्थित थे गौरतलब है कि गणित की विषय नीरसता को कम करने के लिए .अब इसके सूत्रों को काव्यात्मक शैली में जोड़ा गया है| प्रगति विज्ञानं संस्था द्वारा इसे काव्यात्मक शैली में रिकॉर्ड किया है. ३५ पेजों की गणित काव्यांजली को सुरों में बांधा गया
|बानगी देखिये .
नाव चले बहाव की और नाव चल में बहाव को जोड़
नाव चले विपरीत बहाव नाव चाल से नदी घटाव
गाडी की जितनी लम्बाई ,उतनी दुरी जब चली जाय, तब खम्बे का पार कर पाई!
ब्याज छमाई जब जुड़े समय दो गुना होए , वार्षिक दर आधा करो सूत्र में रखो सोए !
ब्याज तिमाही जब जुड़े जान लहू सब कोए ,दर को चौथाई करो वर्ष अंक चौगना होए!
कोष्ठक के पहले ऋण हो तो पदों के चिह्न बदल जाते !
कोष्ठक के पहले धन हो तो वैसे ही पद उतर आते !!

राधा गोबिंद इंजीनियरिग कालेज में राष्ट्रीय विज्ञानं दिवस हर्षोल्लास से मनाया गया

राधा गोबिंद इंजीनियरिग कालेज में राष्ट्रीय विज्ञानं दिवस हर्षोल्लास से मनाया गया |इस अवसर पर मुख्य अथिति एन.रतनाश्री ने सौर मंडल से सम्बंधित उपयोगी और रोचक जानकारी देते हुए सप्तऋषि तारामंडल+ध्रुव तारा+और छाया से दिशा का ज्ञान करने के वैज्ञानिक तरीके भी बताये|उन्होंने नेहरू प्लेनेटोरियम में कृतिम सौर मंडल के विषय में भी बताया|
इस अवसर पर डाक्टर बी रमेश ने फसलों को बढाने के लिए नित नए अविष्कारों की जरूरत पर बल दिया उन्होंने कहा कि जी एम् क्राप्स द्वारा खाद्यान सुरक्षा प्रदान की जा सकती है|
वरिष्ठ पत्रकार अनिल बंसल ने भ्रष्टाचार के चलते नीति नियंताओंको निशाने पर लेते हुए बताया कि जी एम् क्राप्स का उपयोग सबसे पहले विदर्भ के किसानो द्वारा किया गया लेकिन नकली बीज की सप्लाई के कारण सबसे ज्यादा आत्म हत्याओं के आंकड़े भी वहीं के हैं|कार्यक्रम का उदघाटन डाक्टर एन रतनाश्रीऔर संचालन सिम्मी गुरवारा ने किया |एन सी उपाध्याय,कालेज अध्यक्ष योगेश त्यागी ने भी विचार व्यक्त किये

बसपाई पार्षद का दिल्ली में अपमान: ये तो शीलागिरी है

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

एक उपेक्षित बसपाई पार्षद

ओये झाल्लेया ये क्या हो रहा है ओये दिल्ली की चीफ मिनिस्टर श्रीमती शीला दीक्षित ने दिल्ली के मयूर विहार फेज़−3 में पूर्वी दिल्ली के कोंडली इलाके में एक सामुदायिक भवन के उद्घाटन किया इस दौरान हसाड़ी लोकल युवा पार्षद प्रियंका गौतम की इन्सल्ट कर दी।सामुदायिक भवन के उद्घाटन बोर्ड में बसपा के स्थानीय पार्षद का नाम नहीं लिख कर दलितों के साथ अन्याय किया गया है।इस के विरोध में जनता ने भी जमकर हंगामा कर दिया । इसके बाद मुख्यमंत्री को काले झंडे भी दिखाए। लेकिन इस सब हंगामे के बावजूद जल्दबाजी में कार्यक्रम को खत्म करते हुए सी एम् ने कह दिया की हमने पार्षद को युवा और अनुभव की कमी के कारण माफ़ कर दिया है । ओये गलती खुद करो माफ़ पीड़ित को करो ये तो सरासर नाइंसाफी है ।

झल्ला

ओ बाऊ जी आज कल इनकी गुड्डी सातवें आसमान पर उड़ रही हैं इसीलिए इन्हें बिजली पानी का विरोध नज़र नहीं आ रहा| इनके लिए अरविन्द केजरीवाल के बिजली आन्दोलन के झटके बेअसर है|प्याज की कीमतों से आंसू नहीं निकलते हैं| ऐसे में ये एक पार्षद को ये क्या समझेंगे ।गनीमत समझो की इन्होने एक पार्षद को बच्चा समझ कर माफ़ कर दिया वरना तो श्री मति सोनिया और राहुल गाँधी जैसे बड़ों के गले लगने वाली शीला दीक्षित ने तो बड़े बड़ों को बड़ा कर दिया है|

भूखे रहकर भक्ति नहीं की जा सकती : हे मालिक राशन भी दो ताकि निश्चिंतता से नाम ले सकूं

भूखे भगति न कीजै । यह माला अपनी लीजै ।
दुह सेरु मांगउ चूना । पाउ घीउ संगि लूना ।
अध सेर मांगउ दाले । मोकउ दोनउ वखत जिवाले ।
खाट मांगउ चउपाई । सिरहाना अवर तुलाई ।
ऊपर कउ मांगउ खींधा । तेरी भगति करै जनु थींधा ।
मैं नाहीं कीता लबो । इकु नाउ तेरा मैं फबो ।
हे मालिक ! मैं भूखा रहकर तेरी भक्ति नहीं कर सकता , इसलिए मैं रोज दो सेर आटा मांगता हूँ । साथ घी , नमक और आधा सेर दाल , ताकि दोनों समय आजीविका की व्यवस्था हो जाये। चारपाई , सिरहाना , बिछौना और ओढ़ने को रजाई भी दे , ताकि दास निश्चिंत होकर तेरी भक्ति कर सके । यह सब मैं कोई लोभवश नहीं मांग रहा हूँ । मुझे तो केवल तेरा नाम ही अच्छा लगता है।
वाणी : श्री गुरु ग्रन्थ साहिब जी
प्रस्तुति राकेश खुराना

“आप” ने आज बिजली के दामों में फ्राड का आरोप लगा कर मुख्य मंत्री,विद्युत् उत्पादक और रेग्युलेटरी कॉर्पोरेशन को घेरा

जनांदोलन में गुरु रहे अन्ना हजारे ने जन लोक पाल पर केंद्र सरकार तो चेले रहे अरविन्द केजरीवाल ने बिजली के मुद्दे पर दिल्ली सरकार के विरुद्ध बिगुल फूँका आप के नेता अरविन्द केजरीवाल ने आज फिर दिल्ली में शीला दीक्षित सरकार को बिजली के झटके दिए | हमेशा की तरह एक प्रेस कांफ्रेंस में दिल्ली सरकार ,विद्युत् विभाग दिल्ली इलेक्ट्रीसिटी रेग्युलेटरी कॉर्पोरेशन [डी ई आर सी]और विद्युत् उत्पादक अनिल अम्बानी और टाटा पर मिली भगत का आरोप लगाया और बिजली के दामो में कमी करने के बजाय दोगुनी बढोत्तरी का आरोप मड़ा| गौर तलब है कि अभी हाल ही में दिल्ली सरकार ने ३% की और बढोत्तरी की घोषणा को समर्थन दे दिया है|ऐसे में इस मुद्दे को उठा कर आप ने ना केवल सरकार को कटघरे में खड़ा करने का प्रयास किया वरन दिल्ली की गद्दी की तरफ एक कदम और आगे बड़ा दिया |
अरविन्द ने घोषणा की है कि दिल्ली की ६१ विधान सभा छेत्रों में प्रति माह एक आम बैठक करके बिजली के लिए मची लूट को उजागर किया जाएगा|
आम आदमी पार्टी की टोपी पहने अरविन्द ने आरोप लगाया कि निजीकरण के जरिए बिजली कंपनियों को फायदा पहुंचाया गया है| निजीकरण से जनता को कोई फायदा नहीं हुआ.उलटे जनता धोखा धडी का शिकार हुई है| उपलब्ध आंकड़ों के हावाले से बताया गया कि दिल्ली में वर्ष २०१० में बिजली के दामो में २३% की कमी की जानी चाहिए थी मगर खर्चे बड़ा कर +नुक्सान दिखा कर बिना आडिट कराये ही बिजली के दामो में दोगुनी व्रद्धी कर दी गई है| बिजली कंपनियां फ्रॉड कर रही हैं और अपने खर्चे बढ़ाकर दिखा रही हैं, जबकि तथ्य यह है कि कंपनियों को नुकसान नहीं फायदा हो रहा है।
आप पार्टी के नेता केजरीवाल ने आरोप लगाया कि दिल्ली में बिजली कंपनियों को फायदा पहुंचाया गया। केजरीवाल ने ये भी कहा कि बिजली के दाम घटाने की सिफारिश शीला सरकार ने नहीं मानी। 4 मई 2010 को शीला सरकार ने बिजली के दाम घटाने के आदेश को रोका। केजरीवाल ने दावा किया कि दिल्ली में बिजली कंपनियों को 3577 करोड़ का मुनाफा हुआ है।और इन कंपनियों का आडिट कराने की मांग को सिरे से नकार कर दिल्ली की सरकार ने जनता के साथ भी धोखा किया है| केजरीवाल ने बताया के 1 % कनेक्शन की जांच करवाई गई। उसमें यह बात सामने आई कि 10 % उपभोक्ताओं के बिल जीरो दिखाए जा रहे हैं। यह भी पता चला कि उपभोक्ता पैसा तो दे रहे हैं लेकिन उस रिकवरी को कंपनियां बही-खातों में दिखा नहीं रही हैं ताकि रेवेन्यू कम दिख सके और लोगों को लगे कि कंपनियों को लगातार घाटा हो रहा है। इसके आधार पर शेष कनेक्शनों की भी जांच की जानी चाहिए थी लेकिन ऐसा नहीं किया गया
केजरीवाल के मुताबिक डी ई आर सी के पूर्व डायरेक्टर बिजेंद्र सिंह ने बिजली के दाम घटाने की सिफारिश की थी। उन्होंने 23 % दाम घटाने की सिफारिश की थी, लेकिन शीला दीक्षित ने दाम घटवाने का आदेश रुकवा दिया। केजरीवाल ने रेगुलेटरी कमीशन के चेयरमैन को बिजली कंपनियों का एजेंट बताया और उन्होंने कहा कि टाटा-अनिल अंबानी की कंपनियां घपला कर रही हैं। जबकि दिल्ली में आधी कीमत पर बिजली दी जा सकती है। उन्होंने बिजली कंपनियों पर मुनाफा और राजस्व छिपाने का भी आरोप लगाया।उन्होंने जनता के हित के बजाय जनता के खिलाफ विद्युत् उत्पादकों के हित में काम करने का आरोप दिल्ली सरकार पर लगाया| अरविन्द केजरीवाल ने २०१० की रिपोर्ट के आधार पर बिजली के दरें लागू करने,अनिल अम्बानी और टाटा की कंपनियों पर धारा ४२० के अंतर्गत मुकद्दमा दर्ज़ करवाने और वर्तमान डी ई आर सी श्री सुधाकर को तत्काल हटाये जाने के मांग की है|यहाँ यह भी बतातें चलें की अरविन्द केजरीवाल के वरिष्ठ रहे अन्ना बाबु राव हजारे ने केंद्र सरकार के विरुद्ध जन लोक पल के लिए बिगुल फूंकने की घोषणा की है तो अरविन्द केजरीवाल ने दिल्ली प्रदेश का तख्ता पलटने के लिए बिजली का सहारा लिया है| अरविन्द के साथ मनीष शिशोदिया और प्रशन भूषण आदि भी उपस्थित थे

जेट के एयर पोर्ट पर काम करने वाले ७५०० कर्मियों के वेतन में बढोत्तरी संभव:एतिहाद के लिए जेट ने एहतियात बरती

एतिहाद से 1८०० करोड़ के समझौते को निर्विघ्न करने के लिए जेट द्वारा एहतियात बरतते हुए ७५०० कर्मियों के वेतन में बढोत्तरी की जा सकती है | खबरें आ रही हैं कि जेट मेनेजमेंट ने दो सालों से लंबित वेतन सम्बन्धी मुद्दों पर कर्मचारियों से चर्चा शुरू कर दी है| नरेश गोयल, प्रवर्तित एयरलाइन ने पहले ही अपने कर्मचारियों की यूनियनों में से एक आल इंडिया जेट एयरवेज आफिसर्स एसोसिएशन के साथ समझौता कर लिया है। अब सभी श्रेणी में वेतन वृद्धि सुनिश्चित हो गई है| एयर पोर्ट पर कार्यरत कर्मियों के वेतन में १८०००/= तक की यह वृद्धि अप्रैल 2011 से लागू हो सकती है| जेट एयर वेज़ और एतिहाद में फायनल पेक्ट होने से पहले एफआईपीबी से क्लीयरेंसजरुरी है और उस क्लीयरेंस से पहले कर्मचारियों के असंतोष को शांत करना अक्लमंदी होगी|

एतिहाद के लिए जेट ने एहतियात बरती
जेट में यु ऐ ई की कंपनी एतिहाद रूचि दिखा रही है |24 % हिस्सेदारी तकरीबन 1 800 करोड़ रुपये में खरीदी जा सकती है।
इससे सरकार की ऍफ़ डी आई की नीति के दरवाजे खुलने के आसार बनते दिखने लगे हैं|इसीलिए सबसे पहले कर्मचारियों के असंतोष को दूर करना जरुरी हैं संभवत इसीलिए एक साल से लंबित कर्मचारियों के वेतन बढोत्तरी की मांग को मान लिया गया है|इसे एक अच्छा संकेत माना जा रहा है क्योंकि क्रमचारियों के असंतोष के नकारात्मक परिणाम किंग फ़िशर एयर लाइन्स और एयर इंडिया पर दिख रहे हैं|

कोहरे के कहर से सड़क,रेल और हवाई यातायात कराह रहा है

मौसम ने यूं टर्न क्या लिया कि जनवरी [ बीते दिन] के कोहरे ने आज फरवरी के पहले दिन कहर बरपाते हुए धुंध की शक्ल लेनी शुरू कर दी |इसका असर पूरे एन सी आर के यातायात पर दिखाई दे रहा है|सड़क से रेल और हवाई सफ़र कराह रहा है|द्र्श्य्ता [ विजिबिलिटी] शून्य तक आने के कारण बीते तीन घंटे से इंदिरा गाँधी एयर पोर्ट और पालम एयर पोर्ट लगभग ठप्प से है|[३४]घरेलू और [१०]अन्तराष्ट्रीय उड़ाने निश्चित समय से देरी से उड़ने को अभिशिप्त हैं|दिल्ली में लगभग ५० ट्रेन्स की आवाजाही प्रभावित है|इनमे विक्रमशिला+काशी विश्वनाथ+ महाबोधि+महानंदा+जन साधारण और गरीब रथ प्रमुख हैं| चौड़ी सडकों पर महंगे वाहन भी हेड लाईट जला कर रेंगते दिखाई दे रहे हैं| मेरठ में बीती रात अनेकों वहां आपसमे टकरा कर क्षतिग्रस्त हो गए |मौसम विशेषज्ञों की राय के अनुसार इस बदलाव से ई ठण्ड का प्रभाव अभी एक हफ्ते और चलेगा|वैसे दोपहर तक कोहरे के छटने की संभावना जताई जा रही है|

पेशी पर आये बदमाशों ने सिपाहियों को पीटा और सरकारी रायफल छीनने का प्रयास किया

पेशी पर आए दो शातिर बदमाशों ने मेरठ कचहरी परिसर में सेशन हवालात के पास सिपाहियों से मारपीट कर दी और रायफल छीनने का प्रयास किया। इसी दौरान साथी पुलिसकर्मियों ने किसी तरह बंदियों को दबोचा और उन्हें सेशन हवालात में बंद किया। दोनों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई गई है।दोनों आरोपियों को जेल के डाक्टर हरपाल की हत्या के मामले में कोर्ट में लाया गया था। सूचना पर पुलिस फोर्स मौके पर पहुंची और आरोपियों के खिलाफ सिविल लाइन थाने में कई धाराओं में मुकदमा दर्ज किया।

पेशी पर आये बदमाशों ने सिपाहियों को पीटा और सरकारी रायफल छीनने का प्रयास किया


चौधरी चरण सिंह कारागार के डाक्टर हरपाल की हत्या के मामले में कंकरखेड़ा, तुलसी कालोनी निवासी गौरव सिरोही पुत्र रामकुमार सिरोही और शास्त्रीनगर 108/13 निवासी अजय शर्मा पुत्र कृष्ण शर्मा जेल में बंद हैं। दोनों आरोपियों पर इसी मामले में गैंगस्टर भी लगी है और दोनों की गुरुवार को गैंगस्टर कोर्ट में पेशी थी। प्राप्त जानकारी के अनुसार सुरक्षा के लिए सिपाही शाहनवाज और अमित कुमार को लगाया गया था। कोर्ट से लौटते समय सेशन हवालात के पास ही गौरव के एक परिचित ने उसे कुछ सामान दिया। कांस्टेबल शाहनवाज ने इसका विरोध करते हुए गौरव और उसके परिचित को हिदायत दी, जिसके बाद गौरव भड़क गया। कांस्टेबल शाहनवाज ने बताया कि गौरव व अजय ने उनपर हमला कर दिया और मारपीट कर रायफल पर भी हाथ डाल दिया । इसी दौरान साथी पुलिसकर्मियों की नजर पड़ गई और उन्होंने गौरव व अजय को दबोच लिया। किसी तरह दोनों को काबू कर अंदर बंद किया गया| गौरव पर पूर्व में 13 मुकदमें दर्ज है और अजय के खिलाफ 12 केस हैं।प्रत्यक्ष दर्शियों के अनुसार ये आरोपी यह दावा भी करते रहे कि जमीन विवाद के कारण भाजपा विधायक संगीत सोम पर गोलियां उन्हने ही चलवाई थी |

जय ललिता ने तथ्य प्रधान पट कथा,चुटीलेसंवाद,आकर्षक भाव भंगिमाओं के साथ “विश्वरूपम” पर बैन को सही ठहराया

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

एक दुखी सिने प्रेमी

ओये झल्लेया ये क्या नयी भसूडी डाल दी | दुनिया भर से तमाम आलोचना होने और केंद्र सरकार के कहने के बावजूद ये साउथ की महारानी तमिल नाडू की मुख्य मंत्री जयललिता ने कमल हासन की सबसे महंगी फिल्म विश्व रूपम पर लगाये गए बैन को सही ठहरा दिया है|और तो और अपने चेन्नई में मीडिया के सामने आकर पूरे मामले को घुमा कर रख दिया | अब उन्हें वहां राज्य में शांति व्यवस्था बनाए रखने की चिंता खाने लगी है|
ओये आंध्र प्रदेश और कर्नाटक आदि पड़ोसी राज्यों के साथ कतर, संयुक्त अरब अमीरात, श्रीलंका, मलेशिया और सिंगापुर आदि देशों में इस पर प्रतिबंध लग चुका है।अब तो लगता है कि भारतीय अर्थ व्यवस्था को भी १०० करोड़ का चूना लगे ही लगे|

“विश्वरूपम” पर बैन


झल्ला

भोले राजा अगर शुरुआत में आपके कमल हासन फिल्म के कुछ आपत्ति जनक दृश्य हटाने और मुस्लिम संगठनों को इसे दिखाने के लिए तैयार हो जाते तो आज हालात यहां तक नहीं पहुंचते।लेकिन तब तो उन्हें फिल्म की पब्लिसिटी मुफ्त में मिल रहे थी|अब जब फिल्म गद्दिगेड में पड़ी है तब इस्लाम याद आ रहा है| अपना उत्पीडन दिख रहा है| लेकिन वोह शायद ये भूल गए कि जयललिता भी पुरानी अभिनेत्री और राजनीतिक हैं मीडिया के सामने उन्होंने कसी हुई+ तथ्य प्रधान पट कथा + चुटीले संवाद+आकर्षक भाव भंगिमाओं के साथ मीडिया के कैमरों का सामना किया है उस के लिए इस पुराने मंझे कलाकार को बधाई देनी तो बनती ही है|अब जयललिता ने कह दिया है कि विश्व रूपम राज्य के 524 थियेटरों में रिलीज होनी थी, लेकिन राज्य के पास जितना पोलिस बल है उससे इतने थियेटरों में सुरक्षा-व्यवस्था बनाए रखना संभव नहीं था उन्होंने कमल हासन के साथ अपने धुर्र विरोधी एम् करूणानिधि वित्त मंत्री पी चिदम्बरम और सूचना एवं प्रसारण मंत्री मनीष तिवारी को ठेंगा दिखाते हुए कह दिया है कि करीब सौ करोड़ की लागत से बनी इस फिल्म पर सरकार को प्रतिबंध लगाने का अधिकार है लेकिन उनकी सरकार ने सिर्फ 15 दिन की पाबंदी लगाई है। ताकि मामला कुछ शांत हो और कमल हासन व मुस्लिम संगठन कोई समझौता कर सकें।अब तो बाल फिर से कमल हासन के पाले में डाल दी गई है |अगर अभी भी राजनीती या पब्लिसिटी लाभ का मोह नहीं छोड़ा गया तो यही कहना पडेगा ना खुदा मिला और न ही विसाले सनम