Ad

Category: Crime

न्यायिक स्वतन्त्रता के सिद्धांत का पालन सरकार करे =प्रधान न्यायधीश एच एस कपाडिया

कल भारत के राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने राष्ट्र के नाम सन्देश में संवेधानिक संस्थाओं का सम्मान किये जाने को राष्ट्रीय हित में बताया था और आज एक संवैधानिक संस्था न्यायपालिका के न्यायाधीश ने दूसरी संस्था विधायकी को न्यायिक सिद्धांत कि अवधारणा से नज़र नहीं हटाने के लिए
टिपण्णी कर दी है|
भारत के प्रधान न्यायधीश एच एस कपाडिया ने लोकतंत्र के एक मजबूत संस्था न्यायपालिका की स्वतंत्रता से छेड़ छाड़ न किये जाने के लिए सरकार को आगाह किया |उन्होंने न्यायपालिका के अपने दायरे से बाहर जाने की बात तो स्वाकरी मगर उसके साथ ही न्यायपालिका की स्वतंत्रता की बहाली के लिए आवाज़ भी उठाई |
श्री कपाडिया ने उच्चतम न्यायालय में स्वाधीनता दिवस समारोह में न्यायिक मानक एवं जवाब देही विधेयक की तरफ इशारा करते हुए कहा की सरकार न्यायधीशों की जवाब देही तय करने के लिए क़ानून तो बना सकती हैलेकिन उसे न्यायिक स्वतंत्रता के सिद्धांतों के साथ छेड़ छाड़ नहीं करनी चाहिए |
गौर तलब है कि इस विधेयक को अभी राज्य सभा में पारित किया जाना है इसमें एक धारा पर चलती अदालत में न्यायाधीश को अवांछित टिपण्णी करने से रोकने का प्रावधान है|जसी पर न्यायाधीशों को एतराज़ है|
दरअसल इन दोनों संस्थाओं में पिछले कुछ समय से शीत युद्ध जैसी स्थिति देखी जा रही है कमोबेश येही समस्या पड़ोसी मुल्क को भी परेशान किये हुए हैं |चूंकि श्री प्रणव ने संवैधानिक संस्थाओं के सम्मान में कोई कम्प्रोमाईज नहीं किये जाने की बात कह दी है सो अब न्यायपालिका ने अपनी स्वतन्त्रता के लिए आवाज़ उठा दी है|

फरार चल रहे गोपाल कांडा के अब नेपाल भाग जाने की अटकलें

भारत के लोकतांत्रिक ढाँचे में एक राज्य के गृह राज्य मंत्री और एक एयर लाईन्स के मालिक न्यायिक प्रक्रिया से भाग गए हैं|अब मीडिया में उनके विदेश भाग जाने की अटकलें लगाई जा रही है|
एयर होस्टेस गीतिका शर्मा के सुसाईड नोट में हरियाणा के गृह राज्य मंत्री गोपाल कांडा को भी जिम्मेदार ठहराया गया था|तभी से गोपाल कांडा फरार चल रहे हैं| यहाँ तक की लुक आउट भी ईशू किया गया है| हरियाणा के चीफ मिनिस्टर भूपेंद्र सिंह ने गोपाल का इस्तीफा स्वीकार करके इतिश्री कर ली है|सिविल एविएशन ने [एम् डी एल आर के विषय में जांच की ]तो अभी तक इस दिशा में कोई फाईल ही नहीं खोली है|अग्रिम जमानत के लिए दी गई अर्जी निचली अदालत में खारिज हो चुकी है| ह्हाई कोर्ट में निर्णय सुरक्षित रखा गया है| गोपाल कांडा के वकील यह दलील देते फिर रहे थे कि उनके मुवक्किल फरार नहें है अगर दिल्ली पोलिस उन्हें गिरफ्तार नहीं करे तो वह सरेंडर करने को तैयार हैं|हाई प्रोफाईल केस होने से पहले तो गिरफ्तारी से बचते रहे हैं |अब चहुँतरफा दबाब के कारण दिल्ली पोलिस ने हाथ पावँ मारने शुरू किये तो बताया जा रहा है कि गोपाल कांडा देश छोड़ कर नेपाल या दुबई भाग गए हैं|
२३ वर्षीय गीतिका का शव उनके निवास अशोक विहार में पंखे से लटका मिला था |सुसाईड नोट में एम् डी एल आर की अधिकारी अरुणा चड्डा और मालिक गोपाल कांडा द्वारा गीतिका को आत्म हत्या के लिए मजबूर करने का दोषी ठहराया गया था|

अमेरिकी सिखों ने अमेरिकी राष्ट्रपति को धन्यवाद दिया

बेशक भारत में सिख समुदाय अमेरिका के राष्ट्रीय ध्वज को जला रहे हो या संसद में गालियां दी जा रहे हों मगर अमेरिका के सिख वहां के राष्ट्रपति को धन्यवाद ही दे रहे हैं|कल भी एक ज्ञापन सौंप कर अमेरिकी ध्वज को आधा झुकाने के लिए राष्ट्रपति को धन्यवाद दिया है|
गौरतलब है की ५ अगस्त के रविवार में वेड माईकल पेज नामक एक श्वेत नस्लवाद से पीड़ित आतंकवादी ने ओक क्रीक विस्कोंसिन गुरुद्वारे में अंधाधुंध फायरिंग करके पांच पुरुष और एक महिला की हत्या कर दी थी कई घायल हो गए थे एक पोलिस अधिकारी भी घायल हो गया था |तभी से गुरद्वारों में विशेष अरदास और केंडल मार्च आयोजित किया जा रहे है|
इसके शोक में अमेरिका के ध्वज आधे झुका दिए गए थे| घटना की जांच के आदेश दे दिए गए हैं |और बराक ओबामा ने इस जघन्य हत्याकांड को अमेरिका की सार्वभौमिकता पर अटैक बताया था |
सिखों के नेता गुरचरण सिंह ने वाशिंगटन मेट्रोपोलिटन गुरुद्वारा फेडरेशन और अमरीकन सीखो की तरफ से व्हाईट हाउस में ज्ञापन सौंपा और सिखीके मुख्य उपदेश मानस की जात सभै एक ही पहचानिबो के प्रति अपनी प्रतिबद्दता को दोहराया |
गुरु नानक की अध्यात्मिक गद्दी के वारिस दशम पादशाही गुरु गोबिंद सिंह के सिखों के लिए पांच ककार[कंघा+ केश+कृपाण+ कडा+कच्छा]धारण करना जरुरी है और केशों के लिए सर पर पगड़ी भी रखी जाती है मगर अमेरिका में सिखों के प्रति गलत फहमी + केश और पगड़ी के कारण उन्हें भी आतंक वादी समझ लिया जाता है और नसलवाद का शिकार बना दिया जाता है| इसीलिए अब अमेरिका में सिख और उनके धर्म के प्रति जागरूकता जरुरी है इसी उद्देश्य की पूर्ती के लिए न्युयोर्क पोलिस डिपार्टमेंट में सिखों को पगड़ी धारण की आज्ञा दिए जाने की भी मांग की जारही है|

बिना बुलाये पत्रकार आये तो बंद करा दिए जायेंगे =शिव पाल यादव

प्रदेश के पी डब्लू डी मंत्री शिव पाल यादव आज कल मीडिया से बौखलाए से फिर रहे हैं तभी उन्होंने पार्टी के गढ़ समझे जाने वाले सैफई में पत्रकारों को बंद करा देने की धमकी तक दे डाली
श्री यादव सैफई में जन समस्यायों को सुन रहे थे तभी आदतन पत्रकारों का जमावड़ा वहां होने लगा |इलेक्ट्रोनिक्स मीडिया वाले बाईट्स के लिए दबाब बनाने लगे |एक आध माईक मंत्री जी के मुह के कुछ करीब आ गयाइस पर भड़क कर श्री यादव ने सूचना अधिकारी को आवाज़ दी जोकि अनसुनी हो गई इस पर भड़क कर उन्होंने पत्रकारों से कहा कि बिना बुलाये अगर दोबारा आ गए तो बंद करा दूंगा |गौरतलब है कि मंत्री जी मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के अंकल हैं और पार्टी सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव के छोटे भाई भी हैं|
दरअसल पिछले दिनों अपने विवादस्पद बयानों को लेकर शिव पाल यादव मिडिया के निशाने पर रहे हैं अब चूंकि दूध का जला छाज भी फूंक फूंक कर पीता है सो सैफई में सेफ रहने के लिए श्री यादव ने मिडिया को अनसेफ करने कि धमकी दे डाली

सोचे-समझे बिना कभी किसी को पीड़ा नहीं पहुंचानी चाहिए .

अंतर दाव लगी रहै, धुआं ना प्रगटै सोई
कै जिय आपन जानहिं, कै जिहि बीती होइ
अर्थ : रहीम दास जी कहते है मन में अग्नि धधकती रहती है, परन्तु उसका धुंआ
बाहर प्रकट नहीं होता. जिस व्यक्ति के मन पर जो घटित हो रहा होता है ,
उसका अंतर ही उसको जान सकता है, अन्य कोई नहीं .
भाव : इस दोहे का भाव यही है कि प्रत्येक व्यक्ति का अपने जीवन में अपना
ही दुःख- सुख होता है. किसी की क्या पीड़ा है , वह तब तक नहीं जानी
जा सकती , जब तक वह स्वयं अपने मुख से न कहे .
इसलिए बिना सोचे-समझे कभी किसी को पीड़ा नहीं पहुंचानी चाहिए .
जीवन में न जाने कितने-कितने लोगों के साथ हमारा मिलना-जुलना
होता है और उनके मन की बात को जाने बिना ही हम या तो उन्हें
सलाह देने लगते हैं या उनके किसी कार्य अथवा बात को देख-सुनकर
उस पर टिप्पणी करने लगते है या उसकी आलोचना करने लगते हैं .
यह प्रवृति सरासर गलत है .

विधायकी से क़ानून बनाने का काम कोई नहीं छीन सकता =महामहिम

राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने आज लोकतांत्रिक संस्थाओं पर हमला करने वालो को चेतावनी देते हुए कहा कि लोक तांत्रिक संस्थाओं पर प्रहार जारी रहे तो देश में अव्यवस्था अराजकता फ़ैल सकती है\
देश के ६६ वें स्वतंत्रता दिवस कि पूर्व संध्या पर राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि देश में भ्रष्टाचार कि महामारी के खिलाफ जनाक्रोश जायज है|यह महामारी हमारे देश को खोखला कर रही है|कभी कभार जनता अपना होश भी खो देती है मगर उसे लोकतांत्रिक संस्थाओं पर प्रहार करने का बहाना नहीं बनाना चाहिए|
महामहिम ने कहा कि ये संस्थाएं संविधान के महत्वपूर्ण स्तम्भ हैं|और इनके बिना आदर्शवाद नहीं रह सकता|हो सकता है कि ये संस्थाएं कुछ सुस्त हों मगर इस सुस्ती को बी संस्थाओं को ध्वस्त करने का बहाना नहीं बनाया जा सकता| सिधांत और जनता के बीच ये संस्थाएं मिलाने वाले बिंदु का काम करती हैं उन्होंने संसद कि सर्वोच्चता को व्यक्त करते हुए कहा कि विधायकी का काम कानून बनाना है जिसे कोई नहीं छीन सकता \संस्थान को ध्वस्त करने के बजाये अच्छे परिणामों के लिए दोबारा से तैयार किया जा सकता है |ये संस्थाएं ही हमारी आज़ादी की अभिभावक हैं|
अपने सन्देश में यद्यपि महामहिम ने अन्ना टीम या बाबा राम द्रव के अनशनों का नाम नहीं लिया मगर लोक तांत्रिक संस्था संसद पर प्रहार करने के लिए अप्रत्यक्ष रूप से उन्हें चेतावनी भी दे डाली|सत्ता पक्ष द्वारा बेशक ये कहा जा रहा है कि अन्ना और बाबा को कोई तव्वजोह नहीं दी गई मगर राष्ट्रपति का राष्ट्र के नाम यह सन्देश ज्यादा तर उन्ही आंदोलनों को एड्रेस करता दिखाई दिया है

ईरान के बाद तायवान जापान और कश्मीर में भी भूकम्प के झटके

ईरान में तबाही मचाने के बाद अब भूकम्प के झटके जापान तायवान और कश्मीर में भी महसूस किये गए हैं| ईरान के अलावा और कहीं से जान माल का नुकशान होने की खबर नहीं है |सिन्हुआ समाचार एजेंसी के मुताबिक जापान में ७.३ त्रीवता मापी गई है|सुनामी की आशंका से इनकार किया गया है| ईरान में भूकंप से मरने वालों की संख्या ३०० से ऊपर पहुँच गई है|भारत की राज्यसभा ने शोक प्रस्ताव भेजा है|

पाकिस्तान की आज़ादी के पूर्व दिवस पर भी नहीं रुक रहा पलायन

पाकिस्तान से हिन्दुओं का पलायन रुकने का नाम नहीं ले रहा है |पाकिस्तान की आज़ादी की पूर्व संध्या पर भी हिन्दू परिवारों का तीसरा जत्था भारत की सीमा में प्रवेश कर गया है|
इस जत्थे में तें परिवारों के १४ सदस्य बताये जा रहे हैं|जत्थे की महिलायें पकिस्तान में अल्पसंख्यक हिन्दुओं की दुर्दशा का वर्णन करके हिन्दू और सिखों के आव्रजन को सरल बनाये जाने की भी मांग कर रही है|
इससे पूर्व भी दो जत्थे भारत में आ चुके हैं पाकिस्तान द्वारा इनके वापिस जाने की शर्त पर ही इन्हें भारत प्रवेश की आज्ञा दी जा रही है|भारत में भी ऐसे हिन्दुओं की सहायता के लिए लोग आगे आने लगे हैं|

बाज़ार आज थोड़े सुधार के साथ बंद हुआ|

बाज़ार आज थोड़े सुधार के साथ बंद हुआ|
सेंसेक्स ९५ अंक लेकर १७७२८ और
फिफ्टी ३२ अंकों के साथ ५३८० पर बंद हुआ
मुद्रा स्फीति जुलाई के अंत तक ६.८७ दर्ज की गई है|

मराठा नेता विलास राव देश मुख के सम्मान में राजकीय शोक

मराठा नेता विलास राव देश मुख के सम्मान में राजकीय शोक घोषित किया गया है राष्ट्रीय ध्वज आधा झुका रहेगा|१५ अगस्त के कार्यक्रम भी होंगें |
सडसठ साल के इस क्राउड पुलर के निधन पर आज संसद के दोनों सदन स्थगित कर दिए गए हैं|
श्री देशमुख का चेन्नई स्थित ग्लोबल अस्पताल में निधन हो गया|किडनी और लीवर का इलाज़ करवाने के लिए श्री देश मुख को भर्ती कराया गया था मगर उनकी तबियत लगातार बिगड़ती चली गई| पिछले कई दिन से वेंटिलेटर पर रखा गया था |किडनी डोनर मिलने के बावजूद भी इन्हें बचाया नहीं जा सका |
आदर्श घोटाले में क्लीन चित पाने वाले इस नेता को आदर्श नेता कहा जाता रहा है|पिछले दिनों क्रिकेट से जुड़े होने के कारण अभिनेता शाहरुख़ खान से भी हुए विवाद में ये चर्चा में रहे थे|
विलास राव देश मुख कांग्रेस के कद्दावर नेता थे महाराष्ट्रा के दो बार मुख्य मंत्री रहे एक बार तो वर्तमान गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे के लिए इन्हें सीट छोड़नी पडी थी और केंद्र में विज्ञान प्रोद्योकी मंत्री थेलेकिन अस्पताल में भर्ती होने के कारण उनका पोर्टफोलियो ट्रासफर कर दिया गया था |
वकालत पास करने के बावजूद लातूर के सरपंच बने श्री देश मुख ने प्रशासनिक उपलब्धियां भी हासिल की अन्ना हजारे और सरकार के बीच सेतु बन कर अन्ना के अनशन को समाप्त कराया था |
विलासराव देश मुख के सम्मान में आज संसद को भी स्थगित किया गया है|