Ad

Category: Crime

मारुती सुजुकी का शेयर गिरा

मारुती सुजुकी देश की सबसे बड़ी और अब तक की सफल मोटर कंपनी है|इसके शेयर आज १०९.३० पैसे गिर कर बंद हुए |ऐसा मानेसर स्थित कंपनी में हड़ताल और आगजनी के कारण हुआ |बीते दिन एक वर्कर और सुपरवाईज़र के बीच किसी काम को लेकर गर्म बहस के बाद एक वर्कर को बर्खास्त किये जाने से वर्कर भड़क गए और कंपनी के मानेसर स्थित प्लांट में चार जगह आग लगा दी गई इससे एक वरिष्ठ अधिकारी अवनीश कुमार देव की जलने से मौत हो गई और ८०के लगभग घायल हो गए\
पोलिस ने अब तक ९९ दोषिओं को अरेस्ट कर लिया है और शेष के लिए दबिश जारी है|
हरियाणा सरकार के मंत्री आर सुरजेवाला और चीफ सेक्रेटरी ने कड़ी कार्यवाही का आश्वासन दिया है|फिलहाल ५.५ लाख यूनिट प्रोडक्शन में सक्षम यह प्लांट फ़िलहाल बंद कर दिया गया है\

देश के पहले नागरिक के लिए चुनाव में मुलायम सिंह की गलती

देश के पहले नागरिक के लिए आज सुबह से ही चुनाव हो रहा है | अब तक डाक्टर मन मोहन सिंह+श्रीमती सोनिया गाँधी +एल के अडवानी+यशवंत सिंह+मुलायम सिंह यादव+नरेश अगरवाल+अरुण जैतली+जेठमलानी+कपिल सिबल आदि अपने दल बल के साथ वोट डाल चुके हैं|
आज सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने इक बैलेट फाड़ कर दुबारा वोट कास्ट किया |पहले उन्होंने गलती से पी ऐ संगमा को वोट दे दिया उसके बाद गलती सुधारने के लिए पहली बैलेट फाड़ कर दुबारा प्रणव मुख़र्जी को वोट डाला|बीजेपी के चुनाव अधिकारी सतपाल जैन ने इस पर ऐतराज़ जताया है|
यद्यपि वोटों का गणित एक के मुकाबिले दो से प्रणव मुख़र्जी के फेवर में हैं और इस एक वोट से कोई फर्क नहीं पड़ने वाला मगर गलती तो गलती है और ऐतराज़ तो ऐतराज़ है|
फोटो में अपने दल बल के साथ वोट डालने जाते मुलायम सिंह यादव

चोरों ने अब मलाईदार विभागों से रिटायर्ड अधिकारियों के आवास को निशाना बनाया

मलाईदार विभागों से रिटायर्ड अधिकारियों के आवास को अब चुन चुन कर चोरों द्वारा निशाना बनाया जा रहा है\मेरठ में दो रिटायर्ड अभियंताओं के घरों से करोड़ों रुपये चोरी कर लिए गए हैं\
मवाना रोड स्थित डिफेंस कालोनी निवासी दलीप कुमार चतुर्वेदी एम् ई एस से चीफ इंजिनीयर के पद से रिटायर हुए हैं \कल जब वोह अपनी रिश्ते दरी से लौटे तो उन्हें घर अस्तव्यस्त मिला चतुर्वेदी ने चोरी गई रकम का खुलासा करने से मना कर दिया एक अनुमान के मुताबिक डेड करोड़ रुपयों का सामान चोरी हुआ है शहर के दूसरे हिस्से में स्थित इंदिरापुरम वैशाली में रिटायर्ड अधिशासी अभियंता नरेश कुमार गर्ग को घर में ही बंधक बना कर लुटे जाने का समाचार मिला है\

मुख्यमंत्री जी इनवर्टर भी फुँकने लग गए हैं

मुख्यमंत्री जी इनवर्टर भी फुँकने लग गए हैं
सपा ने तीन महीने पहले जितने भी लुभावने वादे किये थे उन्हें जांचने के लिए अभी और समय दिया जाना जरुरी है मगर बिजली की किल्लत से जो जन जीवन बेहाल है वोह और समय देने के मूड में नहीं दिखता|पश्चमी उत्तर प्रदेश में चुनावी वादे के मुताबिक २० घंटे बिजली के बजाय यह जूमला सुनने को मिल रहा है कि बिजली आती ही कब है?
दिन में सूरज की गर्मी और रात में उमस ने जीना मुश्किल किया हुआ है और आने वाले समय में मौसम विभाग मौसम में अभी और उछाल देख रहा है\
ऐसे में बिजली और पानी थोड़ा राहत पहुंचा सकते हैं मगर ये दोनों नियामतें आम आदमी से दूर कर दी गई हैं|
सुबह उठो तो बिजली नहीं रात सोने जाओ तो बिजली नहीं दुपहर खाना खाने बैठो तो बिजली नहीं रात खाना खाने बैठो तो बी जली नहीं |बिजली कि इस आँख मिचौली से इनवर्टर भी बैठने लगे हैं लोग सडकों पर उतरने लगे हैं केवल बिजली मांग रहे हैं बदले में पोलिस कि लाठियां मिल रही हैं|बिजली नहीं तो पानी नहीं |मेरठ में तो आये दिन बिजली और पानी के लिए मारामारी हो रही है| नौचंदी इलाके में ४८ घंटे की कटौती के बाद अधिकारिओं के अमानवीय+ अव्यवहारिक+ गैर व्यवसाई व्यवहार से लोगों का सब्र बाँध टूट गया और चोराहों पर जाम लगा दिया गया|शहर के दूसरे हिस्से श्रधापुरी में पानी के लिए महिलाओं ने लगभग ६ घंटे तक जाम लगाए रखा | | आज स्थानीय भाजपाईयों ने भी एम् डी कार्यालय में बिजली की मांग करके ओप’चारिकता पूरी की
मुख्यमंत्री ने बेशक केंद्र सरकार से ५७००० करोड़ रु’पाए वसूल लिए मगर हमें बिजली कब मिलेगी ???

एच एस बी सी बैंक ने अमेरिकी सीनेट से माफी मांगी

एच एस बी सी बैंक आज अमेरिकी सीनेट से माफी मांग ली है| इस बैंक पर आतंकवादियों के अरबों डालर के लेन देन का आरोप लगाया गया था जिसकी अमेरिकी सीनेट ने भर्त्सना की थी |
आज बैंक ने माफी माँगते हुए स्वीकार किया है कि आतंकवादियों ने मनी ट्रांजेक्शन के लिए इस बैंक को मिदीयेटर बनाया था जिसके विषय में बैंक को जानकारी नहीं थी |
पूर्व में अमेरिकी सीनेट ने एच एस बी सी बैंक की नियंत्रण सम्बन्धी खराब क्षमता को निशाना बनाते हुए अनेक संदिघ्ध संस्थाओं से लेन देन के आरोप लगाए थे सीनेट के एक पेनल ने बैंक पर आरोप लगाये थे कि बैंक ने आतंकिओं+मनी लांड्रिंग+और नशीले पदार्थों के व्यापारिओं से अरबों डालर कि बैंकिंग की है|यह केवल अमेरिका ही नहीं भारत में भी हो सकता है|
भारत में आतंक वादियों के मिदियेटर बनने के आरोप भी इस बैंक पर लगे हैं ऐसे में इंडिया में भी आर बी आई को सीरियसली मुद्दे की जांच करवाई जानी चाहिए एच एस बी सी बैंक पर अरबों डालर का अवैध व्यापारियों से बैंकिंग का आरोप लगाया गया है Permalink: http://jamosnews.com/

पोलिस के डिपुटी अधीक्षक को किया लाईन हाज़िर

अमानवीय व्यवहार के लिए सीतापुर के डिपुटी अधीक्षक जयप्रकाश सिंह को लाईन हाज़िर कर दिया गया है|
बीते दिन सीतापुर में एक लावारिस लाश मिली थी उसकी जाँच को पहुंचे डी एस पी सिंह ने लाश के ऊपर पड़े कपडे को अपने पैरों
से हटा कर देखना शुरूकर दिया इससे प्रत्यक्ष दर्शिओं में भी रोष व्याप्त हुआ \एक चेनल के रिपोर्टर ने जब यह समाचार दिखाया तब
जा कर पोलिस चेती और डी एस पी को लाईन हाज़िर कर दिया गया \
इससे पूर्व इसी सीता पुर में एक दरोगा पर थाणे में युवती के बलात्कार का आरोप
है मगर इस दिशा में अभी तक कोई कार्यवाही नहीं हुई है

माधव पुरम में लाखों की चोरी

मेरठ यूं पी
चोरों पर पोलिस की कमान अभी तक मज़बूत नहीं हो पाई है इसीलिए चोरी का ग्राफ लगातार उठता जा रहा है| चोरों ने वोडाफोन के एक कर्मचारी के मकान से लाखों रुपये का माल साफ़ कर दिया।
ब्रह्मपुरी थाना क्षेत्र सेक्टर-3 के माधवपुरम में मुजम्मिल पुत्र हकीम परिवार सहित सोम वार की रात छत पर सोया था रात के समय चोर मकान के अंदर घुस गए और दो लाख का माल ले गए। सुबह उठने पर उसे चोरी की जानकारी हुई। मकान मालिक की ओर थाने में तहरीर दी गई है|पांच हजार कैश, सोने की चेन,

सुप्रीम कोर्ट =पब्लिक प्रापर्टी की तोड़ फोड़ की भरपाई आन्दोलनकारिओं से की जा सकती है?

आंदोलनों के दौरान पब्लिक प्रोपर्टी के नुकसान की भरपाई के लिए पोलिटिकल पार्टी और स्टेट सरकार को दोषी ठहराया जाना चाहिए|सुप्रीम कोर्ट ने यह सलाह देते हुए पुछा ही की क्या आन्दोलन के दौरान तोड़ फोड़ करने वाली पोलिटिकल पार्टी की मान्यता भी समाप्त की जा सकती है|
जनवरी २०११ में जाट आन्दोलन के कारण रेलवे को हरियाणा में ३३.९५करोद रुपयों का नुक्सान हुआ था |यूं पी हरियाणा और मणिपुर में हुए आंदोलनों पर प्रस्तुत एक पी आई एल की सुनवाई पर सलाह देते हुए जस्टिस जी एस सिंघवी और एस जे मुखोपाध्याय की बेंच ने सोलिसिटर जनरल आर नरीमन से पूछा की क्या नुक्सान की भरपाई राज्य सरकारों से की जा सकती है बेशक बाद में राज्य दोषी पार्टिओं से वसूली कर सकता है |इसके अलावा आंदोलनों में तोड़ फोड़ की दोषी पोलिटिकल पार्टी की मान्यता को समाप्त करने के लिए भी क्या चुनाव आयोग को लिखा जा सकता है|

गुटखा पूरे देश में प्रतिबंधित है

गुटखा पर प्रतिबन्ध के प्रति अपने संकल्प को दोहराते हुए केंद्र सरकार ने इस प्रतिबन्ध को वापिस लिए जाने की तमाम संभावनाओं और अटकलों पर विराम लगा दिया है|
केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बीते दिन यह स्पष्ट किया कि नियमन २०११ के तहत गुटखा की बिक्री समूचे देश में प्रतिबंधित है|इसपर पुनर्विचार का सवाल ही पैदा नहीं होता सभी प्रदेशों को इस बाबत पत्र भी लिखा जा चुका है|एम् पी +केरल+बिहार+महाराष्ट्रा की सरकारों द्वारा इसके पालन के लिए निर्देश भी जारी कर दिए गए हैं|इस विषय में कुछ लोगों द्वारा भ्रम फैलाया जा रहा है मगर देश के खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण द्वारा दिल्ली की हाई कोर्ट में शपथ पत्र दाखिल करके यह कहा जा चूका है की सरकार गुटखा को प्रतिबंधित मानती है|
गौरतलब है कि गुटखा को केंसर जैसी बिमारिओं का जनक भी माना जाता है इसके प्लास्टिक पाउच से पर्यावरण को नुक्सान पहुंचता है इसीलिए इसकी रोकथाम के लिए स्वयम सेवी संथाओं द्वारा भी देश व्यापी अभियान चलाया जा रहा है |
उत्तर प्रदेश में युवा मुख्यमंत्री अखिलेश सिंह यादव ने तो गुटखा प्रयोग को हतोत्साहित करने के लिए गुटखा और सिगरेट पर ५०% टेक्स लगाने के आदेश दे दिए हैं| यूं पी वैट एक्ट-2008 के अंतर्गत अभी तक गुटका पर 13.50 % तथा सिगरेट पर 17.50 %टैक्स था। सिगरेट पर 17.50 फीसद टैक्स में अभी पांच फीसद एडीशनल टैक्स है। सरकार ने सिगरेट पर 50 फीसद टैक्स लगाने के साथ ही वर्तमान में लागू पांच फीसद एडीशनल टैक्स को यथावत बनाए रखने का भी निर्णय किया है। इससे गुटखा और सिगरेट के प्रयोग की गति कम होगी \

एच एस बी सी बैंक पर अवैध व्यापारियों से बैंकिंग का आरोप

एच एस बी सी बैंक पर अरबों डालर का अवैध व्यापारियों से बैंकिंग का आरोप लगाया गया है \अमेरिकी सीनेट ने बैंक की नियंत्रण सम्बन्धी खराब क्षमता को निशाना बनाते हुए अनेक संदिघ्ध संस्थाओं से लेन देन के आरोप लगाए हैं|
सीनेट के एक पेनल ने बैंक पर आरोप लगाये हैं कि बैंक ने आतंकिओं+मनी लांड्रिंग+और नशीले पदार्थों के व्यापारिओं से अरबों डालर कि बैंकिंग की है|यह केवल अमेरिका ही नहीं भारत में भी हो सकता है|
भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा इसे गंभीरता से लिया जाना चाहिए