Ad

Category: Crime

१.८६ लाख करोड़ के कोल घोटाले की कैग रिपोर्ट को सरकार ने अस्वीकार किया

कैग ने अपनी रिपोर्ट में १.८६ लाख करोड़ रुपयों के घोटाले को उजागर किया है जबकि कोल मंत्री श्री प्रक्स्श जायसवाल ने रिपोर्ट को ही स्वीकार करेने से इनकार कर दिया है|पार्लियामेंट में चर्चा के लिए राखी रिपोर्ट पर संसद के बाहर मंत्री ने मीडिया में सफाई दी
भारत के नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (कैग) ने कहा है कि कोयला खानों को प्रतिस्पर्धी बोलियों की बजाय आवेदन के आधार पर आवंटित करने से चुनिंदा निजी फर्मों को संभावित 1.86 लाख करोड़ रुपये का फायदा हुआ।
सीएजी की राय में यदि प्रतिस्पर्धात्मक बोली के जरिए आवंटन किए गए होते, तो निजी फर्मो के इस संभावित लाभ का एक हिस्सा सरकारी खजाने को भी मिल सकता था।
प्रतिस्पर्धी बोलियां नहीं मंगाकर निजी क्षेत्र की कंपनियों को सीधे नामांकन के आधार पर कोयला ब्लॉक आवंटित किये जाने से उन्हें फायदा हुआ।
कोयला ब्लॉक आवंटन पर कैग की आज संसद में पेश रिपोर्ट में निजी क्षेत्र की 25 कंपनियों के नाम गिनाये गये हैं जिन्हें सीधे नामांकन के आधार पर कोयला ब्लॉक आवंटित किये गये। इनमें एस्सार पावर, हिन्डाल्को इंडस्ट्रीज, टाटा स्टील, टाटा पावर और जिंदल स्टील एण्ड पावर का नाम शामिल है।
कैग रिपोर्ट में कहा गया है प्रतिस्पर्धी बोलियों के आधार पर आवंटन की प्रक्रिया में देरी की वजह से कोयला ब्लॉक आवंटन की मौजूदा प्रक्रिया निजी क्षेत्र की कंपनियों के लिये फायदेमंद साबित हुई।कैग का अनुमान है कि निजी क्षेत्र की इन कंपनियों को जिस तरह कोयला ब्लॉक आवंटित किये गये उससे उन्हें 1.86 लाख करोड़ रुपये का वित्तीय लाभ हो सकता है।
कैग ने कहा है कि उसने यह अनुमान कोल इंडिया की वर्ष 2010-11 के दौरान कोयला उत्पादन की औसत लागत और खुली खदान से कोयला बिक्री के औसत मूल्य के आधार पर लगाया है।
कोग की रिपोर्ट पर विपक्ष बे जे पी ने नैतिकता के आधार पर प्रधान मंत्री का इस्तीफा मांग लिया है|

एयर इंडिया के राजा को प्रफुल्ल पटेल ने भिखारी बनाया

एयर इंडिया के राजा को भिकारी बनाने में एन सी पी कोटे से बने नागरिक उड्डयन मंत्री प्रफुल्ल पटेल का बहुत बड़ा हाथ है|यह आरोप एयर इंडिया के पुर्व सी एम् डी सुनील अरोड़ा ने लगाए हैं|श्री अरोड़ा के अनुसार श्री पटेल ने निजी एयर लाईन्स को फायदा पहुंचाने की नियत से गलत फैसले कराये लन्दन आदि के |लाभ वाले रूट बदलवाए गए और घटे में जा रहे कंपनी के लिए जरूरत से ज्यादा विमान खरीदने को मजबूर किया गया। पूर्व सीएमडी ने सीवीसी को चिट्ठी लिखकर इस बात की जानकारी दी है। पूर्व सीएमडी ने शिकायत करते हुए मामले की जांच सीवीसी से करने की मांग की है।
७ वर्ष पूर्व भी अरोड़ा ने व्हिसल ब्लोअर के रूप में तत्कालीन कैबिनेट सचिव बी के चतुर्वेदी को यह चिट्ठी लिखी थी
प्रफुल्ल के कार्यकाल में जरूरत से ज्यादा ही जेट खरीदे गए। और साथ ही कुछ जेट मेकिंग कंपनीज को फायदा पहुंचाया गया। यह सब बोर्ड मीटिंग के बहाने किया गया। एआई की बोर्ड मीटिंग से पहले ही फैसला कर लिया जाता था और फोन पर मौखिक रूप से प्रबंधन को आदेश दे दिया जाता था। कई एयर क्राफ्ट्स अभी तक डिलीवर नहें कियी जा सके हैं और न ही उनके लिए मुआवजे को ही मांगा जा सका है|
2005 की इस चिट्ठी को लेकर दो संसद सदस्यों ने सीवीसी से जांच की मांग की है। साफ तौर पर पूर्व सीएमडी ने तत्कालीन नागरिक उड्डयन मंत्री पर बेहद गंभीर आरोप लगाया है। भ्रष्टाचार, महंगाई जैसे मुद्दों पर पहले से निशाने पर रही यूपीए सरकार को यह चोट भी गहरा जख्म देगी इससे इनकार नहीं किया जा सकता।
सी पी आई के सांसद के अलावा बी जे पी के प्रवक्ता मुख़्तार अब्बास नकवी ने भी इस मामले की उच्च स्तरीय जांच की मांग की है|
अब तो सी ऐ जी की रिपोर्ट भी संसद के पटल पर आ गई है और उसमे अरबों रुपयों के घोटाले से पर्दा हटाया गया है| विपक्षी पार्टी ने तो प्रधान मंत्री से नैतिकता के आधार पर इस्तीफे की भी मांग कर दी है
एन सी पी के पर कतरने की तैय्यारी की जा रही है|

सात साल तक चुप बैठे रहे सुनील अरोरा ने अब प्रोमोशन लेने के बाद अब केन्द्रीय सतर्कता आयोग [सी वी सी ]को पत्र लिखा गया है |
पहले यूं पी ऐ की सरकार काफी हद तक एन सी पी पर निर्भर थी इसीलिए सात साल पहले एन सी पी कोटे से बने नागरिक उड्डयन मंत्री प्रफुल्ल पटेल के विरुद्ध कोई कार्यवाही की सोच भी नहीं सका अब चूंकि सपा +बसपा के साथ टी एम् सी भी कांग्रेस की झोली में है |क्योंकि आज लोक तांत्रिक संगठन सी ऐ जी की रिपोर्ट में भी बड़े भ्रष्टाचार को उजागर किया गया है सो अब २०१४ के चुनावों में फेस सेविंग के मद्दे नज़र एन सी पी का झटका झेला जा सकता है|

संसद ने आज पूर्वोत्तर राज्यों को सुरक्षा का भरोसा दिया

संसद ने आज पूर्वोत्तर राज्यों के नागरिकों को सुरक्षा का भरोसा दिलाया|
प्रधान मंत्री डाक्टर मन मोहन सिंह ने अपने संसदीय छेत्र में बढ रही हिंसा और
अन्य राज्यों से पूर्वोत्तर के लोगों का पलायन रोकने के लिए हर उपाय करने का
आश्वासन दिया |राजसभा में विपक्ष के नेता अरुण जैतली ने भी संकट की इस घड़ी में
सरकार को पूर्ण सहयोग का आश्वासन दिया| इस संकट से निबटने के लिए समूची संसद
एक जुट दिखाई दी|
गौर तलब है की पूर्वोत्तर हिंसा के परिपेक्ष्य में मुंबई के बाद अब कर्नाटका+चेन्नईमें भी अफवाहों का
बाज़ार गर्म करके पूर्वोत्तर के छात्रों और मजदूर तबके को डरा कर पूर्वोत्तर लौटने को मजबूर किया जा रहा है|
प्रधान मंत्री डाक्टर मन मोहन सिंह की चिंता+ गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे के निर्देश और चीफ मिनिस्टरजगदीश शेत्तार
के प्रयासों के बावजूद कर्नाटका से छात्रों का पलायन जारी है|रेलवे स्टेशनों पर पूर्वोत्तर राज्यों के लोगों की लगातार बड़ती जा रही
भीड़ यह बताने के लिए पर्याप्त है की उनका भरोसा जीतने के लिए किये जा रहे प्रयास अभी तक अपर्याप्त ही हैं|
बेंगलूर में यह अफवाह फैलाई जा रही है कि वहां पूर्वोत्तर राज्यों के लोगों[विशेषकर छात्रों] पर हमले किये जा रहे हैं| इससे त्रस्त लोगों का
रुख रेलवे स्टेशनों की तरफ ही है|इस अफवाह कि जाँच के आदेश दे दिए गए हैं|
बी जे पी की नेत्री सुषमा स्वराज ने तो दिल्ली विश्व विद्यालय में पूर्वोत्तर राज्यों के छात्रों की सुरक्षा के लिए अपने छात्र संगठन ऐ बी वी पी को आदेश दे दिए है\

संसद में सपा नेता प्रोफ़ेसर राम गोपाल यादव ने इस प्रकार की हिंसा केफैलाने में फेस बुक+ट्विट्टर आदि सोशल साईट को दोषी बताया और इन पर तत्काल पाबंदी की मांग
की जबकि भाजपा नेत्री सुषमा स्वराज ने खाली ज़ुबानी आश्वासन को अपर्याप्त बताया

सिखों पर हमलों के कारण अमेरिका में भी सदभावना दिवस मनाना जरुरी हो गया है

अमेरिका में एक और सिख की गोली मार कर ह्त्या कर दी गई है|इससे सिख समुदाय के जख्म फिर से हरे हो गए हैं|
५६ वर्षीय दलबीर सिंह किराने के व्यापार से जुड़े थे|
नार्थ अमेरिका के विस्कोंसिन ओक क्रीक गुरुद्वारे में ५ अगस्त को हुई गोलीबारी की आग अभी ठंडी भी नहीं हुई की अब उसी राज्य के मिल्वाउकी में भारत की आज़ादी दिवस १५ अगस्त को एक और ओक क्रीक गुरूद्वारे के सदस्य सिख की ह्त्या से समुदाय में रोष और भय का माहौल है|एन डी टी वी ने भी इसे प्रमुखता दी है|
सिखों के धर्मप्रतीक चिन्हों [केश+कंघा+कृपान+कडा+कच्छा] के प्रति अज्ञानता के कारण उन्हें भी आतंकवादी समझ लिया जाता है और नफरत अपराध का निशाना बना दिया जाता है ९/११ के बाद यह कुछ ज्यादा बढ गया है|
अमेरिका के राष्ट्रपति द्वारा सिखों के जख्मों पर हर संभव मलहम लगाने के प्रयास किये जा रहे है मगर बुधवार की इस एक और घटना से ऐसे सभी प्रयासों पर पलीता लग सकता है|
इसीलिए अमेरिका में समारोह पूर्वक सदभावना दिवस मनाया जाना चाहिए इससे सिखों के प्रति उनके धर्म प्रतीक चिन्हों के प्रति जागृति आ सकेगी और वहां नस्लवादी हिंसा में कमी आ सकेगी |

मारुति के मानेसर प्लांट के ताले २१ अगस्त को खुल जायेंगे

हरियाणा के मानेसर में मारुति सुजुकी के प्रबंधन द्वारा ५०० कर्मचारियों को बर्खास्तगी का नोटिस जारी करके २१ अगस्त को कंपनी की तालाबंदी को समाप्त करने की घोषणा कर दी है|अब २१ अगस्त से यहाँ वाहनों का प्रोडक्शन शुरू कर दिया जाएगा|
गौरतलब है कि १८ जुलाई को स्टाफ असंतोष के कारण कंपनी में हिंसा भड़क उठी थी| एक वरिष्ठ अधिकारी मारा गया और फेक्ट्री में आग लगा दी गई थी|तभी से कंपनी में ताला बंदी चल रही है| कंपनी के भारतीय और जापानी प्रबंधकों ने सुरक्षा से समझौता करने से मना कर दिया था| हरियाणा सरकार और आस पास के ग्रामीण छेत्रों की पंचायतों द्वारा सुरक्षा प्रदान किये जाने के आश्वासन के पश्चात अब कंपनी का ताला २१ अगस्त को खोलने पर सहमती बनी है|
मारुति सुजुकी के अध्यक्ष आर सी भार्गव और जापान से आये प्रबंध निदेशक शिंजो नाकानिशो ने इस बाबत घोषणा करते हुए २००० अस्थाई कर्मियों को स्थाई किये जाने का भी आश्वासन दिया

ममता के खिलाफ चलेगा हाई कोर्ट में मुकद्दमा

|ममता बेनर्जी के खिलाफ याचिका को कलकत्ता की कोर्ट में स्वीकार कर लिया गया है|
बंगाल की मुख्यमंत्री और टी एम् सी की फायर ब्रांड नेत्री ममता बेनर्जी को अब अपनी भाषा का संयम खोने का खमियाजा भुगतना पड़ सकता है\
पिछले दिनों ममता ने अदालतों के बिजनेस पर प्रश्न चिन्ह लगाते हुए कहा था कि अदालतों में फैसले पैसे दे कर खरीदे जाते हैं| अपने इस आरोप पर डटे रहते हुए ममता ने यहाँ तक कह दिया था कि इसे लेकर उनके खिलाफ मुकद्दमा कायम हो सकता है उन्हें सजा भी सुनाई जा सकती है|यह आरोप किसी एक केस को लेकर किये गए होंगे मगर यह वकीलों और राजनेताओं को भड़काने के लिए पर्याप्त था | केन्द्रीय क़ानून मंत्री ने भी इस पर टिपण्णी करने से कन्नी काटना ज्यादा मुफीद समझा |
इसी गुस्से का इज़हार करने के लिए एक वकील ने ममता के खिलाफ याचिका दायर कर दी जिसे कलकत्ता हाई कोर्ट ने स्वीकार कर लिया है|

योग गुरु के औषधि गुरु को आज जमानत मिल गई

योग गुरु बाबा राम देव के सहयोगी औषधि गुरु आचार्य बाल कृषण को आज नैनीताल हाई कोर्ट में जमानत मिल गई है|
आचार्य पर फर्जी कागजात प्रस्तुत करके पास पोर्ट हासिल करने के आरोप में २० जुलाई को गिरफ्तार किया गया था|तभी से मामला किसी ना किसी बात को लेकर लटकाया जा रहा था |पहले एक कोर्ट ने तो जमानत की याचिका सुनने से भी मना कर दिया था |
बाबा राम देव ने दिल्ली में भ्रष्टाचार को लेकर ६ दिन तक अनशन किया था और हज़ारों की संख्या में समर्थकों ने बाबा के साथ जेल भरी थी|तब सत्ता पक्ष के एक धड़े ने उस अनशन के पीछे बाल कृषण की गिरफ्तारी भी एक कारण है|
आज न्यायाधीश तरुण अग्रवाल ने बाल कृषण को दस लाख के दो मुचलकों पर जमानत दे दी |

बेंगलूर छोड़ रहे हैं पूर्वोत्तर राज्यों के छात्र

प्रधान मंत्री डाक्टर मन मोहन सिंह की चिंता+ गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे के निर्देश और चीफ मिनिस्टरजगदीश शेत्तार के प्रयासों के बावजूद कर्नाटका से छात्रों का पलायन जारी है|रेलवे स्टेशनों पर पूर्वोत्तर राज्यों के लोगों की लगातार बड़ती जा रही भीड़ यह बताने के लिए पर्याप्त है की उनका भरोसा जीतने के लिए किये जा रहे प्रयास अभी तक अपर्याप्त ही हैं|
बेंगलूर में यह अफवाह फैलाई जा रही है कि वहां पूर्वोत्तर राज्यों के लोगों[विशेषकर छात्रों] पर हमले किये जा रहे हैं| इससे त्रस्त लोगों का रुख रेलवे स्टेशनों की तरफ ही है|इस अफवाह कि जाँच के आदेश दे दिए गए हैं|

जापान ने चीन के पांच नागरिक गिरफ्तार किये

जापानी पुलिस ने 15 अगस्त को चीनी ड्रेगन की मूछ का बाल खीचने का साहस दिखाया| त्याओयु द्वीप पर पहुंचे 5 हांगकांग नागरिकों को गिरफ्तार कर लिया
लेकिन चीनी विदेश मंत्रालय ने इस पर कड़ा ऐतराज जताते हुए जापान के सामने यह मुद्दा उठाया है
।चायनीस रेडिओ और जापानी मीडिया के अनुसार चीन के हांगकांग विशेष प्रशासनिक क्षेत्र की “त्याओयु द्वीप की रक्षा कार्यकारी समिति” के पोत 15 अगस्त शाम 4 बजे त्याओयु द्वीप पहुंचे। इसके बाद जापानी पुलिस ने 5 चीनी नागरिकों को गिरफ्तार किया।
इससे पहले चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता छिनकांग ने कहा था कि त्याओयु द्वीप मसले पर चीन का रूख स्पष्ट ही नहीं, मजबूत भी है। उन्होंने कहा कि चीन इस पर व्यापक ध्यान रखे हुए है। साथ ही जापान से चीनी कर्मचारियों व जान माल को नुकसान न पहुंचाने का आग्रह किया गया है। वहीं चीन ने जापान के समक्ष अपनी चिंता जताई है।

पकिस्तान एयर फ़ोर्स के बेस पर फिदाईन हमला

पाकिस्तान की स्वतंत्रा दिवस के अगले दिन ही फिदाईन आतंकवादियों के एक दल ने पाकिस्तान की राजधानी से महज़ ७० किलोमीटर पर पकिस्तान एयर फ़ोर्स के कामरा स्थित एयर बेस पर बीती रात हमला कर दिया|सुरक्षा कर्मियों के साथ हुई पांच घंटे की भारी गोली बारी में सात फिदाईन आतंवादियों और एक सुरक्षा कर्मी के मारे जाने की खबर है,
पाकिस्तान के बड़े अखबार डान के मुताबिक ये फिदाईन अति आधुनिक हत्यारों के अलावा आत्मघाती. विस्फोटकों से भी लैस थे|सुरक्षा कर्मियों के सात इनकी भारी गोली बारी हुई है जिसमे सात हमलावर और एक सुरक्षा कर्मी के मारे जाने के समाचार है| इस बेस पर ३० प्लेन्स हेन्गर्स में थे | इस हमले में एक एयर क्राफ्ट भी डेमेज हुआ है| बताया गया है की हामालावर १९-३३ वर्ष की आयु के थे और इनमे से ३-४ ने सेना की वर्दी पहन रखी थी| जबकि कुछ सुसाईड जेकेट पहने हुए थे| पिंड[गावं]सलमान मक्खन की तरफ से रात २.३० आये हमलावरों को जब चेक पोस्ट से चेतावनी दी गई तो उन्होंने फायरिंग शुरू कर दी
स्वतन्त्रता दिवस के मद्दे नज़र भारत और पाकिस्तान के हवाई अड्डों पर हाई अलर्ट है|संभवत इसी चौकसी के चलते इस आत्मघाती हमले को विफल किया जा सका है| अब एयरबेस पर हालात काबू में बताये जा रहे हैं अभी तक इस हमले की जिम्मेदारी लेने के लिए कोई आतंकवादी संगठन आगे नहीं आया है|