Ad

Category: Crime

अन्ना और केजरीवाल चले थे संग संग मगर लोग मिले और कारवाँ बिछुड़ गया

एक बेहद पुराने शेर को अगर आज के हालात में पडा जाए तो बनेगा हम तो चले थे संग संग जानिबे मंजिल मगर लोग मिलते गए और कारवां बिछुड़ता रहा|जी हाँ कमोबेश यही हालत आज कल टीम अन्ना माफ़ कीजिये भूत पूर्व अन्ना टीम का है|आज से लगभग दो साल पहले अन्ना बाबू राव हजारे और अरविन्द केजरीवाल ने मिल कर एक टीम बनाई थी और उसका नाम रखा अन्ना टीम इन्होने बामुश्किल एक साल में तीन बार अनशन किया और अपनी पहचान दुनिया भर में बना ली|सराकर की सरदर्दी बने और जनता में कुछ उम्मीद भी जगी|लेकिन इतिहास गवाह है कि इस प्रकार के आन्दोलनों की उम्र लम्बी नहीं होती सो जन लोक पाल के लिए चलाया गया यह आन्दोलन भी आपसी विरोधाभासों की भेंट चढ़ गया|जहां पहले संग संग मंजिल की तरफ बड़ा जा रहा था अब गाया जा रहा है कि रस्ते अलग अलग हैं ठिकाना तो एक है|यानि अन्ना और अरविन्द दोनों जन लोक पल के लिए लड़ाई लड़ेंगें मगर उनका रास्ता अलग अलग हो रहा है|अन्ना ने पिछले अनशन [जंतर मंतर] की दुर्दशा देख कर अब अनशन नहीं करने का फैसला करलिया है अन्ना ने कहा है कि वोह अब अनशन नहीं वरन आन्दोलन करेंगें |उधर अरविन्द का कहा है कि अनशन से सरकार पर कोई असर नहीं हो रहा इसीलिए अब राजनीति में विकल्प देने के लिए चुनाव लड़ना होगा इसके लिए उन्होंने पार्टी बनाने की घोषणा कर दी है| शक्ति प्रदर्शन करने के लिए अरविन्द ने दिल्ली में बिजली के बिलों को जलाया और सरकार को रुलाया| बेशक इस आन्दोलन के साथ कुछ हज़ार लोग ही जुड़े मगर इस आन्दोलन की गूँज बहुत दूर तक गूंजी और सरकार ने बिजली के बिलों की स्क्रूटिनी के आदेश दे दिए हैं| अन्ना ने आन्दोलन के लिए फिर से टीम जुटाने की मुहीम अलग से शुरू कर दी है|
अरविंद केजरीवाल से अलग होने के बाद पहली बार आज रविवार को अन्ना हजारे दिल्ली पहुंचे। उन्‍होंने अपने पुरानी मान्यता को दोहराते हुए कहा कि राजनीति में बहुत गंदगी है और राजनीतिक हाथों में देश सुरक्षित नहीं है। श्री हजारे ने यह भी कहा कि देश में एक बड़े आंदोलन की जरूरत है। यानी वो नई टीम बना सकते हैं। अन्ना दो दिन दिल्ली में सामाजिक कार्यकर्ता मेधा पाटेकर, रिटायर्ड आईएएस, आईपीएस और सेना के अधिकारियों से मुलाकात करेंगे। वह यहां अपने समर्थकों से मिलेंगे और आगे की रणनीति पर चर्चा करेंगे |कहा जा रहा ही कि अन्ना की पींगें आज कल बाबा राम देव से बढ रही हैं मगर अन्ना इस मामले में चप्पी साधे हुए हैं|
पुणे से दिल्ली रवाना होने से पहले अन्ना ने कहा था कि वो[अन्ना] लोकपाल के लिए अपनी लड़ाई जारी रखेंगे।अन्‍ना हजारे ने भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन का नेतृत्व करने के लिए नई टीम बनाने का संकेत दिया है। उन्होंने भ्रष्टाचार के खिलाफ जंग के लिए अपनी रणनीति बदलने का भी ऐलान किया है। उन्होंने कहा है कि देश में परिवर्तन लाने के लिए राजनीति का रास्ता सही नहीं है, इसके लिए देश भर में आंदोलन करना होगा। भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई लड़ने वालेइस वयोव्रद्ध समाज सेवी ने कहा कि वह संसद में साफ सुथरी छवि वाले लोगों को भेजने के लिए कार्य जारी रखेंगे।
उन्होंने कहा कि बड़ी संख्या में सेवानिवृत्त आईएएस अधिकारियों ने भ्रष्टाचार मुक्त भारत के लिए उनके आंदोलन में शामिल होने की इच्छा जतायी है। उन्होंने देश के युवाओं में पूरा भरोसा जताते हुए उनसे कहा कि वे देश के भविष्य को लेकर निराशावादी नहीं हों। उन्होंने संकेत दिया कि पांच डी जी पी रैंक के अधिकारिओं ने भी उनके आन्दोलन को ज्वाईन करने की इच्छा जताई है|
हजारे ने यहां पिंपरी-चिंचवाड में एक गणोश मंडल कार्यक्रम में कहा कि वे अब भी संसद में साफ छवि वाले लोगों को भेजने का काम जारी रखेंगे। उन्होंने कहा, ‘बड़ी संख्या में सेवानिवृत्त आईएएस अधिकारियों ने इस आंदोलन में शामिल होने की इच्छा जताई है।’ अन्ना रविवार को दिल्ली पहुंच रहे हैं। यहां वे आंदोलनकारियों से मिलेंगे।
अपने नए ब्लॉग पर उन्होंने लिखा, ‘लोकपाल के पहले ही दुर्भाग्यवश हमारी टीम दो हिस्सों में बंट गई। एक हिस्सा आंदोलन का सहारा लेना चाहता है तो दूसरा राजनीति में जाना चाहता है। शुरुआत में सरकार ने हमें अलग करने की बहुत कोशिश की। लेकिन इस बार उनके बिना कुछ किए ही हम अलग हो गए। ऐसा इसलिए

अन्ना और केजरीवाल चले थे संग संग मगर लोग मिले और कारवाँ बिछुड़ गया


हजारे ने अपने साथियों के साथ टकराव पर पहली बार चुप्पी तोड़ी। उन्होंने इसके लिए टीम में मौजूद एक ‘वर्ग’ को जिम्मेदार ठहराया। साथ ही उन्होंने वोटरों को भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन के नाम पर वोट मांगने वालों से भी सचेत रहने को कहा।लेकिन दिल्ली आते ही उन्होंने कहा कि अरविन्द से उनका कोई भेद भाव नहीं है दोनों की मंजिल तो एक ही है|
अरविंद केजरीवाल और अन्ना की राहें बेशक अलग अलग हो गई हैं दोनों एक दूसरे पर टीम तोड़ने का आरोप लगाने लग गए हैं मगर कहते फिर रहे हैं कि हम एक दूसरे की बहुत इज्ज़त करते हैं|

अपने एल पी जी कनेक्शन अपने घर में अपने ही बच्चे के नाम करवाने के लिए डेड़ से दो हज़ार अतिरिक्त देने पड़ रहे हैं|

एल पी जी वितरण को लेकर लाभार्थिओं के लिए परेशानियां बड़ती ही जा रही हैं|अब कनेक्शन को ट्रांसफर कराने की सुविधा तो दे दी गई है मगर उसके लिए गारंटी या सिक्योरिटी की राशि करंट रेट्स से वसूली जा रही है इससे उपभोक्ताओं को

अपने एल पी जी कनेक्शन अपने घर में अपने ही बच्चे के नाम करवाने के लिए डेड़ से दो हज़ार अतिरिक्त देने पड़ रहे हैं|


परिवार बड़े हो गए एक घर में दो दो रसोईयान हो गई |राशन कार्ड चूंकी परिवार के मुखिया के नाम ही बनाता था सो गैस कनेक्शन भी केवल परिवार के मुखिया के नाम ही है और आज से नहीं दशकों पुराने हैं||अब कहा जा रहा है कि एक व्यक्ति के नाम केवल एक ही कनेक्शन होगा अर्थार्त दूसरा कनेक्शन अवैध हो गया|जो अभी तक वैध था वोह अचानक अवैध हो गया|अपने वैध हुए गैस कनेक्शन को पुनः वैध करवाने के लिए डेड़ से दो हज़ार का भुगतान किया जाना मजबूरी बन गया है|इससे गैस कंपनियों को बैठे बैठाए आतिरिक्त फंड मुहैय्या हो जाएगा| इसके अलावा नए कनेक्शन के लिए आवेदन तो लिए जा रहे हैं मगर कनक्शन के नाम पर केवल टाल मटौल ही दिखाई दे रहा है| गौर तलब है कि वर्तमान में इन गैस कंपनियों के पास लगभग ३०० बिलियन डॉलर्स का रिजर्व बताया जा रहा है|जिसे कहीं भी इन्वेस्ट नहीं किया जा सका है| विशेषग्य और कम्पनिओं के कर्ता धर्ताओं द्वारा इस रिजर्व को इन्वेस्ट करने के लिए रिक्वेस्ट की जा रहा है मगर सरकार ने अभी तक इस दिशा में कोई सुधारात्मक निर्णय नहीं लिया है|अगर विशेषज्ञों की सलाह मान कर इस हियुज रिजर्व को इन्वेस्ट कर लिया जाता तो उसकी आय मात्र से ही सब्सिडी का बोझ काफी हद तक कम हो सकता था| लेकिन ऐसा नहीं किया गया|अब आर्थिक सुधारों के नाम पर रसोई गैस पर सब्सिडी को खत्म करने की सरकारी कावायद शुरू हो गई है| इससे मध्यम [निम्न]वर्ग के साथ निम्न [मध्यम]वर्ग में भी हाहाकार मची है|टी एम् सी जैसी सहयोगी घटक ने तो केंद्र सरकार से समर्थन वापिस भी ले लिया है|उत्तर प्रदेश पूरी तरह विरोध में आ गया है| कांग्रेसी प्रदेशों को सब्सिडी वाले सिलेंडरों की तादाद ६ से ९ करने के निर्देश दे दिए गए हैं|इस सारी उठक बैठक के बाद भी गैस की समस्या विकराल होती जा रही है| कंप्यूटर पर डाटा फीड करने के नाम पर उपभोक्ताओं का उत्पीडन जारी है|सरकार और विपक्ष अपने स्कोर बनानेके लिए गोटियाँ ही फिट करने में लगे हैं|
इसी कड़ी में पहले कहा गया कि नए कनेक्शन अभी नहीं दिए जायेंगेंलेकिन दबाब पड़ने पर अब कहा जा रहा है कि जिन्हें आवंटन पत्र मिल चुका है उन्हें कनेक्शन दिया जा रहा है|यानि नए का विवरण कंप्यूटर में हाथों हाथ दर्ज़ किया जा रहा है|
तेल एवं प्राकृतिक गैस राज्यमंत्री आरपीएन सिंह के अनुसार डुप्लीकेट कनेक्शन खत्म करने और सॉफ्टवेयर अपडेशन का काम जारी है। इससे नया आवंटन पत्र जारी करने में सिर्फ तीन हफ्ते की देरी हो रही है।मंत्री ने साफ किया कि जिन लोगों को आवंटन पत्र मिल गया है उन्हें कनेक्शन दिया जा रहा है। मंत्री ने कहा कि कंपनी और गैस एजेंसी का सॉफ्टवेयर अपडेट किया जा रहा है। जिससे कि साल में रियायती दर पर सिर्फ छह सिलेंडर देने के फैसले को अमल में लाया जा सके। साथ ही ‘एक पता पर एक कनेक्शन’ के लिए भी देशभर में सर्वे किया जा रहा है। ताकि रसोई गैस की कालाबाजारी रोकी जा सके। इन सब कामों में कम से कम तीन हफ्ते का वक्त लगेगा इंडियन ऑयल, भारत और हिंदुस्तान पेट्रोलियम के देश में करीब 14 करोड़ उपभोक्ता हैं। इन कंपनियों की ओर से हर साल 100 करोड़ से अधिक गैस सिलेंडर जारी किए जाते हैं। तेल विपणन कंपनियां करीब 14 करोड़ उपभोक्तापओं को सेवाएं दे रही हैं और देशभर में हर वर्ष 100 करोड़ +सिलेंडर वितरित किये जाते हैं। । इसके साथ-साथ तीनों तेल कंपनियों के पास आवेदनकर्ता की जानकारी भेजी जाएगी ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि एक से ज्या दा कनेक्शनन नहीं जारी किया गया है। केंद्र सरकार की ओर से एक उपभोक्ता को साल में सिर्फ 6 सब्सिडी वाले सिलिंडर दिए जाने के फैसले के बाद से तेल और गैस कंपनियों ने कनेक्शनों पर सख्ती करनी शुरू कर दी है।इसके बावजूद भी गैस की काला बाज़ारी को रोकने की कवायद मात्र रेगिस्तान में मृग तृष्णा ही लग रही है|

टास जीत कर भी ९ विकटों से हार गए वेस्टइंडियंस

मेजबान श्रीलंका क्रिकेट टीम ने शनिवार को पाल्लेकेले अंतर्राष्ट्रीय स्टेडियम में खेले गए ट्वेंटी-20 विश्व कप के सुपर-8 दौर के मुकाबले में मेहमान

टास जीत कर भी ९ विकटों से हार गए वेस्टइंडियंस

वेस्टइंडीज को नौ विकेट से हरा दिया। वेस्टइंडीज की ओर से रखे गए 130 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए श्रीलंकाई टीम ने 15.2 ओवरों में महज एक विकेट गंवाकर जीत हासिल कर ली। जयवर्धने ने अपनी नाबाद पारी में 49 गेंदों का सामना करते हुए 10 चौके और एक छक्का लगाया।सुपर-8 में श्रीलंका की यह लगातार दूसरी जीत है। उसने अपने पहले मैच में न्यूजीलैंड को हराया था। टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में यह श्रीलंका की वेस्टइंडीज पर चार मैचों में चौथी जीत है। उसने इसके साथ ही विकेट के लिहाज ने अपनी सबसे बड़ी जीत की बराबरी भी की। इससे पहले उसने जून 2011 को इंग्लैंड को भी नौ विकेट से हराया था।
तिलकरत्ने दिलशान (13) का विकेट 22 रन के कुल योग पर गिरने के बाद जयवर्धने ने टीम के पूर्व कप्तान कुमार संगकारा (नाबाद 39) के साथ दूसरे विकेट के लिए 108 रनों की साझेदरी कर अपनी टीम को जीत दिलाई। संगकारा ने 34 गेंदों पर पांच चौके लगाए। न्यूजीलैंड के खिलाफ सुपर ओवर तक खिंचे मैच में शानदार बल्लेबाजी करने वाली दिलशान को रवि रॉमपाल ने विकेटकीपर दिनेश रामदीन के हाथों कैच आउट कराया सुपर-8 के ग्रुप-2 में वेस्ट इंडीज पर मिली जीत से मेजबान श्रीलंका की सेमीफाइनल में पहुंचने की स्थिति मजबूत हुई है लेकिन अभी पक्की नहीं हुई है। लगातार दो मैचों में जीत हासिल करके श्रीलंका चार अंकों के साथ ग्रुप में शीर्ष पर है। इंग्लैंड और वेस्ट इंडीज दो मैचों में एक-एक मैच जीत चुके हैं जबकि न्यूजीलैंड अपने दोनों मैच हार चुका है। अब श्रीलंका को इंग्लैंड से जबकि वेस्ट इंडीज को न्यूजीलैंड से आखिरी मैच खेलना है।
, अपने पहले मैच में इंग्लैंड को पटखनी देने वाली कैरेबियाई टीम को अब अंतिम-4 में जगह बनाने के लिए अपना तीसरा और अंतिम सुपर-8 मैच हर हाल में जीतना ही होगा| वैसे सेमी फायनल के लिए अंतिम फैसला तो रन रेट्स के आधार पर ही होगा
इससे पहले, वेस्टइंडीज ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी करने का फैसला किया और निर्धारित 20 ओवर में पांच विकेट के नुकसान पर 129 रन बनाए। वेस्टइंडीज की शुरुआत अच्छी नहीं रही। उसके दोनों सलामी बल्लेबाज क्रिस गेल एवं जॉनसन चार्ल्स सस्ते में निपट गए।

केलकर समिति ने गरीबों का भी ईंधन और राशन महंगा करने की सलाह दी

भाग्य से यूं पी ऐ को सब्सिडी का एक चिराग हाथ लग गया उसे बार बार घिसने से सम्मान दिलाने वाले जिन के बजाये अब तो अपमान करने वाला जिन हाज़िर होने लग गया है|इसे चिराग को घिसने के लिए केलकर समिति ने भी सिफारिश कर दी है| केलकर समिति ने सरकार को सलाह दी है कि रसोई गैस, केरोसीन, डीजल तथा राशन की दुकान से मिलने वाले अनाज के दाम बढाकर विभिन्न तरह की सब्सिडी को समाप्त कर दिया जाना चाहिए| समिति ने डीजल के दाम में चार रुपए प्रति लीटर और गैस में 50 रुपए प्रति सिलेंडर इजाफा करने की सिफारिश की है। साथ ही अनाज और खाद की सब्सिडी खत्म करने का सुझाव दिया है। हालांकि सरकार ने फिलहाल इस रिपोर्ट को नामंजूर करने के संकेत दिए हैं।
पूर्व वित्त सचिव विजय केलकर की अध्यक्षता वाली इस समिति ने सब्सिडी बिल में कटौती के लिए कई साहसिक कदम उठाने का सुझाव भी दिया है जिनको सरकार से समर्थन नहीं मिला है। लगता है की सरकार अब छाज से भी घबराने लग गई है|
गौरतलब है कि सरकार ने हाल ही में डीजल के दाम बढाकर सस्ते रसोई गैस सिलेंडर की संख्या सीमित कर दी थी और अपने इन सुधारों को लेकर अच्छे खासे विरोध से दो चार हो रही है। यहाँ तक कि एक घटक सरकार से बाहर भी हो गया है| इसीलिए राजकोषीय मजबू ती का खाका बनाने के लिए गठित इस समिति की सिफारिशों पर अंतिम फैसला भागीदारों के सुझाव: टिप्पणियां मिलने के बाद किये जाने का निर्णय लिया गया है| समिति के अनुसार विभिन्न घरेलू तथा वैश्विक समस्याओं को देखते हुए भारतीय अर्थव्यवस्था को तूफान का सामना करना पड़ सकता है। समिति ने राजकोषीय घाटे को 2014-15 में घटाकर जीडीपी का 3.9 प्रतिशत करने का सुझाव दिया है। इसके मौजूदा वित्त वर्ष में 5.1 प्रतिशत रहने का अनुमान है। समिति के सुझावों में सार्वजनिक कंपनियों (पीएसयू) की अधिशेष जमीन की ब्रिकी, विनिवेश प्रक्रिया में तेजी तथा राजस्व बढाने के लिए सेवा कर दायरा बढाना शामिल है। समिति ने बहुप्रचारित खाद्य सुरक्षा विधेयक को चरणबद्ध तरीके से कार्यान्वित करने तथा यूरिया की कीमतों में बढोतरी का समर्थन किया है।
समिति की सिफारिशों पर सरकार का पक्ष रखते हुए आर्थिक मामलात विभाग में सचिव अरविंद मायाराम ने कहा, सरकार का मानना है कि ऐसे देश में जहां जनसंख्या का एक बड़ा हिस्सा गरीब हो, सब्सिडी का एक स्तर आवश्यक है उन्होंने कहा कि कुछ सब्सिडी को वापस लेने की समिति की सिफारिश सरकारी उल्लेखित नीति के ठीक उलटा है|
वित्त आयोग के पूर्व चेयरमैन विजय केलकर की अध्यक्षता वाली इस समिति ने डीजल तथा एलपीजी पर सब्सिडी को अगले चार साल में चरणबद्ध ढंग से समाप्त करने का सुझाव दिया है। इसी तरह समिति ने केरोसीन सब्सिडी में 2014-15 तक एक तिहाई कमी करने की सलाह दी है।
[1]आधी डीजल सब्सिडी चालू वित्तवर्ष में खत्म करने और बाकी को अगले वित्तवर्ष में खत्म कर देना चाहिए
[2] कूकिंग गैस पर सब्सिडी 2015 तक समाप्त की जाए
[3]केरोसिन सब्सिडी में दो तिहाई कमी लाकर दाम दो रुपये प्रति लीटर तक बढ़ाया जाए
[4] खाद्य सब्सिडी को चरणबद्ध तरीके से समाप्त करने की योजना बने
[5]बाल्को की बची हिस्सेदारी भी बेची जाए

भाजपा विधायक पर करीब दस राउंड फायरिंग

उत्तर प्रदेश के सरधना क्षेत्र में भाजपा विधायक संगीत सोम पर शुक्रवार की सुबह बाइक सवार दो व्यक्तियों ने दस राउंड गोली चलायी. | इस घटना में सोम बाल-बाल बच गए.
प्राप्त जानकारी के अनुसार यह फायरिंग उस समय की गई जब सोम सरधना स्थित अपने आवास के बाहर पैदल टहल रहे थे|
इस दौरान एक बाइक पर दो व्यक्ति वहां पहुंचे जिन्होंने सोम को निशाना बनाते हुए उन पर करीब 10 राउंड फायरिंग की | विधायक ने किसी तरह फायरिंग से बचते हुए भाग कर अपनी जान बचाई.
इस घटना से भाजपा नेताओं में गहरा आक्रोश है.| विधायक ने इस मामले में बाइक सवार दो अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है |
भाजपा ने कहा कि पुलिस यदि जल्दी ही भाजपा विधायक के हमलावरों को गिरफ्तार नही करती तो भाजपा कडा कदम उठाने को मजबूर होगी.
.

उत्तर प्रदेश के सरधना क्षेत्र में भाजपा विधायक संगीत सोम पर शुक्रवार की सुबह बाइक सवार दो व्यक्तियों ने दस राउंड गोली चलायी. |

‘द इनोसेंस ऑफ मुस्लिम्स’ के निर्माता बैसेले नाकौला गिरफ्तार

इस्लाम विरोधी फिल्म बनाने वाले निर्माता नाकौला बैसेले नाकौला को अमेरिका में गिरफ्तार कर लिया गया है।
अब उसे लॉस एंजिलिस की संघीय अदालत में पेश किया जाना है। सुरक्षा कारणों से यह पता नहीं चल पाया है की उसे किस अदालत में पेश किया जाएगा| स्थानीय मीडिया की खबरों के मुताबिक, फिल्मकार की वीडियो कांफ्रेंस के जरिए अदालत में पेशी की संभावना है। नाकौला को पूछताछ के लिए इस महीने की शुरूआत में हिरासत में भी लिया गया था, लेकिन बाद में उसे छोड़ दिया गया इस फिल्म निर्माता की बनाई फिल्म पर मुस्लिमों ने इस्लाम को गलत तरीके से पेश कर उसका अपमान करने का आरोप लगाया। फिल्म के विरोध में अरब जगत में अमेरिका विरोधी प्रदर्शन शुरू हो गए। इन प्रदर्शनों में कई लोगों की जान गई और अमेरिकी स्कूलों, दूतावासों और कारोबारी प्रतिष्ठानों को निशाना बनाया गया। नाकोउला की फिल्म ‘द इनोसेंस ऑफ मुस्लिम्स’ की वजह से दुनियाभर के मुस्लिम देशों में विरोध प्रदर्शन हुए।वर्ष 2011 में एक दूसरे मामले में उसे जमानत मिली हुई है|अधिकारियों की नजर उस पर थी कि वह जमानत की शर्तो का पालन कर रहा है या नहीं? अभी तक अभिव्यक्ति के अधिकार के नाम पर उसे अभी दान मिला हुआ था मगर इस विषय में हाल ही में आयोजित संयुक्त राष्ट्र के सम्मलेन में पाकिस्तान के राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी ने भी कार्यवाही की मांग की थी| अब सब तरफ अमेरिका का विरोध होने पर संभवत यह गिरफ्तारी हुई है|

‘द इनोसेंस ऑफ मुस्लिम्स’ के निर्माता बैसेले नाकौला गिरफ्तार

६० करोड़ रुपयों का सर्विस टेक्स नहीं भरा और राष्ट्र सेठ सम्मान लाभ उठा रहे हैं|

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

६० करोड़ रुपयों का सर्विस टेक्स नहीं भर रहे और मजे में राष्ट्र सेठ के सम्मान लाभ उठा रहे हैं|

एक आम भारतीय

ओये झाल्लेया ये कानून का क्या मज़ाक उड़ाया जा रहा है|ओये हम पर तो अगर ६० रुपये का कर्ज़ चड जाये तो हमारे कनेक्शन काट डाले जाते हैं यहाँ तक कि
घर को भी नीलाम करने की कवायद शुरू हो जाती है और से माननीय किंग फिशर एयर लाइंस वाले ६० करोड़ रुपयों का सर्विस टेक्स नहीं भर रहे और मजे में राष्ट्र सेठ के सम्मान लाभ का आनंद उठा रहे हैं|इन्हें राहत देने के लिए एविएशन सेक्टर में ऍफ़ डी आई को भी मंजूरी दे दी गई है| दिखावे के लिए कंपनी के बैंक एकाउंट्स जरूर फ्रीज कर दिए गए हैं|आज कल तो चालाक लोग एक एकाउंट फ्रीज होने पर झट दोसरा एकाउंट खोल लेते हैं|ओये इस भारत और इंडिया की दूरी कब कम होगी??

झल्ला

हां भाई इस मामले में तो यही कह सकता हूँ कि समर्थ को नहीं दोष गुसाईं

ड्रीम लाइनर के ड्रीम को बेंगलूर में एक पक्षी ने झटका दिया

एयर इंडिया के ड्रीम लाइनर के ड्रीम को झटका लगा है|गुरूवार को घेरलू उडान पर बंगलूर में लैंड करते समय एयर इंडिया का ड्रीम लाइनर एक पक्षी से टकरा गया|सुबह नौ बजे घटी इस घटना से कोई नुकसान की खबर नहीं है |

एयर इंडिया के ड्रीम लाइनर के ड्रीम को झटका लगा है|

२५०+ केपेसिटी वाले इस ड्रीम लाइनर में केवल 127 यात्री ही थे सभी १२७ यात्री सुरक्षित बताये गए हैं|

रोमांटिक फिल्मो के किंग यश चोपड़ा ने आज आठ दशक पूरे किये

रोमांटिक फिल्मो के किंग कहे जाने वाले यश चोपड़ा ने आज अपनी ज़िंदगी के 80 साल पूरे कर लिए| जमोस न्यूज डाट काम परिवार की तरफ से बधाई \यश चोपड़ा के इस खास दिन पर शाहरुख ने खान ने यश चोपड़ा को एक अनोखा उपहार दिया हैं उन्होंने एन डी टी वी पर यश चोपड़ा के साथ उनकी अब तक की ज़िंदगी के बारे में बात की और साथ ही उनके अब तक के फिल्मी करियर से जुड़े कई ऐसे पहलुओं को सामने लाये जिनके बारे में किसी को अभी तक नहीं पता।
शाहरुख खान की अधिकतर बड़ी और हिट फिल्में यश राज और उनके बैनर के साथ ही बनी हैं। ।
आज की जेनरेशन में शाहरुख ही एक ऐसे एक्टर हैं जिन्होंने यश चोपड़ा के साथ इतना काम किया है। इस ईवेंट को बहुत बड़े स्तर पर करने का प्लान किया गया है। यश चोपड़ा आमतौर पर कैमरे को फेस करना पसंद नहीं करते हैं। एन डी टी वी पर हुई इस बातचीत में बताया गया कि रोमांटिक फिल्मों की शुरुआत करने से पहले यश चोपड़ा बहुत ही गहरी सोच वाली फिल्में बनाते थे।
शाहरुख की यश चोपड़ा के साथ पहली फिल्म डर जो कि 1993 में रिलीज हुई थी बॉक्स ऑफिस पर काफी सफल हुई उसके बाद शाहरुख ने यश चोपड़ा के साथ और भी कई फिल्में की। जिनमें दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे (1995) दिल तो पागल है(1997) मोहब्बतें (2000) वीर ज़ारा (2004) और रब ने बना दी जोड़ी (2008) शामिल हैं।
वीर ज़ारा के बाद शाहरुख खान और यश चोपड़ा की जोड़ी एक बार फिर से ‘जब तक है जान’ से दोबारा अपना जादू चलाने आ रही है। इस फिल्म में एक बार फिर काश्मीर की ख़ूबसूरत वादिओं का हुस्न जलवे बिखेरेगा|
कहा जा रहा है कि ये फिल्म यश चोपड़ा की आखिरी फिल्म होगी इसके बाद वो कोई फिल्म डायरेक्ट नहीं करेंगे। फिल्हाल हर किसी को बेसब्री से यश चोपड़ा की इस फिल्म का इंतज़ार है जिसमें एक बार फिर से शाहरुख एक रोमांटिक हीरो के रुप में नज़र आएंगे। यश चोपरा ने अपने बड़े भाई बी आर चोपड़ा के एसिस्टेंस के रूप में फ़िल्मी करियर शुरू किया| शहरुख के साथ इस बात चीत में उन्होंने अपने शायरी के शौक को भी सांझा किया|

वाहन चोर पकडे :आर टी ओ में फर्जी कागजात भी बनवाते थे

मेरठ पोलिस ने आज चोरी के सोलह वाहनों के साथ चोरों का गिरोह पकड़ने में कामयाबी हासिल की | पोलिस चेकिंग के दौरान हाथ आये सद्दाम[सिंघावली]मुकेश[मुजफ्फर नगर]राहुल[खतौली]गौरव [मोदी नगर] ने दौराला पोलिस को पूछताछ के दौरान १४ बाईक और दो कार बरामद कराई |चोरों के अनुसार ये लोग विभिन्न राज्यों से वाहन चोरी करके लाते थे और आर टी ओ में फर्जी कागज़ बनवा कर उन्हें बीच देते थे|
इस पकड़ से एक बार फिर आर टी ओ की भूमिका संदिग्ध हो गई है

चोरी के सोलह वाहनों के साथ चोरों का गिरोह पकड़ने में कामयाबी