Ad

Category: Crime

वाल मार्ट ने खुदरा व्यापार पर कब्जे के लिए सवा सौ करोड़ खर्च किये : राज्यसभा में लाभाथियों के नाम पूछे गए :सदन स्थगित

Indian Parliament

भारत में खुदरा व्यापार में वालमार्ट की एंट्री के लिए अमेरिका की गई लाबिंग [पैरवी]के मुद्दे पर राज्यसभा में हंगामा हुआ और सदन १२.२२. पर दस मिनट्स के लिए स्थगित कर दी गई| आज राज्य सभा में नौकरी में प्रोमोशन में १२ बजे आरक्षण पर चर्चा होनी थी मगर सवा बारह बजे भाजपा के रवि शंकर प्रसाद ने खड़े होकर अमेरिका में लाबिंग के लिए वाल मार्ट द्वारा १२५ करोड़ रुपये खर्च करने के समाचारों पर सरकार का स्पष्टीकरण मांग लिया|एक अन्य सदस्य ने प्रधान मंत्री को सदसं में बुलाये जाने की मांग की जिसे उप सभापति ने सिरे से ठुकरा दिया और कहा की सरकार को भी तत्काल जवाब के लिए नहीं कहा जा सकता |इसीबीच हंगामे के बीच सदन की कार्यवाही प्रभावित होते देख कर राजीव शुक्ला ने आश्वासन दिया की सम्बन्धित प्रश्न को सम्बंधित मंत्री तक पहुंचा दिया जाएगा| सदन में असंतुष्टों ने हंगामा जारी रखा |जयराम रमेश + नारायण सामी और हरीश रावत जैसे धाकड़ मंत्री चुप बैठे रहे| इस पर उप सभापति महोदय ने सदन को दस मिनट्स के लिए स्थगित कर दिया|
गौरतलब है के बीते दिनों भारत के खुदरा व्यापार में विदेशी निवेश को संसद के दोनों सदनों में मान्यता प्रदान की जा चुकी है|लेकिन इसी बीच एक समाचार आया है के इसी कार्य के लिए दबाब बनाने के लिए वालमार्ट ने अमेरिका में १२५ करोड़ रुपय्ये का भुगतान किया है
|इसी को आधार बनांते हुए लाभार्थियों के नाम पूछे गए |हंगामा जारी रहा |सदन की कार्यवाही को दो बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई है| नौकरी में प्रोमोशन में आरक्षण के मुद्दे पर ऍफ़ डी आई के बादल मंडराने लग गए हैं|

रैम्प पर प्रतिभा का प्रदर्शन करने वाली मॉडल शामला एयरपोर्ट पर भूखी-प्यासी बदहवास पड़ी हैं

Shrilankan Model Shamala

लाइट्स की चकाचौंध और दर्शकों की तालियों के बीच रैम्प पर अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करने वाली श्रीलंकाई मॉडल 25 वर्षीय शामला इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट (आइजीआइ) पर पिछले दो दिनों से भूखी-प्यासी बदहवास स्थिति में पड़ी हुई हैं वह किसी से बात तक नही कर रही है| सूत्रों के मुताबिक, मॉडल ने दो बार रेलिंग से छलांग लगाने की कोशिश भी की, मगर उसे बचा लिया गया।
शामला श्रीलंका की जानी-मानी मॉडल बताई जा रही हैं तथा विज्ञापनों में काम कर चुकी हैं। संभावना व्यक्त की जा रही है कि शामला के साथ कोई बड़ी अनहोनी घटी है। इस कारण वह सदमे में है। बताया जा रहा है कि श्रीलंकाई मॉडल 17 नवंबर को मॉडलिंग एसाइनमेंट पर भारत हुई थी। 5 दिसम्बर को वह मुंबई से दिल्ली एयरपोर्ट पहुंची। इसके बाद वह टर्मिनल 3 के डिपार्चर एरिया में पहुंचकर इधर-उधर घूमती रही। लगातार घूमने के कारण सीआईएसएफ के सुरक्षाकर्मियों ने उससे पूछताछ की तो वह अजीबो गरीब व्‍यवहार करने लगी।इस पर उसे गुडगाँव के मेंदाता अस्पताल भेजा गया। डाक्टरों ने उसे स्वस्थ बताकर जान छुडा ली |इसके बाद मॉडल को सामान्य होने के लिए डिपार्चर एरिया में ही बिठा दिया गया। पांच दिसंबर से अब तक वह उसी सोफे पर बैठी हुई है। खबर लिखे जाने तक मॉडल को श्रीलंका नहीं भेजा जा सका है।

ऍफ़ डी आई पर पाला बदलने वाले जे डी यू के उपेन्द्र कुशवाहा ने पार्टी की सदस्यता और सांसद पद को छोड़ा

जे डी यू के उपेन्द्र कुशवाहा

जनता दल यूनाइटेड(जेडीयू) के बागी राज्यसभा सांसद उपेंद्र कुशवाहा ने पार्टी से इस्तीफा दे कर नई पार्टी बनाने का ऐलान कर दिया है| नई पार्टी का नाम ‘बिहार नवनिर्माण मंच’ होगा।एफडीआई के मुद्दे पर जेडीयू के मतभेद होने के चलते राज्यसभा में सरकार के पक्ष में वोट देने वाले जेडीयू सांसद उपेंद्र कुशवाहा ने नई पार्टी बनाने का ऐलान किया है।
हालांकि कुशवाला ने कहा कि बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार के तानाशाही व्यवस्था के चलते उन्होंने पार्टी छोड़ने का मन दो साल पहले ही बना लिया था, इसीलिए इसे एफडीआई मामले से जोड़कर नहीं देखा जाना चाहिए। इससे पहले जे डी यू के अध्यक्ष शरद यादव ने अपने बागी सांसद कुशवाहा को ऍफ़ डी आई के मुद्दे पर पार्टी लाईन का उल्लंघन करने के लिए नोटिस जरी करने का एलान किया था| बिहार में जेडीयू के लिए और राज्यसभा में मात्र ६४ सदस्यों वाली एन डी ऐ के लिए बड़ा झटका है|

मेरठ के एक दरोगा पर स्थानीय छात्रों ने गोलियां बरसाई

मेरठ के एक दरोगा पर स्थानीय छात्रों ने गोलियां बरसाई

खाकी वर्दी आज कल सुरक्षा प्रदान करने के स्थान पर अपने वजूद की हिफाजत के लिए संघर्षशील है | पहले बावर्दी किसी कर्मी के ऊपर कोई नेता ही हाथ उठाता था या ज्यादा से ज्यादा बर्दी वाले के यहाँ भी चोरी चकारी हो जाती थी या किसी सिपाही का हथियार लुटे जाने की खबरें आती थी मगर अब ऐसा एक नवीनतम उदहारण सामने आया है जिसमे एक दरोगा पर ही कुछ छात्रों ने आग्नेय अस्त्रों से जान लेवा हमला कर दिया और दरोगा को अपनी ही जान बचाना मुश्किल हो गया|
मेरठ के थाना भावन पुर की हसन पुर चौकी इंचार्ज ऐ. राघव पर कुछ छात्रों ने गोलियां बरसा कर गंभीर रूप से जख्मी कर दिया|बताया जा रहा है कि दरोगा एक हॉस्टल में रहते हैं जहाँ छात्र भी रहते हैं कुछ छात्रों में आपस में झगड़ा हुआ जिसमे बीच बचाव करने गए दरोगा राघव पर एक छात्रों के एक गुट गोलियां बरसा कर भाग गया|दरोगा को तीन गोलिया लगी है|नजदीक के नर्सिंग होम में इनका इलाज़ कराया जा रहा है|अपराधी अभी पोलिस की पकड़ से दूर बताये जा रहे हैं|इसके अलावा इसी ठाणे में तैनात एक अन्य सिपाही पर भी भी बीते साल हमला हो चुका है|इससे पोलिस कि कार्यप्रणाली+कार्यक्षमता और अपराधियों में पोलिस के खौफ और हॉस्टल में रहने वाले छात्रों के अनुशासन पालन पर प्रश्न चिन्ह लगने शुरू हो गए हैं|

पांच खोखों में अचानक आग लगी, देखते देखते लाखों का नुक्सान : मुआवजे की मांग

मेरठ :गढ़ रोड चौराहे पर आज सुबह आग लगाने से पांच खोखे सवाह हो गए|इनमे लाखों रुपये का नुक्सान होना बताया जा रहा हैजिसके लिए प्रशासन से मुआवजे की मांग की गई है|थाना मेडिकल के अंतर्गत गढ़ रोड चोराहे पर चाय+चारपाई बुनाई+सायकिल मरम्मत+जूते आदि के खोखों पर व्यापार होता था तड़के इनमे अचानक आग लग गई|और देखते ही देखते सारे पांचों खोखे राख होगये|
दमकल के वाहन मौके पर पहुंचे मगर तब तक बहुत देर हो चुकी थी खोखो के

खोखों में आग लगी,

मालिकों ने प्रशासन से मुआवजे की मांग की है|

एयर पोर्ट पर ट्रैफिक कंट्रोल लडखडाया स्पाईस जेट का प्लेन आई जी आई पर टकराया :यात्री सुरक्षित

स्पाईस जेट कम्पनी का एक विमान बिजली के खम्भे से टकरा कर दुघटना ग्रस्त होगया| जिससे विमान का एक हिस्सा[विंग]क्षतिग्रस्त होगया|इस हादसे से कुछ यात्रियों को चोटें भी आई हैं|
इंदिरा गांधी एयर पोर्ट[ आई जी आई]से गुरूवार को यात्रियों से भरे विमान जब रनवे की तरफ टेक आफ के लिए जा रहा था तब अप्रोन के समीप किसी अनहोनी से पायलेट घबरा गया और रास्ते के हाई पास्ट खम्भे से टकरा गया|विमान से यात्रियों को निकालने के लिए लगभग डेड घंटा लगा|कुछ लोगों को मामूली चोटें आई है किसी बड़ी अनहोनी का समाचार नहीं है सभी यात्रिओं की जान बच गई बताई जा रही है| जाँच के आदेश दे दिए गए हैं|
टेक्सी से रनवे पर जाने के लिए मार्ग दिशा निर्देश डी जी सी ऐ को जिम्मेदार ठहराया जा रहा है| इससे पूर्व २९ जुलाई को भी स्पाइस जेट और इंडिगो के प्लेन्स में एक्सीडेंट हो चुका है|

अरविन्द केजरीवाल ने शीला दीक्षित के खिलाफ शाहीन बाग़ के ध्वस्तीकरण का नया मोर्चा खोला

अरविन्द केजरीवाल V/S शीला दीक्षित

आम आदमी पार्टी [आप] के नेता अरविंद केजरीवाल ने आज शुक्रवार को दक्षिण दिल्ली में ओखला के शाहीनबाग में बेघर किये गए लोगों के समर्थन में राज्य सरकार को घेरने का प्रयास किया| राजधानी दिल्ली के शाहीन बाग में 500 घरों को गिराने के विरोध में आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने आज सुबह दिल्ली की मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के घर का घेराव किया| मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने तबियत खराब होने का कारण देते हुए केजरीवाल से पब्लिक के सामने बाहर आ कर बात करने से इंकार कर दिया |इस पर केजरीवाल ने दीक्षित के घर के बाहर धरना दिया|.केजरीवाल ने मंगल वार को बेघर किये गए 500 घरों के लोगों के दर्द को शेयर करते हुए प्रदेश सरकार पर आरोप लगाया कि लोगों के पास जमीन के कागजात और आईडी प्रूफ होने के बाद भी बिना किसी नोटिस के जबरन लोगों के घर गिराए गए.| इसमें भी एक बड़े भूमि घोटाले का संदेह व्यक्त किया गया है।
दिल्ली सरकार ने मंगलवार की दोपहर यहां लोगों के घर गिरवा दिए थे| अरविंद केजरीवाल ने अपने समर्थकों के साथ शाहीन बाह इलाके का दौरा किया.|
केजरीवाल के मुताबिक उन्होंने प्रभावित लोगों की परेशानी बयान करने के लिए शीला दीक्षित से मिलने का वक्त मांगा था, लेकिन उन्होंने मिलने से इनकार कर दिय| मुख्यमंत्री उनसे मिलने के लिए वक्त नहीं निकालती हैं तो भी वह शाहीनबाग के बेघर लोगों के साथ शुक्रवार को मुख्यमंत्री आवास पर बातचीत करने जाने का एलान किया और पुलिस ने उन्हें नहीं जाने की हिदायत दी अन्यथा सख्ती से निबटने की चेतावनी दी गई |
केजरीवाल ने कहा कि जिन लोगों के घर उजाड़े गए हैं वे बेहद गरीब हैं। उन्होंने कहा कि क्या मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के मन में कोई संवेदना नहीं बची है। मुख्यमंत्री को जानना चाहिए कि इस कड़ाके की ठंड में लोग बेघर कर दिए गए हैं|
केजरीवाल का कहना था कि जिन लोगों का आशियाना गिराया गया है वे वर्षो से यहां रह रहे हैं, उनके पास जमीन के कागज, मतदाता पहचान पत्र, गैस कनेक्शन और आधार कार्ड तक हैं।अगर किसी के पास कुछ कागजात कम भी होंगे तो बिना उनके पुनर्वास के ऐसी कार्रवाई कैसे की जा सकती है? सरकारी बुलडोजर चलने से पहले लोगों को नोटिस तक नहीं दिया गया। लोग घरों से सामान तक नहीं निकाल सके। अरविंद केजरीवाल ने कहा कि इन घरों को गिराने का आदेश गलत तरीके से दिया गया है, ये घर जिस जमीन पर बने थे वह काफी महंगी है। आखिर किसकी नजर है इस जमीन पर? जो यह साजिश करा रहा है। सरकार को इस कार्रवाई पर जवाब देना चाहिए।मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने बातचीत के लिए बुलाया, लेकिन जब केजरीवाल अपने कुछ साथियों के साथ बातचीत के लिए मुख्यमंत्री के घर के भीतर पहुंचे, तो शीला दीक्षित ने बात करने से इनकार कर दिया।
ऐसे में केजरीवाल अपने साथियों के साथ बाहर आकर दोबारा अपना धरना शुरू कर दिया। ।
केजरीवाल ने कहा, जिस जमीन पर ये लोग रह रहे हैं वह इन्हीं की जमीन है, इनके पास इसके दस्तावेज हैं। लेकिन यह अनाधिकृत है क्योंकि आपको मानचित्र सरकार द्वारा पास कराना होता है। उन्होंने कहा, लेकिन 4 अक्तूबर 2010 को सोनिया गांधी ने घोषणा की थी कि 1600 कालोनियों को नियमित किया जाएगा, यह कालोनी भी उसमें शामिल थी, लेकिन इसके बावजूद 500 घरों को ढहा दिया गया। उन्होंने आरोप लगाया कि पास के कई शोरूम को नहीं गिराया गया।

बी के यू ने हुक्का पानी उठाया:टोल प्लाजा पर टोल कर्मियों की चौधराहट लौटी

बी के यू ने हुक्का पानी उठाया:टोल प्लाजा पर टोल कर्मियों की चौधराहट लौटी

भारतीय किसान यूनियन[बे के यू] ने एनएच-24 पर डासना के पास बने टोल प्लाज़ा से जारी धरना खत्म कर दिया अब फिर से इस प्लाज़ा पर प्लाज़ा कर्मियों की चौधराहट कायम हो गई है| । प्रशासनिक अधिकारियों के साथ करीब एक घंटे तक चली समझौता वार्ता के बाद बीकेयू के नेताओं ने यह फैसला किया। किसानों ने इसके साथ ही दिल्ली-नोएडा को जोड़ने वाले डीएनडी फ्लाई ओवर पर शुक्रवार को होने वाला धरना भी स्थगित करने की घोषणा कर दी है|
बीकेयू के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के साथ 13 दिसंबर को किसानों की बैठक के बाद डासना टोल बूथ सहित अन्य मामलों पर आगे की रणनीति तय की जाएगी। इससे पहले, प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बैठक में बीकेयू के मंडल अध्यक्ष राजवीर सिंह चौधरी सहित अन्य किसान नेताओं ने भाग लिया। पुलिस की ओर से एसपी देहात, प्रशासन की ओर से एडीएम प्रशासन सी. आर. पटेल, एसडीएम सदर केशव कुमार आदि ने भाग लिया। जानकारों का मानना है की रालोद द्वारा घोषित गन्ना आन्दोलन की हवा निकालने के लिए यह व्यवस्था की गई है|वैसे कुछ भी कारण रहे हों किसानों के मसीहा बाबा टिकैत का ४० दिन के भोपा में धरने का रिकार्ड टूटने से बाख गया |
एडीएम देहात ने कहा कि किसानों ने किसी भी तरह की शर्त प्रशासन के सामने नहीं रखी और ३७दिन पुराना धरना समाप्त कर दिया।

स्वीकृत मांगें ‘

बीकेयू के जिलाध्यक्ष हर्षवर्धन त्यागी ने दावा किया कि प्रशासन ने किसानों की कई मांगें मानी हैं। [१] बातचीत में तय किया गया है कि मीडियाकर्मियों , वकीलों , किसान यूनियन के कार्यकर्ताओं और स्टूडेंट्स से टोल नहीं लिया जाएगा।[२] टोल प्लाजा के आसपास दस किलोमीटर के दायरे में बसे लोगों से भी टोल नहीं लिया जाएगा।

प्रशासनिक दाव

प्रशासन ने टोल प्लाज़ा कब्जा करने वाले किसानों का नेतृत्व कर रहे छह नेताओं को गुरुवार को नोटिस जारी किए। नोटिस में कहा गया कि उनके इस आंदोलन से सरकार को जो नुकसान हुआ है इसकी वसूली उनसे की जाएगी। किसान नेताओं ने नोटिस लेने से इनकार कर दिया। उन्होंने कहा कि वे संघर्ष के लिए तैयार हैं।
गुरुवार को सिवाया टोल पर आंदोलन के खात्मे के मौके पर भी एक आला अफसर ने राकेश से वार्ता की और फिर मुख्यमंत्री स्तर से। परिणाम रहा कि एनएचएआइ से संबंधित आठ मांगों को लेकर भाकियू ने मुख्यमंत्री के नाम एक ज्ञापन तैयार किया। इसमें सारी मांगे केंद्र सरकार से संबंधित हैं। उसी के आधार पर उनकी वार्ता का समय मुख्यमंत्री से तय हुआ। माना जा रहा है कि 13 दिसंबर को अखिलेश और राकेश की लखनऊ वार्ता के बाद गन्ना मूल्य का भी ऐलान कर दिया जाएगा। निश्चित रूप से यह ऐलान रालोद सुप्रीमो अजित सिंह पर दबाव बनाएगा।
बहरहाल, पूरे घटनाक्रम का जिस तरह से अचानक पटाक्षेप हुआ, उससे यह बात चर्चा में आ रही है कि कहीं न कहीं अखिलेश आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर रालोद को हाशिए पर डालने की रणनीति को अंजाम देने में लगे हैं। सपा के एक खेमे का मानना है कि यदि लोस चुनाव में भाकियू का सहयोग मिल जाए तो चुनाव में इसका लाभ होगा। यह भी सर्वविदित है कि भाकियू और रालोद दोनों ही संगठनों का सियासी आधार किसान राजनीति की जमीन पर टिकी है। इस सियासी गठजोड़ को अभी कड़ी अग्निपरीक्षा से गुजरना होगा, क्योंकि भाकियू की राजनैतिक विंग बहुजन किसान दल (बीकेडी) इन दिनों लगभग निष्क्रिय है। अब तक का इतिहास है की किसानों ने बेशक आन्दोलनों में बाबा एम् एस टिकैत का भरपूर साथ दिया मगर चुनावों में वोही तबका चौधरी अजित सिंह के रालोद के साथ खड़ा नज़र आया है|इसीलिए राकेश टिकैत को अभी अपना राजनितिक कद बढाने के लिए मेहनत करनी होगी|

अयोध्या कांड की बरसी पर भारी फ़ोर्स तैनात : सर्वत्र शांति रही

अयोध्या कांड की बरसी

बाबरी मस्जिद/अयोध्या दुखद काण्ड की बरसी पर बेशक अयोध्या में सामान्य जन जीवन रहा मगर लोक सभा में कल और राज्य सभा में आज ब्रहस्पतिवार को विकास के इस दौर में दफन हो चुकी साम्प्रदाईकता के जिन्न के नाम पर हाय हल्ला किया गया और शासन के एलर्ट पर प्रशासन द्वारा एन सी आर के मेरठ में भी जबरदस्त सख्ती रही| भारी फ़ोर्स [जिनमे पी ऐ सी की पञ्च कम्पनियाँ भी शामिल थी] द्वारा जगह जगह चेकिंग +पोलिस गश्त जारी रही|
एस पी सिटी भी स्वयम रोड पर रहे और अतिक्रमण भी हटवाते रहे|संवेदनशील इलाकों में [बुढाना गेट+गुदड़ी+घंटाघर+वैली बाज़ार+छतरी वाला चौक+लिसादी गेट+भूमिया का पुल आदि पर विशेष सुरक्षा व्यवस्था रही|
इस अवसर पर शिव सेना और बजरंग दल ने हमेशा की तरह शौर्य दिवस और मुस्लिम संगठनों ने शोक दिवस मनाया|
शिव सेना ने जिला प्रशासन के माध्यम से राष्ट्रपति को मंदिर निर्माण के लिए ज्ञापन भी प्रेषित किया| जुलुस की शक्ल में कलेक्ट्रेट पहुंचे और ज्ञापन सौंपा|
जमियत उलेमाऐ हिन्द ने यौमे दुआ कराई|इंडियन मुस्लिम लीग ने मस्जिद निर्माण की मांग दोहराई| कलेक्ट्रेट पर धरना भी दिया|
अयोध्या काण्ड के २० साल बाद की यह सारी कवायद के बावजूद सभी तरफ शान्ति बनी रही

अन्ना बाबू राव हजारे ने अरविन्द केजरीवाल को सत्ता और पैसे के खेल में लिप्त बताया

सोश्लाईट अन्ना बाबू राव हजारे ने आज अपने ख़ास रहे अरविन्द केजरीवाल की पार्टी से दूर रहने का ऐलान कर दिया| अजेंडा आज तक में एंकर के बेहद कुरेदने के पश्चात अन्ना ने यह कहा कि आम आदमी पार्टी बना कर अरविन्द केजरीवाल ने यह साबित कर दिया है कि वोह अब सत्ता और पैसे के खेल में प्रवेश कर चूका है|इसीलिए अब मै[अन्ना]उसके[अरविन्द]केपास तक नहीं जाउंगा|

Agenda Aajtak


इस अवसर पर उन्होंने व्यवस्था के परिवर्तन के लिए सत्ता प्राप्ति नहीं वरन आन्दोलन जरूरी है और अरविन्द ने वोह रास्ता छोड़ दिया है|
अन्ना ने जनुवरी के बाद एक बड़ा आन्दोलन छेड़ने की भी घोषणा की उन्होंने एक अन्य प्रश्न के उत्तर में यह स्वीकार किया कि बाबा रामदेव के साथ मिल कर दश हित कोई कार्य करने में कोई बुराई नहीं है|