Ad

Category: Unrest Strikes

चिदम्बरम ने यशवंत और परिजनों के फोन टैप कराये

कांग्रेस के आक्रामक रुख को देखते हुए अब भाजपा ने भी कोयले के साथ साथ दुसरे मुद्दो पर भी दबाब बनाना शुरू कर दिया है|
भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व केन्द्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा ने आक्रामकता के साथ कहा है कि जब उन्होंने वित्त मंत्री पी चिदंबरम से जुड़े एयरसेल-मैक्सिस मामले को उठाया था तब तत्कालीन सरकार ने उनके तथा उनके परिजनों के फोन टैप कराये थे|
एक संवाददाता सम्मेलन में यह गंभीर आरोप लगाते हुये श्री सिन्हा ने कहा कि फोन टैप जैसी इन हरकतों से वह डरते नहीं हैं और कांग्रेस लाख प्रयास कर ले, लेकिन उनकी पार्टी भ्रष्टाचार के खिलाफ यह लड़ाई जारी रखेगी।
उन्होंने कहा कि यह कांग्रेस की आदत है कि वह अपने खिलाफ बोलने वालों के विरुद्ध किसी भी हद तक जा सकती है।
उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी ने लाखों करोड़ रुपये के कोयला खदान घोटाले में अपनी सरकार के घिरने के बाद शर्मिंदगी महसूस करने की बजाय अपने सांसदों को भाजपा पर पलटवार करने की नसीहत दी है। यह कैसी राजनीति है।
यशवंत सिन्हा ने सोनिया गांधी पर घमंडी होने का आरोप लगाया है | इसी कारण कांग्रेसी सांसदों और नेताओं को भाजपा पर पलटवार करने को कहा गया है। श्री सिन्हा ने पूछा कि क्या लोकतंत्र में विपक्ष से बात करने का यही तरीका है।
वाजपेयी सरकार की याद दिलाते हुये उन्होंने कहा कि उनके समय में ऐसी स्थिति में वाजपेयी स्वयं विपक्ष को साथ लाने की बात कहते थे, लेकिन यहां तो सब उलट है। उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस इस घोटाले के पूरे मामले पर पर्दा डालने का प्रयास कर रही है, लेकिन भाजपा ऐसा होने नहीं देगी।
उन्होंने 2जी मामले में मुरली मनोहर जोशी के साथ कांग्रेस के व्यवहार की याद दिलाते हुये कहा कि वहीं कांग्रेस का असली चरित्र है। वह तो वास्तव में ऐसे मुद्दों पर बहस ही नहीं चाहती है। सिन्हा ने कांग्रेस पर बदले की भावना से काम करने और अपने विरोधियों के खिलाफ सीबीआई का दुरूपयोग करने का आरोप लगाया।
उनहोंने कहा कि किस प्रकार कांग्रेस सरकार ने भाजपा के केन्द्रीय मंत्री अरुण शोरी तथा अन्य के खिलाफ समय-समय पर सीबीआई जांच का प्रयास किया लेकिन उन्हें क्या हासिल हुआ। उन्होंने आरोप लगाया कि देश के इतिहास में पहली बार कोई प्रधानमंत्री सीएजी की संस्था को खत्म करने और उसका महत्व कम करने का प्रयास कर रहा है इसके नतीजे लोक तंत्र के लिए अच्छे नहीं होंगें|

ग्यारहवीं कक्षा में फ़ैल सात बसंतियों का वोल्टेज ड्रामा

कूद जायेंगीं फांद जायेंगीं मर जायेंगीं |यह कहने वाली एक दो नहीं पूरी सात बसन्ती|
यह धमकी किसी मौसी को नहीं बल्कि कालेज के प्रिंसिपल को दी गई |
शोले के वीरू की तर्ज़ पर यह धमकी सहारनपुर एसडी गर्ल्स इंटर कॉलेज में कक्षा 11 में फेल हुई सात छात्राओं ने दी |
वीरू की तरह शादी के लिए नहीं वरन ११ वी कक्षा में उतीर्ण कराने के लिए यह हाई वोल्टेज ड्रामा किया गया|
करीब चार घंटे चले इस हाई वोल्टेज ड्रामे के बावजूद भी लड़कियों को फ़ैल ही कर दिया गया|
शुक्रवार सुबह करीब साढ़े नौ बजे ये छात्राएं पहले कालेज की छत पर चढ़ गईं और उन्होंने वहां से नीचे कूदने की धमकी दी। किसी तरह मनाकर उन्हें छत से उतारा तो उन्होेंने प्रबंधन और शिक्षकों पर परीक्षा परिणाम में गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा किया। इस दौरान कॉलेज में अफरातफरी का माहौल रहा। बाद में डीआईओएस ने खुद कॉपियों की जांच करवाई तो सातों छात्राएं फेल ही पाई गई। उसके बाद इस मामले का पटाक्षेप हो गया। इस प्रकरण की रिपोर्ट डीएम को भेजी जाएगी।
शुक्रवार सुबह करीब साढ़े नौ बजे कॉलेज के प्रधानाचार्य आशा सक्सेना और अन्य शिक्षिकाओं ने उन्हें काफी समझाया लेकिन वे नीचे उतरने को तैयार नहीं हुईं।
बाद में मौके पर पहुंचे पुलिस और शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने काफी देर समझाकर कर सातों छात्राओं को छत से नीचे उतरवाया। नीचे आने पर छात्राओं ने आरोप लगाया कि उन्होंने कक्षा 11 की परीक्षा दी थी। इसमें उन्हें लगातार दूसरी बार जानबूझकर फेल कर दिया गया है। इस दौरान उन्होंने काफी हंगामा किया।
छात्राओं ने प्रबंधन पर उनका उत्पीड़न किए जाने का भी आरोप मढ़ा। उन्होंने बताया कि वे इस मामले को लेकर कमिश्नर और डीएम से लेकर अन्य विभागीय दफ्तरों में भी जा चुकी हैं, मगर कहीं भी न्याय नहीं मिला। जानकारी मिलने पर छात्राओं के समर्थन में पुनीता गौतम सहित कुछ अन्य लोग भी कॉलेज पहुंचे।
इस ड्रामे के बाद कालेज प्रशासन ने तत्काल कापियों की जांच करवाई|
इस शिकायत के आधार पर ही

दो अन्य छात्राओं की कॉपी भी देखी गईं। इनमें से एक में गड़बड़ी मिलने पर डीआईओएस उसे साथ लेकर चले गए।
उन्होंने कहा कि इसमें गलती साबित होगी, तो आगे कार्रवाई की जाएगी।

नरोडा पाटिया नरसंहारक कोडनानी को 28 साल बजरंगी को ताउम्र जेल

गुजरात के नरोडा पाटिया नरसंहार मामले में घोषित ३२ दोषियों के लिए सजा का ऐलान कर दिया गया है। नरसंहारक माया कोडनानी को 28 साल और बाबू बजरंगी को ताउम्र जेल की सजा सुनाई गई है|
इस मामले में दोषी करार दी गई पूर्व मंत्री माया कोडनानी को 28 साल जबकि बाबू बजरंगी को शेष जीवन [आजीवन] जेल में बिताना होगा|
फैसले के मद्देनजर कोर्ट परिसर में सुरक्षा के कडे इंतजाम किए गए हैं। ‘मोदी हाय-हाय’ के नारे लगाए जा रहे हैं।
स्‍थानीय प्रशासन ने नरोडा में बंद रखा है।
गौरतलब है कि साल 2002 में गुजरात में हुए दंगों के समय हुए नरोडा पाटिया हत्याकांड मामले में कोर्ट ने कोडनानी और बाबू बजरंगी सहित 32 लोगों को दोषी ठहराया था।
सुरेश लंगड़ा को भी बाबू बजरंगी की तरह ताउम्र जेल की सजा सुनाई गई है।
कोडनानी नरेंद्र मोदी सरकार से जुड़ी पहली शख्‍स हैं जिन्‍हें दंगों का दोषी ठहराया गया है
दंगों के समय कोडनानी विधायक थीं मगर दंगों के बाद उन्हें मंत्री पद दिया गया|
विपक्ष लगातार दंगों में मुख्‍यमंत्री मोदी की भूमिका होने के आरोप लगाता रहा है, लेकिन मोदी का साफ मानना है कि उन्‍होंने कोई गलती नहीं की है। वह इसी तर्क के आधार पर माफी की मांग को भी नकारते रहे हैं। हाल ही में उन्‍होंने एक इंटरव्यू में कहा कि अगर वह दोषी हैं तो उन्‍हें फांसी पर लटका दिया जाए|
कांग्रेस ने नरेंद्र मोदी का इस्‍तीफा मांगा तो बीजेपी ने सीएम का बचाव करते हुए कहा कि दंगों में उनका नाम बेवजह घसीटा जा रहा है।

मुलायम ने संसद के बाहर कोयला मोर्चा खोला

सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने भी आज कैग के कोयले में अपने हाथ डाल दिए हैं|कोयला घोटाले की जांच और संसद में जारी गतिरोध की समाप्ति को लेकर आज मुलायम सिंह यादव अज सुबह लेफ्ट और टी डी पी के साथ मिल कर संसद के बाहर धरने पर बैठ गए हैं|भवन की सीडियों पर बैठे ये लोग मुलायम सिंह को मुद्दे पर न्रेत्त्व करने के नारे भी लगा रहे थे|
संसद के अन्दर सरकार के संकट मौचक बने हुए मुलायम सिंह यादव और लेफ्ट पार्टियाँ कोयले के भ्रष्टाचार की जांच की मांग कर रहे हैं|इसे राजनीतिक विशेषज्ञों द्वारा भाजपा के विरुद्ध तीसरे मोर्चे के रूप में देखा जा रहा है|
लेफ्ट इस मुद्दे पर अपने बंगाल में कांग्रेस के माध्यम से अपनी विरोधी ममता सरकार ,[जो की वर्तमान में केंद्र की सहयोगी भी है] पर निशाना साध सकते हैं जबकि मुलायम सिंह भ्रष्टाचार के मुद्दे को भाजपा से छीन कर कांग्रेस को कुछ राहत दे सकते हैं|
गौरतलब है की अभी कुछ दिन पहले ही संसद में यूं पी ऐ अध्यक्षा श्रीमती सोनिया गाँधी ने मुलायम सिंह से उनकी सात पर जा कर संक्षिप्त मुलाक़ात की थी तभी से यह कयास लगाये जा रहे थे की अब मुलायम सिंह पुनः कांग्रेस को राहत देने के लिए बी जे पी का विरोध करेंगे|और वोही हुआ भी |एक तरफ मीडिया का सारा ध्यान भजपा से भटक कर सपा के इस कथित तीसरे मोर्चे की तरफ हो गया है|संसद चलाने के लिए अब भाजपा पर दबाब बन रहा है|इसके अलावा उनकी पूर्व में की गई मध्यावधि चुनावों की घोषणा के चलते तीसरे मोर्चे का न्रेत्त्व मिलता दिखाई दे रहा है|

धरना शुरू होने के कुछ समय पश्चात पहुँची राज्य सभा सदस्या ज्या भादुड़ी बच्चन ने क्षणिक देर में ही अपनी शरारती गुड्डी वाले अंदाज़ भी दिखा दिए |धरने पर आये सांसदों को पेपर प्लेकर्ड्स दिए गए एक कार्ड ज्या को भी दिया गया ज्या ने उसे अपनी नाक पर शरारतन रख लिया उनके साथ खड़े प्रोफ़ेसर रामगोपाल यादव हंस पड़े और ज्या को संभवत चेहरा भी दिखाने की डायरेक्शन दी जिसके पश्चात ज्या ने अपने चेहरे से प्लेकार्ड हटाया

ब्रिटेन में इंडियन स्टुडेंट्स पर गाज

ब्रिटेन के आव्रजन विभाग द्वारा विलम्भ से लिए गए एक कदम से सेकड़ों भारतीय छात्रों का भविष्य अधर में लटक गया है| आव्रजन विभाग ने तीन हजार भारतीय और गैर यूरोपीय छात्रों का मेट्रोपॉलिटन यूनिवर्सिटी में प्रवेश लाइसेंस रद्द कर दिया है। अब लंदन मेट्रोपॉलिटन यूनिवर्सिटी में पढ़ रहे छात्रों को तुरंत इसके वैकल्पिक उपाय तलाशने को बाध्य होना पडेगा| सितंबर से शुरू हो रहे अगले सत्र से यहां प्रवेश लेने की योजना बना रहे छात्रों को भी झटका लगा है। फिलहाल यहां सेकण्ड और थर्ड ईयर में पढ़ रहे छात्रों को अपना कोर्स तुरंत किसी दूसरे विश्वविद्यालय में ट्रांसफर कराना पड़ेगा।
यदि वे ऐसा नहीं कर पाए तो नियमों के मुताबिक उन्हें अपनी पढ़ाई बीच में ही छोड़कर 60 दिनों के भीतर भारत लौटना पड़ेगा।
बताया जा रहा है कि यह विश्वविद्यालय इन छात्रों को प्रवेश देने के लिए आवश्यक मानदंड पूरे नहीं कर पाया|
इसीलिए उसका लाइसेंस रद्द कर दिया गया है। हालांकि उन्होंने कहा है कि भारतीय और गैर यूरोपीय छात्रों की मदद के लिए एक टास्क फोर्स का गठन किया गया है। विश्वविद्यालय में भारतीयों सहित करीब 3000 विदेशी छात्र हैं।

राज ठाकरे ने आशा भोंसले पर आँखें तरेरी

मनसे प्रमुख राज ठाकरे आये दिन प्रसिद्धि प्राप्त करने के लिए किसी न किसी विवादित मुद्दे या फिर किसी सेलेब्रेटी को निशाना बनाते रहते हैं|असाम दंगों के विरोध में मुम्बई को घंटों बंधक बनाने के बाद अब महाराष्ट्रियन आशा भोंसले को धमकी दे डाली है| महान गायिका आशा भोसले को पत्र लिखकर कहा गया है कि वह पाकिस्तानी कलाकारों के साथ काम न करें।
श्री ठाकरे की पार्टी महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) ने कलर्स टीवी चैनल को इस मामले में धमकाने की भी कोशिश की है।
आगामी 8 सितंबर को आशा भोसले कलर्स चैनल पर पाकिस्तानी गायकों के साथ गाएंगी। मनसे ने धमकी दी है कि अगर कार्यक्रम का प्रसारण करने की कोशिश की गई तो मुंबई में चैनल की कोई शूटिंग नहीं होने दी जायेगी |
और प्रायोजकों के उत्पादों को भी बैन कर दिया जाएगा |
महाराष्ट्र नवनिर्माण चित्रपट कर्मचारी सेना ने आशा भोसले को भी पत्र लिखकर इस कार्यक्रम में भाग न लेने के लिए कहा है।
पाकिस्तान में सलमान खान की फिल्म ‘एक था टाइगर’ पर बैन लगाने का हवाला देते हुए कहा कि जब पाकिस्तान हमारा सम्मान नहीं कर रहा है, तो हम भला क्यों उनके कलाकारों को तवज्जो दें।’ उन्होंने लोगों से भी इस तरह के शो नहीं देखने की अपील की।

एयर इंडिया कर्मियों को मुनाफे पर आधारित भत्ते मिलेंगें|

जस्टिस धर्माधिकारी समिति की रिपोर्ट की गाज एयर इंडिया के कर्मचारियों पर गिर ही गई है| एयर इंडिया के कर्मचारियों के वेतन भत्तों में बदलाव समिति की सिफारिशों को स्वीकार करके वेतन मान में संशोधन किया गया है।
अब वेतन भत्तों में प्रदर्शन आधारित प्रोत्साहन [पीएलआइ] की राशि नहीं मिलेगी।बेशक इसके स्थान पर व्यावसाईक द्रष्टिकोण[ उत्पादकता आधारित] अपनाया गया है मगर उस नज़रिए से कर्मियों को नुक्सान होना लाज़मी है|
पीएलआइ कर्मचारियों को वेतन राशि के एक हिस्से के तौर पर दिया जाता है।इसका भुगतान निश्चित है|
सरकारी एयरलाइंस ने जस्टिस धर्माधिकारी समिति की अरसे से लंबित सिफारिशों के आधार पर इस व्यवस्था को खत्म करने का फैसला लिया है।
अब मुनाफे या उत्पादकता आधारित [पीआरपी] व्यवस्था लागू करने का निर्णय किया गया है।
एयर इंडिया कर्मचारियों को अब सार्वजनिक उपक्रम विभाग [डीपीई] की ओर से जारी दिशानिर्देशों के मुताबिक वेतन और भत्ते मिलेंगे। यह दिशानिर्देश एक जुलाई से प्रभावी हो गया है। नई पीआरपी व्यवस्था में उत्पादकता, विमान उपयोग,यात्री लोड फैक्टर, समय पर संचालन,आय संबंधी उपलब्धियों जैसे मानकों के आधार पर भत्ते दिए जाएंगे। यह भत्ते भी एयरलाइंस के मुनाफे में लौटने के बाद से दिए जाएंगे।क्यूंकि यह भुगतान मुनाफे पर आधारित होगा और कंपनी लगातार घाटा दिखा रही है|कंपनी की सेवाओं को सुधारने के स्थान पर जहाज़ों के बेड़े में बढोत्तरी और वेतन में कटौती से फायदा की संभावनाएं तलाशी जा रही है|
विमानन मंत्री अजित सिंह धर्माधिकारी समिति की सिफारिशों को मंजूरी दे चुके हैं| इसी आधार पर अब एक जुलाई से वेतन-भत्तों में वृद्धि के लिए उत्पादकता आधारित व्यवस्था लागू की जाएगी।
वेतन-भत्तों को तार्किक बनाए जाने के लिए जस्टिस धर्माधिकारी समिति की सिफारिशों को वित्तीय संकट से जूझ रही इस कंपनी के लिए काफी अहम माना गया है।

वेतन-भत्तों पर कंपनी का सालाना खर्च करीब 3,200 करोड़ रुपये है। इसमें से 50 फीसद राशि पीएलआइ और कर्मचारियों के उड़ान भत्तों पर खर्च होती है

बस ने छात्र कुचला और एक घायल किया

मेरठ के मवाना रोड पर टूरिस्ट बस से कुचल कर बी टेक के एक छात्र की मृत्यु हो गई|मौके से भागने की नियत से ड्राईवर ने बस को डिवाईडर पर चड़ा दिया और एक ट्रेक्टर वाले को भी घायल कर दिया|
जे पी कालेज के छात्रों और छेत्र वासिओं ने विरोध स्वरुप सड़क जाम रखी|पोलिस ने बाद में ड्राइवर को दबोच लिया|
तारापुर निवासी २० वर्षीय शुभम आज सुबह जे पी इंस्टीटयूट के लिए बस से उतरा पीछे से तेज रफ़्तार में आ रही बस ने रोंग साईड से ओवर टेक किया और शुभम को कुचल दिया |
इस के बाद ट्रेक्टर चालकलाल कालोनी निवासी विजय को भी घायल कर दिया|उसे नर्सिंग होम में भर्ती कराया गया है|
छात्रों ने विरोध में ट्रेफिक जाम कर दिया |इससे वाहनों की लम्बी कतारें लग गई और लोगों को बेहद परेशानी भी हुई |वाहनों के मालिकों से इनकी नौंक झौंक भी हुई बाद में मौके पर पहुंची पोलिस ने छात्रों से बात चीत करके जाम खुलवाया |

गुजरात के नरोदा पाटिया दंगों में ३२ दोषी २९ बरी

अहमदाबाद की एक विशेष अदालत ने बहुचर्चित नरोदा पाटिया हत्याकांड मामले में 32 लोगों को दोषी करार देने के साथ 29 लोगों को बरी कर दिया गया है.
दोषी पाए गए लोगों में भाजपा विधायक और मोदी मंत्रीमंडल की सदस्य रही माया कोडनानी भी शामिल हैं. इसके अलावा नेता बाबू बजरंगी नाम भी दोषियों में पाया गया है.
गौरतलब है कि गुजरात के मुख्य मंत्री नरेन्द्र मोदी के राजनितिक जीवन पर कलंक बने साम्प्रदाईक दंगों के दौरान 28 फरवरी 2002 को नरोदा पाटिया इलाके में 97 मुसलमान मारे गए थे. आरोप है कि नरेंद्र मोदी सरकार में शामिल एक मंत्री ने उस भीड़ को गाईड किया था जिसने इस वीभत्स हत्याकांड को अंजाम दिया.
61 अभियुक्तों में भाजपा के नरेंद्र मोदी सरकार में मंत्री और नरोदा पाटिया से विधायक माया कोडनानी+ नेता बाबू बजरंगी+ स्थानीय भाजपा नेता शामिल थे.
इस हत्याकांड का मुकदमा सात साल बाद शुरू हुआ और इसमें 62 लोगों के ख़िलाफ़ अभियोग चलाया गया. इनमें से विजय शेट्टी नाम के एक व्यक्ति की मुकदमें को दौरान ही मौत हो जाने के कारण ६१ लोगों के विरुद्ध मुकद्दमा चलाया गया|
नंवबर २०११ में कांग्रेस कार्यकर्ता और नरोदा पटिया में हुए दंगे के चश्मदीद नदीम अहमद सैयद की हत्या कर दी गई थी. वह सूचना अधिकार के कार्यकर्ता भी थे और उन्होने गोधरा दंगों पर सूचना अधिकार के तहत कई सवाल पूछे थे.

संसदीय कार्यवाही पांचवे दिन भी हंगामे को भेंट

संसद की कार्यवाही आज पांचवे दिन भी हंगामे की भेंट चढ़ गई|
कोयला घोटाले में कथित अनियमितता पर नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (सीएजी) की रिपोर्ट को लेकर प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के इस्तीफे की मांग कर रहे विपक्षी दलों ने सोमवार को भी संसद के दोनों सदनों में जमकर हंगामा किया, जिसके कारण लोकसभा और राज्यसभा की कार्यवाही पूरे दिन के लिए स्थगित कर दी गई|.
कई बार के स्थगन के बाद संसद के दोनों सदनों की कार्यवाही जब एक बार फिर दोपहर दो बजे शुरू हुई तो विपक्षी दलों के सदस्य फिर इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के इस्तीफे की मांग करने लगे. उनके हंगामे को देखते हुए दोनों सदनों की कार्यवाही पूरे दिन के लिए स्थगित कर दी गई|
पी एम् का जवाब संसद में शोर के कारण सदन के पटल पर रखा गया|