Ad

Category: Unrest Strikes

ग्रिड फेल्यौर की जांच रिपोर्ट आई नहीं और आरोपी तय हो गए

पावर ग्रिड फेल्यौर की जांच के लिए ऐ बक्शी की अध्यक्षता में गठित कमिटी की रिपोर्ट १५ दिन बाद आयेगी मगर इसके दोषी अभी से घोषित कर दिए गए हैं ना केवल घोषित वरन एक को तो दण्डित भी कर दिया गया है|
नार्दन ग्रिड कल ६ घंटे तक ६०% और शेष शाम तक ठीक हो पाई\बिजली मंत्री सुशील कुमार शिंदे ने ३ सदस्यीय जांच कमिटी बिठा दी है इसकी रिपोर्ट १५ दिन में दी जानी है मगर जांच कमिटी के गठन से पहले ही मंत्री महोदय ने तीन राज्यों को अधिक बिजली लेने के लिए दोषी ठहरा दिया |बाद में बताया गया कि उत्तर प्रदेश द्वारा कोटे से ज्यादा बिजली ड्रा की गई जिसके फलस्वरूप ग्रिड ट्रिप हो गई यूं पी के अलावा पंजाब हरियाणा और राजस्थान को भी दोषी बताया गया है|
उत्तर प्रदेश ने तत्काल इन आरोपों को नकार दिया और सारा दोष केंद्र सरकार द्वारा संचालित ग्रिड प्रभारी पर डाल दिया लेकिन इसके साथ ही दबाब पड़ने पर अपने वरिष्ठ अधिकारी अवनीश अवस्थी को तत्काल पद मुक्त कर दिया और प्रतीक्षा सूची में डाल कर दण्डित भी कर दिया गया है|
बताते चलें कि सोमवार लगभग २.३५ बजे आगरा के समीप नार्दन पावर ग्रिड के ट्रिप हो जाने से ९ राज्यों में बिजली गुल हो गई |जन जीवन अस्तव्यस्त हो गया अन्ना हजारे टीम ने इसके लिए केंद्र सरकार कि साजिश बताया\यूं पी सरकार ने भी इस फेल्यौर के लिए केंद्र पर ही ठीकरा फोड़ा |केंद्र सरकार ने अल्पावधि में दोष दूर करने का क्रेडिट लिया और एन डी ऐ सरकार कि आलोचना शुरू कर दी| हर रुकावट या एक्सीडेंट के पीछे कोई न कोई विदेशी हाथ या सेबोटाज की संभावनाएं तलाशने में माहिर सरकारें इस दशक के सबसे बड़े और पहले पावर फेल्यौर के लिए आरोप प्रत्यारोपों के गेम में ही क्यूं मशगूल है |

शरद पवार के घर आटा दाल से विरोध

अन्ना हजारे टीम के अनशन का आज छठा दिन है \आज अन्ना आन्दोलन के कुछ समर्थकों ने कृषि मंत्री शरद पवार के आवास पर दाल आटा चावल ले कर पहुंचे |और विरोध किया पोलिस ने प्रदर्शन कारियों को गिरफ्तार कर लिया |बीते दिन प्रधान मंत्री के निवास पर कोयला ले कर पहुँच कर विरोध दर्ज कराया जा चुका है इस प्रकार के प्रदर्शन जनता के आक्रोश को व्यक्त करने का माध्यम बन रहे हैं|उधर सरकार के जिम्मेदार नेताओं की सुरक्षा बडाई जा रहे है इससे लगता है की सरकार भी मुकाबिले का मन बना रही है\
भ्रष्ट १५ मंत्रिओं की सूचि में प्रधान मंत्री और कृषि मंत्री के नाम भी शामिल हैं

९ राज्यौं में ६ घंटे तक बिजली रही गुल

नार्दन ग्रिड में आगरा में आई खराबी से पश्चिमी भारत के ९ राज्यों में ६ घंटे बिजली का संकट रहा |बेशक बिजली की गुल होने से करोड़ों लोगों के दिल जल रहे हैं मगर बिजली मंत्री सुशील कुमार शिंदे और अन्ना हजारे टीम इस आग पर अपनी रोटियाँ सेंकने में लगे हैं|तीन सदस्य जांच समिति बना दी गई है
रात ढाई बजे नार्दन ग्रिड फेल हो गया | यह फेल्यौर २००१ और २००२ के बाद हुआ है |ट्रेन +प्लेन +उद्योग +पानी+अस्पताल और रोड ट्रेफिक सिस्टम भी फेल हो गया || रमजान के इस महीने में भी परेशानी बताई जा रही है | टी वी नियुज़ चेनलों पर दोपहर बारह बजे तक गाड़ियों को रेंगते हुए ही दिखाया गया है | यूं पी=हरियाणा+राजस्थान+महाराष्ट्र आदि ९ राज्य प्रभावित हुए हैं|
लोगों के असंतोष को देखते हुए श्री शिंदे ने प्रेस कांफ्रेंस करके बताया की सुबह ८ बजे खराबी को ६०% ठीक कर लिया गया है |भूटान से भी बिजली ली जा रही है|उन्होंने इस फेल्यौर का ठीकरा कुछ राज्यों के सर पर फोड़ा और कहा की कुछ राज्यों ने कोटे से अधिक बिजली ले ली जिसके फलस्वरूप ग्रिड बैठ गई |
श्री शिंदे ने अपनी पीठ थपथपाते हुए बताया की रिकार्ड समय में खराबी दूर कर ली गई है |लाखों गावों को बिजली दी जा चुकी है|इसके साथ ही एंडी ऐ को निशाना बनांने का मौका भी नहीं छोड़ा और कहा कि एन डी ऐ के शासन में तो यह कई बार हुआ | २०११ और २००२ के बाद अब का यह फेल्यौर कुछ राज्यौं द्वारा अधिक बिजली लिए जाने से हुआ है मगर राज्यों का नाम बताने से बचते रहे \
उधर अन्ना हजारे टीम के कुमार विशवास ने इस ग्रिड फेल्यौर के पीछे सरकारी षड्यंत्र बताया |उन्होंने कहा कि अन्ना हजारे के अनशन में आने से लोगों को रोकने के लिए जानबूझ कर बिजली काटी गई है |

नागरिक उड्डयन मंत्रालय में वाकई सब कुछ ठीक नहीं है

इंडिगो एयर लाईन्स के प्रमोटर राहुल भाटिया द्वारा सरकार की तरफ उडाये गए भेद भाव के आरोपों से लदे जहाज़ की तरफ सरकार ने अपनी दलीलों के राम बाण छोड़ कर उसे कुछ समय के लिए निष्क्रिय भले ही कर दिया मगर पहले पायलेट्स अब अईटा और सेन्ट्रल विजिलेंस कमीशन द्वारा श्री भाटिया द्वारा लगाये आरोपों की पुष्टि की जारही है | अब जरुरत से ज्यादा टेक्स+सुरक्षा की अनदेखी और भ्रष्टाचार के आरोप भी जुड़ने लग गए हैं|
नसीम जैदी के बाद भारत भूषण,प्रशांत शुकुल से ऐ मिश्रा डी जी सी ऐ बनाए जा चुके हैं| केरला ,महाराष्ट्र के बाद यूं पी से मंत्री बनाए गए हैं मगर डी जी सी ऐ और एयर इंडिया के साथ साथ किंग फिशर और अब स्पाईस जेट कंपनी भी हिचकोंले लेने लग गई है|
श्री भाटिया ने कोलकत्ता में नागरिक उड्डयन मंत्रालय पर कुछ चुनिन्दा एयर लाईन्स के प्रति भेद भाव[बिना किसी का नाम लिए]का आरोप लगते हुए कहा था की कुछ विमानन कंपनियों को फायदा पहुंचाने के लिए नीतियों में छेड़ छाड़ की जा रही है|सरकार की तरफ से तत्काल डेनियल आ गया| निष्पक्ष+उचित +पारदर्शी जैसे पुराने सदा बहार शब्दों को प्रयोग किया गया और सभी भेद भाव के आरोपों को नकार दिया गया | पायलटों को और कर्मचारियों को वेतन नाहीं देकर सुरक्षा संकट पैदा करने वाली और जबर्दस्त किराया बढाने वाली विमानन कंपनियों के विरुद्ध किसी भी कार्यवाही को कानूनी दायरे से बाहर तक बता दिया गया | भेद भाव के सभी आरोपों को निराधार तक बता दिया गया |
इसके बाद अईटा का ब्यान आ गया जिसमे पुराने आरोपों को भी बल मिला | ग्लोबल एयरलाइंस संगठन आइटा [अंतरराष्ट्रीय हवाई यातायात संघ] ने सरकार को यह सुझाव दिया है कि वित्तीय संकट से जूझ रही सरकारी एयरलाइंस एयर इंडिया का अस्तित्व बचाए रखने के लिए सख्त कदम उठाने की जरूरत है। इसके बाद ही कंपनी बिना सहारे के खड़ी हो पाएगीसंगठन ने इसके लिए जापान की दो सरकारी विमानन कंपनियों के विलय का उदाहरण भी दिया जिसने दिवालिया होने से बचने के लिए भारी तादाद में कर्मचारियों की छंटनी की।

विमानन पर सीआइआइ द्वारा आयोजित सम्मेलन में बोलते हुए आइटा प्रमुख टोनी टेलर ने कहा कि विमानन उद्योग कई समस्याओं से जूझ रहा है। महंगे ईधन, ऊंची टैक्स और इन्फ्रास्ट्रक्चर की कमी इस क्षेत्र के विकास में आड़े आ रही है। एयर इंडिया के बारे में उन्होंने कहा कि इसे सुधारने के लिए सरकार को कड़े कदम उठाने चाहिए। जापान एयरलाइंस का उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि वर्ष 2010 में इसने दिवालियेपन का आवेदन किया था। उसके बाद कंपनी ने 16 हजार कर्मचारियों की छंटनी की और 50 रूटों के उड़ान बंद किए। इसका असर वर्ष 2011 में कंपनी के वित्तीय नतीजों पर दिखा जब वह ढाई अरब डॉलर का मुनाफा कमाने में सफल रही। एयर इंडिया के निजीकरण के सवाल पर उन्होंने कहा कि उनका यह सुझाव नहीं है। सरकार को सबसे पहले इसका परिचालन स्थिर करने के कदम उठाने चाहिए। इससे कंपनी को आर्थिक हालात ठीक करने में मदद मिलेगी।
गौरतलब है कि वर्तमान में एयर टिकट के महंगे होने का रोना रोया जाता है जबकि ३००% से अधिक विभिन्न टेक्स हैं |पायलटों के वेतन फरवरी से लटके हुए हैं स्टाफ कि कमी और सुप्रीम कोर्ट के आदेशों के बावजूद १०१ बर्खास्त पायलेट्स सेवा में नहीं लिए जा सके हैं|किंग फिशर एयर लाइंस द्वारा एम्.आई,ऐ एल को जारी करोड़ों रुपयों के चैक दो बार बैरंग लौटाए जा चुके हैं| डी एम् के के दयानिधि मारण की एयर लाईन्स का ६०० करोड़ रुपयों का हज कांट्रेक्ट [खामियों के कारन]कैंसिल किया जा चूका है| व्यवस्था से निराश पायलटों ने अब अन्ना हजारे के मंच को इस्तेमाल करना शुरू कर दिया है
अब सी वी सी ने डी जी सी ऐ के आठ विभिन्न अधिकारियों के विरुद्ध तत्काल कार्यवाही को जरुरी बताया है|निदेशक,संयुक्त निदेशक और सहायक निदेशकों कि फौज पर अपने निजी लाभ के लिए विभिन्न विमानन कंपनियों को लाभ पहुंचाने के आरोप लगाये गए हैं|अंग्रेजी के राष्ट्रीय अखबार टाईम्स आफ इंडिया ने जोसी जोसेफ की स्टोरी को पहले पेज पर सेकेण्ड लीड में छापा है यह व्यवस्था कि आँखों को खोलने के लिए पर्याप्त है

अन्ना हजारे आमरण अनशन पर बैठे

पूर्व घोषणा के अनुसार अन्ना बाबु राव हजारे आज जंतर मंतरपर आमरण अनशन पर बैठ गए हैं |आज अनशन स्थल में पिछले चार दिनों के मुकाबिले भीड़ भी अच्छी जुट गई | एक अनुमान के अनुसार आज वहां आठ से साडे आठ हज़ार लोग जुड़े २६जुलाई से अन्ना टीम के अरविन्द केजरीवाल +मनीष शिशोदिया आदि अनशन पर बैठे थे मगर भीड़ के नाम पर केवल एक हज़ार लोग ही दिखाई देने लग गए थे \बाबा राम द्रव भी मंच पर आये तब कुछ लोग दिखाई दिए |तब ऐसा कहा जाने लगा की अब अन्ना टीम के दिन लद गए मगर आज की भीड़ को देखते हुए लगता है यह अन्ना टीम का हौसला बढाने को पर्याप्त होगी |
आज तेम अन्ना के कुछ समर्थक प्रधान मंत्री और गृह मंत्री के निवास की और भी गए मगर ७ रेस कोर्स [पी एम् हाउस]से पहले ही उन्हें रोक दिया गया|
अब कांग्रेस के एक धड़े द्वारा कहा जा रहा है कि आज की भीड़ तो सन्डे फिनोमिना थी कल का रुख आन्दोलन की दिशा तय करेगा
आज किरण बेदी ने भी सेलेब्रेटीज से आन्दोलन से जुड़ने का आग्रह किया |बेदी ने अमिताभ बच्चन +आमिर खान+ऐ पी जे अब्दुल कलाम आदि से आन्दोलन से जुड़ने का आग्रह किया है

जातीय दंगे राष्ट्र पर धब्बा = डाक्टर मन मोहन सिंह

प्रधान मंत्री ने अपने संसदीय प्रदेश में दंगा पीड़ित इलाकों का दौरा किया |इन जातीय दंगों को राष्ट्र के लिए एक कलंक बताया और सुरक्षा का महौल बनाने की जरुरत पर बल दिया छेत्र और पीड़ितों के लिए ३०० करोड़ रुपये के पैकेज सेंक्शन भी किये |इनमे से 100 करोड़ तत्काल सहायता के रूप में दिए जायेंगे |
असाम के कोकराझाड़ में जाते समय पहले तो पी एम् का हेलीकाप्टर तकनिकी कारणों से कोकराझाड़ में लैंड ही नहीं कर पाया उसके बाद दोबारा प्रयास करने पर सफलता मिल गई \पी एम् ने राहत शिविरों का मुआयना भी किया \उन्होंने अब बोडो और मुस्लिम समुदायों में आपसी शान्ति+ विशवास +भरोसे को कायम किये जाने को भी जरुरी बताया | डाक्टर मन मोहन सिंह ने पीड़ितों को सब कुछ जल्द ठीक हो जाने का भरोसा भी दिलाया|उन्होंने यह स्वीकार किया कि समस्या जटिल है और प्रारम्भिक स्टेज पर इसे कंट्रोल करने में कठिनाई आई थी मगर अब राज्य और केंद्र सरकारें मिल कर इसका समाधान निकाल लेंगी |
गौरतलब है कि अल्प संख्यक शरणार्थी और स्थानीय बोडो समुदायों में जमीन के कब्जे को लेकर यह विवाद बहुत पुराना है |बोडोस का मानना है कि अल्पसंख्यक बांग्ला देश से आये है जबकि सरकार ऐसा नहीं मानती |समय समय पर ये झगड़े होते रहते हैं और इस बार अब तक लगभग ५० लोग मारे जा चुके हैं लगभग ४००००० लोग बेघर हो चुके हैं|

अधिकारों के लिए एसोसिएशन में सक्रीय भूमिका जरूरी

दया राम को सेवानिवृति पर भावभीनी विदाई दीरक्षा लेखा नियंत्रक [निधि]में कर्मचारी संघ की कलकत्ता शाखा के अध्यक्ष दया राम को सेवानिवृति पर भावभीनी विदाई दी गई|इस अवसर पर केन्द्रीय शाखा के मुख्यालय कलकत्ता और दिल्ली से आये क्रमश जी.पी दत्ता और यतींदर चौधरी ने अपने हकों के लिए एसोसिएशन की गतिविधिओं में सक्रिय भूमिका निभाने का आह्वाहन किया|
श्री चौधरी और श्री दत्ता ने बताया कि संगठन कि एकता से ही सरकारे झुका करती है |कर्मचारियों के हितों कि खातिर ही केंद्र सरकार के सभी विभागों की समन्वय समिति ने बीते दिन पी एम् ओ को ज्ञापन भी सौंपा है|और अगर उनकी मांगे नहीं मानी गई तो नवम्बर के तीसरे हफ्ते या फिर बिसम्बर के पहले हफ्ते में देश भर में एक दिन की हड़ताल की जायेगी यशपाल द्वारा संचालित इस विदाई समारोह में उपाध्यक्ष कर्ण प्रदीप ने श्री दयाराम का जीवन परिचय दिया अश्विनी मांगलिक,वेदपाल सिंह ने आयोजन किया महक सिंह मान,पी एस मान,सतीश ग्रोवर,अशीम कुमार सिंह,एन मुख़र्जी,ऐ नायक आदि दिल्ली और कलकत्ता से आये थे|,

प्रधान मंत्री २८ जुलाई को करेंगे दंगा ग्रस्त असाम का दौरा

प्रधानमंत्री डाक्टर मन मोहन सिंह २८ जुलाई को असाम के दंगा पीड़ित छेत्रों का दौरा करेंगे | यहाँ से डाक्टर सिंह राज्य सभा के सांसद है|
असाम में पिछले ४ दिनों से जमीन के कब्जे को लेकर कोकराझाड़ समेत तीन जिलों में बोडोस और अल्प संख्यक रिफ्यूजियों में दंगे हो रहे हैं इन दंगों में अब तक ४२ लोग मारे जा चुके हैं और २००००० लोग बेघर हो चुके हैं|इनके पुनर्वास के लिए सेकड़ों रिफ्यूजी केम्प लगाए गए है और दंगाइयों को देखते ही गोली मारने के आदेश दे दिए गए है | सेना फ्लैग मार्च कर रही है|
बताया जा रहा है की छेत्र में बड़ी संख्या में बँगला देशी रिफ्यूजी रहते हैं और बँगला देश की सीमा से लगा होने के कारण वहां की फौज और सरकार द्वारा यहाँ दंगों को बढावा दिया जा रहा है मगर केंद्र सरकार ने इन दंगों में बंगला देश का हाथ होने से इनकार कर दिया है
आज चेनलों पर कुछ शहरी इलाकों में स्थित सामान्य होती दिखाई गई ट्रेन चलने लगी हैं और तीन ट्रेन भर कर रिलीफ सामग्री भेजी जा रही है |मगर ग्रामीण छेत्रों में अभी भी गोलियां चलने के समाचार है|
आज पांचवा दिन है और स्थिति अभी तक नियंत्रण में नहीं आ सकी जबकि असाम के प्रभारी रहे कांग्रेस के नेता दिग्विजय सिंह ने स्थिति में हालत बेकाबू होने की बात से इनकार किया है अब प्रधान मंत्री के दौरे का कार्यक्रम फ्लेश किया गया है

टीम अन्ना को न्याय के लिए संयुक्त राष्ट्र में चले जाना चाहिए =खुर्शीद

अन्ना हजारे टीम के अनशन मंच पर एन एस यूं आई के छात्रों के हंगामे के बाद केन्द्रीय कानून मंत्री सलमान खुर्शीद का कटाक्ष भरा ब्यान आया है की अन्ना टीम को भारत में न्याय नहीं मिलेगा इसीलिए उन्हें अब संयुक्त राष्ट्र में गुहार लगानी चाहिए | भाजपा ने इसकी निंदा की है|
एन एस यूं आई के हंगामे और सलमान खुर्शीद के कटाक्ष भरे ब्यान की भाजपा ने निंदा की है| तीन बजे की ब्रीफिंग में राजीव प्रताप रूडी ने चेतावनी देते हुए कहा की ऐसे कृत्य और ब्यान खुर्शीद और कांग्रेस को भरे पड़ेंगे |
केन्द्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री अम्बिका सोनी ने तो टीम अन्ना के १५ मंत्रिओं पर लगाये गए भ्रष्टाचार के आरोपों को सिरे से ही खारिज कर दिया है\
इसके साथ साथ ही पी एम् ओ राज्यमंत्री सामी ने स्थिति को संभालने के लिए सरकार की स्थिति स्पष्ट करते हुए बताया की लोकपाल का बिल राज्य सभा में लटका हुआ है और राज्य सभा में यूं पी ऐ की मेजोरिटी नहीं है|
उधर अनशन मंच पर अरविन्द केजरीवाल ने आज शाम ५ भ्रष्ट मंत्रिओं के खिलाफ सबूत पेश करने का एलान किया है\

टीम अन्ना के अनशन में एन एस यूं आई का हंगामा

टीम अन्ना का दिल्ली जंतर मंतर पर अनशन शुरू हो गया है अपरान्ह ११ बजे के करीब कुछ युवकों ने हंगामा खड़ा कर दिया युवकों ने टीम अन्ना और विशेषकर अरविन्द केजरीवाल के विरुद्ध जम कर नारे लगाए और केजरीवाल को हनी पहुंचाने की कौशिश भी की गई|मंच इन यूवकों की एन एस यूं आई[कांग्रेस समर्थित छात्र संघ] के सदस्य बताया गया और इस हंगामे को प्रायोजित बताया गया लेकिन इन युवकों ने टीवी चेनलों के कमरों के सामने आ कर इस आरोप को झुठला दिया और स्वयम को आम आदमी बताया \थोड़ी देर के पश्चात हंगामाई युवकों को बाहर निकाल दिया गया |