Ad

Category: Unrest Strikes

भ्रष्टाचार में गोल्ड मेडल भारत को ही मिलेगा =बाबा राम देव

योग गुरु बाबा राम देव ने आज राम लीला मैदान में अपने सांकेतिक उपवास के दूसरे दिन शब्दों में तीखापन लाते हुए कहा है कि अगर ओलंपिक्स में भ्रष्टाचार का एक इवेंट होता तो उसमे गोल्ड मेडल भारत को ही मिलता |
भ्रष्टाचार के विरुद्ध राम लीला मैदान में हज़ारों समर्थकों के बीच तीन दिन का सांकेतिक उपवास कर रहे बाबा राम देव ने कहा कि अगर ओलंपिक्स में भ्रष्टाचार पर कोई कम्पटीशन होता तो भारत को ही गोल्ड मेडल मिलता|
योगा केम्प से शुरू किये गए आज के संबोधन में जब बाबा ने भ्रष्टाचार पर गोल्ड मेडल मिलाने कि बात कही तब हज़ारों श्रोताओं ने तालिय बजा कर इसका समर्थन किया तब बाबा ने कहा कि यह तालियाँ बजाने का अवसर नहीं है वरन गंभीरता से सोचने का विषय है|
योग गुरु ने भ्रष्टाचार के खात्मे+ विदेशों से काला धन वापिस लाने +शिक्षा में सदाचार+सी बी आई ,सी वी सी,ई सी और सी ऐ जी कि नियुक्ति में पारदर्शिता कि मांग के साथ ९ अगस्त से अपना तीन दिन का उपवास शुरू किया है | आज उसका दूसरा दिन है

मणि शंकर एय्यर ने बाबा राम देव को जोकर कहा

योग गुरु बाबा राम देव यूं पी ऐ २ के खिलाफ अपनी दूसरी पारी में बेशक फूंक फूक कर कदम रख रहे हैं मगर सत्तानशीन बाबा को उकसाने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ रहे|
दिग्विजय सिंह+सलमान खुर्शीद+बेनी प्रसाद वर्मा आदि के बाद अब मणि शंकर अय्यर जैसे पूर्व पत्रकार और कांग्रेस के नेता भी अन्ना हजारे और बाबा राम देव को जोकर कहने लग गए हैं|बीती रात आई बी एन ७ पर राजदीप सरदेसाई के कार्यक्रम में बिना किसी मतलब+ बिना किसी सन्दर्भ + बिना किसी उकसावे के ही श्री मणि शंकर ने कहा एक बार नहीं कई बार जोर जोर से रिपीट किया की अन्ना हजारे और बाबा राम देव दोनों जोकर हैं |उनके हाव भाव बाडी लेंगुएज देख कर ऐसा लग रहा था कि श्री मणि शंकर अपने बात कहीं और पहुंचाना चाहते हैं|

बाबा राम देव का उपवास नहीं आ रहा सत्ता को रास

अन्ना टीम के पलायन के पश्चात अब बाबा रामदेव ने रामलीला मैदान में तीन दिन के सांकेतिक उपवास शुरू कर दिया है| इस आन्दोलन में एक आज खास किस्म की सावधानी बरती जा रही है |बाबा ने बार बार अपने संबोधन में सत्ता से सीधे सीधे टकराव को टालने का भरसक प्रयास किया |यहाँ तक की शतप्रतिशत लोक पाल के बजाय ९९% पर ही समझौते को तैयार दिखे|
कांग्रस के नेताओं द्वारा बाबा पर लगाये जा रहे काले धन के संग्रह और और बाल कृषण की हत्या के षड्यंत्र के आरोपों के चलते किसी भी संभावित गिरफ्तारी से बचने के लिए गुजरात में तीन दिन का एकांत वास अपनाया | लेकिन राम लीला मैदान के मंच पर आचार्य बाल कृषण को देश भक्तों की श्रेणी में रख कर पोस्टर टांग दिए गए मीडिया के विरोध के बाद बेशक ये पोस्टर वहां से हटा दिए गए मगर मेसेज तो सत्ता पक्ष तक चला ही गया |
उसके बाद राम लीला मैदान में आज योग गुरु ने आमरण अनशन या अनिश्चित कालीन धरना प्रदर्शन जैसे सत्ता को भड़काने वाले कदम त्याग कर ३ दिन के सांकेतिक उपवास की घोषणा की|कांग्रेस के लिए अपने दरवाजे खुले बताये|
सी बी आई +सी वी सी+सी ऐ जी+और ई सी जैसे महत्वपूर्ण पदों पर नियुक्ति के लिए सत्ता और विपक्ष से सहमति की मांग की| लोक पाल को कानून बनाने के लिए अब कहा की लोक पल बनाओ तो सही बेशक ९९% बनाओ बाकी के संशोधन आते रहेंगे|अन्ना टीम वाली अड़ियल रुख से भी बचते रहे |पूर्व घोषित स्वभिमान पार्टी की घोषणा से भी पलट कर गैर राजनितिक आन्दोलन की बात कर रहे है|अर्थार्त बाबा सभाल संभाल कर फूंक फूंक कर कदम रख रहे हैं
बेशक काले धन का मुद्दा हो +सी बी आई आदि की नियुक्ति हो+लोक पाल हो ये सभी सत्ता पक्ष को सालों से सालते आ रहे हैं ये सारे मुद्दे सरकार में बैठे लोगों को अपने विरुद्ध साजिश लगते रहे हैं तभी अब सत्तानशीनों ने बाबा पर खुल कर हमले करके अपनी मंशा जाहिर कर दी है
कांग्रेस के प्रवक्ता सत्यव्रत चतुर्वेदी ने पूछा है की ये बाबा कौन हैं ? अर्थार्त बाबा को कोई भाव देने की कोई इच्छा नहीं है|
कानून मंत्री ने कहा की राम लीला मैदान पर रामलीला तो हर साल होते है स्क्रिप्ट बदल जाती है|अर्थार्त जैसे पहले की बाबा राम देव की रामलीला को लाठी डंडों से भंग किया गया था वह आप्शन अभी भी खुला है|
दिग्विजय सिंह पहले ही बाबा पर अपने सहयोगी बाल कृषण की ह्त्या के लिए षड्यंत्र रचाने का आरोप लगा कर जेल के दरवाजे खोल चुके हैं

बाबा राम देव ने तीन दिन का सांकेतिक उपवास शुरू किया

योग गुरु बाबा राम देव ने आज से राम लीला मैदान में तीन दिन का सांकेतिक अनशन शुरू करके केंद्र सरकार को भ्रष्टाचार मिटने के लिए चुनौती दे डाली है|
आज अपने भाषण में बाबा ने बताया की १० अगस्त से जिलों में भी अनशन किया जाएगा और आगे की रणनीति के लिए १२ अगस्त तक प्रतीक्षा करने को भी कहा |. बाबा रामदेव का आंदोलन गुरुवार से शुरू हो गया है।। रामलीला मैदान में करीब दस हजार लोगों के बीच बाबा रामदेव आंदोलन शुरू कर चुके हैं और उन्‍होंने केंद्र सरकार को अल्‍टीमेटम दिया है। उनका कहना है कि तीन से पांच दिन के अंदर सरकार विदेश में जमा काला धन वापस लाने को लेकर कदम उठाने का ऐलान करे। बाबा रामदेव ने रामलीला मैदान में अपने समर्थकों को संबोधित करते हुए कहा, ‘मैं व्यवस्था के खिलाफ हूं। भ्रष्टाचार दूर होना चाहिए और काला धन वापस आना चाहिए। मैं किसी पार्टी या व्यक्ति के खिलाफ नहीं हूं। मेरे मंच से किसी व्यक्ति या पार्टी के खिलाफ आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल नहीं किया जाएगा। हमारा कोई राजनीतिक एजेंडा नहीं है। देश मिट्टी का टुकड़ा नहीं, हमारी मां है। सरकार को 20 हजार लाख करोड़ की भूसंपदा का हिसाब देना होगा।’
बाबा रामदेव ने अपने समर्थकों का हाथ उठवाकर ऐलान किया, ‘हम लोग 3 दिनों का सांकेतिक अनशन करेंगे। हम लोग 3 दिनों तक रामलीला मैदान में भूखे प्यासे रहेंगे। हम लोग मन, शरीर और विचारों की शुद्धि कर रहे हैं। मैं केंद्र सरकार को अंतिम मौका देता हूं। हम यहां से तभी जाएंगे, जब कोई हल होगा।’ रामदेव ने कहा कि हम लोग न आमरण अनशन करेंगे और न ही अनिश्चितकालीन अनशन। बाबा रामदेव इस मौके पर कहा कि रोज़ शाम को 5 बजे हर जिले, हर तहसील और हर गांव में लोग पैदल मार्च करें। जो लोग इसमें शामिल न हो पाएं वे अपने घरों से बर्तन लेकर बजाएं।
इस अवसर पर बाबा ने अपनी पुराणी काला धन वापिस लाने +भ्रष्टाचार मिटाने के लिए मज़बूत लोकपाल +सिटिजन चार्टर+सी बी आई+सी ऐ जी+ई सी+सी वी सी आदि संस्थायों की नियुक्ति में पारदर्शिता +शिक्षा में सदाचार+आदिकी मांगो को दोहराया और बीच बीच में वहां एकत्रित जन समूह से समर्थन भी लिया |

बाबा ने अब बाल कृष्ण को अमर शहीद प्रोजेक्ट किया

काले धन को लेकर दिल्ली के रामलीला मैदान में योग गुरु बाबा रामदेव का आंदोलन बेशक आज से शुरू होने जा रहा है मगर रामलीला मैदान में बाबा के मंच पर देश के अनेकों अमर शहीदों की तस्वीरें लगी है इनके साथ ही रामदेव के सहयोगी बालकृष्ण की तस्वीर भी नजर आ रही है|चंद्र शेखर आजाद, भगत सिंह, सुभाष चंद्र बोस सरीखे देश के महान सपूतों के साथ बालकृष्ण की तस्वीर ने रामदेव के आंदोलन पर सवाल खड़े कर दिए। बता दें कि बालकृष्ण फर्जी पासपोर्ट मामले में जेल में हैं।अब उन्हें भी शहीद का दर्जा दिया जा रहा है यह कईयों को हजम नहीं होगा इसीलिए विवाद +बवाल+हंगामा तो होगा ही|
नियुज चेनल आईबीएन7 पर जैसे ही यह खबर दिखाई गई, मंच के दोनों ओर लगे पोस्टरों को तत्काल हटा लिया गया। जाहिर सी बात है कि यहां यहां बालकृष्ण को अमर शहीदों के समकक्ष दिखाने की पूरी कोशिश की गई। जानकार मानते हैं कि दरअसल, रामदेव को किसी भी तरह के राजनीतिक आंदोलन का अनुभव नहीं है, इसीलिए ऐसी बातें सामने आ रही है। बेशक नेपाली मूल के होने के बावजूद बाल कृषण ने उपेक्षित पड़े भारतीय चिकित्सा छेत्र में उल्लेखनीय योग दान दिया है लेकिन इतने भर से ही उन्हें राष्ट्रीय सम्मान दिए जाने से उपजा विवाद जल्द बाबा रामदेव का पीछा छोड़ने वाला नहीं है\
रामदेव को अपने सहयोगी बालकृष्ण को बचाने को पूरा अधिकार है लेकिन देश की आजादी के लिए अपने प्राणों को न्यौछावर कर देने वाले शहीदों के बराबर दर्जा देकर वो क्या संदेश देना चाहते हैं यह सवाल अवश्य उठेगा?दिल्ली के रामलीला मैदान में आज से भ्रष्टाचार और कालेधन के खिलाफ बाबा रामदेव का आंदोलन शुरू हो रहा है । आंदोलन की तैयारियां पूरी हो गई हैं और बाबा रामदेव सरकार को हिलाने का दम भी भर रहे हैं। गुजरात के आलावा विदेशों में भी इन्होने अपने समर्थकों का शानदार प्रदर्शन कर दिया है\ इस बार के आंदोलन में बाबा रामदेव ने कालेधन के अलावा सीबीआई की स्वायत्तता और लोकपाल को भी मुद्दा बनाया है। बाबा रामदेव दिल्ली के रामलीला मैदान पहुच चुके हैं\

असाम समस्या पर लाया गया स्थगन प्रस्ताव गिरा

संसद में आज एन डी ऐ के नेता एल के अडवाणी द्वारा असाम समस्या पर लाया गया स्थगन प्रस्ताव ध्वनिमत से गिर गया |
आज सुबह ही श्री अडवाणी ने असाम में हो रही हिंसा को भारतीय और विदेशी घुसपेठियों के बीच संघर्ष बताया |इस पर उन्होंने समस्या के जड़ को जानने और उसके निदान पर भी प्रशन उठाये मगर कांग्रेस के सदन नेता सुशील कुमार शिंदे द्वारा दिए गए जवाब से असंतुष्ट होकर स्थगन प्रस्ताव लाकर वोटिंग की मांग की गई जिसे स्वीकार करके वोटिंग कराई गई तब ध्वनिमत से यह प्रस्ताव गिरा दिया गया | श्री अडवाणी के भाषण के दौरान कई कांग्रेसी और मुस्लिम नेताओं ने रूकावट भी पैदा करने की कौशिशकी इसी बहस में असाम का ज्वलंत मुद्दे का कोई हल नहीं ढूंडा जा सका बँगला देश से हो रहे घुसपैंठ को रोकने की कोई बात स्वीकार नहीं की गई

एअरपोर्ट पर टेक्सी आपरेटरों में भी अब असंतोष

इंदिरा गांधी इंटर नॅशनल एयर पोर्ट पर अब टेक्सी आपरेटरों का असंतोष उबलने लगा है |बीती दोपहर को एक विशेष कंपनी से जुड़े टेक्सीओं के मीटर दो घंटे तक डाउन रहे|इस कंपनी से जुड़े टेक्सी आपरेटरों के अनुसार प्रति दिन कंपनी द्वारा एक हज़ार से बारह सौ रुपयों तक वसूले जाते हैं जिसकी एवज में टेक्सी के फेयर्स दिए जाते हैं मगर आश्वासन के बावजूद पर्याप्त फेयर्स नहीं दिए जा रहे जिस कारण लगातार घाटा हो रहा है|

हमारा कोई राजनीतिक एजेंडा नहीं = बाबा राम देव

योग गुरु बाबा राम देव ने अपने तीन दिन के एकांतवास को तोड़ते हुए आज गुजरात में मीडिया से बात की उन्होंने किसी राजनीतिक एजेंडा के लिए आन्दोलन करने की बात को एक बार फिर नकारा | बताया जा रहा है की बाबा गुजरात में ६ अगस्त से तीन दिन के एकांत वास पर हैं|मगर आज दूसरे दिन उन्होंने मीडिया[ऐ बी पी ] से खुल कर बात की
दिल्ली में गुरुवार से अपना अनिश्चितकालीन अनशन शुरू करने जा रहे बाबा रामदेव ने आज कहा कि उनका कोई राजनीतिक एजेंडा नहीं है। उन्होंने अन्ना हजारे और उनके सहयोगियों के राजनीतिक विकल्प तलाशने के फैसला पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया।
रामदेव ने कहा कि देश में 121 करोड़ लोग हैं। अगर सब चुनाव लड़ेंगे तो कितने मतदान केंद्र बनाने होंगे। 121 करोड़ नागरिकों को अपने अधिकारों के लिए चुनाव लड़ने की जरूरत नहीं है। उन्होंने यहां सरदार वल्लभभाई पटेल के पैतृक आवास पर संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि उनका एजेंडा भ्रष्टाचार खत्म करके और कालाधन वापस लाकर देश और लोकतंत्र को बचाना है।
टीम अन्ना के फैसले के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि आंदोलन का जिस तरह राजनीतिकरण हुआ, उस पर मुझे कुछ नहीं कहना। मैं उसमें शामिल नहीं हूं। अन्ना ने खुद विचार-विमर्श के बाद अपनी टीम को भंग किया है। अब उन्हीं से पूछा जाए कि उनका क्या फैसला है। जब रामदेव से पूछा गया कि क्या अन्ना हजारे उनके आंदोलन में शामिल होंगे तो योगगुरू ने मज़ाक में कहा की उन्होंने अन्ना की कोई भैंस तो खोली नहीं है और न ही अन्ना ने हमारा कुछ दबा रखा है हजारे कई बार कह चुके हैं कि वह शामिल होंगे। उन्होंने कहा कि हम भ्रष्टाचार के मुद्दे पर उनके साथ हैं।

अमेरिका में अब मस्जिद को शहीद किया गया

अमेरिका के ओअक क्रीक गुरुद्वारे पर हुई अंधाधुंध फायरिंग में सात लोगों के मारे जाने की घटना के दूसरे ही दिन अमेरिका में एक मस्जिद को भी आग लगा शीद कर दिया गया है|। इस वारदात के पीछे भी धार्मिक नफरत करने वाले समूहों के लोगों का हाथ बताया जा रहा है।
अमेरिकी वेबसाइटों के मुताबिक घटना सोमवार तड़के की है। मिसौरी के जोपलिन इस्लामिक सेंटर में तड़के करीब 3:30 बजे आग लगा दी गई। तुरंत पुलिस और फायरफाइटर्स को खबर दी गई। इस मस्जिद में आसपास रहने वाले 125 मुस्लिम नियमित रूप से नमाज पढ़ते थे।
बताया गया है कि मस्जिद पूरी तरह नष्ट हो गई है। मस्जिद से जुड़े सूत्रों ने इस घटना के पीछे उन समूहों का हाथ होने का संदेह जताया है जो धर्म के आधार पर नफरत फैलाना चाहते हैं। गौरतलब है कि इस घटना से दो दिन पहले शनिवार को भी इस मस्जिद पर हमला हुआ था। उस घटना में एक अज्ञात शख्स ने मस्जिद की छत पर पेट्रोल बम फेंका था जिससे मामूली नुकसान हुआ था। एफबीआइ ने इस हमले में शामिल लोगों के बारे में सुराग देने वालों को 15 हजार डॉलर इनाम देने की घोषणा की है।
दूसरे देशों को नसीहत देने वाले अमेरिका में अल्पसंख्यक समुदाय खतरे में है। वहां लगातार अल्पसंख्यक समुदाय के धार्मिक स्थलों को निशाना बनाया जा रहा है। गौरतलब है की ९/११ की घटना के बाद से ही अमेरिका में धार्मिक नफरत बडती जा रही है आये दिन वेशभूषा के कारण सिखों को भी निशाना बनाया जा रहा है|इसी कड़ी में ओअक क्रीक के गुरुद्वारा साहिब में भी फायरिंग से साथ लोग मार डाले गए थे अब एक मस्जिद को भी शहीद कर दिया गया है \बेटे दिन अमेरिका के राष्ट्रपति बराल ओबामा ने अमेरिकियों से अपनी सोच बदलने और वैश्विक बंधुत्व की भावना से काम करने का आह्वाहन भी किया था

पी एम् ने गुरुद्वारे में हत्याकांड पर चिंता व्यक्त की

प्रधान मंत्री डाक्टर मन मोहन सिंह ने अमेरिकी गुरुद्वारे श्रधालुओं की नृशंस ह्त्या पर चिंता व्यक्त करते हुए इसे सेन्स लेस किलिंग बताया उन्होंने इस प्रकार की घटनाओं की पुनरावर्ती की रोक थाम की मांग भी की |
पंजाब औए जे&के में इस खूनी वारदात के प्रति रोष व्यक्त किया गया \पंजाब के उपमुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल और धार्मिक नेता अवतार सिंह मक्कड़ ने कहा के अमेरिका के विकास में सिखों का उल्लेखनीय योगदान रहा है इसीलिए सिखों को एक विशेष दर्जा दिया जाना चाहिए लेकिन दुर्भाग्य से दूसरे लोगों [कम्युनिटी ]के साथ कुछ हद तक वेशभूषा की समानता होने से निशाना बना दिया जाता है रोक थाम के लिए विशेष कार्यक्रम चलाया जाना चाहिए |
उधर क्रीक में पोलिस चीफ ने बताया की मामला जाँच के लिए ऍफ़ बी आई को दे दिया गया है|उन्होंने बताया की इस जघन्य हत्याकांड में ५ पुरुष और १ महिला की मौत हुई है|पोलिस चीफ के अनुसार हमलावर डब्लू.माईकल पेज एक रिटायर्ड फौजी था और उसने अपनी लाईसेंसी गन से आठ फायर किये थे उसने सरेंडर नहीं किया इसीलिए उसे मार गिराया गया |