Ad

Category: Defence

पाकिस्तान ने सीमा पर फिर शुरू करदी फायरिंग

पाकिस्तान ने संघर्ष विराम का उल्लंघन करते हुए अंतरराष्ट्रीय सीमा पुंछ और नियंत्रण रेखा हीरानगर सेक्टर में मोर्टार शेल दागे और जमकर गोलीबारी भी की। इसमें बीएसएफ के दो जवान घायल हो गए
देर रात तक सीमा पर रुक-रुक कर गोलीबारी जारी थी। पिछले चौबीस घंटों के दौरान पाकिस्तान दो बार संघर्ष विराम का उल्लंघन कर चुका है। अरनिया सेक्टर में रविवार को गोलीबारी करने वाले पाकिस्तान ने सोमवार रात आठ बजे कठुआ जिले के हीरानगर सेक्टर व पुंछ में भारी गोलीबारी शुरू कर दी। हीरानगर की पहाड़पुर और पानसर पोस्ट पर पाकिस्तान ने तीन मोर्टार शेल दागे। इसमें नाका नंबर 15 व पिल्लर नंबर 135 पर तैनात बीएसएफ जवान हरी मोहन निवासी कानपुर, उत्तर प्रदेश और सिपाही बवनीत सिंह निवासी गुरदासपुर, पंजाब बुरी तरह से घायल हो गए। एक को पीठ और दूसरे को बाजू में गोली लगी है।
इसके साथ ही पुंछ के गुंत्रिया सेक्टर में भी पाक रेंजर मोर्टार के साथ मशीनगन से फायरिंग कर रहे थे। इस पर सीमा पर तैनात सेना के जवानों ने भी मुंहतोड़ जवाब दिया।
भारतीय सीमांत चौकी कोट कुब्बा पर गोलियां बरसाने वाला पाकिस्तान सोमवार को फ्लैग मीटिंग में फिर मुकर गया। मीटिंग में बीएसएफ की 193 बटालियन के कमांडेंट नीरज दुबे ने भारतीय क्षेत्र पर पाकिस्तान की ओर से गोलीबारी किए जाने पर गहरा एतराज जताया। इस पर पाकिस्तान की ओर से 12 विंग चिनाब रेजिमेंट के विंग कमांडर केसर ने कहा कि उनकी ओर से शुरुआत नहीं हुई।
।सीमा पर सुरंग बनाने का मंसूबा नाकाम होने से बौखलाए पाकिस्तान ने भारतीय क्षेत्र में घुसपैठ करवाने के लिए ये हमले शुरू कर दिए हैं हालांकि, भारतीय जवानों ने घुसपैठ के प्रयास को नाकाम कर दिया।इसके अलावा भारत और पकिस्तान के सम्बन्धों में अ रहे सुधार को पलीता लगाने के लिए पकिस्तान की सेना का यह दुष्प्रयास भी हो सकता है|

विवादित टात्रा ट्रक को तीनो आर्म्ड फोर्सेस का इनकार

विवादित टात्रा ट्रक के फौज में इस्तेमाल पर तीनो आर्म्ड फोर्सेस ने ऐतराज़ किया है| मार्च में टात्रा की गुणवत्ता और इसकी खरीद में घोटाले के आरोप लगे थे जिसकी अभी जांच चल रही है इसीलिए इसे फौज में प्रयोग पर ऐतराज़ दर्ज़ कराया गया है| इस विषय में अब रक्षा मंत्रालय को अंतिम निर्णय लेना हैइसके लिए तीनो सेवाओं से सलाह ली भी जायेगी |
पूर्व जनरल वी के सिंह ने मार्च में ६०० टात्रा की खरीद के लिए बी ई एम् एल को सहमती देने पर १४ करोड़ रुपये की रिश्वत के आफर का भी आरोप लगाया था इस आरोप के तुरंत पश्चात सी बी आई की जांच के आर्डर दे दिए गए थे|इस मामले में एक पूर्व जनरल के भूमिका की जांच चल रही है और बी ई एम् एल के सी एम् डी को सस्पेंड भी किया जा चुका है|
गौरतलब है की टात्रा ट्रक खराब परिस्थितियों में भारी सामान और राकेट और उनके भारी लांचर्स ढोने के काम आते हैं|युद्ध में इनकी अहम् भूमिका रहती है ऐसे में जांच पूरी होने पर ही इसके प्रयोग की इजाज़त डी जानी चाहिए

रूसी सुखोई-30 में डिजाइन से जुड़ी खामियां =वायुसेना प्रमुख

रूसी सुपरसोनिक लड़ाकू विमान सुखोई-30 में डिजाइन से जुड़ी कुछ खामियां पाई गई हैं। वायुसेना ने इस विमान में फ्लाई-वाई-वायर समस्या का पता लगाया है।यह आरोप वायुसेना प्रमुख एनएके ब्राउन द्वारा लगाये गए हैं|
भारतीय वायुसेना के मुताबिक इसकी उड़ान क्षमता और योग्यता में कोई कमी नहीं है। वायुसेना प्रमुख आ‌र्म्ड फोर्सेज मेडिकल कॉलेज के स्वर्ण जयंती कार्यक्रम में आये थे | वायुसेना प्रमुख के अनुसार वायुसेना ने इस विमान में फ्लाई-वाई-वायर समस्या का पता लगाया है।
ब्राउन ने कहा कि यह डिजाइन से जुड़ा मसला है, जिसे डिजाइन एजेंसी के सामने रखा जाएगा। उन्होंने 13 दिसंबर 2011 को सुखोई-30 एमकेआइ लड़ाकू विमान दुर्घटना का हवाला भी दिया जिसमे उड़ान भरने के कुछ देर बाद ही यह दुर्घटना ग्रस्त होगया था हालांकि, इसके दोनों पायलट सुरक्षित बच निकलने में कामयाब हो गए थे।
वायुसेना प्रमुख ब्राउन ने कहा, ‘विमान में कुछ भी गलत नहीं है। मैंने खुद इस विमान को उड़ाया है।’ फ्रांस के राफेल विमान के सौदे के बारे में उन्होंने बताया कि इसकी खरीद के लिए बातचीत चल रही है। उन्होंने उम्मीद जताई कि चालू वित्त वर्ष के अंत तक यह सौदा अंतिम रूप ले लेगा।

मिसाईल परीक्षण करके ईरान ने दी अमेरिका और इजराईल को चुनौती

ईरान ने जमीन और पानी में मार करने वाली कम दूरी की मिसाइल का सफल परीक्षण करके सीधे टूर पर अमेरिका और इजराईल को सामरिक चुनौती दे दी है|। ईरान के रक्षामंत्री जनरल अहमद वाहिदी ने कहा कि फतह-110 ठोस ईधन से संचालित है और यह 300 किलोमीटर दूर तक मार कर सकती है।
इस मिसाइल ने परीक्षण के दौरान समुद्र और जमीन पर सफलतापूर्वक लक्ष्य भेदे गए हैं । ईरान की सेना का दावा है कि फतह-110 उनके जखीरे की सबसे उन्नत और अचूक निशाने वाली मिसाइल है। इस मिसाइल की नियंत्रण प्रणाली बेहद आधुनिक है। श्री वाहिदी ने अपनी महत्वकांक्षाओं को उजागर करते हुए बताया कि इससे क्षेत्र में मौजूद अमेरिकी ठिकानों और इजरायल तक हमले किए जा सकते हैं।
फतह-110 को 2002 में ईरान की सेना में शामिल किया गया था। विवादित परमाणु कार्यक्रम को लेकर ईरान का इजरायल और अमेरिका के साथ टकराव चल रहा है। हालांकि, ओबामा प्रशासन इस मसले का हल कूटनीतिक रास्ते से निकालने का दावा कर रहा है, लेकिन इजरायल का मानना है कि ईरान इतनी आसानी से नहीं मानने वाला।
इजरायल ने शंका व्यक्त की है कि अगर ईरान ने परमाणु हथियार बनाए तो वह हमला कर देगा। कुछ दिन पहले अमेरिका और इजरायल ने आपात स्थिति में ईरान पर हमले की रणनीति साझा की थी। ऐसे में ईरान तेजी के साथ सैन्य शक्ति बढ़ा रहा है। विवादित परमाणु कार्यक्रम को लेकर छह शक्तिशाली देशों के साथ ईरान वार्ता कर रहा है, लेकिन इससे अभी तक कोई ठोस नतीजा नहीं निकला है।

अधिकारों के लिए एसोसिएशन में सक्रीय भूमिका जरूरी

दया राम को सेवानिवृति पर भावभीनी विदाई दीरक्षा लेखा नियंत्रक [निधि]में कर्मचारी संघ की कलकत्ता शाखा के अध्यक्ष दया राम को सेवानिवृति पर भावभीनी विदाई दी गई|इस अवसर पर केन्द्रीय शाखा के मुख्यालय कलकत्ता और दिल्ली से आये क्रमश जी.पी दत्ता और यतींदर चौधरी ने अपने हकों के लिए एसोसिएशन की गतिविधिओं में सक्रिय भूमिका निभाने का आह्वाहन किया|
श्री चौधरी और श्री दत्ता ने बताया कि संगठन कि एकता से ही सरकारे झुका करती है |कर्मचारियों के हितों कि खातिर ही केंद्र सरकार के सभी विभागों की समन्वय समिति ने बीते दिन पी एम् ओ को ज्ञापन भी सौंपा है|और अगर उनकी मांगे नहीं मानी गई तो नवम्बर के तीसरे हफ्ते या फिर बिसम्बर के पहले हफ्ते में देश भर में एक दिन की हड़ताल की जायेगी यशपाल द्वारा संचालित इस विदाई समारोह में उपाध्यक्ष कर्ण प्रदीप ने श्री दयाराम का जीवन परिचय दिया अश्विनी मांगलिक,वेदपाल सिंह ने आयोजन किया महक सिंह मान,पी एस मान,सतीश ग्रोवर,अशीम कुमार सिंह,एन मुख़र्जी,ऐ नायक आदि दिल्ली और कलकत्ता से आये थे|,

रिटायरमेंट के बाद जनरल वी के सिंह किसानो की एक जुटता को गरजे

सेना में कई भ्रष्ट अधिकारिओं को बाहर करके चर्चा में आये थल सेना अध्यक्ष जनरल वी के सिंह ने सेवानिवर्ती के पश्चात कल गजरौला में किसानो को अन्याय के विरुद्ध लड़ने को प्रेरित किया|
शिव इंटर कालेज में आयोजित किसानो की महापंचायत में जनरल सिंह ने कहा की जब तक किसान एक जुट नहें होगा उसका उत्पीडन नहीं रुकेगा|इसीलिए किसानो को संगठित हो कर अपने अधिकारों के लिए लड़ना होगा|इस अवसर पर राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष वी एम् सिंह ने तलवार भेंट करके जनरल सिंह को सम्मानित भी किया|

सेना की भूमि ३१ तक खाली कर दो

सैनिक भूमि के अतिक्रमणकारियों को सेना ने अब ३१ जुलाई तक जमीन खाली करने की मोहलत दे दी है|
बीते दिनों कसेरूखेड़ा में जनता के विरोध के चलते सेना बिना अतिक्रमण हटाये ही बाद में आने का कह
कर बैरकों में लौट गई थी \कल इसी सिलसिले में एक प्रतिनिधिमंडल सेना के अधिकारिओं से मिला
मगर उन्हें ३१ जुलाई तक भूमि खाली करने का अंतिम अल्टीमेटम दे दिया गया अब ये लोग डी एम् के दरबार में जाने की तैय्यारी कर रहे हैं|

सेना नहीं ले पाई अपनी भूमि का कब्जा

[

मेरठ यूपी]पहले कहा जाता था की दावा झूठा कब्जा सच्चा जी हाँ कब्जे दारों को [ बेशक गैरकानूनी] बाहर खदेड़ना हमेशा से ही दावेदार+प्रशाशक के लिए एक टेडी खीर रही है और यह कहावत कल अपनी ऐ -१ भूमि पर से नाजायज़ कब्ज़ा हटाने गए सेना के अधिकारिओं के आड़े आई |कब्जे दारों ने विरोध किया और भूमि खाली कराओ अभियान को बीच में ही अधूरा छोड़ कर सेना बैरकों में लौट गई|
मेरठ के कसेरूखेडा के खटकान मोहल्ले में सेना की ऐ १ भूमि पर काबिज कुछ सिविलियंस के विरुद्ध सेना ने मुकद्दमा जीत लिया अब सेन्य भूमि पर बने मकान और दूकान ढाने के लिए शुक्रवार को ९४ फील्ड रेजिमेंट का जवान और बुलडोज़र चल गया |कब्जे दारो ने इस कार्यवाही का जम कर विरोध किया |दलील दी गई की ये लोग यहाँ १० वर्षों से रह रहे हैं और नगर निगम को टैक्स भी देते हैं|अब ऐसे में कर्नल आर एस राणा बेचारे दुबारा आने का कह कर बिना कार्यवाही के ही लौट गए \गौरतलब है की सीमाओं पर पडोसी मुल्क भारतीय जमीन कब्जा रहे हैं और देश के भीतर सेना और प्रशासन की मिलीभगत से अपने ही देश वासी भूमि पर काबिज हो रहे हैं|पिछले दिनों इसी इशु पर सेना के दो वरिष्ठ अधिकारिओं का कोर्ट मार्शल भी हुआ अदालत ने भी इसे संज्ञान में लिया था |इसके बाद सेना की भूमि का रिकार्ड दुरुस्त किये जाने की कवायद जरी है संभवत इसी कवायद के मध्य नज़र यह कार्यवाही हुई मगर बिना कार्यवाही के बैरकों में लौटना किसी भी द्रष्टि से उचित नहीं कहा जा सकता

देश रक्षा को आया नौजवान भगदड़ में मरा

भारतीय फौज में भर्ती हो कर देश की सेवा में प्राणों को न्यौछावर करने की इच्छा लिए आए एक नौजवान की मृत्यू हो गई और दो घायल हो गए |
आगरा के एकलव्य स्टेडियम में फौज में भर्ती के लिए भर्ती मेला लगा था इसमें लगभग १०००० लोगों ने भाग लिया |अचानक किसी बात को लेकर वहां
भगदड़ मच गई जिसके फलस्वरूप एक व्यक्ति की मौत हो गई और दो घायल हो गए | इस प्रकार की भर्ती में अक्सर भगदड़ मच ही जाती है मगर उसके लिए पुख्ता इंतज़ाम भी जरुरी होते हैं लेकिन यहाँ हुए नुक्सान को देखते हुए लगता है की यहाँ कोई चूक हुई है|सेना में भगदड़ के कारणों की जाँच चल रही है