Ad

Category: Defence

पाकिस्तान की तरफ से की गई घुसपैंठ नाकाम

पाकिस्तान की सेना ने जम्मू-कश्मीर के गुरेज सेक्टर में अपने कब्जे वाले कश्मीर से आतंकियों की घुसपैठ कराने की फिर बड़ी कोशिश की जिसे भारतीय सेना ने नाकाम कर दिया। इस मुठभेड़ में भारतीय सेना का एक जवान शहीद हो गया।
दैनिक भास्कर ने सेना के प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल जेएस बरार के हवाले से लिखा है की, ‘गुरेज सेक्टर के बकतूर इलाके में मौजूद घाटी में आतंकी घुसपैठ की कोशिश कर रहे थे। सेना ने इस कोशिश को नाकाम कर दिया। जिसकी वजह से आतंकियों को वापस लौटना पड़ा।’
पाकिस्तान का भारत के विरुद्ध परमाणु कार्यक्रम
वहीं, दूसरी ओर अमेरिका की एक संसदीय समिति (कांग्रेशनल रिसर्च सर्विस) की रिपोर्ट में कहा गया है कि पाकिस्तान अपने परमाणु हथियारों की संख्या और गुणवत्ता लगातार बढ़ा रहा है। सीआरएस की रिपोर्ट में कहा गया है कि पाकिस्तान भारत को मद्देनजर रखते हुए अपनी परमाणु तैयारी को अंजाम दे रहा है। रिपोर्ट में बताया गया है कि भारत की परमाणु क्षमताओं में संभावित इजाफे को देखते हुए पाकिस्‍तान अपनी परमाणु हथियार की क्षमता लगातार बढ़ा रहा है। जल्द ही इसमें और तेजी भी आ सकती है। सीआरएस की रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि अपने परमाणु हथियारों की संख्या और गुणवत्ता को बढ़ाने के अलावा पाकिस्तान उन हालातों की संख्या भी बढ़ा सकता है, जिसके तहत भारत पर परमाणु हमला किया जा सकता है।
सीआरएस की अन्य रिपोर्ट के अनुसार, ‘पाकिस्‍तान के पास करीब 90-110 परमाणु हथियार है।’ रिपोर्ट में आशंका व्‍यक्‍त की गई है कि यह तादाद इससे अधिक भी हो सकती है।
पाकिस्तान के इस परमाणु कार्यक्रम के लिए भी भारत को दोषी बताते हुए सीआरएस की ताज़ा रिपोर्ट कहती है के भारत ने शुरू में कहा था कि उसे केवल मिनिमम प्रतिरोध के लिए इसकी आवश्‍यकता है लेकिन उसने कभी इसकी परिभाषा नहीं बताई। भारत ने परमाणु अप्रसार संधि (सीटीबीटी) पर भी हस्‍ताक्षर नहीं किए हैं। इसके जवाब में पाकिस्‍तान ने भी अपनी परमाणु क्षमताओं को बढ़ाया।
परमाणु युद्ध की आशंका
दूसरी ओर, पाकिस्तान स्थित अमेरिकी दूतावास में राजनीतिक सलाहकार रहे जॉन आर स्कमिड्ट की किताब ‘द अनरैवलिंग-पाकिस्तान इन द एज ऑफ जिहाद’ में कहा गया है कि देश पर जिहादियों के नियंत्रण से यदि पाकिस्तान की सेना में फूट पड़ती है तो परमाणु हथियारों की सुरक्षा मुश्किल हो जाएगी। किताब में कहा गया है कि आज यह चिंता जाहिर की जा रही है कि आंतकी परमाणु हथियार का नियंत्रण अपने हाथ में ले सकते हैं और अमेरिका के खिलाफ इसका प्रयोग करने की धमकी देकर उसे ब्लैकमेल कर सकते हैं। यदि वास्तव में जिहादी इस्लामाबाद पर पकड़ बनाने में कामयाब रहते हैं तो अमेरिका की चिंता के बारे में कल्पना की जा सकती है। इस स्थिति में अमेरिका पहले हमला करने का निर्णय करेगा। अमेरिका अपने विशेष प्रशिक्षण प्राप्त कमांडो को तैनात करेगा या पाकिस्तान के हथियार भंडारों पर बमबारी करेगा।

पाकिस्तान भारत के खिलाफ परमाणु हथियारों को बढ़ावा देने का काम कर रहा है

पाकिस्तान अपने परमाणु हथियारों के जखीरे और उनकी गुणवत्ता में लगातार सुधार कर रहा है। यह सभी वह भारत को लक्ष्य बनाकर कर रहा है। अमेरिका से प्राप्त इस रिपोर्ट से भारत के उस बयान को बल मिला है जिसमें कहा गया था कि पाकिस्तान पूरे क्षेत्र में परमाणु हथियारों को बढ़ावा देने का काम कर रहा है। लेकिन पाकिस्तान ने भारत के इस बयान को नकार दिया था।
इन परमाणु हथियारों का इस्तेमाल के लिए विशेष परिस्थितियों को आमंत्रित किया जा सकता है|। यह रिपोर्ट अमेरिकी कानून निर्माताओं के लिए काग्रेशनल रिसर्च सर्विस ने बनाई है। सीआरएस के अनुसार, पाकिस्तान का परमाणु कार्यक्रम मुख्य रूप से भारत से खतरे की धारणा पर आधारित है। वह ऐसा दिखाने का प्रयास करता है कि वह भारत से डरा हुआ है।
इस रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान भारत के परमाणु हथियारों के जखीरे में संभावित वृद्धि से अपने बचाव के लिए परमाणु सामग्री के उत्पादन को बढ़ा रहा है। साथ ही वह परमाणु हथियारों को ले जाने वाले वाहनों की संख्या भी बढ़ा रहा है। इस रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि इस्लामाबाद परमाणु हथियारों के लिए अपने वर्तमान प्रयासों में तेजी ला सकता है।

मुकद्दमा हारने वाले अधिवक्ताओं का शुल्क दोगुना किया

कैंट बोर्ड के अतिक्रमण सम्बन्धी मुकद्दमे हारने वाले अधिवक्ताओं के शुल्क दोगुने कर दिए गए हैं जिस पर आज सदस्यों ने ऐतराज दर्ज कराया \केंट बोर्ड की आज की बैठक में मेजर जनरल वी के यादव की अध्यक्षता में शिप्रा रस्तोगी+बीना वाधवा+ शशी साहू+जगमोहन शाकाल+प्रेम धींगरा+अजमल कमाल ने भाग लिया |सी ई ओ परषोत्तम लाल भी उपस्थित थे ||इनदोनो बंगलो में अनाधिकृत निर्माण के विषय में बोर्ड द्वारा दायर वाद हार जाने पर सदस्यों ने नाराजगी दिखाई |
इस अवसर पर एन सी आर के लिए किये जा रहे विकास कार्यों में केंट को भी शामिल किये जाने की मांग को भी दोहराया गया

विजेता शूटर विजय को सेना में आउट आफ टर्न प्रोमोशन

लन्दन ओलंपिक्स के पिस्टल [२५ मीटर]रेपिड शूटिंग में सिल्वर मेडल लेन वाले सूबेदार विजय कुमार को बेशक हिमाचल प्रदेश की सर्कार ने एक करोड़ रुपये से सम्मानित करने की घोषणा कर दी है मगर सेना के हाथ नियमो से बंधे है इसीलिए अब दबाब पड़ने पर सेना ने सूबेदार विजय कुमार को सूबेदार मेजर बनाने की घोषणा कर दी है \इससे पूर्व विजय कुमार ने स्वयम यह कहा था की अगर प्रोमोशन नहीं मिलता तो सेना छोड़ने के आलावा कोई विकल्प नहीं दिखता |इसके आलावा खेल मंत्री अजय माकन ने भी रक्षा मंत्री ऐ के अंटोनी को निवेदन क्या था की विजय को आउट आफ टर्न प्रोमोशन दिया जाए|

डिफेंस लैंड के रिकार्ड्स में बेहद ज्यादा अंतर

रक्षा भूमि के लिए किये जा रहे सर्वे और रक्षा संपदा विभाग के आंकड़े मेल नहीं खा रहे हैं|
देश की ६२ छावनियों में आये दिन रक्षा भूमि के अतिक्रमण की खबरे तहलका मचा रही है \सुकना घोटाले ने तो सेना के कई मज़बूत विकेट भी गिरा दिए|
इसीलिए रक्षा भूमि के आन लाईन सर्वे का काम आई आई टी रुड़की को सौंपा गया था |अब आई आई टी ,छावनी बोर्ड और रक्षा संपदा विभाग में उपलब्ध आंकड़ों में बड़ा अंतर को नोटिस किया गया है|
गौरतलब है की छावनी की भूमि को कागजों से उठा कर आन लाईन किये जाने की कवायद जारी है आई आई टी रुड़की ने रक्षा संपदा विभाग द्वारा मुहेय्या करवाए गए आंकड़ों के आधार पर रिपोर्ट तैयार की \जब इस रिपोर्ट को रक्षा संपदा विभाग और छावनी बोर्ड के रिकार्ड से मैच करवाया गया तो डिफेंस लैंड के रिकार्ड्स में ज्यादा अंतर दिखाई दिया है|

पाकिस्तान ने सीमा पर फिर शुरू करदी फायरिंग

पाकिस्तान ने संघर्ष विराम का उल्लंघन करते हुए अंतरराष्ट्रीय सीमा पुंछ और नियंत्रण रेखा हीरानगर सेक्टर में मोर्टार शेल दागे और जमकर गोलीबारी भी की। इसमें बीएसएफ के दो जवान घायल हो गए
देर रात तक सीमा पर रुक-रुक कर गोलीबारी जारी थी। पिछले चौबीस घंटों के दौरान पाकिस्तान दो बार संघर्ष विराम का उल्लंघन कर चुका है। अरनिया सेक्टर में रविवार को गोलीबारी करने वाले पाकिस्तान ने सोमवार रात आठ बजे कठुआ जिले के हीरानगर सेक्टर व पुंछ में भारी गोलीबारी शुरू कर दी। हीरानगर की पहाड़पुर और पानसर पोस्ट पर पाकिस्तान ने तीन मोर्टार शेल दागे। इसमें नाका नंबर 15 व पिल्लर नंबर 135 पर तैनात बीएसएफ जवान हरी मोहन निवासी कानपुर, उत्तर प्रदेश और सिपाही बवनीत सिंह निवासी गुरदासपुर, पंजाब बुरी तरह से घायल हो गए। एक को पीठ और दूसरे को बाजू में गोली लगी है।
इसके साथ ही पुंछ के गुंत्रिया सेक्टर में भी पाक रेंजर मोर्टार के साथ मशीनगन से फायरिंग कर रहे थे। इस पर सीमा पर तैनात सेना के जवानों ने भी मुंहतोड़ जवाब दिया।
भारतीय सीमांत चौकी कोट कुब्बा पर गोलियां बरसाने वाला पाकिस्तान सोमवार को फ्लैग मीटिंग में फिर मुकर गया। मीटिंग में बीएसएफ की 193 बटालियन के कमांडेंट नीरज दुबे ने भारतीय क्षेत्र पर पाकिस्तान की ओर से गोलीबारी किए जाने पर गहरा एतराज जताया। इस पर पाकिस्तान की ओर से 12 विंग चिनाब रेजिमेंट के विंग कमांडर केसर ने कहा कि उनकी ओर से शुरुआत नहीं हुई।
।सीमा पर सुरंग बनाने का मंसूबा नाकाम होने से बौखलाए पाकिस्तान ने भारतीय क्षेत्र में घुसपैठ करवाने के लिए ये हमले शुरू कर दिए हैं हालांकि, भारतीय जवानों ने घुसपैठ के प्रयास को नाकाम कर दिया।इसके अलावा भारत और पकिस्तान के सम्बन्धों में अ रहे सुधार को पलीता लगाने के लिए पकिस्तान की सेना का यह दुष्प्रयास भी हो सकता है|

विवादित टात्रा ट्रक को तीनो आर्म्ड फोर्सेस का इनकार

विवादित टात्रा ट्रक के फौज में इस्तेमाल पर तीनो आर्म्ड फोर्सेस ने ऐतराज़ किया है| मार्च में टात्रा की गुणवत्ता और इसकी खरीद में घोटाले के आरोप लगे थे जिसकी अभी जांच चल रही है इसीलिए इसे फौज में प्रयोग पर ऐतराज़ दर्ज़ कराया गया है| इस विषय में अब रक्षा मंत्रालय को अंतिम निर्णय लेना हैइसके लिए तीनो सेवाओं से सलाह ली भी जायेगी |
पूर्व जनरल वी के सिंह ने मार्च में ६०० टात्रा की खरीद के लिए बी ई एम् एल को सहमती देने पर १४ करोड़ रुपये की रिश्वत के आफर का भी आरोप लगाया था इस आरोप के तुरंत पश्चात सी बी आई की जांच के आर्डर दे दिए गए थे|इस मामले में एक पूर्व जनरल के भूमिका की जांच चल रही है और बी ई एम् एल के सी एम् डी को सस्पेंड भी किया जा चुका है|
गौरतलब है की टात्रा ट्रक खराब परिस्थितियों में भारी सामान और राकेट और उनके भारी लांचर्स ढोने के काम आते हैं|युद्ध में इनकी अहम् भूमिका रहती है ऐसे में जांच पूरी होने पर ही इसके प्रयोग की इजाज़त डी जानी चाहिए

रूसी सुखोई-30 में डिजाइन से जुड़ी खामियां =वायुसेना प्रमुख

रूसी सुपरसोनिक लड़ाकू विमान सुखोई-30 में डिजाइन से जुड़ी कुछ खामियां पाई गई हैं। वायुसेना ने इस विमान में फ्लाई-वाई-वायर समस्या का पता लगाया है।यह आरोप वायुसेना प्रमुख एनएके ब्राउन द्वारा लगाये गए हैं|
भारतीय वायुसेना के मुताबिक इसकी उड़ान क्षमता और योग्यता में कोई कमी नहीं है। वायुसेना प्रमुख आ‌र्म्ड फोर्सेज मेडिकल कॉलेज के स्वर्ण जयंती कार्यक्रम में आये थे | वायुसेना प्रमुख के अनुसार वायुसेना ने इस विमान में फ्लाई-वाई-वायर समस्या का पता लगाया है।
ब्राउन ने कहा कि यह डिजाइन से जुड़ा मसला है, जिसे डिजाइन एजेंसी के सामने रखा जाएगा। उन्होंने 13 दिसंबर 2011 को सुखोई-30 एमकेआइ लड़ाकू विमान दुर्घटना का हवाला भी दिया जिसमे उड़ान भरने के कुछ देर बाद ही यह दुर्घटना ग्रस्त होगया था हालांकि, इसके दोनों पायलट सुरक्षित बच निकलने में कामयाब हो गए थे।
वायुसेना प्रमुख ब्राउन ने कहा, ‘विमान में कुछ भी गलत नहीं है। मैंने खुद इस विमान को उड़ाया है।’ फ्रांस के राफेल विमान के सौदे के बारे में उन्होंने बताया कि इसकी खरीद के लिए बातचीत चल रही है। उन्होंने उम्मीद जताई कि चालू वित्त वर्ष के अंत तक यह सौदा अंतिम रूप ले लेगा।

मिसाईल परीक्षण करके ईरान ने दी अमेरिका और इजराईल को चुनौती

ईरान ने जमीन और पानी में मार करने वाली कम दूरी की मिसाइल का सफल परीक्षण करके सीधे टूर पर अमेरिका और इजराईल को सामरिक चुनौती दे दी है|। ईरान के रक्षामंत्री जनरल अहमद वाहिदी ने कहा कि फतह-110 ठोस ईधन से संचालित है और यह 300 किलोमीटर दूर तक मार कर सकती है।
इस मिसाइल ने परीक्षण के दौरान समुद्र और जमीन पर सफलतापूर्वक लक्ष्य भेदे गए हैं । ईरान की सेना का दावा है कि फतह-110 उनके जखीरे की सबसे उन्नत और अचूक निशाने वाली मिसाइल है। इस मिसाइल की नियंत्रण प्रणाली बेहद आधुनिक है। श्री वाहिदी ने अपनी महत्वकांक्षाओं को उजागर करते हुए बताया कि इससे क्षेत्र में मौजूद अमेरिकी ठिकानों और इजरायल तक हमले किए जा सकते हैं।
फतह-110 को 2002 में ईरान की सेना में शामिल किया गया था। विवादित परमाणु कार्यक्रम को लेकर ईरान का इजरायल और अमेरिका के साथ टकराव चल रहा है। हालांकि, ओबामा प्रशासन इस मसले का हल कूटनीतिक रास्ते से निकालने का दावा कर रहा है, लेकिन इजरायल का मानना है कि ईरान इतनी आसानी से नहीं मानने वाला।
इजरायल ने शंका व्यक्त की है कि अगर ईरान ने परमाणु हथियार बनाए तो वह हमला कर देगा। कुछ दिन पहले अमेरिका और इजरायल ने आपात स्थिति में ईरान पर हमले की रणनीति साझा की थी। ऐसे में ईरान तेजी के साथ सैन्य शक्ति बढ़ा रहा है। विवादित परमाणु कार्यक्रम को लेकर छह शक्तिशाली देशों के साथ ईरान वार्ता कर रहा है, लेकिन इससे अभी तक कोई ठोस नतीजा नहीं निकला है।

अधिकारों के लिए एसोसिएशन में सक्रीय भूमिका जरूरी

दया राम को सेवानिवृति पर भावभीनी विदाई दीरक्षा लेखा नियंत्रक [निधि]में कर्मचारी संघ की कलकत्ता शाखा के अध्यक्ष दया राम को सेवानिवृति पर भावभीनी विदाई दी गई|इस अवसर पर केन्द्रीय शाखा के मुख्यालय कलकत्ता और दिल्ली से आये क्रमश जी.पी दत्ता और यतींदर चौधरी ने अपने हकों के लिए एसोसिएशन की गतिविधिओं में सक्रिय भूमिका निभाने का आह्वाहन किया|
श्री चौधरी और श्री दत्ता ने बताया कि संगठन कि एकता से ही सरकारे झुका करती है |कर्मचारियों के हितों कि खातिर ही केंद्र सरकार के सभी विभागों की समन्वय समिति ने बीते दिन पी एम् ओ को ज्ञापन भी सौंपा है|और अगर उनकी मांगे नहीं मानी गई तो नवम्बर के तीसरे हफ्ते या फिर बिसम्बर के पहले हफ्ते में देश भर में एक दिन की हड़ताल की जायेगी यशपाल द्वारा संचालित इस विदाई समारोह में उपाध्यक्ष कर्ण प्रदीप ने श्री दयाराम का जीवन परिचय दिया अश्विनी मांगलिक,वेदपाल सिंह ने आयोजन किया महक सिंह मान,पी एस मान,सतीश ग्रोवर,अशीम कुमार सिंह,एन मुख़र्जी,ऐ नायक आदि दिल्ली और कलकत्ता से आये थे|,