Ad

Category: Education

Tracking Devices For Students

[Kolkata]Tracking Devices For Students
A new device using technology like
WiFi,
Bluetooth beacons and
GPS that can track the movement of students to ensure their safety within their school campuses was presented before a select group of private school principals in the city.
Future Netwings Solutions Pvt Ltd chief executive officer Jaideep Chakrabarti claimed.
that device is important in the wake of reports of some incidents involving students within the school campuses in the city and elsewhere, he said at the demonstration before the school principals last night.
About the device he said, “If a student has unusal movement in a secluded area, alerts are generated immediately and cameras are activated. Unlike CCTV-based surveillance with hours of video footage but no real information, the solution Hipla School provides real time, actionable intelligence and reports.”
Principal of South City International School John Andrew Bagul said the device will definitely be of help to the school authorities to ensure children are under secure environment.

CISF Offered Security Consultancy to 60 Schools,29 Responded

[New Delhi]CISF Offered Security Consultancy to 60 Schools,29 Responses Recd
Minister of State for Home Kiren Rijiju, in a written reply to a question in the Lok Sabha, said the paramilitary force has offered consultancy services to 60 schools/school chains.
Those offered the services include the
Kendriya Vidyalaya Sangathan,
Navodaya Vidyalaya Society,
Delhi Public School (DPS) society,
Tagore International School Delhi,
schools under the national capital territory of Delhi,
Ryan International Schools,
Podar Schools Mumbai,
Doon School Dehradun,
Rishi Valley School,
Scindia School Gwalior,
Mayo College Ajmer and
Lawrence school Sanawar among others.
The minister said that a “response has been received from 29 schools”.
The Central Industrial Security Force started offering these services to schools in November last year in the wake of the killing of a student at a Gurgaon school.
The CISF security consultancy wing was raised in 1999 and it has provided its expert advise to over 150 organisations or institutions, including the IITs, IIMs, RBI and the National Police Academy in Hyderabad among others.

पंजाब में आंगनवाड़ी वर्करों ने विधानसभा के सामने मोर्चा संभाला

[चंडीगढ़,पंजाब] पंजाब में आंगनवाड़ी वर्करों ने विधानसभा के सामने मोर्चा संभाला,पुलिस ने हिरासत में लिया |
पंजाब के किसान और शिक्षक जो न कर सके वह आज आगनबाड़ी वर्कर्स ने कर दिखाया|पुलिस को चकमा देकर वे लोग बढ़ी संख्या में अति सुरक्षित विधान सभा के सामने पहुंचे और धरना देकर नारे लगाए |पंजाब पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया|मालूम हो के बीते दिन आंदोलनरत शिक्षकों ने भी नेशनल हाई वे को जाम करने के लिए लुधियाना के दाना मंडी से मार्च निकाल था लेकिन उन पर लाठी चार्ज किया गया और एक शिक्षक के धार्मिक चिन्ह पगड़ी की बेअदबी की गई |उससे पूर्व किसान अपनी मांगों को लेकर बार्डर पर धरना प्रदर्शन करते दिखाई दिए हैं |
आंगनबाड़ी वर्कर्स ने आज विधान सभा का घेराव करने की चेतावनी दे रखी थी उन्हें रोकने के लिए पर्याप्त प्रबंध होने के बावजूद बढ़ी संख्या में वर्कर्स वहां पहुँचने में सफल हो गए और धरना दिया और नारे भी लगाए | ये लोग अपनी नौकरियों की सुरक्षा की मांग कर रहे हैं

पंजाबी शिक्षकों को मार्च के रविवार में लाठी,अप्रैल का संडे अप्रैल फूल के लिए

[लुधियाना,पंजाब]आंदोलनरत पंजाबी शिक्षकों को मार्च के रविवार में लाठी,अप्रैल का संडे अप्रैल फूल के लिए |२५ मार्च के रविवार को प्रदेश भर से लगभग १५००० शिक्षक दाना मंडी में एकत्रित हुए और अपनी मांगों के लिए रैली निकाली |सरकार ने उनकी बात सुनने के बजाय पुलिस की लाठी से पिटवा दिया |स्थिति बिगड़ती देख कर अब सी एम से मीटिंग के लिए २ अप्रैल को बुलवाया गया है |पंजाब के हजारों अस्थाई [कॉन्ट्रैक्ट] शिक्षक अपने नियमितीकरण की मांग कर रहे हैं इन्हें बीते तीन साल से रु १०३०० की तनख्वाह मिल रही है |इन्हें गावों में जाना पढता है लेकिन शिक्षकों के अनुसार गावों में जाने के लिए इतना तो आने जाने में ही खर्च हो जाता है|पिछली अकाली +भाजपा की सरकार के दौरान भी शिक्षकों ने आंदोलन किया था,यहां तक के कुछ शिक्षक ऊँचाई पर चढ़ गए थे |उस समय तत्कालीन सरकार ने उन्हें आश्वासन देकर आंदोलन शांत करवाय था |उनके आंदोलन को कांग्रेस का समर्थन प्राप्त था |अब चूँकि कांग्रेस की सरकार है लेकिन कांग्रेस सरकार लगातार खजान खली होने की दुहाई देते हुए शिक्षकों से मुँह मोड़ती आई है|अब आंदोलन ने उग्र रूप धारण कर लिया | आंदोलन रत शिक्षकों ने दानामंडी में पुलिस की बेरिकेडिंग तोड़ कर नेशनल है वे जाम करने के लिए मार्च किया|बदले में उनसे बातचीत करने के लिए किसी नेता को भेजने के बजाय पुलिस को भेजा गया और अहिंसक आंदोलन को समात करने के लिए बर्बर लाठीचार्ज करवा दिया गया |
ये अपने आप में चिंताजनक है के हजारों शिक्षकों को अपने सीएम से मिलने के लिए इतना बढ़ा आंदोलन करने को मजबूर होना पढ़ा ||इसी परिपेक्ष्य में सरकार की निति पर संदेह लगाना स्वाभाविक ही है |क्योंकि सरकार के दूसरे बजट में भी खजाना खाली होने की दुहाई दी जा रही है

पंजाब सरकार पर वादा खिलाफी का आरोप लगा कर अध्यापकों ने रैली निकाली

[लुधियाना,पंजाब] पंजाब सरकार पर वादा खिलाफी का आरोप लगा कर अध्यापकों ने रैली निकाली |इंडस्ट्रियल हब लुधियाना के दाना मंडी में आज हजारों अध्यापक जुड़े हैं |एक अनुमान के अनुसार लगभग दस हजार अध्यापक जुड़ चुके हैं | प्रदेश में कांग्रेस के कैप्टेन अमरिंदर सिंह की सरकार ने बात चीत से कोई रास्ता निकालने के बजाय वहां दो बसें भर कर पंजाब पुलिस को भेज दिया है |आक्रोशित अध्यापकों को लगातार धमकी दी जा रही है अगर इन्होने दाना मंडी से बआहर निकल कर रैली निकालने की कोशिश की तो सख्त कार्यवाही की जाएगी |अध्यापकों ने सरकार को बातचीत के लिए एक समय सीमा बताई हुई है जिसके पश्चात् नेशनल हाई वे को जाम करने को मार्च निकाल जाएगा |
मालूम हो के प्रदेश में हजारों अध्यापक कॉन्ट्रैक्ट बेसिस पर कार्यरत हैं ये सभी अपने नियमितीकरण के लिए लम्बे समय से संघर्ष कर रहे हैं |पिछले दिनों कैप्टेन अमरिंदर सिंह ने हजारों युवाओं को नौकरी देने का दावा किया था लेकिन आज अध्यापकों के आंदोलन ने उस दावे पर प्रश्न चिन्ह लगा दिया है|
अध्यापकों के सरकार द्वारा तीन साल तक रु १०३०० का स्केल देने की पेशकश की हुई है जिसे धरनारत अध्यापकों ने लेने से इंकार कर दिया है

Young Graduates,Be Prepared To Face Challenging World:Pawan Munjal

Young Graduates Be Prepared To Face Challenging World:Pawan Munjal
Pawan Munjal, Hero MotoCorp CMD and one of the captains of Indian industry, called on young graduates to be prepared to face the challenges of the ever-evolving world.
He was addressing the graduating students at the Convocation ceremony of the Institute of Management Technology in Nagpur
Stating that every new generation brings with it new ideas and new inventions that bring change for the humankind, he said “as a nation we should always listen to our young people – not just their ideas and feelings, but also their aspirations. This is very true for a country such as India where more than 50% of its population is below the age of 25 and more than 65% below the age of 35.”
He said “I urge you to pause for a little while, and thank the God Almighty and your parents – for giving you this opportunity; and your teachers for guiding you and showing you the right path. For the very same reasons, I also urge you to make these choices very carefully and with due diligence,”
Kamal Nath, Member of Parliament and President of IMT, Nagpur and Dr. Subhajit Bhattacharya, the Director of the Institute, were present at the Convocation function, along with other dignitaries.

Yogi Skips His Gonda Visit After Bypolls Debacle

[Gnda,UP] Yogi Skips His Gonda Visit After Bypolls Debacle
Uttar Pradesh Chief Minister Yogi Adityanath today cancelled his scheduled visit stating “unavoidable reasons” and sent his deputy Dinesh Sharma in his place.
Adityanath was scheduled to take part in the ongoing All India Lok Kala Sangam at Deendayal Shodh Sansthan today.
The organisers of the programme said that the chief minister’s visit has been put off due to unavoidable reasons.
Meanwhile, on BJP’s loss in the bye-elections, the deputy chief minister said, “Victory and defeat are part of politics…

OByGod! Center Has No Centralised Record Of Fake Education Boards

[New Delhi]OByGod! Govt Has No Record Of Fake Education Boards
The minister of State for HRD, Upendra Kushwaha, said in a written response to a question in Lok Sabha that “some instances of functioning of fake education boards have come to the notice of the Ministry”.
“The Ministry, however, does not maintain any centralised data regarding fake education boards functioning in different parts of the country,”
The minister stated that state governments and police authorities have been asked to identify fake education boards functioning in their jurisdiction and register cases against them for misleading people.

“योगी” सरकार ने “यूपी के ढाई हजार मदरसों को फर्जी घोषित किया

[लखनऊ ,यूपी]‘योगी सरकार ने ढाई हजार मदरसों को फर्जी घोषित किया
इन पर पर 100 करोड़ रुपये खर्च होते थे|
वेब पोर्टल पर पंजीयन अनिवार्य किये जाने के बाद ‘फर्जी‘ पाये गये दो हजार से ज्यादा मान्यता प्राप्त मदरसों पर सालाना 100 करोड़ रुपये से ज्यादा खर्च किये जाते थे।
प्रदेश के अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री चौधरी लक्ष्मी नारायण के अनुसार ,उनकी सरकार ने मदरसों की कार्यप्रणाली में पारदर्शिता लाने के लिये पिछले साल सभी मदरसों के प्रबन्धन से उत्तर प्रदेश मदरसा बोर्ड के वेब पोर्टल पर अपने बारे में पूरी जानकारी अपलोड करने को कहा था। मदरसों द्वारा अपनी जानकारी नहीं दी गई | इसके अलावा करीब 2300 मदरसों ने भी पोर्टल पर अपना पंजीयन नहीं कराया। इन सभी पर अब तक हर साल करीब 100 करोड़ रुपये खर्च किये जाते थे।
मंत्री के अनुसार वे मदरसे और आईटीआई दरअसल फर्जी हैं|
प्रदेश में 19108 मदरसे राज्य मदरसा बोर्ड से मान्यता प्राप्त हैं।
उनमें से 16 808 मदरसों ने पोर्टल पर अपना ब्यौरा फीड किया है।
वहीं, करीब 2300 मदरसों ने अपना विवरण नहीं दिया है। उन्हें फर्जी माना जा रहा हैं

जंगे आजादी यादगार में विभाजन के शरणार्थियों के रिकॉर्ड भी सहेजो

[करतारपुर,जालंधर,पंजाब] कैप्टेन अमरिंदर सिंह ने जंगे आजादी यादगार के दूसरे चरण का उद्घाटन किया ,तीसरे की घोषणा मगर ,आजादी के कारण हुए देश के विभाजन के पीड़ितों और उनकी जमीनों के रिकॉर्ड की बात नहीं की गई |यह स्मारक जंगे आजादी में शहीद हुए लोगों को एक श्रद्धांजलि है जो पिछली सरकार द्वारा शुरू कराया गया था |इसे अब पूरा किया जा सका है |करतारपुर लकड़ी के काम के लिए प्रसिद्द है |यहां यह कहना तर्क सगत ही होगा के आजादी के साथ ही देश का विभाजन करा दिया गया जिसके फलस्वरूप लाखों बेकसूर लोग दोनों तरफ से बेघर होकर शरणार्थी बन गए | इनके द्वारा छोड़ी गई जमीन आने वालों की दी जानी थी और भारत में अनेकों को यह जमीन आल्लोट भी की गई इसके बावजूद हजारों की संख्या में शरणार्थियों को मुआवजा नहीं दिया गया |इसमें जबरदस्त भ्र्ष्टाचार हुआ| आज भी सैंकड़ो पीड़ित अपने हक के लिए अदालतों+पीएमओ +सीएम ओ+ के चक्कर लगा रहे हैं |
कैप्टेन अमरिंदर सिंह ने करतारपुर में जंगे आजादी यादगार के दूसरे चरण का उद्घाटन अवसर पर कहा के यह स्मारक राज्य में पर्यटन को बढ़ावा देगा|
२५ करोड़ रु की लागत से बनाने वाले इस स्मारक में छह गैलरियां हैं|इसके लिए अभी साढ़े ९ करोड़ रु रिलीज किये जाने शेष हैं जिन्हे जल्द रिलीज करने का आश्वासन दिया गया है |असंतुष्ट आँगनबाड़ी कार्यकर्तियों ने सीएम् के इस कार्यक्रम का विरोध भी किया |