Ad

Category: Education

जिलों के बाद अब यूनिवर्सिटी का नाम बदलने की कवायद

अंग्रेज़ी के विश्विख्यात साहित्यकार शेक्सपियर ने कहा था की नाम में क्या रखा है मगर आज कल उत्तर प्रदेश सरकार नाम के सहारे ही प्रदेश को २०१४ के चुनावों तक ले जाना चाहती है|जिलों के नाम बदलने के बाद अब कांशीराम उर्दू, अरबी-फारसी विश्वविद्यालय, लखनऊ का नाम बदल कर ख्वाजा मुईनुद्दीन चिश्ती उर्दू, अरबी फारसी विश्वविद्यालय कर दिया गया है अजमेर दरगाह के सज्जादनशीन सैयद जैनुल आबेदीन अली खान और पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने इस पर ऐतराज भी जता दिया है मायावती ने तो इसे बसपा आन्दोलन के जन्म दाता कांशीराम के प्रति एहसान फरामोशी बताया है| जबकि सूफी संतों के नाम पर राजनीति किये जाने की सैय्यद जैनुल ने भी गलत बताया है
मायावती सरकार के कार्यकाल में शुरू किये गऐ उर्दू अरबी फारसी विश्वविद्यालय का नाम बदलने के लिये सपा नेता एवं नगर विकास मंत्री आजम खां ने पिछले दिनों मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को पत्र लिखकर विश्वविद्यालय का नाम उर्दू अरबी फारसी के किसी विद्वान या साहित्यकार के नाम पर रखे जाने का सुझाव दिया था। विश्वविद्यालय के कुलपति की और से इस सुझाव पर दस नाम आए थे जिसमें सूफी संत हजरत ख्वाजा मोईनुद्दीन चिश्ती के नाम पर सरकार ने सहमति जताई है।
1993 में पूरी तरह से हाशिए पर आ गए सपा प्रमुख मुलायमसिंह यादव को कांशीराम जी ने ही सहारा देकर सपा-बसपा की गठबंधन सरकार में मुख्यमंत्री पद पर बैठाया था। अब उसी सपा सरकार द्वारा माननीय कांशीराम के नाम पर बनी यूनिवर्सिटी का नाम बदलने से उनके साथ एहसान फरामोशी की जा रही है

ऐ आई एम् और सैंट जोन्स में राखी प्रतियोगिता

सैंट जोहन्स और ऐ आई एम् पब्लिक स्कूलों[अलग अलग] में आज राखी प्रतियोगिता का आयोजन किया गया प्रतिभागियों ने स्बुन्दर और मनमोहक राखियाँ बना कर अपनी कला का सराहनीय प्रदर्शन किया \
ऐ आई एम् में अम्बरीश अग्रवाल ने दीप प्रज्वलित करके प्रतियोगिता का उदघाटन किया |निदेशिका गरिमा अग्रवाल ने विजेताओं को पुरुस्कृत किया|
तीन वर्गों में आयोजित इस प्रतियोगिता में
आर्थ्व,आशीष,गुल,दीपांशु,मेहुल,प्रज्ञा,सचिन,नित्यम,पुरु,वंशिका,निशांत,तान्या,आशीष और चाहत को अपने अपने वर्गों में विजेता घोषित किया गया |


सैंट जोन्स में प्राकर्तिक वस्तुओं से इको फ्रेंडली राखियाँ बनाई गई |प्रिंसिपल चन्द्र लेखा जैन ने इको फ्रेंडली राखिओं का महत्त्व बताया |

शास्त्रीय संगीत के सूखे में सितार से ठंडी फुआरें

छावनी स्थित दीवान पब्लिक स्कूल में कल सितार की तारों से मन मोहक प्रस्तुति ने शास्त्रीय संगीत के लम्बे समय से झेल रहे सूखे की पीड़ा को काफी हद तक कम किया \
पंडित पुष्प राज ने सितार और पंडित उद्धव सिन्धी ने पखावज से श्रौताओं को मंत्र्मुग्द कर दिया |विद्यालय के अध्यक्ष समाज सेवी जगदीश दीवान और प्रधाना चार्य एच एम् राउत ने कलाकारों को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया

हेवर्ड प्लास्तेड गर्ल्स इंटर कालेज में राखी प्रतियौगिता

हेवर्ड प्लास्तेड गर्ल्स इंटर कालेज में आज राखी प्रतियोगिता का आयौजन किया गया इ गुप्ता द्वारा आयुजित इस आयोजन में प्रधाना चार्या श्रीमति विनी सिंह ई शंकर आदि ने छात्राओं का उत्साह वर्धन किया

आई आई टी कानपूर भी सिब्बल की एस.ई.टी बास्केट में आ गिरा

आई आई टी कानपूर भी अब कपिल सिब्बल की बास्केट में आ गिरा है \मानव संसाधन विकास मंत्री कपिल सिब्बल के सिंगल एंट्रेंस टेस्ट के प्रस्ताव को पहले नकारने वाले कानपूर सीनेट ने अब संयुक्त प्रवेश परीक्षा[जे.ई.ई.] २०१३ को मंजूरी दे दी है|लेकिन इसके साथ ही २०१४ से एप्टीतियूड टेस्ट कराने की शर्त भी रख दी है|

गलती का अहसास कराके एक बार फिर संभलने का अवसर दिया जाये.

छिमा बढ़न को चाहिए, छोटेन को उत्पात ,
का रहिमन हरी को घट्यो , जो भृगु मरी लात .

व्याख्या – छोटी आयु के लोगों के द्वारा उपद्रव करने पर बड़ों का क्षमादान करना ही शोभनीय है . कवि रहीम कहते हैं कि यदि भृगु ऋषि ने
क्रोध में आकर प्रभु की छाती पर लात मार दी तो भगवन की गरिमा में कोई कमी नहीं आई.
भाव – क्षमा करना आदमी का सबसे बड़ा गुण है. इसी गुण को लेकर कवि रहीम ने इस दोहे की रचना की है.. यदि छोटे लोग कोई अपराध
करते हैं तो बड़ों का बड़प्पन इसी में है कि उन्हें क्षमा कर दिया जाये और उन्हें उनकी गलती का अहसास कराके एक बार फिर
संभलने का अवसर दिया जाये.
इसे कवि ने एक विशेष पौराणिक घटना से जोड़कर दर्शाया है एक बार भृगु ऋषि भगवान् विष्णु से मिलने गए .विष्णु को सोता देखकर
भृगु ने उनकी छाती पर लात मार दी . इससे भगवान क्रोधित नहीं हुए .अपितु उनहोंने पूछा -ऋषिवर आपके पैर में चोट तो नहीं आई ?
विष्णु जी की बात सुनकर ऋषि का क्रोध शांत हो गया . प्रस्तुति राकेश खुराना

आई आई एम् टी के खिलाफ ठेकेदारों का धरना

गंगा नगर स्थित आई आई एम् टी के खिलाफ काम करा कर भुगतान नहीं करने

Agitating Contractors At Collector ate

का आरोप लगा कर कुछ सिविल ठेकेदार कलेक्ट्रेट पर कल से धरने पर बैठे हैं\आज ठेकेदारों ने ज्ञापन सौंपा और तुरंत भुगतान कराये जाने की मांग की |
आधा दर्जन से ज्यादा सिविल कांट्रेक्टर का आरोप है कि उन्होंने आइआइएमटी में बिल्डिंग, बेसमेंट और भूतल का कार्य किया लेकिन इंस्टीटयूट के मालिकों ने उनका भुगतान नहीं किया। जबकि भुगतान के लिए वे कई बार मांग कर चुके हैं। कांट्रेक्टरों ने योगेश मोहन गुप्ता और अभिनव गुप्ता पर आरोप लगाया कि उन्होंने काम तो करा लिया मगर भुगतान नहीं कर रहे | वे अपनी जमा पूंजी काम पर लगा चुके हैं और अब सड़क पर आ गए हैं। अगर उन्हें अपना पैसा नहीं मिला तो उनके परिवारों के लिए भूखे मरने की स्थिति आ जाएगी।

रुपय्या मज़बूत हुआ तो शेयर धडाम

आज रुपया मजबूत हुआ मगर शेयर बाज़ार धडाम हो गया
रुपया आज पिछले एक हफ्ते के सबसे ऊचे स्थान पर बंद हुआ १.२% उठ कर अमेरिकी डॉलर के मुकाबिले ५५.५१.५० पर बंद हुआ
जबकि सेंसेक्स में २०६ अंकों की कमी के साथ १६६३९ और निफ्टी में ६६ अंक [५०४३]की गिरावट दर्ज़ की गई|यूरो के कारण और डॉलर की बिकवाली से रुपया मज़बूत हुआ वहीं ऍफ़ डी आई में असमंजस की स्थिति और मानसून की बेरुखी के चलते निवेशकों की बिकवाली के कारण शेयर बाज़ार की हालत पतली रही|
अगले हफ्ते रुपये में और मजबूती आने की संभावनाएं जताई जा रही हैं|

पेरेंट्स प्राईड प्ले स्कूल में येलो डे

सूरज कुण्ड [मेरठ]स्थित पेरेंट्स प्राईड प्ले स्कूल में आज येलो डे मनाया गया और मेंगो पार्टी का बच्चो ने खूब आनंद लिया प्रिंसिपल बिंदु गुप्ता ने पीले रंग के महत्त्व बताये

मुंशी प्रेम चंद साहित्य को बेचने उतरा इस्कान

जमीन से जुड़े भारतिओं के जीवन के निचोड़ को शब्दों में पिरो कर लिखी गई मुंशी प्रेम चंद की अमर कहानियों को आम पाठकों तक पहुंचाने के लिए इस्कान ने कृष्ण भक्ति के चुम्बकीय तरंगे उछाली |
मेरठ के चेतन काम्प्लेक्स में निम्बस बुक स्टाल पर मुंशी प्रेम चंद साहित्य मेले का आयोजन हुआ \ बुधवार को कमिश्नर मृत्युंजय कुमार नारायण ने फीता काट कर इसका उदघाटन किया इस अवसर पर इस्कान ने हरिनाम संकीर्तन भी किया