Ad

Category: Environment

राजीव गाँधी का जन्म दिन २० के बजाये १७ अगस्त को मनेगा

देश के सबसे युवा प्रधान मंत्री बने स्वर्गीय राजीव गाँधी का जन्म दिन प्रति वर्ष २० जुलाई को राष्ट्रीय सदभावना के रूप में मनाया जाता है लेकिन सरकारी विभागों में १८ से २० तक अवकाश रहेगा इसीलिए इस वर्ष यह १७ अगस्त को मनाया जाएगा|
राष्ट्रीय एकता और साम्प्रदाईक सदभाव के लिए समूचे भारत वर्ष में यह दिवस मना कर स्वर्गीय राजीव गाँधी को श्रधांजलि अर्पित की जाती है|इस दिन राष्ट्रीय एकता और साम्प्रदाईक सौहार्द के लिए समर्पण भाव से योगदान देने के लिए सरकारी विभागों में संकल्प भी लिया जाता हैऔर सांस्कृतिक आयोजन भी होते हैं|सदभावना एवार्ड भी दिए जाते है|
श्री गांधी को उनके सादा +स्पष्ट खुले जीवन के साथ ही रास्ट्रीय एकता और साम्प्रदाईक सौहार्द के लिए सर्वोच्च बलिदान देने के लिए याद किया जाता है|
श्री गांधी को बोफोर्स घोटाले के आरोप लगा कर बदनाम किया गया और सत्ता से हटाया गया मगर बोफोर्स आज भी सेना में कामयाब हथियार माना जा रहा है और घोटाले को कभी प्रूव नहीं किया जा सका\
सदभावना दिवस पर जो शपथ ली जाती है वह इस प्रकार है
I take this solemn pledge that I will work for the emotional oneness and harmony of all the people of India regardless of caste, region, religion or language. I further pledge that I shall resolve all differences among us through dialogue and constitutional means without resorting to violence.”
आज देश के अनेकों शहरों में साम्प्रदाईक सौहार्द बिगाड़ने के कुचक्र रचे जा रहे है \असाम+मुम्बई+पुणे+रांची+बेंगलूर+ हैदराबाद+चेन्नई के बाद अब दिल्ली में भी कुछ नकारात्मक बातें उठने लगी हैं|
ऐसे में साम्प्र्दाईक सौहार्द को उत्सव की भांति मनाया जाना बेहद जरुरी हो गया है \
बुधिजीविओं का मानना है कि सदभावना एवार्ड्स जाने माने पेरसनेल्ती को ही दिया जाता है इसके साथ अगर ये एवार्ड आम आदमी को भी उसके इस छेत्र में योगदान के लिए समारोह पूर्वक दिया जाये तो शायद इसके सकारत्मक नतीजे मिलने की उम्मीद बढ सकती है|

भादों बरस कम रहा है पोल ज्यादा खोल रहा है|

सावन सूखा बीत जाने के बाद अब भादों थोड़ा बहुत बरस रहा है मगर बरस कम रहा है ज़रा सी बारिश से ही शहर में जल भराव आम बात हो चली है प्रशासन भी इससे इम्म्यून और जनता आदी हो चली है|जर्जर भवन गिरने के एक खबर बन कर रह जाते हैं|ये बातें तो पुरानी हो चली शायद इसीलिए बारिश ने अब नए भवनों को निशाना बनाना शुरू कर दिया है|
इस फोटो में दिखाए गए धाराशाही बाउंड्री वाल एक निर्माणाधीन रेसिडेंशियल काम्प्लेक्स की है

मस्जिद पर बिजली गिरने से १० मरे

बांग्लादेश में शुक्रवार की रात एक मस्जिद पर बिजली गिरने से 10 लोगों की मौत हो गई और 12 घायल हो गए।
समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक ढाका से लगभग 300 किलोमीटर दूर धर्मापाशा उप-जिले के मुख्य कार्यकारी अधिकारी शाहिदुल हक ने बताया कि गांव की एक मस्जिद पर बिजली गिरने से 10 लोगों की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। इस बिजली गिरने के कारण 12 लोगों के घायल होने की खबर है। यह संख्या बढ़ भी सकती है। घायलों को फौरन अस्पताल ले जाया गया। उनका इलाज जारी है।

हिमाचल प्रदेश में बारिश में बस दुर्घटना =४० मरे

हिमाचल प्रदेश [चंबा] में आज सुबह[शनिवार] सुबह यात्रियों से भरी एक बस के खाई में गिर गई जिससे करीब 40 लोगों के मारे जाने का समाचार मिला है| हादसे में 20 अन्य घायल हो गए। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल द्वारा हादसे पर दुख प्रकट करते हुए जिला प्रशासन को पीड़ितों को हरसंभव सहायता देने के लिए निर्देश दे दिए गए हैं
पुलिस के अनुसार निजी बस चंबा की ओर आ रही थी तभी वह शहर से करीब 10 किलोमीटर की दूरी पर राजेरा के निकट एक खाई में जा गिरी।
पुलिस के अनुसार कि 32 यात्रियों की मौके पर ही मौत हो गई और 8 अन्य ने अस्पताल जाते हुए दमतोड़ दिया। हादसा स्थल पर राहत और बचाव कार्य जारी है। पुलिस ने बताया कि अब तक यह पता नहीं चल सका है कि हादसे के समय बस में कितने यात्री सवार थे। उन्होंने कहा कि मृतकों की संख्या बढ़ सकती है।
मृतकों में अधिकांश चंबा के रहने वाले थे।

पृथ्वी की गोलाई नापने का मेरठ में प्रयोग

अर्जन्टीना में मनाये जा रहे महोत्सव के लिए पृथ्वी की गोलाई नापने का प्रयोग किया जा रहा है
उसमे भारत उसका सहयोगी है प्रयोग को पूरा करने के लिए भारत में यह प्रयोग मेरठ,बागपत और यमुनानगर में आयोजित किया जा रहा है.
मेरठ में यह प्रयोग प्रगति विज्ञानं संस्था की विज्ञानं क्लब इकाई बलराम ब्रिजभुसन सरस्वती शिशु मंदिर ,शास्त्री नगर ,मेरठ में किया गया .
दोनोदेशो का डाटाआने पर १३ अगस्त को शाम ५.३० पर वेदेओकोन्फ़्रेन्सिन्ग होगी जिसमे बालक अपने प्रयोग पर चर्चा करेंगे और फ़्रांस के मिस्टर एरिक इसका सञ्चालन करेंगे.
यह जानकारी दीपक शर्मा नेशनल कोर्डिनेटर द्वारा दी गई है|

बाबा राम देव ने आज पैनी की जबान की धार

इसे बुझते दीपक की लौ की आख़री चमक कहना अभी जल्दबाजी होगा मगर भ्रष्टाचार और कालेधन के मुद्दे पर आंदोलन कर रहे बाबा रामदेव ने आज अपने इशारों की धार भी पैनी करनी शुरू कर दी है|आज सुबह बाबा ने पहली बार इशारों-इशारों में प्रधानमंत्री पर निशाना साधा है।
आंदोलन के आज तीसरे दिन रामदेव ने कहा कि 15 अगस्त को लालकिले पर तिरंगा फहराया जाएगा लेकिन ये तिरंगा जब ईमानदार हाथों से फहराया जाता है तो इसका सम्मान बढ़ता है लेकिन जब ये तिरंगा बुरे हाथों में जाता है तो इसका अपमान होता है।
मालूम हो कि बाबा रामदेव के आंदोलन का पहला चरण आज शाम को पूरा होगा और आज शाम को वो आगे की रणनीति का ऐलान करेंगे। लेकिन इससे पहले ही रामदेव ने पीएम पर हमला बोलकर संकेत दे दिए हैं कि वो आगे और तेज हल्ला बोलेंगे
गौरतलब है की बाबा राम देव ने यौग सिखाते सिखाते काले धन के मुद्दे पर सरकार के खिलाफ मौर्चा खोला हुआ है इनके सहयोगी आचार्य बाल कृष्ण को पासपोर्ट मामले में जेल में डाल दिया गया है |इससे पूर्व भी बाबा के ऐसे ही एक आन्दोलन को पोलिस लाठी चार्ज से कुचल दिया गया था

शक के आधार पर असाम में बांग्लादेशियों पर कार्यवाही नहीं की जा सकती

शक के आधार पर एक धर्म विशेष के ४०००००० वोटरों को मताधिकार से वंचित नहीं किया जा सकता असाम में हो रहे दंगों के लिए बंगलादेशी अल्पसंख्यक घुसपैठियों को कारण बता कर इन्हें मताधिकार से वंचित किये जाने की मांग जोर पकड़ रही है|यह उत्तर केंद्र सरकार द्वारा सुप्रीम कोर्ट को दिया गया है|
असाम के एक एन जी ओ ने ४०००००० वोटरों के नाम वोटर लिस्ट से काटे जाने की मांग करते हुए उन्हें देश से वापिस बँगला देश में भेजने के लिए दबाब बनाया था|इस दबाब को केंद्र सरकार ने खारिज कर दिया लेकिन इसके साथ ही जस्टिस प स्थासिवं और रंजन गोपाल की बेंच के समक्ष एक एफिडेविट देकर यह आश्वासन दिया है की अवैध नागरिकों को राज्य से निकाल दिया जायेगा|
गौरतलब है की वर्तमान दंगों में ७० से ज्यादा मौतें और १०० जख्मी हो चुके हैं जबकि ४००००० लोग रिफ्यूजी केम्प में रह रहे हैं|यह आरोप लगाया जा रहा है कि राजनीतिक बडत पाने के लिए बंगलादेश से आने वाले रिफ्युजिओं को वोटिंग राईट्स दिए जा रहे हैं जिस कारण वहां इन रिफ्यूजी और स्थानीय नागरिकों के बीच युद्ध कि स्थिति रहती है वर्षों से इस समस्या के मूल कारण में बन्ग्लादेशिओन को देखा जाता रहा है और उनके डिपोर्टेशन कि मांग उठती रही है |लेकिन प्रधान मंत्री ने अपने हाल ही के दौरे में दंगों के लिए बंगला देशियों का हाथ होने से इंकार करके सरकार कि मंशा साफ़ कर दी थी

चीन की विशाल दीवार का एक हिस्सा भारी बारिश में ढहा

दुनिया के ज्ञात आश्चर्यों में से एक चीन की विशाल दीवार का एक हिस्सा भारी बारिश में ढह गया है।
समाचार एजेंसी शिन्हुआ के मुताबिक, दीवार का यह हिस्सा उत्तर में स्थित हेबेई प्रांत में पिछले कई दिनों से जारी लगातार मूसलाधार बारिश की वजह से गिर गया। दीवार के 36 मीटर हिस्से को नुकसान पहुंचा है और मरम्मत का कार्य जारी है।
विशेषज्ञों ने दीवार के गिरे हुए हिस्से को हटा दिया है। ढहे हुए भाग के पास दीवार के दूसरे हिस्सों में भी दरार पड़ गई है। सांस्कृतिक अवशेष संरक्षण के विशेषज्ञों ने दीवार के ढहे हुए हिस्से के निर्माण के लिए प्रस्ताव तैयार किया है। हेबेई प्रांत में प्राचीन दीवार का निर्माण वर्ष 1368-1644 के बीच हुआ था। पिछले महीने चीन में भारी बारिश ने 60 सालों का रिकॉर्ड तोड़ दिया था, जिसमें 79 लोगों की मौत हो गई थी।
अभी कुछ समय पहले भारत की एक फिल्म चाँदनी चौक टू चायना का बड़ा भाग भी इसी दीवार पर फिल्माया गया था

बारिश ने मौसम का तापमान गिराया मगर जल भराव ने ब्लड प्रेशर बढाया

आज थोड़ी देर की बारिश से जहां मौसम के तीखे तेवरों को ढीला किया तापमान में गिरावट ई मगर जगह जगह हमेशा की तरह जल भराव हो गया इससे यात्रियों को परेशानियों का सामना करना पडा और स्वभाविक रूप से ब्लड प्रेशर बड़ता दिखाई दिया|लोग बाग़ व्यवस्था को कोसते दिखाई दिए |
प्रस्तुत हैं कुछ खैरनगर +नगर निगम और घंटाघर के नज़ारे

अजित ने नितीश को दी पटना एअरपोर्ट विषय पर चेतावनी

नागरिक उड्डयन मंत्री चौधरी अजित सिंह ने भी अब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को पत्र लिखकर पटना एअरपोर्ट के विषय में चेतावनी दी है
उन्होंने कहा है कि अधिकांश एयरलाइनों द्वारा उड़ाए जा रहे एयरबस 320 व बोइंग 737 जैसे बड़े विमान पटना के जयप्रकाश नारायण अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर न तो उतर सकते हैं और न ही उड़ान भर सकते। छोटे रनवे की वजह से बड़े विमानों के संचालन के लिए पटना हवाई अड्डा देश का सबसे संवेदनशील हवाई अड्डा माना जाने लगा है। आम तौर पर ऐसे विमान की उड़ान के लिए पटना में केवल 1556 मीटर रनवे है। यह बेहद कम है| रनवे के एप्रोच में संजय गांधी जैविक उद्यान के पेड़ तो बाधक हैं ही, हवाई अड्डे के आसपास निजी जमीन व मकानों का होना भी खतरनाक है।
उड्डयन मंत्री ने मुख्यमंत्री को सलाह दी है कि वह नागरिक उड्डयन महानिदेशालय की ओर सुरक्षा के संबंध में उठाई जा रही आपत्तियों का यथाशीघ्र निराकरण कराने की कार्रवाई करें, अन्यथा पटना हवाई अड्डे से बड़े विमानों का संचालन बंद हो जाएगा। इससे लोगों को बड़ी असुविधा होगी।
पटना हवाई अड्डे के संबंध में नागरिक उड्डयन महानिदेशालय की अनुशंसाओं के आलोक में भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण [एएआइ] के अध्यक्ष वीपी अग्रवाल ने बिहार के मुख्य सचिव को 15 जून तक रनवे के मार्ग में आने वाले पेड़ों की काट-छांट करने का आग्रह किया था। इसके बावजूद जब राज्य सरकार की ओर से कार्रवाई नहीं हुई तो 16 अगस्त से बड़े विमानों का संचालन बंद करने का फैसला किया गया है।
यहां बता दें कि भारतीय विमान प्राधिकरण के बड़े विमानों की उड़ान बंद करने के फैसले को बिहार सरकार ने अब गंभीरता से लिया है।संसद के पिछले सत्र में बिहार के अधिकाँश सांसदों ने इस मुद्दे पर सारकार का ध्यान खींचा था अब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निर्देश पर मुख्य सचिव नवीन कुमार ने पटना हवाई अड्डे को लेकर उच्चस्तरीय बैठक की है। इसके बाद कैबिनेट सचिव रविकांत को संजय गांधी जैविक उद्यान के पेड़ों की छटाई कराकर नागरिक उड्डयन मंत्रालय को अद्यतन स्थिति से अवगत कराते रहने की जिम्मेदारी सौंपी |
भारतीय विमान प्राधिकरण द्वारा सुरक्षा कारणों से पटना हवाई अड्डे से 16 अगस्त से बड़े विमानों की उड़ान बंद करने की घोषणा के बाद अब केंद्रीय नागरिक उड्डयन एवं विमानन मंत्री अजित सिंह ने भी बिहार सरकार को ऐसी ही चेतावनी दी है।