Ad

Category: Environment

नाला सफाई अभियान शुरू

मेरठ के नव निर्वाचित मेयर हरिकांत अहलुवालिया ने अपना वायदा पूरा करना शुरू कर दिया है \आज पटेल नगर का उफनता हुए नाले की सफाई शुरू कराई
गौर तलब है की शहर के मध्य में स्थित इस नाले की सफाई नहें होने के कारण ज़रा सी बारिश होने पर ही सड़कें तालाब बन जाती है और पानी घरों में घुस जाता है |जनता की भारी मांग के बाद अब यह नाला सफाई शुरू कर दिया गया है इससे छेत्र वासियों को राहत मिलेगी

सत्ता के साथ ही व्यवस्था भी बदलती है

सत्ता परिवर्तन के साथ ही व्यवस्था भी बदलती है यह अक्षरह राजनितिक सत्य है |आज कल पार्कों में तो यही सत्य दिखाई दे रहा है|
मेरठ के गंगानगर में सपा सरकार ने कभी दो पार्क आमने सामने बनवा कर शिलापट लगवाये थे |सपा सरकार चली गई और समय के थपेड़ों से ये पार्क महज़ चार दीवारी बन कर ही रह गए \फिर बसपा आई इस सरकार की प्राथमिकता मूर्तियों की स्थापना था सो एक पार्क का चयन हुआ इसमें खूबसूरत मूर्तियाँ लगवाई गई फव्वारे +झूले और झरना आदि बनवाये गए \लगभग सवा करोड़ की लागत आई बताई गई है|इन मूर्तियों में हाथी या सुश्री मायावती की मूर्ति नहीं है\
शायद इसीलिए झरने और फव्वारे चलते कभी दिखाई नहीं दिए मगर पार्क प्रेमियों की संख्या दिनों दिन बढने लगी योगा की दो दो बैच लग रहे हैं |सुरक्षा कर्मी और बाहर खाद्य पदार्थों वाले लगभग २० लोगों को रोज़गार भी मिल गया|
सरकार फिर बदल गई मायावती के अलावा बाबा भीम राव आंबेडकर की मूर्तियाँ भी तोडी जा रही है जांच बिठाई जा रही है अब जांच की आंच इस पार्क तक ना आजाये संभवत इसीलिए पार्क के फव्वारे तो चला दिए गए हैं मगर वाटर फाल को चलाने के लिए अभी भी किसी ऊपरी निर्देश की प्रतीक्षा है

पेरेंट्स प्राईड प्ले स्कूल में येलो डे

सूरज कुण्ड [मेरठ]स्थित पेरेंट्स प्राईड प्ले स्कूल में आज येलो डे मनाया गया और मेंगो पार्टी का बच्चो ने खूब आनंद लिया प्रिंसिपल बिंदु गुप्ता ने पीले रंग के महत्त्व बताये

बारिश से जगह जगह जल भराव

आज सुबह थोड़ी देर बारिश हुई गर्मी से थोड़ी राहत तो मिली मगर शहर में जगह जगह जल भराव भी हो गया जिससे यातायात प्रभावित हुआ खैरनगर +सोतीगंज+नगर निगम+थापर नगर आदि में जलभराव से नगर निगम की सफाई संबधी दावों की

Thapar Nagar Me Jalbharav

पोल भी खुल गई

मेयर ने किया नालों का निरीक्षण

मेरठ के नए मेयर हरिकांत अहलुवालिया ने आज से शहर के नालों का निरीक्षण प्रारम्भ किया सबसे पहले मोहन पूरी के नाले की दुर्दशा देख कर चिंता और रोष व्यक्त किया तथा लबालब भरे इस नाले की सफाई करवाने का आश्वासन दिया |इसके पश्चात ऐसे ही हालत थापर नगर और ओडियन नाले की भी मिली |मेयर ने तत्काल सभी नालों की सफाई के आदेश दे दिए हैं|
मेयर ने बताया है की दो दिन निगम कार्यालय और तीन दिन सूरजकुंड पर बैठ कर समस्यायों का निदान किया जाएगा

बिजली की सुनामी समस्या के लिए लोड का रिअसेस्मेंट जरुरी

बिजली आती ही कब है और जब कभी भी आती है तो वोल्टेज कहाँ आती है | इस बिजली की बन्दर बाँट से इनवर्टर +फ्रिज तो फूंक ही रहे हैं एयर कंडिशनर भी शो पीस बने हैं लिहाजा साहब इस भीषण गर्मी में तन तो जल ही रहा है इसपर बिजली का बिल दोगुना आया रहा है इसे देख कर दिल भी जल रहा है|यह जुमला आज कल मेरठ में तो आम हो चला है \
उमस भरी इस गर्मी में रेगुलर रोस्टिंग फिर उपरी आदेश से रोस्टिंग उसके बाद फाल्ट से रोस्टिंग |कहीं बिजली कार टूट कर गिर रहा है तो कहीं ट्रान्सफार्मर फुकने का बहाना सुनाई दे रहा है|पहले शिव भक्त कावंरियऔर अब रोजेदार यानि सभी एक सामान बिजली का रोना रो रहे हैं|व्यवस्थापक लो वोल्टेज के लिए ओवर लोड की शिकायत कर रहे हैं\
एक मार्केट सर्वे के अनुसार जुलाई माह तक २००० नए एयर कंडीशनर्स बिके हैं |इनके लिए लोड कहीं नहीं बढाया गया है |बिलों में जरूर अतिरक्त चार्ज लग कर आने लगता है मगर उस इलाके के सेंक्शन लोड को किसी भी छेत्र में बढाया नहीं गया है|ट्रांसफार्मर्स जो पुराने सेंक्शन थे उन्ही से गुजारा किया जा रहा है ये और बात है की ये बार बार फ्हुंक रहे हैं और इनकी मरम्मत हो रही है|

मेरठ में बादलों की आँख मिचौली

मेरठ में आज भी बादलों की आंख मिचौली जारी है
आसमान में दिखाई दे रहे हैं मगर ना तो बरस रहे हैं और ना गरज ही रहे हैं |मानसून के आगमन की सूचना दी जाने लगी है मगर मानसून तो तभी माना जाएगा जब बरसेगा

जीवन दाई जल बचाओ अपने वंश बचाओ

एन ऐ एस में आयोजित किये जा रहे भूजल सप्ताह का आज समापन हो गया
आने वाली पीड़ी के लिए भूजल बचाने का संकल्प लिया गया
आज सुबह शुरूआत प्रेमी जी के जल पर आधारित भजनो से हुई उसके बाद बच्चो की चित्रकला,स्लोगन,निबन्ध और भाषण प्रतियोगिता का आयोजन किया गया।जिसमें निबन्ध में सेठ बी.के.माहेश्वरी की अंजली रस्तौगी प्रथम, एस.एस.डी.गल्र्स इ.का.बुढ़ानागेट की चारू द्वितीय, जगदीश शरण राजवंशी कन्या इ.का.की शिवानी चैहान को तृतीय स्थान मिला।
चित्रकला प्रतियोगिता में प्रगति विज्ञान संस्था की नेहा को प्रथम, सेठ बी.के.माहेश्वरी की परविन्दर को द्वितीय स्थान मिला जबकि सेठ बी.के.माहेश्वरी की ही जेबा को तृतीय स्थान मिला।
स्लोगन में सेठ बी.के.माहेश्वरी की राशी को प्रथम और के.के.इन्टर कालिज के रोहित और गौरव को क्रमशः द्वितीय और तृतीय स्थान मिला।
भूजल पर भाषण प्रतियोगता में सेठ ईशा को द्वितीय और प्रगति विज्ञान संस्था की नेहा को तृतीय स्थान मिला।
निर्णयक मण्डल में डा0सुषमा शर्मा, डा0 ए0के0शुक्ला और व्यास मूनि मिश्रा रहे।
इससे पूर्व डा0ए0के0शुक्ला और डा0 आर.एस.यादव ने अपने भूजल को बचाने के तरीके और उसकी गंभीरता पर प्रकाश डाला और बेसिक शिक्षा से श्रीमती माला व गीता सचदेवा ने कठपुतली और गीत से सभी को प्रभावित किया।
कार्यक्रम की अध्यक्षता डा0अनील कुमार शर्मा जिला विकास अधिकारी मेरठ और संचालन जिला ग
न्ना विकास अधिकारी डा0आर0 बी0राम ने किया सभी का आभार समन्वयक दीपक शर्मा ने किया।
इस अवसर पर सह जिला विद्यालय निरिक्षक सी.पी.सिंह,प्रधानाचार्य अशोक कुमार शर्मा,तकनीकी अधिकारी राजबीर यादव,मौ0 मतीन अंसारी,राजकुमार शर्मा,पी.के.मिश्रा प्रधानाचार्य राजकीय इन्टर कालिज,हस्तीनापुर,चरण सिंह आादि भी उपस्थित रहे।

श्रद्धा भाव से आज पूजा गुग्गा

आज श्रद्धा भाव से गुग्गा पूजन किया गया और अपने पूर्वजों की आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की गई|
अविभाजित पंजाब में आज के दिन गावों के बाहर पीपल आदि के पेड़ों पर मीठे जवे[सेवैय्याँ]दूध,फल आदि चड़ा कर
दीपक जलाया जाता था और पूर्वजों की आत्मा की शांति की कामना की जातीथी |इस परम्परा को पर्यावरण संरक्षण
से भी जोड़ा जाता रहा है|
अब चूँकि शहर बसते जा रहे हैं इसीलिए मंदिर में ही पीपल की पूजा की जारही है|
एक और मान्यता के अनुसार गावों के रेंगने वाले जीवों को गावों के बाहर ही रखे जाने के लिए यह प्रथा चलाई गई थी
आज विभाजन के पश्चात भी यह प्रथा को जीवित रखा जा रहा है और इस सांस्कृतिक धार्मिक धरोहर को अगली पीडी
को सौंपा जा रहा है

दुकाने नहीं हैं मगर मीट लायसेंस दे दिए गए

बिना किसी दूकान या बिक्री संस्थान के ही मीट लायसेंस देने की अब पुष्ठी होने लग गई है|सेनेटरी इन्स्पेक्टर की जांच में १५० दुकानों का कोई अस्तित्व नहीं मिला| मीट लायसेंस घोटाले की जाँच में नगर स्वास्थ्य अधिकारी डाक्टर राजबीर सिंह के अधिकार पहले ही सीज किये जा चुके हैं|
गौरतलब हे की मीट व्यापारिओं को लायसेंस दिलवा कर मंत्री पद हासिल करने के विषय में पहले भी लिखा जा चूका है|