Ad

Category: Politics

Capt Kicks Drug Menace Into Centre’s Court

[Chd,Pb]Capt Kicks Drug Menace Into Centre’s Court
In a letter to Prime Minister Narendra Modi on Sunday, Capt Amarinder Singh urged him to advise ministries of Home, Social Justice and Empowerment, and Health and Family Welfare to address the issue.
The chief minister sought Modi’s personal intervention for the formulation of a national policy focusing on three components — enforcement, de-addiction and prevention — to tackle the menace of drug abuse in the country.Singh said a national policy would enable all states to follow a similar, if not the same, approach on drug abuse, which, he said, “has substantially hampered the health of the people, particularly the youth”.
The chief minister expressed his state’s willingness to associate with the officers concerned of the Centre not only to evolve the policy but also to put in place an effective mechanism for its implementation.
In his letter to Modi, Singh also touched upon several steps which the Congress government in Punjab has taken during the past two years to check the drug menace and to expand its outreach at the grassroots to make towns and villages “drug-free”.
He also sought financial support from the Centre to increase the number of Outpatient Opioid Assisted Treatment (OOAT) clinics in Punjab, which he said, are currently being run on “meagre state resources”.

कटारिया का इस्तीफा पहुंचा नहीं और गेहलोत ने अस्वीकार भी कर दिया :राजस्थान

[जयपुर]कटारिया का इस्तीफा पहुंचा नहीं और गेहलोत ने अस्वीकार भी कर दिया :राजस्थान
राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने कृषि मंत्री लाल चंद कटारिया का इस्तीफा नामंजूर कर दिया है।
कटारिया शुक्रवार को यहां मुख्यमंत्री गहलोत से उनके सरकारी निवास पर मिले थे और लोकसभा चुनाव में पार्टी की करारी हार के मद्देनजर इस्तीफा देने की बात दोहराई थी|
सूत्रों के अनुसार मुख्यमंत्री कार्यालय व राजभवन ने इस तरह का इस्तीफे का पत्र मिलने से इनकार किया। वहीं मंत्री कटारिया उसके बाद एक तरह से अज्ञातवास में चले गए और शुक्रवार को मुख्यमंत्री से मिले
फाइल फोटो : राजस्थान के मुख्य मंत्री अशोक गेहलोत

Sonia Gandhi Will Lead Congress In Parliament:CPP

[New Delhi]Sonia Gandhi Will Lead Congress In Parliament
Smt Sonia Gandhi was once again elected leader of the Congress Parliamentary Party (CPP) at a meeting of party MPs at the Central Hall of Parliament on Saturday.
The meeting was attended by the party’s 52 newly elected Lok Sabha MPs and Rajya Sabha members.
Gandhi, who represents Uttar Pradesh’s Rae Bareli in Lok Sabha, is the chairperson of the Congress-led United Progressive Alliance (UPA).

Post your comments

Cine Stars “With High Josh” Land in Capital for Modi’s Swearing-in

[New Delhi] Cine Stars “With High Josh” Land in Capital for Modi’s Swearing-in
The A-listers of Indian film industry such as
Karan Johar,
Rajinikanth,
Boney Kapoor ,Sidharth Roy Kapur,Shahid Kapoor ,Kangana Ranaut are expected to attend Prime Minister Narendra Modi’s swearing-in ceremony on Thursday.
, Last year, the prime minister twice met a Bollywood delegation to discuss ways the entertainment industry can contribute towards nation building.

Congress Also Banned Spokespersons For TV Debates

[New Delhi]Congress Also Banned Spokespersons For TV Debates .Akhilesh Yadav has earlier taken the similar step just after Political Debacle in Lok Sabha Elections
The Congress has decided not to send spokespersons for television debates for a month.
The move comes after the party’s debacle in the recently concluded Lok Sabha polls.
The Congress has often accused the media of being “biased” towards the Modi dispensation.
“@INCIndia has decided to not send spokespersons on television debates for a month,” Congress chief spokesperson Randeep Surjewala tweeted.
“All media channels/editors are requested to not place Congress representatives on their shows,” he said.
The Congress is currently facing a crisis with party president Rahul Gandhi adamant on his decision to quit after the poll debacle — winning just 52 Lok Sabha seats — and its state governments facing an uncertain future.

२४८ पंजाबियों की जमानत जब्त :अधिकाँश दलबदलू

[चंडीगढ़,पंजाब] २४८ पंजाबियों की जमानत जब्त :अधिकाँश दलबदलू |टकसाली अकालियों का देविंदर भी नहीं चला|
लोकसभा चुनावों में पंजाब में दो मौजूदा सांसदों एवं तीन विधायकों समेत 248 प्रत्याशी अपनी जमानत बचाने में असफल रहे
ये विधायक आम आदमी पार्टी से या ऐसे उम्मीदवार थे जिन्होंने पार्टी छोड़कर पंजाब डेमोक्रेटिक अलायंस (पीडीए) के परचम तले चुनाव लड़ा था। पीडीए कई पार्टियों का समूह है।
आप के 12 उम्मीदवार जमानत बचाये रखने के लिये जरूरी मत प्रतिशत का छठा हिस्सा पाने में नाकाम रहे।
पार्टी का मत प्रतिशत 2014 के आम चुनाव में राज्य में जहां करीब 24 प्रतिशत था वहीं इस बार के आम चुनाव में यह घटकर सिर्फ 7.38 मत प्रतिशत ही रह गया।
संगरूर से सांसद भगवंत मान ही एकमात्र आप उम्मीदवार रहे जो लोकसभा के लिये दोबारा चुने गये हैं। 2014 के चुनाव में पार्टी ने चार सीटें जीती थीं।
नवां पंजाब पार्टी के पटियाला से उम्मीदवार धरमवीर गांधी को करीब 1.61 लाख वोट मिले।
2014 में आप की टिकट पर वह सांसद चुने गये थे।
आप के फरीदकोट से मौजूदा सांसद संधू सिंह की भी जमानत जब्त हुई है। वह कांग्रेस के मोहम्मद सादिक से मुकाबला हार गये।
तलवंडी साबो से आप विधायक रहीं और बठिंडा से लोकसभा उम्मीदवार बलजिंदर कौर की भी जमानत जब्त हुई है।
पंजाब एकता पार्टी (पीईपी) के संस्थापक एवं भोलाथ से विधायक सुखपाल सिंह खैरा ने आप से अलग होकर बठिंडा से पीडीए के बैनर तले चुनाव लड़ा था, लेकिन उनकी भी जमानत जब्त हो गयी।
इसी तरह से पीईपी उम्मीदवार एवं जैतू से विधायक बालदेव सिंह ने आप से अलग होकर पीईपी उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लड़ा, लेकिन वह भी अपनी जमानत गंवा बैठे।
होशियारपुर और आनंदपुर साहिब से बसपा उम्मीदवार भी अपना जमानत गंवा बैठे। ऐसा ही कुछ हाल अमृतसर एवं फिरोजपुर से भाकपा उम्मीदवारों का रहा। आनंदुपर साहिब से माकपा उम्मीदवार तथा बठिंडा एवं फतेहगढ़ साहिब से लोक इंसाफ पार्टी के प्रत्याशी का भी कुछ ऐसा ही हाल रहा।
शिरोमणि अकाली दल से टूटकर बने शिअद (टकसाली) के एकमात्र प्रत्याशी बीर देविंदर सिंह की भी आनंदपुर साहिब में जमानत जब्त हो गयी।
शिरोमणि अकाली दल (मान) के प्रमुख सिमरनजीत सिंह मान को भी संगरूर में ऐसा ही कुछ सामना करना पड़ा।
अमृतसर से 28 उम्मीदवारों की जमानत जब्त हुई है।
लोकसभा चुनाव लड़ने वाले 10 मौजूदा सांसदों में से पांच दोबारा चुनकर आये हैं, जिनमें
हरसिमरत कौर बादल (बठिंडा),
संतोख चौधरी (जालंधर),
भगवंत मान (संगरूर),
गुरजीत औजला (अमृतसर) ओर
रवनीत सिंह बिट्टू (लुधियाना) के नाम शामिल हैं।

अखिलेश ने हार का ठीकरा पार्टी के टीवी प्रवक्ताओं पर फोड़ा

[लखनऊ,यूपी]अखिलेश ने हार का ठीकरा पार्टी के टीवी प्रवक्ताओं पर फोड़ा
सपा ने तत्काल प्रभाव से सभी टीवी पैनलिस्ट को हटा दिया है|| १७ वी लोक सभा के लिए हुए चुनावों में मुलायम परिवार से अखिलेश औरस्वयं मुलायम सिंह यादव ही जीत दर्ज करा पाए हैं |
पार्टी के मुख्य प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी के अनुसार टीवी चैनलों से कहा गया है कि समाजवादी पार्टी के किसी भी प्रवक्ता को चैनलों पर बहस के लिये आमंत्रित नहीं किया जाए ।
फोटो राजेंदर चौधरी

Rattled Akhilesh Erazes Panel Of Spokespersons For TV Channels

[Lucknow,,UP]Akhilesh Erazes Panel Of Spokespersons For TV Channels
Samajvadi Party president Akhilesh Yadav Friday sacked its panel of leaders who act as its spokespersons on television channels.
As per SP’s chief spokesperson Rajendra Chowdhury Channels Are Asked Not To Invite any Spokesperson Of SP for debates. The order follows the poor performance of the SP in the Lok Sabha elections

Over 1.5 Lakh[1.12% Of Votes] Punjabis Pressed “NOTA”

[Chd,Pb]Over 1.5 Lakh Punjabis Pressed “NOTA”
1,54,423 voters (1.12 per cent of total votes polled) pressed the NOTA option,
Among 13 Lok Sabha seats, it was Faridkot constituency where maximum number of voters rejected the candidates. A total of 19,246 voters in Faridkot went for NOTA, as per EC data available.
In Anandpur Sahib, 17,135 voters opted for NOTA option, while in Ferozepur the figure was 14,891.
On almost all the constituencies in Punjab, NOTA occupied the fifth spot, as per data available.
A total of 13,323 voters opted for NOTA in Bathinda,
followed by 13,045 in Fatehgarh Sahib,
12,868 in Hoshiarpur,
12,324 in Jalandhar,
11,110 in Patiala,
10,538 in Ludhiana,
9,560 in Gurdaspur,
8,763 in Amritsar,
6,490 in Sangrur and
5,130 in Khadoor Sahib.
Interestingly, the percentage of NOTA votes was more than the vote percentage of some political parties like CPI and CPM in the state, the EC said.

पंजाब में ‘मोदी लहर’ नहीं फिर भी भाजपा ने तीन में से दो सीटें कब्जाई

[चंडीगढ़,पंजाब]पंजाब में ‘मोदी लहर’ नहीं थी फिर भी भाजपा ने तीन में से दो सीटें कब्जाई |सहयोगी शिरोमणि अकाली दल के हिस्से की १० सीटों में से केवल दो ही झोली में आई| २०१४ के मुकाबिले अकालियों को दो सीटों का घाटा हुआ है|
लेकिन सी एम कैप्टेन अमरिंदर सिंह ने अपनी कांग्रेस को कुल 13 लोकसभा सीटों में से आठ पर जीत दर्ज कराई है लेकिन पंजाब प्रदेश अध्यक्ष सुनील जाखड़ गुरदासपुर में अपनी सीट नहीं बचा पाए |
साल 2014 के लोकसभा चुनावों में कांग्रेस को पंजाब में महज तीन सीटें मिली थीं।
आम आदमी पार्टी को सिर्फ एक सीट मिली है।
पंजाब से शिरोमणि अकाली दल के प्रमुख सुखबीर सिंह बादल,उनकी पत्नी श्रीमती हरसिमरत कौर बादल, बॉलीवुड अभिनेता सनी देओल, पूर्व केंद्रीय मंत्री मनीष तिवारी एवं परणीत कौर और रवनीत सिंह बिट्टू उन प्रमुख चेहरों में हैं जिन्हें जीत मिली है।
केंद्रीय मंत्री एवं भाजपा उम्मीदवार हरदीप सिंह पुरी, पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष सुनील जाखड़ और अकाली दल के उम्मीदवार प्रेम सिंह चंदूमाजरा हारने वाले प्रमुख चेहरे हैं।
भाजपा ने होशियारपुर और गुरदासपुर सीटें जीती, लेकिन एक बार फिर अमृतसर सीट नहीं जीत सकी।
पंजाब में ‘आप’ को पिछले आम चुनावों में चार सीटें मिली थीं, लेकिन इस बार उसे सिर्फ एक सीट मिल सकी है। संगरूर सीट पर ‘आप’ उम्मीदवार भगवंत मान जीते हैं।