Ad

Category: Politics

विलासराव पञ्च तत्व में विलीन

मराठा छत्रप क्राउड पुलर नेता विलासराव देश मुख के नश्वर शरीर को आज विधिवत पञ्च तत्व में विलीन कर दिया गया |महार्श्त्रा में उनके पैत्रक गावं लातूर में उनके बड़े बेटे और लातूर के एम् एल ऐ अमित देश मुख ने मुखाग्नि देकर पितृऋण से मुख्ति पाई|
इस दिवंगत नेताकी शव यात्रा में लाखो की संख्या में लोग पहुंचे जिस कारन पोलिस को व्यवस्था बनाने के लिए लाठियां भी फटकारनी पड़ी|
यूं पी ऐ अध्यक्षा श्रीमति सोनिया गांधी+प्रधान मंत्री डाक्टर मन मोहन सिंह +अजित पवार आदि बड़ी संख्या में राजनीति और फिल्म जगत से लोगों ने वहां आकर श्रधांजलि अर्पित की |विलास राव के छोटे पुत्र रितिश फिल्मो से जुड़े हैं|

फरार चल रहे गोपाल कांडा के अब नेपाल भाग जाने की अटकलें

भारत के लोकतांत्रिक ढाँचे में एक राज्य के गृह राज्य मंत्री और एक एयर लाईन्स के मालिक न्यायिक प्रक्रिया से भाग गए हैं|अब मीडिया में उनके विदेश भाग जाने की अटकलें लगाई जा रही है|
एयर होस्टेस गीतिका शर्मा के सुसाईड नोट में हरियाणा के गृह राज्य मंत्री गोपाल कांडा को भी जिम्मेदार ठहराया गया था|तभी से गोपाल कांडा फरार चल रहे हैं| यहाँ तक की लुक आउट भी ईशू किया गया है| हरियाणा के चीफ मिनिस्टर भूपेंद्र सिंह ने गोपाल का इस्तीफा स्वीकार करके इतिश्री कर ली है|सिविल एविएशन ने [एम् डी एल आर के विषय में जांच की ]तो अभी तक इस दिशा में कोई फाईल ही नहीं खोली है|अग्रिम जमानत के लिए दी गई अर्जी निचली अदालत में खारिज हो चुकी है| ह्हाई कोर्ट में निर्णय सुरक्षित रखा गया है| गोपाल कांडा के वकील यह दलील देते फिर रहे थे कि उनके मुवक्किल फरार नहें है अगर दिल्ली पोलिस उन्हें गिरफ्तार नहीं करे तो वह सरेंडर करने को तैयार हैं|हाई प्रोफाईल केस होने से पहले तो गिरफ्तारी से बचते रहे हैं |अब चहुँतरफा दबाब के कारण दिल्ली पोलिस ने हाथ पावँ मारने शुरू किये तो बताया जा रहा है कि गोपाल कांडा देश छोड़ कर नेपाल या दुबई भाग गए हैं|
२३ वर्षीय गीतिका का शव उनके निवास अशोक विहार में पंखे से लटका मिला था |सुसाईड नोट में एम् डी एल आर की अधिकारी अरुणा चड्डा और मालिक गोपाल कांडा द्वारा गीतिका को आत्म हत्या के लिए मजबूर करने का दोषी ठहराया गया था|

बिना बुलाये पत्रकार आये तो बंद करा दिए जायेंगे =शिव पाल यादव

प्रदेश के पी डब्लू डी मंत्री शिव पाल यादव आज कल मीडिया से बौखलाए से फिर रहे हैं तभी उन्होंने पार्टी के गढ़ समझे जाने वाले सैफई में पत्रकारों को बंद करा देने की धमकी तक दे डाली
श्री यादव सैफई में जन समस्यायों को सुन रहे थे तभी आदतन पत्रकारों का जमावड़ा वहां होने लगा |इलेक्ट्रोनिक्स मीडिया वाले बाईट्स के लिए दबाब बनाने लगे |एक आध माईक मंत्री जी के मुह के कुछ करीब आ गयाइस पर भड़क कर श्री यादव ने सूचना अधिकारी को आवाज़ दी जोकि अनसुनी हो गई इस पर भड़क कर उन्होंने पत्रकारों से कहा कि बिना बुलाये अगर दोबारा आ गए तो बंद करा दूंगा |गौरतलब है कि मंत्री जी मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के अंकल हैं और पार्टी सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव के छोटे भाई भी हैं|
दरअसल पिछले दिनों अपने विवादस्पद बयानों को लेकर शिव पाल यादव मिडिया के निशाने पर रहे हैं अब चूंकि दूध का जला छाज भी फूंक फूंक कर पीता है सो सैफई में सेफ रहने के लिए श्री यादव ने मिडिया को अनसेफ करने कि धमकी दे डाली

विधायकी से क़ानून बनाने का काम कोई नहीं छीन सकता =महामहिम

राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने आज लोकतांत्रिक संस्थाओं पर हमला करने वालो को चेतावनी देते हुए कहा कि लोक तांत्रिक संस्थाओं पर प्रहार जारी रहे तो देश में अव्यवस्था अराजकता फ़ैल सकती है\
देश के ६६ वें स्वतंत्रता दिवस कि पूर्व संध्या पर राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि देश में भ्रष्टाचार कि महामारी के खिलाफ जनाक्रोश जायज है|यह महामारी हमारे देश को खोखला कर रही है|कभी कभार जनता अपना होश भी खो देती है मगर उसे लोकतांत्रिक संस्थाओं पर प्रहार करने का बहाना नहीं बनाना चाहिए|
महामहिम ने कहा कि ये संस्थाएं संविधान के महत्वपूर्ण स्तम्भ हैं|और इनके बिना आदर्शवाद नहीं रह सकता|हो सकता है कि ये संस्थाएं कुछ सुस्त हों मगर इस सुस्ती को बी संस्थाओं को ध्वस्त करने का बहाना नहीं बनाया जा सकता| सिधांत और जनता के बीच ये संस्थाएं मिलाने वाले बिंदु का काम करती हैं उन्होंने संसद कि सर्वोच्चता को व्यक्त करते हुए कहा कि विधायकी का काम कानून बनाना है जिसे कोई नहीं छीन सकता \संस्थान को ध्वस्त करने के बजाये अच्छे परिणामों के लिए दोबारा से तैयार किया जा सकता है |ये संस्थाएं ही हमारी आज़ादी की अभिभावक हैं|
अपने सन्देश में यद्यपि महामहिम ने अन्ना टीम या बाबा राम द्रव के अनशनों का नाम नहीं लिया मगर लोक तांत्रिक संस्था संसद पर प्रहार करने के लिए अप्रत्यक्ष रूप से उन्हें चेतावनी भी दे डाली|सत्ता पक्ष द्वारा बेशक ये कहा जा रहा है कि अन्ना और बाबा को कोई तव्वजोह नहीं दी गई मगर राष्ट्रपति का राष्ट्र के नाम यह सन्देश ज्यादा तर उन्ही आंदोलनों को एड्रेस करता दिखाई दिया है

संसद के अन्दर और संसद के बाहर गूंजा काला धन वापिस लाओ

संसद के बाहर बाबा राम देव ने काले धन और संसद में एन डी ऐ ने काले धन के साथ साथ मुम्बई में हुए दंगे और पाकिस्तान में हिन्दुओं पर हो रहे आत्याचारों पर सरकार को घेरे रखा
बाबा को आज आंबेडकर जेल मिली तो लोक सभा भी आज के लिए स्थगित कर दी गई राज्य सभा की कार्यवाही भी बाधित रही|
हाउस के सप्ताह के पहले दिन बी जे पी के हरिन पाठक ने काले धन के मुद्दे को उठाने की आज्ञा माँगी लेकिन स्पीकर मीरा कुमार ने इस मुद्दे के लिए जीरो आवर में राज नाथ सिंह और गुरुदास गुप्ता को समय दिए जाने की बात कही|
असंतुष्ट बी जे पी और शिव सेना के सदस्यों ने काला धान वापिस लाओ और पाकिस्तान में हिन्दुओं पर आत्याचार बंद हो के नारे लगते हुए वेळ को भर दिया|
जीरो आवर में शिव सैनिक अनंत गीते ने मुम्बई में रेली के लिए इज़ाज़त दिए जाने और दंगे के विषय में पोलिस फेल्यौर पर सवाल उठाये|
भगवा ब्रिगेड से कांग्रेस में आये संजय निरुपम ने अपनी आदत के अनुसार महाराष्ट्र सरकार के बचाव का प्रयास कियातब समूचा विपक्ष भड़क गया|

नान इन्डियन तुलसी गैबार्ड अमेरिकी हाउस में पहली हिन्दू सदस्य होंगी

नान इन्डियन तुलसी गैबार्ड[३१] को डेमोक्रेट्स ने अमेरिका की हाउस आफ रिप्रजेंटेटिव में पहली हिन्दू सदस्य के रूप में लाने की तैयारी करली है|
तुलसी वर्तमान में होनोलूलू की निगम में पार्षद है | इनके लिए डेमोक्रेट मैज हिरोनी ने अपनी सीट छोड़ दी है|तुलसी की माता श्वेत हैं मगर हिन्दू धर्म को मानती है और तुलसी स्वयम भी हिन्दू धर्म को मानती हैं और शाकाहारी है

योग गुरु बाबा रामदेव को हिरासत में ले लिया गया है|

योग गुरु बाबा रामदेव को हिरासत में ले लिया गया है|
बाबा ने आज पूर्व घोषणा के अनुसार एक बजे रामलीला मैदान से संसद की तरफ कूच किया उनके साथ हज़ारों समर्थक भी थे | इस अनुशासित+ मर्यादित रोड शो से रामलीला मैदान से रंजित सिंह फ्लाई ओवर तक का समूचा मार्ग एनेकों लाईनों वाली मानव श्रंखला में बदल गया | रंजित सिंह फलाई ओवर पर बाबा के काफिले को रोक दिया गयाऔर वहां बाबा को हिरासत में ले लिया गया |
इससे पूर्व मंच पर नितिन गडकरी के मंच पर आने पर कांग्रेस ने मौका उठाया और इस पूरे आन्दोलन को कांग्रेस के विरुद्ध प्रयास बताया |
आज पूर्व घोषित इस आन्दोलन वाले दिन यूं पी ऐ अध्यक्षा श्रीमति सोनिया और गृह मंत्री दिल्ली से बाहर हैं|इसके अलावा कांग्रेस के जनार्दन दिवेदी ने पर्स कांफ्रेंस करके बाबा को मुखौटा बता कर बात को भड़काने का पूरा प्रयास किया|
इसके अलावा संसद में भी काले धन का मुद्दा हावी रहा |राज्यसभा को स्थगित भी किया गया

राज्यसभा में हामिद अंसारी को सहयोग का आश्वासन

राज्यसभा में उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी का हाउस में स्वागत किया गया और सत्ता तथा विपक्ष द्वारा हाउस को सुचारू रूप से चलाने में सकारात्मक सहयोग का आश्वासन दिया गया|
यूं पी ऐ के प्रधान मंत्री डाक्टर मन मोहन सिंह ने अपने दल के विजेता श्री हामिद का स्वागत किया और विपक्ष के नेता अरुण जेटली ने अपने उम्मीदवार को हराने वाले श्री अंसारी का स्वागत किया |शायद यही इस गणतंत्र की खूबसूरती है|
श्री जेटली ने अपनी वाक्पटुता का परिचय देते हुए श्री अंसारी से आर्ट और साईंस दोनों को प्रयोग करके हाउस में सभी सदस्यों को एकोम्मोडेत किये जाने पर बल दिया

लोकसभा और राज्य विधानसभाओं के चुनाव एक साथ हों =अडवाणी

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) और एन दी ऐ के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी ने अपने ब्लॉग लिखा है की देश में पूरे साल चुनाव होते रहने से निर्णय करने की प्रक्रिया पर असर पड़ता है। इसीलिए उन्होंने लोकसभा और राज्य विधानसभाओं के चुनाव एक साथ कराये जाने केलिए नवनिर्वाचित राष्ट्रपति से अनुरोध किया है
उन्होंने लिखा है कि लोकसभा या राज्य विधानसभाओं को उनका कार्यकाल पूरा होने से पहले भंग नहीं किया जाना चाहिए। उन्होंने लिखा है कि लोकसभा और विधानसभाओं का कार्यकाल तय होना चाहिए और दोनों के चुनाव हर पांच साल बाद ही कराये जाने चाहिए।
विपक्षी नेता ने यह ही दावा किया है की तत्कालीन वितमंत्री प्रणव मुख़र्जी और प्रधान मंत्री का भी रुख उनके इस सुझाव के प्रति सकारात्मक है।
बीजेपी नेता ने कहा है कि 1967 तक आम चुनावों का विधानसभा चुनावों के साथ तालमेल था। किंतु 1971 के शुरु में तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने लोकसभा को उसकी निर्धारित अवधि से पहले ही भंग कर दिया और पांचवें आम चुनाव कराए। उस समय पहली बार लोकसभा और विधानसभाओं के चुनाव का नाता टूट गया।
उन्होंने बताया कि विभिन्न राज्य विधानसभाओं के चुनावों के बीच भी तालमेल टूट गया क्योंकि यदि यह पाया जाता है कि राज्य सरकार का संचालन संविधान के अनुरुप नहीं हो रहा है तो किसी भी राज्य विधानसभा को किसी भी समय भंग किया जा सकता है।
उदाहरण देते हुए आडवाणी ने लिखा है कि केन्द्र में यूपीए-दो के शासनकाल में 2010 से अब तक कम से कम 12 राज्यों में चुनाव हुए हैं। यह क्रम खत्म नहीं हुआ है हिमाचल प्रदेश और गुजरात राज्य विधानसभाओं के चुनाव इस वर्ष दिसम्बर तक संभावित हैं। उन्होंने कहा कि इससे देश में चुनाव प्रक्रिया का ही क्रम बना रहता है जो संचालन और राजनीति दोनों के लिए अच्छा नहीं है|
अमेरिका का उदहारणदेते श्री आडवाणी ने कहा कि वहां कार्यपालिका मनमाने तरीके से चुनाव की तिथि तय नहीं करते। भारत में भी इसी परिपाटी पर अमल किया जाना चाहिए। अमेरिका में हर चौथे साल राष्ट्रपति का चुनाव और हमेशा नवम्बर में होता है।
ब्रिटेन संसद ने भी वर्ष 2011 में एक कानून बनाया जिसके तहत संसद का कार्यकाल निर्धारित किया गया। बीजेपी नेता ने चुनाव में धन बल के इस्तेमाल को रोकने के लिए चुनाव सुधारों की भी जरुरत पर बल दिया है। उन्होंने कहा है कि चुनावों में धनबल देश में भ्रष्टाचार की जड़ है। उन्होंने राष्ट्रपति से चुनाव सुधारों की दिशा में आवश्यक कदम उठाने का आग्रह किया है।

आटे में नमक ठीक नमक में आटा गलत = शिवपालयादव

थोड़ी चोरी को जायज ठहराने वाले ब्यान से पलट जाने के बावजूद पी डब्लू डी मंत्री शिवपाल यादव का पीछा पूरी तरह से अभी तक छूटा नहीं है की उन्होंने एक नया शोशा छोड़ दिया है इससे उनके अपने भतीजे अखिलेश यादव की सरकार के लिए बार फिर शर्मसार होना पड़ सकता है|
शनिवार को इलाहाबाद में कुंभ मेले की तैयारियों का जायजा लेने पहुंचे शिवपाल यादव की जुबान फिर फिसल गई। उन्‍होंने कहा, ‘निर्देश दे दिए हैं…पूरी तरह से… और समय से… और क्वालिटी में कोई समझौता नहीं। कहीं पर भी किसी तरीके का समझौता नहींद…कमीशनखोरी, क्‍वॉलिटी में कहीं पर कोई कमी नहीं आएगी। चाहे सिंचाई विभाग का काम हो, या फिर नलकूपों का काम हो।’
अभी दो दिन पहले ही शिवापल सिंह यादव ने बंद कमरे की एक बैठक में अधिकारियों को चोरी करने की सलाह दे डाली थी। शिवपाल सिंह यादव ने कहा था कि मेहनत से काम करने वाले अधिकारी चोरी कर सकते हैं लेकिन डकैती न डाले। हालांकि बाद में शिवपाल सिंह यादव ने अपने इस बयान के लिए मीडिया को जिम्मेदार ठहराया था।लगता है की मंत्री का इशारा उस कहावत की तरफ था कि आटे में नमक खाते रहो नमक में आटा मत मिलाओ