Ad

Category: Social Cause

वैष्णो देवी के भवन तक खच्चर पर जाने के लिए हेलमेट जरुरी

[जम्मू]वैष्णो देवी के भवन तक खच्चर पर जाने के लिए हेलमेट जरुरी\ माँ वैष्णो देवी के त्रिकुटा की पहाड़ियों पर स्थित पवित्र भवन तक जाने के लिए अनेको भक्त खच्चरों की सवारी करते हैं लेकिन दुर्भाग्यवश अनुभवहीनता और खच्चरों के स्वामियों द्वारा जल्द यात्रा पूरी करने की होड़ के अलावा पत्थरों के गिरते रहने से पर्वतीय मार्ग में अनेको घातक दुर्घटनाएं होती हैं | इसी सब से भक्तों की रक्षार्थ अब खच्चर+घोड़ा सवारों के लिए हेलमेट+घुटना गार्ड+कोहनी गार्ड आवश्यक किया गया है|माता श्री वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड के सीईओ के अनुसार वर्ष २०१८ में ८६ लाख भक्तों ने माता के दर्शन किये थे|

Maratha Students Granted SEBC Quota So Withdrew 2 Week Old Stir

[Mumbai]Maratha Students Granted SEBC Quota So Stir Withdrawn
Several post-graduate medical students withdrew their protest on Tuesday after the Maharashtra governor signed an ordinance to provide quota to the Maratha community members under the Socially and Economically Backward Class (SEBC) category.
Around 250 students were sitting on a protest at the Azad Maidan here for the last two weeks, after the Bombay High Court earlier this month ruled that the 16 per cent quota offered to Marathas will not be applicable on admissions to post-graduate (PG) medical courses this year.
Later, when the Supreme Court also upheld the HC ruling, leading to cancellation of admissions granted to 253 students, the state government took the ordinance route.
On November 30, 2018, the Maharashtra legislature passed a bill proposing 16 per cent reservation for Marathas in government jobs and education under the SEBC category.

हिन्दू आतंकवाद का नारा बुलंद करने से ही कमल हासन भी कांग्रेस के दयापात्र बन गए

,झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

कांग्रेसी चीयर लीडर

औए झल्लेया! ये क्या हो रहा है???ये आर आर एस वाले अब कमल हासन की नई नवेली पार्टी मक्कल निधि मैयम की सभा में ही अंडे पत्थर बरसाने लग गए |सुपर स्टार हासन अपना भाषण समाप्त करके मंच से नीचे उतर ही रहे थे के पत्थर अण्डों से शर्मनाक हमला हो गया| प्रधान मंत्री मोदी को अब इस्तीफ़ा दे देना चाहिए

झल्ला

हिन्दू आतंकवाद का नारा बुलंद करने से ही कमल हासन भी कांग्रेस के दयापात्र बन गए
हिन्दू आतंकवाद का नारा बुलंद करने मात्र से ही अब कमल हासन भी आपजीकी कांग्रेस पार्टी वर्चस्व वाले गठबंधन की सदस्य्ता के पात्र बन गए हैं

US Restricts Visa Of Three Pakistani Ministry Officials

US Restricts Visa Of Three Pakistani Interior Ministry Officials
As per Dawn ,The officials who are facing the visa restrictions are an
additional secretary and a
joint secretary of the interior ministry as well as the
director general passports,
The sanctions on the officials have been put in place after a row between Pakistan and America over deportation of dozens of Pakistanis, currently in the US, because of visa overstay and other allegation
The US has over the past 18 months deported over 100 Pakistanis, all of whom were accepted back.
It is the first time that Pakistani authorities have insisted on a verification of the credentials of the deportees.

ब्रिटेन ने अपनी ग्रेटनेस बचाने को १९४७ में कत्लेआम करवा दिया था

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

भारतीय उपेक्षित ईसाई

औए झल्लेया ! आज़ादी के बाद तो हमें गुलामों से भी बदत्तर जिंदगी जीने को मजबूर किया जा रहा है| अब ब्रिटेन सरकार ने मंगलवार को कह दिया है कि वह भारत में हम पर हो रहे जुल्मों के मुद्दे को उठाएगी।
ये बात हवा में नहीं कही गई है बल्कि हाउस ऑफ कॉमन्स में विदेश और राष्ट्रमंडल कार्यालय के लिए सवाल-जवाब के निर्धारित सत्र के दौरान ब्रिटेन के विदेश कार्यालय के मंत्री मार्क फील्ड द्वारा कहा गया है

झल्ला

आपको नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ अपनी भड़ास निकालने के लिए पूरा हक है लेकिन ब्रिटेन ने अपनी ग्रेटनेस बचाने को भारत में १९४७ में कत्लेआम करवा दिया था और देश छोड़ कर जाते समय इन्ही अंग्रेजों ने भारतीय धन को स्विस बैंकों में छुपा दिया था अब अगर वह वापिस आ जाता है तो देश की जी डी पी बढ जाती
इस ब्रिटैन ने १९४७ में देश को विभाजित करवा कर दोनों तरफ के लाखों निर्दोषों का कत्ल कराया और उनकी प्रॉपर्टी को लुटवाया|इसका मुआवजा अभी तक नहीं मिला है

UNESCO Ready to Reconstruct Medieval Notre Dame Church

[UN] UNESCO Ready to Reconstruct Medieval Notre Dame Church
Two-thirds of the largely medieval roof of the famed Notre Dame cathedral in Paris have gone after the devastating fire,
The Cathedral is part of the World Heritage site
Notre Dame represents a historically, architecturally, and spiritually, outstanding universal heritage.As per UNESCO chief, the inferno which engulfed the cathedral, but appears to have left the medieval stonework intact
The cathedral, where construction began in the 1160s extending for more than a century, is considered to be the finest example of the French Gothic style of architecture, with its groundbreaking use of rib vaults and buttresses, stained glass rosettes and sculpted ornaments.
Courtesy PTI

जलियांवाला हत्याकांड शताब्दी वर्ष में भी भारत 1 मंच साझा नहीं कर सका :नमन

[अमृतसर,दिल्ली] #शहीदोंकोनमन
जलियांवाला हत्याकांड शताब्दी वर्ष में भारत 1 मंच साझा नहीं कर सका
पंजाब के सीएम के अमरिंदर सिंह की आगवानी में कांग्रेसाध्यक्ष राहुलगांधी ने पुष्पचक्र चढ़ाए लेकिन भाजपा नीत केंद्रीय प्रतिनिधित्व अनुपस्थित रहा|
भारत के उपराष्ट्रपति वेंकैय्या नायडू ने शताब्दी की स्मृति में स्मारक सिक्का+ टिकट जारी किया तो प्रदेश के सीएम नदारद रहे
आम आमदी पार्टी [आप] और एसएडी एक दुसरे पर आरोप प्रत्यारोपों में सीमित रहे |
गौरतलब हे के ब्रिटेन के 80 सांसदों ने ब्रिटिश सरकार से इस नृशंस हत्याकांड पर माफी मांगने को कहा हैं लेकिन भारत से मृतकों को शहीद का दर्जा देने को फुसफुसाहट भी सुनाई नही देरही|
जो अंग्रेज किसीको गलती से छू जाने पर भी सॉरी कह कर निकल जाते हैं उन्ही का न्रेतत्व इतने बढे हत्याकांड पर खेद तो प्रगट कर रहा है लेकिन सॉरी कहने को तैयार नहीं |इसके पीछे उनकी अपनी विवशता हो सकती हैलेकिन भारत के राजनितिक दल अपने किस फायदे के लिए इस तरफ केवल औपचारिकता को ही पूर्ण करने तक ही सिमित है जोकि जांच का विषय हो सकता है|
अमृतसर के जलियांवाला बाग में बैसाखी के दौरान 13 अप्रैल 1919 को यह नरसंहार हुआ था जब ब्रिटिश भारतीय फौज के सैनिकों ने कर्नल रे डायर की कमान में वहां स्वतंत्रता की मांग के लिए जुटे निहत्थे लोगों पर गोलियां चलवा दी थी। इस जनसंहार में सैंकड़ों लोग मारे गए थे जबकि कई घायल हो गए थे।
उप-राष्ट्रपति नायडू ने शनिवार को जलियांवाला बाग में स्मारक पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि अर्पित की और सिख ग्रंथियों द्वारा गाए जा रहे शबद सुने। इस कांड के 100 साल पूरे होने के अवसर पर उन्होंने एक स्मृति सिक्का और एक डाक टिकट भी जारी किया।
प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया, “आज, जब भयावह जलियांवाला बाग नरसंहार के 100 साल पूरे हो रहे हैं, भारत सभी शहीदों को विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित करता है…उनकी बहादुरी और बलिदान को कभी भूला नहीं जाएगा। उनकी स्मृति हमें एक ऐसे भारत के निर्माण के लिये और पुरजोर तरीके से प्रेरित करती है, जिस पर उन्हें गर्व हो।”
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने जलियांवाला बाग नरसंहार के 100 वर्ष पूरे होने के मौके पर जलियांवाला बाग स्मारक स्थल पर श्रद्धांजलि अर्पित की और कहा कि स्वतंत्रता की जो कीमत चुकाई गई है उसे भुलाया नहीं जाना चाहिए।
राहुल के साथ पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह, मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ,सुनील जाखड़ सहित कांग्रेस के अन्य नेता भी मौजूद थे।
कांग्रेस अध्यक्ष ने यहां आगंतुक पुस्तिका में लिखा, ‘‘आजादी की कीमत को कभी भुलाया नहीं जाना चाहिए। हम भारत के लोगों को सलाम करते हैं जिन्होंने आजादी के लिए अपना सर्वस्व न्योछावर कर दिया।’’
भारत में ब्रिटेन के उच्चायुक्त डोमिनिक एस्क्विथ भी अलग से शनिवार को जलियांवाला बाग स्मारक स्थल गए।
उन्होंने आगंतुक पुस्तिका में लिखा, ‘‘आज से 100 साल पहले की जलियांवाला बाग घटना ब्रिटिश भारतीय इतिहास की एक शर्मनाक घटना है। जो कुछ भी हुआ और उससे उपजी पीड़ा से हमें बेहद दुख है।’’
बाद में पत्रकारों से बातचीत में डोमिनिक ने कहा कि ब्रिटिश प्रधानमंत्री टेरेसा मे ने बुधवार को जलियांवाला बाग कांड को ब्रिटिश भारतीय इतिहास पर ‘‘शर्मनाक धब्बा’’ करार दिया।
हालांकि, टेरेसा मे ने इस घटना पर माफी नहीं मांगी। उन्होंने सिर्फ खेद प्रकट किया था।
यह पूछे जाने पर कि ब्रिटिश सरकार ने माफी क्यों नहीं मांगी, इस पर डोमिनिक ने कहा, ‘‘मैं जानता हूं कि यह वाकई एक अहम सवाल है। मैं आपसे सिर्फ इतना कहूंगा कि मैं यहां जो करने आया हूं उसका सम्मान करें, यह उन्हें याद करना है जिन्होंने 100 साल पहले अपनी जान गंवाई। और यह ब्रिटिश सरकार एवं ब्रिटिश जनता का दुख व्यक्त करने के लिए है।’’

कांग्रेस को १९४७ में मानव निर्मित त्रासदी के लिए देश से माफ़ी मांगनी चाहिए

[नई दिल्ली] कांग्रेस को १९४७ में कराये गए कत्लेआम+लूटमार के लिए देश से माफ़ी मांगनी चाहिएअब समय आ गया है जब कांग्रेस को माफ़ी मांग लेनी चाहिए |ब्रिटैन के ८० संसद जब भारत में १०० वर्ष पूर्व जलियांवाला बाग़ में किये गए कत्ले आम के लिए अपनी ही सरकार से माफ़ी की मांग कर सकते हैं और वहां की प्रधान मंत्री खेद व्यक्त कर सकती हैं तो भारत में १९४७ के घृणित अपराध पर विभाजन के लिए जिम्मेदार और उसके नतीजों को झेलने में असफल रहे कांग्रेस को माफ़ी मांग कर उस के लिए प्रायश्चित करलेनी चाहिए |
1947 में कराए कत्लेआम की अब #कांग्रेस को माफी मांग कर प्रायश्चित कर लेना चाहिए
देश विभाजित करा कर दोनों तरफ ना केवल
कत्लेआम कराया गया वरन
लूटमार मचाई गई
छोड़ी गई जमीनों को हथियाया गया
रिहैबिलिटेशन के नाम पर फ्रॉड किये गए
अब समय आ गया है जब इसके लिए उत्तरदायी दल को सार्वजनिक रूप से माफी मांग कर प्रायश्चित कर लेना चाहिएक्योंकि विभाजन से अपराधों की ज्वाला उठी उसे समेटने में तत्कालीन सरकार अक्षम रही |इसे विश्व की सबसे बढ़ी मानव निर्मित त्रासदी बताया गया है|

नोटबंदी पश्चात् आये नए नोटों में चिप की बात सत्य तो नहीं हैं:आईटी के छापे

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

भाजपाई चेयर लीडर

औए झल्लेया ! देखा हसाड़े मोदी जी का कमाल !! ना खाएंगे और ना ही खाने देंगे!!!
कांग्रेस के मध्य प्रदेश में सी एम कमल नाथ के पेट में हाथडॉल कर निकाल लिए करोड़ों अवैध रु| इस पर भी इनके राहुल गाँधी काळा धन पर चर्चा के लिए चुनौती देते फिर रहे हैं

झल्ला

मेरे चतुर सेठ जी ! वाकई इनकम टैक्स के छापे सटीक जगहों पर पढ़े हैं | और छापेमारों ने हाथोंहाथ अपनी उपलब्धि को मीडिया में दिखा भी दिया लेकिन एक बात दिमाग का दही किये जा रही है के कहीं नोट बंदी के बाद आये नए नोटों में चिप की बात सत्य तो नहीं हैं !

No Political Advertisements on Poll Day:EC

[Guwahati] No Political Advertisements on Poll Day:EC
According to a press release from the office of the Chief Electoral Officer of Assam on Sunday, no political party or candidate shall publish any advertisement in print media on poll day or one day prior to the poll day in all the phases.
However, the advertisements can be published if these are are pre-certified from the Media Certification and Monitoring Committee (MCMC) at the state or district level
The ECI has directed that in order to facilitate publication of the newspaper advertisements, MCMC at state and district level must examine and pre-certify all such advertisements received from the political parties, candidates and others, it added.