Ad

Category: Social Cause

Dr Harshvardhan Assured Corona Patients, Best Possible Care

(New Delhi)Dr Harshvardhan Assured Corona Patients Best Possible Care Health Minister Dr Harshvardhan todayvisited the patient ward of the Jai Prakash Narayan Apex Trauma Centre (JPNATC) of AIIMS, New Delhi (Dedicated COVID Hospital) and interacted with many patients under treatment. He assured them of the best possible care.
Dr Harsh Vardhan also interacted with the media afterwards and used the occasion to remind people of the many virtues of COVID Appropriate Behaviour (CAB): “Our biggest fight this time is to teach COVID appropriate behaviour to the people. People have adopted a casual approach which is very dangerous. COVID Appropriate behaviour is the biggest social tool we have to break the chain.” In order to encourage the public from following CAB in the quest for a COVID free environment, he put out statistics that demonstrate the diligence of the general public along with the hard-work of healthcare and frontline workers: “India has 52 districts with no fresh cases in 7 days, 34 districts with no fresh cases in 14 days, 4 districts with no fresh cases in 21 days and 44 districts with no fresh cases in 28 days.” He also detailed steps taken by the Union government to stop black marketing of drugs like Remdesivir and Itolizumab.
Dr Randeep Guleria, Director AIIMS and other senior doctors accompanied the Union Minister during the comprehensive review visit.

मोदीभापे!कूड़ेदान में डालते हो अर्जी हमारी,कहते हो,सभी को इंसाफ मिलेगा

#मोदीभापे
कूड़ेदान में डालते हो रौजाना अर्जी हमारी,कहते फिरते हो ,सभी को इंसाफ मिलेगा
कितना दिलफ़रेब है अंदाजे गुफ्तगू ,पीड़ित को कहते हो ,अपना ख्याल खुद रखना
#कंपनसेशन/#रिहैबिलिटेशन क्लेम की सरकारी लूट
#PMOPG/E/2016/0125052

PM Modi Greets Bengalis on Poyla Boishakh

(New Delhi)PM Modi Greets Bengalis on Poyla Boishakh
The Prime Minister, Narendra Modi, has greeted Bengalis in India and across the world on Poyla Boishakh.
Wishing ‘Shubho Nabo Barsho’, the Prime Minister tweeted: “The love of life and the fervor of celebration that one sees in the people of Bengal are truly heartening. My heartfelt wishes to Bengalis in India and across the world on Poyla Boishakh. May the New year bring prosperity, happiness and health to all.”

मोदीभापे!अपनी जयकार के शोर में पीड़ाएँ सुनना बन्द कर दिया शायद

#मोदीभापे
अपनी जय जय कार के शोर में पीड़ाएँ सुनना बन्द कर दिया शायद
मूर्तियां गढ़ने में बीत जाएगा यह दौर ,नही देख पाओगे दूसरा छोर
बाबा अम्बेडकर मूर्तियों में नही बल्कि संविधान के पन्नो में बसता है
ध्यान लगा कर पढो तीसरी पीढ़ी भी टूट रही है,दुखड़े सुनाते सुनाते
#कंपनसेशनक्लेम/#रिहैबिलिटेशनक्लेम की सरकारी लूट
PMOPG/E/2016/0125052

मोदीभापे !कितनी कालकोठरियों की मालिक है तुम्हारी हुकूमत ?

#मोदीभापे
कितनी कालकोठरियों की मालिक है तुम्हारी हुकूमत
इनमें गूंज रही इंसाफ की पुकार तुम तक नही पहुंचती
#कंपनसेशन/#रिहैबिलिटेशन क्लेम की लूट
#PMOPG/E/2016/0125052

PM Modi Tweets Tributes to Martyrs of Jallianwala Bagh

(New Delhi)PM Modi Tweets Tributes to Martyrs of Jallianwala Bagh
Prime Minister, Narendra Modi has paid tribute to the martyrs of Jallianwala Bagh massacre.
Shri Modi said in a tweet:
“Tributes to those martyred in the Jallianwala Bagh massacre. Their courage, heroism and sacrifice gives strength to every Indian.”

मोदीभापे! ये लूट और नाइंसाफी का मामला है,तूही मुंसिफ बनके मुझसे इंसाफ कर

#मोदीभापे
ये लूट और नाइंसाफी का मामला है,तूही मुंसिफ बनके मुझसे इंसाफ कर
सर् से पावँ तलक उजड़ गए थे हम ,उन जख्मों पर मल्हम का इंतजाम कर
#कंपनसेशन/#रिहैबिलिटेशन क्लेम की सरकारी लूट
#PMOPG/E/2016/0125052

मोदीभापे !वोट मांगने आओ तो सिर्फ,वोट ही मांगना कोई वायदा ना करना

#मोदीभापे
#दिलकेफफोले
वोट मांगने आओ तो ख्याल रहे,वोट ही मांगना कोई वायदा ना करना
तुम से जो रिश्ता बावस्ता है,उसमे तुम्हारी बेवफाई की दीवार ना आये
#कंपनसेशन/#रिहैबिलिटेशन क्लेम की सरकारी लूट
#PMOPG/E/2016/0125052

राष्ट्रहित मे शोधकार्यों के लिए हो जाये जवानी और अनुभव में प्रतिस्पर्धा

झल्लीगल्लां

Education Policy

Education Policy

चिंतितशिक्षाविद ओए झल्लेया!हसाडे मुल्क में शिक्षा और शोध पर जो भी खर्च हो रहा है उसका पर्याप्त लाभ देश को नही मिल पा रहा।डॉक्टर/इंजीनियर/ टेक्नोक्रेट्स आदि आदि अनुदान वाले शिक्षण संस्थाओं से महंगी महंगी डिग्रियां लेकर उनका उपयोग जनता के लाभ के लिए नही करते।शोधकर्ता तो (अधिकांश)राजनीति में आने को ही लालायित रहते हैं।होस्टल में जवानी खपाने वाली प्रतिभाओं का राजनीतिक शोषण भी हो रहा है।अब देख तो कोरोना नाशक वैक्सीन के लिए भी रशियाँन स्पुतनिक और अमेरिकन पफिज़र की तरफ देखना पढ़ रहा है।किसान डिग्रियां लेकर भी खेत बेच कर कंक्रीट के जंगल विकसित करने में जुटा है।जनलाभः वाले शोध कुछ व्यवसायियों की चारदीवारी से बाहर केवल उनकी तिजोरी भरने के लिए ही निकाले जाते हैं।
झल्लाभापा जी!राष्ट्रहित मे शोधकार्यों के लिए हो जाये जवानी और अनुभव में प्रतिस्पर्धा
शिक्षाआप जी की गल और उसमे लिपटी पीड़ा वाकई जायज है। लेकिन अनेकों नाम ऐसे हैं जो अपनी शिक्षा और व्यवसाय से पूर्णतया न्याय कर रहे है।डॉ हर्षवर्धन+डॉ महेशशर्मा+मनीषतिवारी+कपिल सिब्बल+रविशंकरप्रसाद जैसे अनेकों नाम गिनाए जा सकते हैं ।फिर भी चूंकि आपने जायज सवाल उठाया है सो झल्लेविचारानुसार सेवानिवृत होने वाले सरकारी/गैर सरकारी लोगों को भी शोध के लिए एक प्लेटफॉर्म दिया जाना चाहिए।हो जाये जवानी और अनुभव में प्रतिस्पर्धा

मोदीभापे !हुकूमत की मस्ती में हुक्मरां पहले वाले से ज्यादा खराब निकला

#मोदीभापे
जिस किसी भी हुक्मरां को हुकूमत की मस्ती में देखा
महज ख्वाब निकला,पहले वाले से भी खराब निकला
#कंपनसेशन/#रिहैबिलिटेशन क्लेम की सरकारी लूट
#PMOPG/E/2016/0125052