Ad

Category: Social Cause

संत हमारे जीवन के प्राणाधार हैं

मीराबाई की वाणी
साधू हमारे हम साधुन के, साधू हमारे जीव,
साधुन मीरा मिल रही, जिमी माखन मैं घीव

.
भावार्थ – सत्संग के रंग में रंगी मीरा कहती है – संत ही मुझे सबसे प्रिय हैं.,वे ही मेरे अपने हैं. संत ही मेरे जीवन और प्राण हैं . मैं संतों की हूँ. मैं उनकी संगती में
यूं समा गई हूँ जिस प्रकार मक्खन मैं घी समाया रहता है .

ग्रिड फेल्यौर की जांच रिपोर्ट आई नहीं और आरोपी तय हो गए

पावर ग्रिड फेल्यौर की जांच के लिए ऐ बक्शी की अध्यक्षता में गठित कमिटी की रिपोर्ट १५ दिन बाद आयेगी मगर इसके दोषी अभी से घोषित कर दिए गए हैं ना केवल घोषित वरन एक को तो दण्डित भी कर दिया गया है|
नार्दन ग्रिड कल ६ घंटे तक ६०% और शेष शाम तक ठीक हो पाई\बिजली मंत्री सुशील कुमार शिंदे ने ३ सदस्यीय जांच कमिटी बिठा दी है इसकी रिपोर्ट १५ दिन में दी जानी है मगर जांच कमिटी के गठन से पहले ही मंत्री महोदय ने तीन राज्यों को अधिक बिजली लेने के लिए दोषी ठहरा दिया |बाद में बताया गया कि उत्तर प्रदेश द्वारा कोटे से ज्यादा बिजली ड्रा की गई जिसके फलस्वरूप ग्रिड ट्रिप हो गई यूं पी के अलावा पंजाब हरियाणा और राजस्थान को भी दोषी बताया गया है|
उत्तर प्रदेश ने तत्काल इन आरोपों को नकार दिया और सारा दोष केंद्र सरकार द्वारा संचालित ग्रिड प्रभारी पर डाल दिया लेकिन इसके साथ ही दबाब पड़ने पर अपने वरिष्ठ अधिकारी अवनीश अवस्थी को तत्काल पद मुक्त कर दिया और प्रतीक्षा सूची में डाल कर दण्डित भी कर दिया गया है|
बताते चलें कि सोमवार लगभग २.३५ बजे आगरा के समीप नार्दन पावर ग्रिड के ट्रिप हो जाने से ९ राज्यों में बिजली गुल हो गई |जन जीवन अस्तव्यस्त हो गया अन्ना हजारे टीम ने इसके लिए केंद्र सरकार कि साजिश बताया\यूं पी सरकार ने भी इस फेल्यौर के लिए केंद्र पर ही ठीकरा फोड़ा |केंद्र सरकार ने अल्पावधि में दोष दूर करने का क्रेडिट लिया और एन डी ऐ सरकार कि आलोचना शुरू कर दी| हर रुकावट या एक्सीडेंट के पीछे कोई न कोई विदेशी हाथ या सेबोटाज की संभावनाएं तलाशने में माहिर सरकारें इस दशक के सबसे बड़े और पहले पावर फेल्यौर के लिए आरोप प्रत्यारोपों के गेम में ही क्यूं मशगूल है |

शरद पवार के घर आटा दाल से विरोध

अन्ना हजारे टीम के अनशन का आज छठा दिन है \आज अन्ना आन्दोलन के कुछ समर्थकों ने कृषि मंत्री शरद पवार के आवास पर दाल आटा चावल ले कर पहुंचे |और विरोध किया पोलिस ने प्रदर्शन कारियों को गिरफ्तार कर लिया |बीते दिन प्रधान मंत्री के निवास पर कोयला ले कर पहुँच कर विरोध दर्ज कराया जा चुका है इस प्रकार के प्रदर्शन जनता के आक्रोश को व्यक्त करने का माध्यम बन रहे हैं|उधर सरकार के जिम्मेदार नेताओं की सुरक्षा बडाई जा रहे है इससे लगता है की सरकार भी मुकाबिले का मन बना रही है\
भ्रष्ट १५ मंत्रिओं की सूचि में प्रधान मंत्री और कृषि मंत्री के नाम भी शामिल हैं

गड्डे आमंत्रित कर रहे हैं दुर्घटनाएं

मेरठ के दिल बेगम पुल से लगते हुए सोती गंज में गहराते गड्डे आये दिन दुर्घटनाओं को न्यौता देते हैं मगर प्रशासन जाग ही नहीं रहा |फोटो में ऐसा ही एक गड्डा दिखाया जा रहा है

नाला सफाई अभियान शुरू

मेरठ के नव निर्वाचित मेयर हरिकांत अहलुवालिया ने अपना वायदा पूरा करना शुरू कर दिया है \आज पटेल नगर का उफनता हुए नाले की सफाई शुरू कराई
गौर तलब है की शहर के मध्य में स्थित इस नाले की सफाई नहें होने के कारण ज़रा सी बारिश होने पर ही सड़कें तालाब बन जाती है और पानी घरों में घुस जाता है |जनता की भारी मांग के बाद अब यह नाला सफाई शुरू कर दिया गया है इससे छेत्र वासियों को राहत मिलेगी

औघड़ नाथ मंदिर में सावन के आखरी सोमवार का जलाभिषेक

आज सावन माह का आख़िरी सोमवार है आज शिव भक्तों ने अपने अपने छेत्रों के शिवालयों में श्रद्धाभाव से जलाभिषेक किया कालीपल्तन के एतिहासिक औघड़ नाथ मंदिर में पूजा अर्चना करते शिव भक्त

९ राज्यौं में ६ घंटे तक बिजली रही गुल

नार्दन ग्रिड में आगरा में आई खराबी से पश्चिमी भारत के ९ राज्यों में ६ घंटे बिजली का संकट रहा |बेशक बिजली की गुल होने से करोड़ों लोगों के दिल जल रहे हैं मगर बिजली मंत्री सुशील कुमार शिंदे और अन्ना हजारे टीम इस आग पर अपनी रोटियाँ सेंकने में लगे हैं|तीन सदस्य जांच समिति बना दी गई है
रात ढाई बजे नार्दन ग्रिड फेल हो गया | यह फेल्यौर २००१ और २००२ के बाद हुआ है |ट्रेन +प्लेन +उद्योग +पानी+अस्पताल और रोड ट्रेफिक सिस्टम भी फेल हो गया || रमजान के इस महीने में भी परेशानी बताई जा रही है | टी वी नियुज़ चेनलों पर दोपहर बारह बजे तक गाड़ियों को रेंगते हुए ही दिखाया गया है | यूं पी=हरियाणा+राजस्थान+महाराष्ट्र आदि ९ राज्य प्रभावित हुए हैं|
लोगों के असंतोष को देखते हुए श्री शिंदे ने प्रेस कांफ्रेंस करके बताया की सुबह ८ बजे खराबी को ६०% ठीक कर लिया गया है |भूटान से भी बिजली ली जा रही है|उन्होंने इस फेल्यौर का ठीकरा कुछ राज्यों के सर पर फोड़ा और कहा की कुछ राज्यों ने कोटे से अधिक बिजली ले ली जिसके फलस्वरूप ग्रिड बैठ गई |
श्री शिंदे ने अपनी पीठ थपथपाते हुए बताया की रिकार्ड समय में खराबी दूर कर ली गई है |लाखों गावों को बिजली दी जा चुकी है|इसके साथ ही एंडी ऐ को निशाना बनांने का मौका भी नहीं छोड़ा और कहा कि एन डी ऐ के शासन में तो यह कई बार हुआ | २०११ और २००२ के बाद अब का यह फेल्यौर कुछ राज्यौं द्वारा अधिक बिजली लिए जाने से हुआ है मगर राज्यों का नाम बताने से बचते रहे \
उधर अन्ना हजारे टीम के कुमार विशवास ने इस ग्रिड फेल्यौर के पीछे सरकारी षड्यंत्र बताया |उन्होंने कहा कि अन्ना हजारे के अनशन में आने से लोगों को रोकने के लिए जानबूझ कर बिजली काटी गई है |

नागरिक उड्डयन मंत्रालय में वाकई सब कुछ ठीक नहीं है

इंडिगो एयर लाईन्स के प्रमोटर राहुल भाटिया द्वारा सरकार की तरफ उडाये गए भेद भाव के आरोपों से लदे जहाज़ की तरफ सरकार ने अपनी दलीलों के राम बाण छोड़ कर उसे कुछ समय के लिए निष्क्रिय भले ही कर दिया मगर पहले पायलेट्स अब अईटा और सेन्ट्रल विजिलेंस कमीशन द्वारा श्री भाटिया द्वारा लगाये आरोपों की पुष्टि की जारही है | अब जरुरत से ज्यादा टेक्स+सुरक्षा की अनदेखी और भ्रष्टाचार के आरोप भी जुड़ने लग गए हैं|
नसीम जैदी के बाद भारत भूषण,प्रशांत शुकुल से ऐ मिश्रा डी जी सी ऐ बनाए जा चुके हैं| केरला ,महाराष्ट्र के बाद यूं पी से मंत्री बनाए गए हैं मगर डी जी सी ऐ और एयर इंडिया के साथ साथ किंग फिशर और अब स्पाईस जेट कंपनी भी हिचकोंले लेने लग गई है|
श्री भाटिया ने कोलकत्ता में नागरिक उड्डयन मंत्रालय पर कुछ चुनिन्दा एयर लाईन्स के प्रति भेद भाव[बिना किसी का नाम लिए]का आरोप लगते हुए कहा था की कुछ विमानन कंपनियों को फायदा पहुंचाने के लिए नीतियों में छेड़ छाड़ की जा रही है|सरकार की तरफ से तत्काल डेनियल आ गया| निष्पक्ष+उचित +पारदर्शी जैसे पुराने सदा बहार शब्दों को प्रयोग किया गया और सभी भेद भाव के आरोपों को नकार दिया गया | पायलटों को और कर्मचारियों को वेतन नाहीं देकर सुरक्षा संकट पैदा करने वाली और जबर्दस्त किराया बढाने वाली विमानन कंपनियों के विरुद्ध किसी भी कार्यवाही को कानूनी दायरे से बाहर तक बता दिया गया | भेद भाव के सभी आरोपों को निराधार तक बता दिया गया |
इसके बाद अईटा का ब्यान आ गया जिसमे पुराने आरोपों को भी बल मिला | ग्लोबल एयरलाइंस संगठन आइटा [अंतरराष्ट्रीय हवाई यातायात संघ] ने सरकार को यह सुझाव दिया है कि वित्तीय संकट से जूझ रही सरकारी एयरलाइंस एयर इंडिया का अस्तित्व बचाए रखने के लिए सख्त कदम उठाने की जरूरत है। इसके बाद ही कंपनी बिना सहारे के खड़ी हो पाएगीसंगठन ने इसके लिए जापान की दो सरकारी विमानन कंपनियों के विलय का उदाहरण भी दिया जिसने दिवालिया होने से बचने के लिए भारी तादाद में कर्मचारियों की छंटनी की।

विमानन पर सीआइआइ द्वारा आयोजित सम्मेलन में बोलते हुए आइटा प्रमुख टोनी टेलर ने कहा कि विमानन उद्योग कई समस्याओं से जूझ रहा है। महंगे ईधन, ऊंची टैक्स और इन्फ्रास्ट्रक्चर की कमी इस क्षेत्र के विकास में आड़े आ रही है। एयर इंडिया के बारे में उन्होंने कहा कि इसे सुधारने के लिए सरकार को कड़े कदम उठाने चाहिए। जापान एयरलाइंस का उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि वर्ष 2010 में इसने दिवालियेपन का आवेदन किया था। उसके बाद कंपनी ने 16 हजार कर्मचारियों की छंटनी की और 50 रूटों के उड़ान बंद किए। इसका असर वर्ष 2011 में कंपनी के वित्तीय नतीजों पर दिखा जब वह ढाई अरब डॉलर का मुनाफा कमाने में सफल रही। एयर इंडिया के निजीकरण के सवाल पर उन्होंने कहा कि उनका यह सुझाव नहीं है। सरकार को सबसे पहले इसका परिचालन स्थिर करने के कदम उठाने चाहिए। इससे कंपनी को आर्थिक हालात ठीक करने में मदद मिलेगी।
गौरतलब है कि वर्तमान में एयर टिकट के महंगे होने का रोना रोया जाता है जबकि ३००% से अधिक विभिन्न टेक्स हैं |पायलटों के वेतन फरवरी से लटके हुए हैं स्टाफ कि कमी और सुप्रीम कोर्ट के आदेशों के बावजूद १०१ बर्खास्त पायलेट्स सेवा में नहीं लिए जा सके हैं|किंग फिशर एयर लाइंस द्वारा एम्.आई,ऐ एल को जारी करोड़ों रुपयों के चैक दो बार बैरंग लौटाए जा चुके हैं| डी एम् के के दयानिधि मारण की एयर लाईन्स का ६०० करोड़ रुपयों का हज कांट्रेक्ट [खामियों के कारन]कैंसिल किया जा चूका है| व्यवस्था से निराश पायलटों ने अब अन्ना हजारे के मंच को इस्तेमाल करना शुरू कर दिया है
अब सी वी सी ने डी जी सी ऐ के आठ विभिन्न अधिकारियों के विरुद्ध तत्काल कार्यवाही को जरुरी बताया है|निदेशक,संयुक्त निदेशक और सहायक निदेशकों कि फौज पर अपने निजी लाभ के लिए विभिन्न विमानन कंपनियों को लाभ पहुंचाने के आरोप लगाये गए हैं|अंग्रेजी के राष्ट्रीय अखबार टाईम्स आफ इंडिया ने जोसी जोसेफ की स्टोरी को पहले पेज पर सेकेण्ड लीड में छापा है यह व्यवस्था कि आँखों को खोलने के लिए पर्याप्त है

गूगल ने गूगल फायबर से किया स्पीड क्रांति का आगाज़

गूगल ने एक जी बी प्रति सेकण्ड की गति वाले गूगल फायबर को इंट्रोड्यूस करके इंटर नेट की दुनिया में एक नई क्रान्ति की शुरुआत कर दी है|
फिलहाल अमेरिका के मिसौरी कंसास में इसे लागू किया गया है और भारत में आने में अभी कुछ समय लग सकता है|एक जी बी की स्पीड और एक टेरा बाईट की स्टोरेज क्षमता होगी | इससे सर्चिंग आसान होगी और लम्बे लम्बे विडियो आराम से देखे जा सकेंगे |

भव बन्धनों से मुक्त होकर परमात्मा की आराधना जरुरी

रहिमन बहरी बाज , गगन चढ़े फिर क्यों तिरे,
पेट अधम के काज, फेरी आय बंधन परे .
अर्थ – कवि रहीम कहते हैं कि बहरा बाज बार- बार आकाश में उड़ता है. लेकिन उसे मोक्ष प्राप्त नहीं होता क्योंकि वह पेट की आग बुझाने के
लिए बार- बार बंधन में पड़ा रहता है.
भाव – मोक्ष प्राप्त करने के लिए सांसारिक मोह माया के बन्धनों का त्याग करना परम आवश्यक है. कवि रहीम जी का कहना है कि बाज पक्षी
आकाश में ऊंची- ऊंची उड़ानें भरता है किन्तु उसका लक्ष्य परमात्मा तक पहुँचने का नहीं होता. उसका लक्ष्य केवल अपना पेट भरने का
होता है.
पेट की आग बुझाने की चिंता ही आदमी को इस सांसारिक भव-बन्धनों में उलझाती है इसी कारण से उसे मोक्ष कभी प्राप्त नहीं होता.है.
व्यक्ति को इन भव बन्धनों से मुक्त होकर परमात्मा की आराधना करनी चाहिए.