Ad

Category: Social Cause

माँ दुर्गा की मूर्ति बनाने के लिए आज से पूजन प्रारम्भ हो गया

नवरात्रों में माँ दुर्गा की पूजा के लिए माँ दुर्गा की मूर्ति बनाने के लिए आज से पूजन प्रारम्भ हो गया है|
मेरठ में भी लगभग दो शताब्दी पुराना बंगाली मंदिर में काठामो पूजा प्रारम्भ की गई |इसमें माँ दुर्गा की प्रतिमा बनाने के लिए आवश्यक सामग्री जैसे लकड़ी+घास+फूस+मट्टी+गंगाजल आदि को इकठ्ठा किय जाना और पूजा शुरू कर दी गई है|
आज से प्रारम्भ यह प्रक्रिया पहले नवरात्रा तक पूर्ण कर ली जायेगी
डाक्टर सुब्रोतो सैन+एस मुखर्जी+गौतम मुख़र्जी+सान्याल आदि ने पूजा कराई

योग बाबा के मंच पर विवादों का जमावड़ा

कालेधन और भ्रष्टाचार के खिलाफ रामलीला मैदान में चल रहे बाबा रामदेव के तीन दिनों के सांकेतिक उपवास के आज दूसरे दिन भी विवादों से मंच भरा रहा
शुक्रवार को बाबा रामदेव के उपवास का दूसरा दिन भी विवादों से दूर नहीं रहा।[१] बाबा रामदेव की समर्थक रहीं राजबाला का पोस्टर रानी लक्ष्मी बाई समेत अन्य वीरांगनाओं और महापुरुषों के पोस्टर के साथ लगाने पर विवाद हो गया। जब यह मामला वहां मौजूद मीडिया ने उठाया तो बाबा रामदेव के समर्थकों ने उसे हटा लिया।[२] गुरुवार को इसी तरह आचार्य बालकृष्‍ण की तस्‍वीर भी महापुरुषों के साथ लगाई थी। मीडिया में दिखाए जाने पर उस पोस्‍टर को भी हटवा लिया गया था। मालूम हो कि बाबा के पिछले आंदोलन के दौरान हुई पुलिसिया कार्रवाई में राजबाला घायल हो गई थीं और कई महीने बाद उनकी मौत हो गई थी। रामदेव ने राजबाला के परिजनों को मंच पर बुलाकर उनका अभिनंदन किया और राजबाला को ‘शहीद’ का दर्जा दिया। पूर्व राष्ट्रपति ऐ पी जे अब्दुल कलाम के चित्र पर भी ऐतराज़ जताया जा चुका है|

भ्रष्टाचार में गोल्ड मेडल भारत को ही मिलेगा =बाबा राम देव

योग गुरु बाबा राम देव ने आज राम लीला मैदान में अपने सांकेतिक उपवास के दूसरे दिन शब्दों में तीखापन लाते हुए कहा है कि अगर ओलंपिक्स में भ्रष्टाचार का एक इवेंट होता तो उसमे गोल्ड मेडल भारत को ही मिलता |
भ्रष्टाचार के विरुद्ध राम लीला मैदान में हज़ारों समर्थकों के बीच तीन दिन का सांकेतिक उपवास कर रहे बाबा राम देव ने कहा कि अगर ओलंपिक्स में भ्रष्टाचार पर कोई कम्पटीशन होता तो भारत को ही गोल्ड मेडल मिलता|
योगा केम्प से शुरू किये गए आज के संबोधन में जब बाबा ने भ्रष्टाचार पर गोल्ड मेडल मिलाने कि बात कही तब हज़ारों श्रोताओं ने तालिय बजा कर इसका समर्थन किया तब बाबा ने कहा कि यह तालियाँ बजाने का अवसर नहीं है वरन गंभीरता से सोचने का विषय है|
योग गुरु ने भ्रष्टाचार के खात्मे+ विदेशों से काला धन वापिस लाने +शिक्षा में सदाचार+सी बी आई ,सी वी सी,ई सी और सी ऐ जी कि नियुक्ति में पारदर्शिता कि मांग के साथ ९ अगस्त से अपना तीन दिन का उपवास शुरू किया है | आज उसका दूसरा दिन है

संसद के सदनों में सरकारी नौकरियों में प्रोमोशन में आरक्षण की मांग गूंजी |

संसद के दोनों सदनों में सरकारी नौकरियों में प्रोमोशन में आरक्षण की मांग गूंजी |
नौकरियों में प्रोन्नति में भी अनुसूचित जाति [एससी] व अनुसूचित जनजाति [एसटी] के आरक्षण पर चुप्पी साधे रही सरकार 22 अगस्त को संसद में उसके लिए विधेयक लाएगी। दोनों सदनों में बसपा सासदों हंगामे से घबराई सरकार को यह भरोसा देना पड़ा कि वह इसके लिए 21 अगस्त को सर्वदलीय बैठक बुलाएगी और अगले दिन संविधान संशोधन विधेयक लाएगी।
यह फैसला सुप्रीम कोर्ट के उस निर्णय के बाद हुआ है, जिसमें उसने यूपी सरकार के सरकारी नौकरियों में पदोन्नति में आरक्षण के फैसले को रद कर दिया था। इसके बाद ही बसपा ने इसके लिए संवैधानिक संशोधन की माग की थी। राज्यसभा में गुरुवार को सदन की कार्यवाही शुरू होते ही बसपा सुप्रीमो मायावती कहा कि एससी/एसटी को प्रोन्नति में भी आरक्षण की बाबत सरकार ने संसद के पिछले सत्र में ही सर्वदलीय बैठक बुलाने का आश्वासन दिया था, लेकिन अब तक किया कुछ नहीं। लिहाजा उसे अब सीधे विधेयक लाना चाहिए। उन्होंने कहा कि सरकार की तरफ से जब तक इसका आश्वासन नहीं मिलता, बसपा सदन की कार्यवाही नहीं चलने देगी।
माहौल नहीं सुधरा तो सदन की कार्यवाही 12 बजे तक स्थगित कर दी गई।
कार्यवाही फिर शुरू हुई तो मायावती ने न मुद्दा बदलने का मौका दिया और न अपने तेवर बदले। मायावती और सतीश चंद्र मिश्र को छोड़ बसपा सदस्य सभापति के आसन तक चले गए। दूसरी तरफ से रामविलास पासवान भी पहुंचे। तभी सपा के नरेश अग्रवाल समेत दूसरे सदस्य भी उसका विरोध करते हुए आ गए। नरेश अग्रवाल ने कहा, दलितों में पासी, बाल्मीकि और कठेरिया को आरक्षण का अब तक पूरा लाभ नहीं मिला है, इसलिए उन्हें अलग से आरक्षण दिया जाना चाहिए। हंगामे के चलते सदन को पुन: स्थगित करना पड़ा।

मणि शंकर एय्यर ने बाबा राम देव को जोकर कहा

योग गुरु बाबा राम देव यूं पी ऐ २ के खिलाफ अपनी दूसरी पारी में बेशक फूंक फूक कर कदम रख रहे हैं मगर सत्तानशीन बाबा को उकसाने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ रहे|
दिग्विजय सिंह+सलमान खुर्शीद+बेनी प्रसाद वर्मा आदि के बाद अब मणि शंकर अय्यर जैसे पूर्व पत्रकार और कांग्रेस के नेता भी अन्ना हजारे और बाबा राम देव को जोकर कहने लग गए हैं|बीती रात आई बी एन ७ पर राजदीप सरदेसाई के कार्यक्रम में बिना किसी मतलब+ बिना किसी सन्दर्भ + बिना किसी उकसावे के ही श्री मणि शंकर ने कहा एक बार नहीं कई बार जोर जोर से रिपीट किया की अन्ना हजारे और बाबा राम देव दोनों जोकर हैं |उनके हाव भाव बाडी लेंगुएज देख कर ऐसा लग रहा था कि श्री मणि शंकर अपने बात कहीं और पहुंचाना चाहते हैं|

राम नाम का जाप से आध्यात्मिक सुखों की कोई सीमा नहीं

तारक मंत्र राम है, जिस का सुफल अपार
इस मंत्र के जाप से, निश्चय बने निस्तार

भावार्थ: राम नाम का जाप इस संसार रुपी भवसागर से पार उतारने वाला है.
इस मंत्र के जाप से मिलने वाले आध्यात्मिक सुखों की कोई सीमा
नहीं है तथा इसके जाप से मनुष्य निश्चय ही जनम मरण के चक्र
से छुटकारा पा जाता है.

स्वामी सत्यानन्द जी महाराज द्वारा रचित अमृतवाणी का एक अंश
प्रेषक: श्री राम शरणम् आश्रम, गुरुकुल डोरली, मेरठ

बाबा राम देव का उपवास नहीं आ रहा सत्ता को रास

अन्ना टीम के पलायन के पश्चात अब बाबा रामदेव ने रामलीला मैदान में तीन दिन के सांकेतिक उपवास शुरू कर दिया है| इस आन्दोलन में एक आज खास किस्म की सावधानी बरती जा रही है |बाबा ने बार बार अपने संबोधन में सत्ता से सीधे सीधे टकराव को टालने का भरसक प्रयास किया |यहाँ तक की शतप्रतिशत लोक पाल के बजाय ९९% पर ही समझौते को तैयार दिखे|
कांग्रस के नेताओं द्वारा बाबा पर लगाये जा रहे काले धन के संग्रह और और बाल कृषण की हत्या के षड्यंत्र के आरोपों के चलते किसी भी संभावित गिरफ्तारी से बचने के लिए गुजरात में तीन दिन का एकांत वास अपनाया | लेकिन राम लीला मैदान के मंच पर आचार्य बाल कृषण को देश भक्तों की श्रेणी में रख कर पोस्टर टांग दिए गए मीडिया के विरोध के बाद बेशक ये पोस्टर वहां से हटा दिए गए मगर मेसेज तो सत्ता पक्ष तक चला ही गया |
उसके बाद राम लीला मैदान में आज योग गुरु ने आमरण अनशन या अनिश्चित कालीन धरना प्रदर्शन जैसे सत्ता को भड़काने वाले कदम त्याग कर ३ दिन के सांकेतिक उपवास की घोषणा की|कांग्रेस के लिए अपने दरवाजे खुले बताये|
सी बी आई +सी वी सी+सी ऐ जी+और ई सी जैसे महत्वपूर्ण पदों पर नियुक्ति के लिए सत्ता और विपक्ष से सहमति की मांग की| लोक पाल को कानून बनाने के लिए अब कहा की लोक पल बनाओ तो सही बेशक ९९% बनाओ बाकी के संशोधन आते रहेंगे|अन्ना टीम वाली अड़ियल रुख से भी बचते रहे |पूर्व घोषित स्वभिमान पार्टी की घोषणा से भी पलट कर गैर राजनितिक आन्दोलन की बात कर रहे है|अर्थार्त बाबा सभाल संभाल कर फूंक फूंक कर कदम रख रहे हैं
बेशक काले धन का मुद्दा हो +सी बी आई आदि की नियुक्ति हो+लोक पाल हो ये सभी सत्ता पक्ष को सालों से सालते आ रहे हैं ये सारे मुद्दे सरकार में बैठे लोगों को अपने विरुद्ध साजिश लगते रहे हैं तभी अब सत्तानशीनों ने बाबा पर खुल कर हमले करके अपनी मंशा जाहिर कर दी है
कांग्रेस के प्रवक्ता सत्यव्रत चतुर्वेदी ने पूछा है की ये बाबा कौन हैं ? अर्थार्त बाबा को कोई भाव देने की कोई इच्छा नहीं है|
कानून मंत्री ने कहा की राम लीला मैदान पर रामलीला तो हर साल होते है स्क्रिप्ट बदल जाती है|अर्थार्त जैसे पहले की बाबा राम देव की रामलीला को लाठी डंडों से भंग किया गया था वह आप्शन अभी भी खुला है|
दिग्विजय सिंह पहले ही बाबा पर अपने सहयोगी बाल कृषण की ह्त्या के लिए षड्यंत्र रचाने का आरोप लगा कर जेल के दरवाजे खोल चुके हैं

पोर्न स्टार लियोन बनेगी जन्माष्ठमी में मुख्य अथिति

मराठा मानुष शरद पवार की राजनितिक सत्ता सीन पार्टी एन सी पी ने पॉर्न स्टार सनी लियोन के पोस्टर फाड़ते फाड़ते अब लियोन को जन्माष्टमी में विशेष अतिथि के रूप में आने का न्यौता दे दिया है। अखिल भवदान दही हांडी मंडल ने पांच लाख रुपए देकर लियोन को दही हांडी के कार्यक्रम में बुलाया गया है।
एक ओर एनसीपी लियोन के पोस्टर फाड़ रहा है तो दूसरी ओर एनसीपी के ही कुछ नेता लियोन की जन्माष्टमी के कार्यक्रम में आने की सूचना होर्रि्डग लगाकर सबको दे रहे हैं। लियोन के फैन उन्हें मोटी रकम देकर दही हांडी के कार्यक्रम में बुलाने के लिए एक पैर पर तैयार खड़े हैं। अखिल भवदान दही हांडी मंडल हर साल दही हांडी का बड़ा कार्यक्रम करते हैं और इस साल लियोन को बुलाना चाहते थे

बाबा राम देव ने तीन दिन का सांकेतिक उपवास शुरू किया

योग गुरु बाबा राम देव ने आज से राम लीला मैदान में तीन दिन का सांकेतिक अनशन शुरू करके केंद्र सरकार को भ्रष्टाचार मिटने के लिए चुनौती दे डाली है|
आज अपने भाषण में बाबा ने बताया की १० अगस्त से जिलों में भी अनशन किया जाएगा और आगे की रणनीति के लिए १२ अगस्त तक प्रतीक्षा करने को भी कहा |. बाबा रामदेव का आंदोलन गुरुवार से शुरू हो गया है।। रामलीला मैदान में करीब दस हजार लोगों के बीच बाबा रामदेव आंदोलन शुरू कर चुके हैं और उन्‍होंने केंद्र सरकार को अल्‍टीमेटम दिया है। उनका कहना है कि तीन से पांच दिन के अंदर सरकार विदेश में जमा काला धन वापस लाने को लेकर कदम उठाने का ऐलान करे। बाबा रामदेव ने रामलीला मैदान में अपने समर्थकों को संबोधित करते हुए कहा, ‘मैं व्यवस्था के खिलाफ हूं। भ्रष्टाचार दूर होना चाहिए और काला धन वापस आना चाहिए। मैं किसी पार्टी या व्यक्ति के खिलाफ नहीं हूं। मेरे मंच से किसी व्यक्ति या पार्टी के खिलाफ आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल नहीं किया जाएगा। हमारा कोई राजनीतिक एजेंडा नहीं है। देश मिट्टी का टुकड़ा नहीं, हमारी मां है। सरकार को 20 हजार लाख करोड़ की भूसंपदा का हिसाब देना होगा।’
बाबा रामदेव ने अपने समर्थकों का हाथ उठवाकर ऐलान किया, ‘हम लोग 3 दिनों का सांकेतिक अनशन करेंगे। हम लोग 3 दिनों तक रामलीला मैदान में भूखे प्यासे रहेंगे। हम लोग मन, शरीर और विचारों की शुद्धि कर रहे हैं। मैं केंद्र सरकार को अंतिम मौका देता हूं। हम यहां से तभी जाएंगे, जब कोई हल होगा।’ रामदेव ने कहा कि हम लोग न आमरण अनशन करेंगे और न ही अनिश्चितकालीन अनशन। बाबा रामदेव इस मौके पर कहा कि रोज़ शाम को 5 बजे हर जिले, हर तहसील और हर गांव में लोग पैदल मार्च करें। जो लोग इसमें शामिल न हो पाएं वे अपने घरों से बर्तन लेकर बजाएं।
इस अवसर पर बाबा ने अपनी पुराणी काला धन वापिस लाने +भ्रष्टाचार मिटाने के लिए मज़बूत लोकपाल +सिटिजन चार्टर+सी बी आई+सी ऐ जी+ई सी+सी वी सी आदि संस्थायों की नियुक्ति में पारदर्शिता +शिक्षा में सदाचार+आदिकी मांगो को दोहराया और बीच बीच में वहां एकत्रित जन समूह से समर्थन भी लिया |

बाबा ने अब बाल कृष्ण को अमर शहीद प्रोजेक्ट किया

काले धन को लेकर दिल्ली के रामलीला मैदान में योग गुरु बाबा रामदेव का आंदोलन बेशक आज से शुरू होने जा रहा है मगर रामलीला मैदान में बाबा के मंच पर देश के अनेकों अमर शहीदों की तस्वीरें लगी है इनके साथ ही रामदेव के सहयोगी बालकृष्ण की तस्वीर भी नजर आ रही है|चंद्र शेखर आजाद, भगत सिंह, सुभाष चंद्र बोस सरीखे देश के महान सपूतों के साथ बालकृष्ण की तस्वीर ने रामदेव के आंदोलन पर सवाल खड़े कर दिए। बता दें कि बालकृष्ण फर्जी पासपोर्ट मामले में जेल में हैं।अब उन्हें भी शहीद का दर्जा दिया जा रहा है यह कईयों को हजम नहीं होगा इसीलिए विवाद +बवाल+हंगामा तो होगा ही|
नियुज चेनल आईबीएन7 पर जैसे ही यह खबर दिखाई गई, मंच के दोनों ओर लगे पोस्टरों को तत्काल हटा लिया गया। जाहिर सी बात है कि यहां यहां बालकृष्ण को अमर शहीदों के समकक्ष दिखाने की पूरी कोशिश की गई। जानकार मानते हैं कि दरअसल, रामदेव को किसी भी तरह के राजनीतिक आंदोलन का अनुभव नहीं है, इसीलिए ऐसी बातें सामने आ रही है। बेशक नेपाली मूल के होने के बावजूद बाल कृषण ने उपेक्षित पड़े भारतीय चिकित्सा छेत्र में उल्लेखनीय योग दान दिया है लेकिन इतने भर से ही उन्हें राष्ट्रीय सम्मान दिए जाने से उपजा विवाद जल्द बाबा रामदेव का पीछा छोड़ने वाला नहीं है\
रामदेव को अपने सहयोगी बालकृष्ण को बचाने को पूरा अधिकार है लेकिन देश की आजादी के लिए अपने प्राणों को न्यौछावर कर देने वाले शहीदों के बराबर दर्जा देकर वो क्या संदेश देना चाहते हैं यह सवाल अवश्य उठेगा?दिल्ली के रामलीला मैदान में आज से भ्रष्टाचार और कालेधन के खिलाफ बाबा रामदेव का आंदोलन शुरू हो रहा है । आंदोलन की तैयारियां पूरी हो गई हैं और बाबा रामदेव सरकार को हिलाने का दम भी भर रहे हैं। गुजरात के आलावा विदेशों में भी इन्होने अपने समर्थकों का शानदार प्रदर्शन कर दिया है\ इस बार के आंदोलन में बाबा रामदेव ने कालेधन के अलावा सीबीआई की स्वायत्तता और लोकपाल को भी मुद्दा बनाया है। बाबा रामदेव दिल्ली के रामलीला मैदान पहुच चुके हैं\