Ad

Category: Sports

लन्दन ओलम्पिक के लिए १२०० अतिरिक्त सुरक्षा कर्मी

लंदन ओलम्पिक के लिए १२०० अतिरिक्त सुरक्षा कर्मी तैनात किये जायेंगे |यूं के प्रधानमंत्री डेविड केमरून की अध्यक्षता में आयोजित एक मीटिंग में यह निर्णय लिया गया है|इससे पूर्व सुरक्षा कर्मिओं की कमी को लेकर व्यवस्थापकों को बहुत आलोचना का शिकार होना पडा था अब कोई चांस ना लेते हुए अतिरिक्त १२०० सुरक्षा कर्मी स्टेंड बाई रखने को मंजूरी दे दी गई है|

एक ओवर कम फिंकवाने पर अब टीम इंडिया को जुर्माना भी देना होगा|

एक ओवर कम फिंकवाने पर अब टीम इंडिया को जुर्माना भी देना होगा|
आई सी सी की आचार संहिता की धारा २.५.१ के अंतर्गत धोनी पर २०% और शेष खिलाडिओं पर १० %जुर्माना लगाया गया है|
श्रीलंका में बेशक धोनी के धुरधर्रों ने पहला एक दिवसीय क्रिकेट मैच जीत लिया मगर इस मैच में धीमी बोलिंग की भी शिकायत की गई है इसीलिए अब धीमी बोलिंग के लिए सभी को जुर्माना भी देना होगा

पहले एक दिवसीय क्रिकेट मैच में भारत जीता

भारत और श्रीलंका के बीच हबनतोता में खेले गए पहले एक दिवसीय को भारत ने [२१ रनों से]अपनी झोली मैं डाला |विराट कोहली ने फिर अपना विराट प्रदर्शन करके ११३ गेंदों पर १०६ रन [९ चौके]ठोक कर भारत की जीत को सुनिश्चित किया |वीरेंदर सहवाग ने भी ९७ गेंदों पर ९६ रनों [१०चौके]का यौगदान किया|
भारत ने ६ विकेट खो कर ३१४ रनों का विशाल स्कोर खडा किया जबकि मेजबान टीम ९ विकट्स पर २९३ रनों तक ही पहुँच पाई |रैना के पचास रनों के अलावा शेष रोहित,इरफ़ान,आश्विन,दहाई का आंकड़ा छूने में असफल हुए कप्तान धौनी ने जरूर ३ चौके और एक छक्के की मदद से २९ गेंदों पर ३५ रन बनाए\
इस मैच में विराट ने लगातार ५० रन बनाने के सचिन के रिकार्ड की भी बराबरी दर्ज कर ली है| जावेद मियाँ दाद के ९ [ ५० ] के विश्व रिकार्ड से महज़ ४ कदम पर रह गए हैं

क्रिकेट मैचों का पाकिस्तान में भी स्वागत

पकिस्तान और भारत में क्रिकेट मैचों के समझौते का पकिस्तान में भी स्वागत किया गया है|
प्रेसिडेंट आसिफ अली जरदारी ने कहा है की क्रिकेट से दोनों देशों में विशवास कायम होगा और मेन टू
मेन कान्टेक्ट से संबधों में सुधार भी होगा |गौरतलब है की मुम्बई में २६/११ की आतंकवादी घटना के बाद से
दोषियों को पकड़ने में पाकिस्तान के असहयोग पूर्ण व्यवहार से दोनों देशों में क्रिकेट नहीं खेली
गई है अब यह निर्णय दोनों देशों के संबंधों में आई खटास को कम करने में सहायक होगा |
भारत में यद्यपि शिव सेना +भाजपा+और महारष्ट्र कांग्रेस इसकी खिलाफत में है मगर दोनों देशों की सरकारे और क्रिकेट बोर्ड
इसकी फेवोर में है |

क्रिकेट टीम में युवराज और हरभजन सिंह को शामिल किया

भारतीय क्रिकेट टीम में जिन ३० खिलाडिओं को शामिल किया गया है उनमे कैंसर की लड़ाई जीतने वाले ३१ वर्षीय बाएं हाथ के बल्लेबाज़ और स्लो लेफ्ट हेंड ओर्थोडोक्स बोलर युवराज सिंह और टीम से बाहर चल रहे ३२ वर्षीय राईट हेंड बल्लेबाज़ और ऑफ़ स्पिनर बोलर हरभजन सिंह का नाम शामिल है|
आईसीसी के सितम्बर में प्रस्तावित टी-20 वर्ल्ड टूर्नामेंट में संभावित 30 भारतीय खिलाड़ियों का ऐलान हो गया है।
यह टूर्नामेंट श्रीलंका में आयोजित होगा। पाकिस्तान ने भी मंगलवार को अपनी टीम की घोषणा कर दी है
भारतीय टीम श्रीलंका दौरे पर जा रही है। पूरी टीम आज चेन्नई से कोलंबो पहुंच रही है। पहला मुकाबला 21 तारीख को खेला जाएगा।
भारतीय टीम ने साल 2007 में महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में पहला टी-20 वर्ल्ड कप खिताब जीता था। इसके बाद से टीम का प्रदर्शन इस टूर्नामेंट में कुछ खास नहीं रहा। टीम की गेम में रेटिंग लगातार गिरती जा रही है यहाँ तक की कोच डंकन फ्लेचर की भी खिंचाई की जा चुकी है इस टूर्नामेंट की सफलता फ्लेचर के टीम में भविष्य को भी तय करेगा |

लन्दन ओलम्पिक के लिए सिक्योरिटी गार्ड्स नहीं मिल रहे है

लन्दन ओलम्पिक के लिए सिक्योरिटी गार्ड्स नहीं मिल रहे है|इसके लिए यूनाईटेड किंगडम [इंग्लैण्ड]की सरकार कटघरे में आ गई है|
ओलम्पिक गेम्स की सुरक्षा के लिए जी-४५ नामक कंपनी को दिया गया है अब इस कंपनी द्वारा पर्याप्त सुरक्षा गार्ड्स मुहैय्या नहीं
करवाए जा रहे |जहां खेल मैदान की सुरक्षा को प्रश्न चिन्ह लग रहे हैं वहीं सुरक्षा व्यवस्था का ठेका ज-४५ को दिए जाने की भी आलोचना हो रही है

पाकिस्तान से क्रिकेट के नाम पर देश के क्रिकेटर्स बंटते नज़र आ रहे हैं

पाकिस्तान से क्रिकेट के नाम पर देश के क्रिकेटर्स बंटते नज़र आ रहे हैं |सुनील गवास्कार ने जहां २६/११ के आतंकी हमले के आरोपियों को शाह देने वाले पकिस्तान के साथ क्रिकेट डिप्लोमेसी की मुखालफत करते हुए कहा है की अभी तो क्रिकेट का पूरा केलेंडर व्यस्त है ऐसे में पाकिस्तान के लिए बीच में टाईम निकालने की बी सी सी आई को क्या जल्दी है|अभी तक पकिस्तान के साथ २६/११ का मामला भी लंबित ही है मुम्बईकर होने के कारण उन्हें इस निर्णय से पीड़ा हुई है|
दूसरी तरफ एक अन्य वरिष्ठ क्रिकेटर बिशन सिंह बेदी ने पकिस्तान के साथ क्रिकेट खेले जाने की वकालत करते हुए इसे सही दिशा में लिया गया सही कदम बताया है|जहीर अब्बास ने भी क्रिकेट को जरुरी बताया है|
भाजपा+कांग्रेस+शिव सेना और अनेक क्रिकेटर्स इस खेल के विरुद्ध हो रहे है तब बी सी सी आई पर खेल को लेकर ऐसा कौन सा दबाब आ पडा है की सबके विरोध के बावजूद पाकिस्तान और भारत में क्रिकेट खिलाने को उतावला है|

पाकिस्तान के साथ क्रिकेट स्वीकार नहीं

भारत और पकिस्तान में जब से क्रिकेट खेले जाने की बात आउट हुई है तभी से भारतीय खेल जगत और राजनीति में भुन्चाल सा आ गया है |शिव सेना के बाद अब भाजपा और क्रिकेट के वरिष्ठ खिलाडिओं ने भी इसकी मुखालफत शुरू कर दी है|सुनील गवास्कार ने खुले आम भारत और पकिस्तान में क्रिकेट मैच खेले जाने का विरोध किया है
२००८ में मुम्बई पर आतंकी हमले के बाद से पाकिस्तान से कोई भी क्रिकेट मैच नहीं खिला जा सका है |अब बी सी सी आई ने पी सी बी से पेक्ट करके दिसंबर में तीन एक दिवसीय खेलने का करार किया है|२०-२० भी खेले जाने हैं| भाजपा के अनुसार मुम्बई हमले के दोषिओं को अभी तक पाकिस्तान भारत को सौपने को तैयार नहीं है ऐसे में उसके साथ क्रिकेट के सम्बन्ध स्वाकार्य नहीं हो सकते

भारत और पकिस्तान में अब फिर से क्रिकेट मैच खेले जायेंगे

भारत और पकिस्तान में अब फिर से क्रिकेट मैच खेले जायेंगे \इस विषय में भारतीय बी सी सी आई और पकिस्तान की पी सी बी में करार हो गया है |२००८ में मुम्बई पर आतंवादी हमले के बाद से दोनों देशों ने आपस में क्रिकेट नहीं खेली है | अब दिसंबर में ३ एक दिवसीय मेच खेले जायेंगे | महाराष्ट्रा में इसका विरोध होना शुरू हो गया है |इस दोनों टीमो के मैच की प्रतीक्षा अन्तराष्ट्रीय स्तर पर भी रहती है |इससे दोनों देशों के आपसी संबधों में सुधार आ सकता हैलेकिन शिव सेना और महाराष्ट्रा कांग्रेस ने विरोध शुरू कर दिया है||

क्रिकेट लिजेंड कपिल देव निखंज ने आई सी एल छोडी

क्रिकेट लिजेंड कपिल देव निखंज ने आज कागजों तक ही सिमट कर रह गई क्रिकेट लीग[आई सी एल] के निदेशक पद से इस्तीफा दे दिया है|अब गेम पर एक छत्र राज कर रही बी सी सी आई में उनकी वापिसी की उम्मीद बन गई हे |
भारत को पहला वर्ल्ड कप दिलाने वाले कपिल देव ने भारतीय टीम में कोच और नॅशनल क्रिकेट अकेडमी के निदेशक की भूमिका भी निभाई है मगर २००७ में आई सी एल बनने से कपिल को इसका निदेशक बना दिया गया \इस लीग का गठन क्रिकेट में नए खिलाडिओं को लाना और गेम को नई उचाइयां देना था मगर बी सी सी आई गेम पर अपनी वर्चस्वता को शेयर करने को राजी नहीं हुई इसके फलस्वरूप आई सी एल में जाने वाले सभी खिलाडिओं को बी सी सी आई से बाहर कर दिया गया |पिछले कुछ अर्से में कुछ खिलाडिओं ने बी सी सी आई को माफी नामा देकर वापिसी कर ली मगर कपिल आई सी एल को छोड़ने को राजी नहीं हुए |
इसके फलस्वरूप बी सी सी आई ने कपिल की ना केवल पेंशन बंद कर दी बल्कि मिलने वाले सभी लाभों से भी वंचित कर दिया गया| मैचों में भी उन्हें आमंत्रित नहीं किया गया |
अब आई सी एल चल नहीं रही कोई गेम नहीं हो रहे खिलाड़ी तक नहीं रहे ऐसे में इससे चिपके रहने से गेम का कोई भला नहीं होने वाला सम्भवत यही सोच कर कपिल देव ने आई सी एल से त्याग पत्र दे दिया है अब देखना है की बी सी सी आई किस तरह रिएक्ट करती है कया कपिल देव का पूर्ण सम्मान लौटाया जाएगा या फिर खिलाड़ी से खिलाने वाले ही बड़े बने रहेंगे