Ad

Category: World

अमेरिका में सिखों के प्रति वाकई ग़लतफ़हमी है

अमेरिका में सिखों के प्रति कितनी ग़लतफ़हमी है इसका अंदाजा इस नई हाई प्रोफायल कंट्रोवार्शियल स्पीच से हो जाता है
अमेरिका में चुनाव होने हैं इसके लिए डेमोक्रेट्स और रिपब्लिकन्स दोनों चुनावी फंड्स एकत्र करने में जुटे हैं ऐसे ही एक फंड रेसिंग फंक्शन में राष्ट्रपति के लिए रिपब्लिकन उम्मीदवार मिट रोमनी ने विस्कोंसिन गुरुद्वारे में हुए हत्याकांड पर दुःख प्रकट किया मगर सिख गुरूद्वारे को शैख़ टेम्पल कह गए इसे वहां खामोशी छा गई|
श्री रोमनी के प्रवक्ता ने बाद में इसे उच्चारण की गलती बताया
.

पाकिस्तान में बम विस्फोट में चार सुरक्षा कर्मी मरे

पाकिस्तान के ब्लूचिस्तान में मंगलवार रात एक बम के फटने से कम से कम चार सुरक्षाकर्मी मारे गए और दर्जनभर अन्य घायल हुए।
जियो न्यूज के मुताबिक चार सुरक्षाकर्मियों के मारे जाने की पुष्टि कर ली गई है|
समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक अर्धसैनिक बलों की एक वैन के विस्फोट की चपेट में आ जाने से केच में

    यह घटना हुई।बलूचिस्तान कांस्टेबुलरी की एक वैन 15 लोगों को लेकर केच इलाके में जा रही थी। तभी वह सड़क किनारे लगाए गए बम की चपेट में आ गई। केच कराची से 420 किलोमीटर दूर स्थित है। अब तक किसी समूह ने इस हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है।

कैलिफोर्निया स्टेट असेंबली ने भी माना भारत को सबसे बड़ा लोकतंत्र

कैलिफोर्निया स्टेट असेंबली ने भी आखिरकार 15 अगस्त को भारत के स्वतंत्रता दिवस के रूप में मान्यता दी है। साथ ही राज्य के लोगों से विभिन्न संस्कृतियों की विविधता का जश्न मनाने का अनुरोध किया है। बे इलाके के वाइकोवस्की द्वारा प्रस्तुत विषयक प्रस्ताव का समर्थन करते हुए स्पीकर जॉन पेरेज ने भारत की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि यह दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र और विश्व का सबसे महत्वपूर्ण देश है।
विसकंसिन के गुरुद्वारे में रविवार को गोलीबारी की त्रासद घटना में मारे गए लोगों की याद में असेंबली में एक मिनट का मौन भी रखा गया। भारी समर्थन के साथ प्रस्ताव के पारित होने के बाद इसे सैनफ्रांसिस्को में भारत के महावाणिज्य दूत एन पार्थसारथी को सौंप दिया गया। पार्थसारथी को इस मौके पर सदन में विशेष तौर पर आमंत्रित किया गया था।
इस मौके पर फ्रीमोंट के उप मेयर अनु नटराजन और अन्य सामुदायिक नेता भी मौजूद थे।
प्रस्ताव में कहा गया है कि भारत में स्वतंत्रता दिवस सबसे महत्वपूर्ण राष्ट्रीय अवकाशों में से एक है। इस दिन सबसे महत्वपूर्ण कार्यक्रम दिल्ली में होता है, जहां प्रधानमंत्री लाल किले पर ध्वज फहराते हैं और राष्ट्र के नाम संदेश देते हैं। साथ ही देश की आजादी के लिए प्राण न्योछावर करने वालों को श्रद्धांजलि दी जाती है।

अमेरिकी गुरुद्वारे के हीरो को सेल्यूट

सूरा सो पहचानिए जो लड़े दीन के हैत पुर्जा पुर्जा कट मरे कबहू ना छाडे खेत
दशम पादशाही गुरु गोबिंद सिंह जी ने अपने सिखों को मानवीय मूल्यों वाली वीरता का पाठ पढाया था जिसका पालन सात समुन्दर पार अमेरिका के विस्कोंसिन गुरदुवारे में भी किया गया |
६५ वर्षीय सतवंत सिंह कालेका ने महज़ धार्मिक कृपाण को लेकर गुरुद्वारे में कत्ले आम के लिए घुसे गन मेन का किसी देव पुरुष के समान मुकाबिला किया और गुरु द्वारे में आए अनेकों श्रधालुओं को बच कर बाहर निकलने में मदद की |
पर हित धरम सरिस नहीं भाई के सिद्धांत का पालन करने वाले सतवंत सिंह हमेशा दूसरों की मदद को उपलब्ध रहते थे |इनके इस वीरतापूर्वक बलिदान की सर्वत्र श्रद्धापूर्वक चर्चा हो रही है |
गौरतलब है कि इस रविवार को ओअक क्रीक के गुरुद्वारे में एक श्वेत आतंकवादी ने गोली बारी कि जिसमे सात लोग मारे गए थे इनमे एक महिला भी थी|
उस समय गुरूद्वारे के संस्थापक सतवंत सिंह कलेका ने अपनी धार्मिक कृपाण से आतंकवादी का मुकाबिला किया और अपना सर्वोच्च बलिदान दिया|इस बीच अनेको श्रधालुओं को जान बचा कर बाहर निकलने का अवसर मिल गया

अमेरिका ने गुरुद्वारा हत्याकांड के शोक में राष्ट्रीयध्वज झुकाए

अमेरिका ने गुरुद्वारा हत्याकांड के शोक में राष्ट्रीयध्वज आधे झुकाए
अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अपने निवास और फेडेरल की सभी बिल्डिंग्स पर लगे राष्ट्रीय ध्वज को आधा झुकाने के आदेश दे दिए हैं| रविवार को ओअक क्रीक के एक गुरुद्वारे में मारे गए निर्दोष सिखों के सम्मान में यह आदेश दिया गया है| ओबामा ने इस अवसर पर विश्व बन्धुत्त्व वाले मानवीय द्रष्टिकोण अपनाने का सन्देश भी दिया
काले रविवार के शूट आउट में मारे गए चार भारतीय थे जबकि एक सिख ग्रंथी दिल्ली से हाल ही में वहां गया था |इसकी पुष्ठी अमेरिका में भारतीय दूतावास से की गई है|
भारत के प्रधान मंत्री डाक्टर मन मोहन सिंह +पंजाब के चीफ मिनिस्टर प्रकाश सिंह बादल+सुखबीर सिंह बादल आदि ने इस नृशंश हत्या काण्ड की निंदा की है और अमेरिका में सिखों के प्रति फैलाए जा रहे दुष्प्रचार को रोके जाने के प्रयास किये जाने की मांग भी की गई है|गौरतलब है की सिखों की वेश भूषा के कारण इन्हें भी आतंकवादी अलकायदा से जोड़ लिया जाता है कई स्थानों पर सिखों के साथ बदसुलूकी भी हो चुकी है|
नार्थ अमेरिका में भी इसका जबरदस्त विरोध हो रहा है|नार्थ अमेरिका पंजाबी एसोशियेशन [न पा]के पदाधिकारी सतनाम सिंह चहल और इंडियन ओवरसीज कांग्रेस के विक्रम बाजवा फेडरेशन आफ इंडियन अमेरिकन्स के झापरा आदि अनेकों संस्थाओं ने शोक व्यक्त करते हुए भारत और अमेरिकी सरकार से संयुक्त प्रयास करके सिखों के विषय में फैलाई जा रहे भ्रांतियों को दूर किये जाने की मांग की है

हिरोशिमा में बम गिराए जाने की ६७वी बरसी मनाई गई

हिरोशिमा में अमेरिकी परमाणु बम गिराए जाने की आज 67वीं बरसी है| इस अवसर पर परमाणु हथियारों के खात्मे की मांग दोहराई गई है| इस अवसर पर हिरोशिमा में शान्ति समारोह आयोजित किया गया जिसमे ५०००० लोगों ने भाग लिया |
दिवंगत अमेरिकी राष्ट्रपति हैरी ट्रूमेन ने ही पश्चिमी जापानी शहर हिरोशिमा पर बम गिराने का आदेश दिया था। अमेरिकी रडारमेन जैकब बीजेर उन दोनों विमानों में थे, जिन्होंने हिरोशिमा और नगासाकी पर बम गिराए थे।हिरोशिमा पर छह अगस्त 1945 को परमाणु बम गिराया गया था।इससे १४०००० लोग मारे गए थे और उस बम के लेटर इफेक्ट के निशान अभी तक दिखाई दे रहे हैं|
बम हमले की बरसी पर देश में परमाणु बम विस्फोट की वजह से हुए रेडियेशन के कारण जीवित बचे लोगों को हो रही स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं को देखते हुए उनकी अधिक से अधिक मदद करने का आह्वान भी किया गया। यहां एक स्मारक भी तैयार किया गया है। अभी हाल ही में जापान में परमाणु रिएक्टर में रिसाव के कारण परमाणु कार्यक्रम का काफी विरोध हुआ था लेकिन इस सब के बावजूद जापान के प्रधान मंत्री ने परमाणु कार्यक्रम जारी रखने का फैसला किया है|

नासा का स्पेसक्राफ्ट मार्स रोवर- क्यूरियोसिटी स्काईक्रेन के जरिए मंगल पर लैंड हुआ।

अमेरिकी हाई टेक मार्स रोवर क्यूरियोसिटी मंगल की सतह पर सफलता पूर्वक उतर गया है। । भारतीय समयानुसार सोमवार करीब 11 बजे गेल क्रेटर में इसकी लैंडिंग हुई। नासा इसका लाइव प्रसारण किया जा रहा है| इस मिशन में कुछ भारतीय वैज्ञानिक भी शामिल हैं।
मार्स साइंस लेबोरेटरी के शोध के आधार पर ही मंगल ग्रह पर मानव को भेजने की योजना साकार हो सकेगी। नासा का यह स्पेसक्राफ्ट मार्स रोवर- क्यूरियोसिटी स्काईक्रेन के जरिए मंगल पर लैंड हुआ। जैसे ही यह स्पेसक्राफ्ट मंगल पर लैंड हुआ और इससे सिग्लन मिलने लगे, नासा के वैज्ञानिक जश्न में डूब गए। नासा के वैज्ञानिकों को इस स्पेसक्राफ्ट से तस्वीरें मिलने लगी हैं।
: 6 पहियों वाले क्यूरियोसिटी का वजन 900 किलो है। ऊंचाई 3 मीटर, स्पीड औसतन 30 मीटर प्रति घंटा। यह रोवर मंगल पर 2 साल काम करेगा। इस दौरान कम से कम 19 किलोमीटर की दूरी तय करेगा। यह रोवर नासा ने 26 नवंबर 2011 को केप कैनेवरल स्पेस स्टेशन से एटलस-5 नामक रॉकेट से लॉन्च किया था। रोवर मंगल पर रेडियोआइसोटॉप जेनरेटर से मिलने वाली बिजली से चलेगा। ईंधन के रूप में प्लूटोनियम-238 का इस्तेमाल होगा।
इस मिशन में मंगल के मौसम, वातावरण और भूगोल की जांच होगी। इनसे मिले आंकड़ों से तय होगा कि क्या मंगल पर जीवन की कोई संभावना है।
इंडियन एंगल: नासा साइंटिस्टों और इंजिनियरों में कई भारतीय मूल के हैं। यही नहीं, रोवर में लगाए गए एक माइक्रोचिप पर 59,041 भारतीयों के नाम भी दर्ज हैं। असल में नासा ने पूरी दुनिया से लोगों को मिशन में हिस्सेदारी करने के लिए इनवाइट किया था। इस पर अमेरिका से सबसे ज्यादा 5,29,386, फिर ब्रिटेन से 77,329 नाम आए। तीसरे नंबर पर भारतीय रहे।
पिछले मार्स रोवर और उनका हासिल
जून व जुलाई 2003 को नासा ने स्पिरिट और फिर ऑपरट्यूनिटी नामक मार्स रोवरों से लदे दो रॉकेटों को मंगल की ओर रवाना किया था। स्पिरिट ने शुरुआती एक वर्ष में ही गुसेव क्रेटर की पड़ताल की। इस क्रेटर के बारे में माना जाता था कि यह गड्ढा वहां पानी की झील रहने के कारण बना होगा, पर स्पिरिट ने जो आंकड़े भेजे हैं, उनसे वहां पानी की मौजूदगी का कोई प्रमाण नहीं होने की पुष्टि हुई। ऑपरट्यूनिटी को चट्टानों में हेमेटाइट नामक खनिज का पता चला, जिसे पानी की उपस्थिति का अच्छा प्रमाण माना जाता है। पर स्पिरिट और ऑपरट्यूनिटी, दोनों मिलकर साबित नहीं कर पाए कि मंगल कभी आबाद था या वहां पानी वास्तव में था। 1960 से अब तक इंटरनैशनल लेवल पर 39 मार्स मिशन हो चुके हैं। इनमें से 17 को आंशिक या पूर्ण सफलता मिली है। कामयाब होने वाल मिशनों में ज्यादातर अमेरिकी मिशन रहे हैं।
यह अब तक का सबसे महँगा मिशन बताया जा रहा है

अमेरिकी गुरूद्वारे में काले रविवार में फायरिंग से सात मरे बीस घायल

अमेरिका के विस्कोंसिन ओक क्रीक में रविवार को अज्ञात श्वेत हमलावरों ने [११बजे स्थानीय टाईम]एक गुरुद्वारे में घुसकर गोलीबारी की। इससे सात निर्दोष श्रधालुओं की मौत हो गई। बाद में पुलिस की कार्रवाई में एक हमलावर भी मारा गया। 20 से अधिक लोग घायल भी हुए हैं। पोलिस इसे आंतरिक आतंक वाद के रूप में देख रही है| विदेश मंत्री कृष्णा ने राजदूत निरुपमा से संपर्क साधा है|अमेरिकी राष्‍ट्रपति बराक ओबामा ने सुरक्षा अधिकारियों के साथ बैठक की है।
बताया गया है कि मारे गए लोगों में चार की मौत गुरुद्वारे के अंदर हुई, वहीं तीन लोग बाहर मारे गए। मारे गए लोगों की पहचान नहीं हो पाई है। अमेरिका के गुरुद्वारों में रविवार को विशेष धार्मिक आयोजन होते हैं सामूहिक लंगर[लंच] भी छकाया जाता है ऐसे में रविवार को श्रधालुओं की संख्या अन्य दिनों के मुकाबिले अधिक होती है| इस काले रविवार की सुबह भी एक विशेष कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए गुरुद्वारे में जमा हुए लोगों की संख्या अधिक थी|। इस काले रविवार में साथ लोग मारे गए और २० जख्मी हुए जबकि अनेकों बच्चे गुरुद्वारे में ही बंधक हैं| पुलिस ने सूचना मिलते ही गुरुद्वारे को घेर लिया। पुलिस ने देर रात तक इस बात की पुष्टि नहीं की थी कि हमले में एक ही हमलावर शामिल था या उनकी संख्या ज्यादा थी। देश के सभी गुरुद्वारों की सुरक्षा बड़ा दी गई है|
विदेश मंत्री एसएम कृष्णा ने घटना के बारे में अमेरिका में भारतीय राजदूत निरुपमा राव से बात की। राव ने कृष्णा को बताया कि वह व्हाइट हाउस से संपर्क में बनी हुई हैं। पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने इस घटना की निंदा की है।
गौर तलब है कि निकट भविष्य में वहां चुनाव होने हैं \ डेमोक्रेट्स और रिपलिकंस दोनों ही भारतीयों को लुभाने में लगे हैं यहाँ तक कि भारतियों द्वारा इनके लिए चुनावी फंड भी इकट्टा कराया जा रहा है \लेकिन एक धड़े ने बराक ओबामा पर भारतीयों के साथ आउट सोर्सिंग पर आपत्ति दर्ज करने के लिए बराक कि आलोचना भी कि थी और भारतीय वोटों को ओबामा के खिलाफ होने का अंदेशा हो रहा है ऐसे में गुरुद्वारे में फायरिंग से राजनितिक सवालों का भी जवाब ढूंडा जाना जरुरी है\

पाकिस्तान में बम विस्फोट में चार मरे

पाकिस्तान में आज एक कार बम विस्फोट में चार लोग मारे गए, जबकि 10 घायल हो गए, जिनमें महिला तथा बच्चे भी है।
विस्फोट पाकिस्तान के दक्षिण-पश्चिमी क्वेटा शहर में हुआ।
समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, विस्फोट दोपहर में हुआ। विस्फोटकों से भरी कार फैजाबाद आवासीय कॉलोनी में खड़ी थी। इसे रिमोर्ट कंट्रोल से विस्फोट कर उड़ाया गया। विस्फोट के बाद एक मकान गिर गया, जबकि दो अन्य क्षतिग्रस्त हो गए।
कुछ लोगों के मलबे में दबे होने की आशंका जताई जा रही है। राहतकर्मी मलबे को अच्छी तरह से देख रहे है कि कहीं वहां कोई व्यक्ति तो नहीं फंसा। अभी तक किसी भी समूह ने हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है।

मिसाईल परीक्षण करके ईरान ने दी अमेरिका और इजराईल को चुनौती

ईरान ने जमीन और पानी में मार करने वाली कम दूरी की मिसाइल का सफल परीक्षण करके सीधे टूर पर अमेरिका और इजराईल को सामरिक चुनौती दे दी है|। ईरान के रक्षामंत्री जनरल अहमद वाहिदी ने कहा कि फतह-110 ठोस ईधन से संचालित है और यह 300 किलोमीटर दूर तक मार कर सकती है।
इस मिसाइल ने परीक्षण के दौरान समुद्र और जमीन पर सफलतापूर्वक लक्ष्य भेदे गए हैं । ईरान की सेना का दावा है कि फतह-110 उनके जखीरे की सबसे उन्नत और अचूक निशाने वाली मिसाइल है। इस मिसाइल की नियंत्रण प्रणाली बेहद आधुनिक है। श्री वाहिदी ने अपनी महत्वकांक्षाओं को उजागर करते हुए बताया कि इससे क्षेत्र में मौजूद अमेरिकी ठिकानों और इजरायल तक हमले किए जा सकते हैं।
फतह-110 को 2002 में ईरान की सेना में शामिल किया गया था। विवादित परमाणु कार्यक्रम को लेकर ईरान का इजरायल और अमेरिका के साथ टकराव चल रहा है। हालांकि, ओबामा प्रशासन इस मसले का हल कूटनीतिक रास्ते से निकालने का दावा कर रहा है, लेकिन इजरायल का मानना है कि ईरान इतनी आसानी से नहीं मानने वाला।
इजरायल ने शंका व्यक्त की है कि अगर ईरान ने परमाणु हथियार बनाए तो वह हमला कर देगा। कुछ दिन पहले अमेरिका और इजरायल ने आपात स्थिति में ईरान पर हमले की रणनीति साझा की थी। ऐसे में ईरान तेजी के साथ सैन्य शक्ति बढ़ा रहा है। विवादित परमाणु कार्यक्रम को लेकर छह शक्तिशाली देशों के साथ ईरान वार्ता कर रहा है, लेकिन इससे अभी तक कोई ठोस नतीजा नहीं निकला है।