Ad

नर सिम्हा राव को जिस तरह विलेन बनाया गया था उसी तर्ज पर डॉ मन मोहन सिंह की छवि को धूमिल किया जा रहा है?

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

कांग्रेसी चीयर लीडर

ओये झल्लेया देखा हसाड़े नेता राहुल गाँधी दा कमाल !ओये अपनी पार्टी+ अपनी सरकार को करके दरकिनार उन्होंने दागी मंत्रियों को अभय दान देने वाले अध्यादेश की धज्जियां उधेड़ कर रख दी | इस अध्यादेश पर मंजूरी की मुहर लगाने वाले कैबिनेट के ज्यादातर मंत्री भी राहुल जी के पीछे आ खड़े हुए हैं| ओये अब तो मानता है न कि चुनावों की हवा का रुख हसाडी तरफ मुड गया है इस एक झटके से भाजपाई नरेन्द्र मोदी भी सकते में आ गए हैं|ओये अब तो पी एम् के देश में लौटते ही इस काले आर्डिनेंस को अंधेरों में धकेल दिया जाएगा|

झल्ला

ओ मेरे चतुर सुजाण जी अश्विनी कुमार और पवन बंसल को बाहर का रास्ता दिखाने वाले गुट ने ही अब कपिल सिब्बल [आर्डिनेंस के रचियेता]जैसे धुरंधरों के नकेल डलवाने के लिए राहुल गाँधी से यह राजनीतिक गुलाठी खिलवाई है| झल्लेविचारानुसार क्योंकि इतिहास अपने आप को दोहराता है इसीलिए नर सिम्हा राव को जिस तरह विलेन बना कर कांग्रेस के पहले परिवार को महिमा मंडित किया गया था उसी तर्ज पर डॉ मन मोहन सिंह की छवि को धूमिल किया जा रहा है और राहुल गाँधी के हाथों में सरकार का रिमोट कण्ट्रोल थमाने की कवायद शुरू हो गई है|