Ad

भापा जी प्रॉफिट की हवा में उड़ने वाली एयर लाइन्स के पावँ जमीन की समस्यायों पर नही रह पाते

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

एक दुखी हवाई यात्री

ओये झल्लेया ये एयर लाइन्स वालों ने हसाडा क्या मखौल बना रखा है|ओये एक तरफ तो ये लोग किफायती +तसल्लीबक्श और तुरंत सेवा देने के दावे करने के लिए विज्ञापनी ड्रम पीटते जा रहे हैं लेकिन ग्राउंड पर प्लेन टकरा रहे है जान सुखा रहे हैं + बैग गायब हो रहे हैं और अब तो हद ही हो गई ओये हाईली पेड +टेक्निकली सेफ कम्यूटर सिस्टम भी समस्या देने लग गया है| बीते सप्ताह अन्तराष्ट्रीय स्तर के आई जी आई एयर पोर्ट पर प्लेन्स के डोकिंग सिस्टम की हवा निकल गई और उसने टर्मिनल ३ से शद्युल्ड लगभग २१ फ्लाईट्स के घरेलू और अन्तराष्ट्रीय सैंकड़ों हवाई यात्रियों की डेड़घंटे तक हवा खराब कर के रखे रखी | अधिकाँश सस्ती सेवाओं का दावा करने वाली एयर लाइन्स की क्या यही वास्तविकता है?

भापा जी प्रॉफिट की हवा में उड़ने वाली एयर लाइन्स के पावँ जमीन की समस्यायों पर नही रह पाते

भापा जी प्रॉफिट की हवा में उड़ने वाली एयर लाइन्स के पावँ जमीन की समस्यायों पर नही रह पाते

झल्ला

ओ बाऊ जी साहब पुराने सयाने कह गए हैं कि हर चीज जो चमकती है उसको सोना नहीं कहते |नहीं समझे |अरे भापा जी प्रॉफिट की हवा में उड़ने वाली एयर लाइन्स के पावँ जमीन की समस्यायों पर नही रह पाते |