Ad

मोदी भापा अमृतसर के दुर्ग्याणा मंदिर को भी रामायण सर्किट में जोड़ पायेगा ?

मोदी भापा अमृतसर के दुर्ग्याणा को भी रामायण सर्किट में जोड़ पायेगा ?

मोदी भापा अमृतसर के दुर्ग्याणा को भी रामायण सर्किट में जोड़ पायेगा ?


झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

भाजपाई चेयर लीडर

औए झल्लेया ! हसाड़े मोदी जी ने तो कमाल कर दिया
चीन के कब्जे में जा रहे पड़ौसी नेपाल में जा कर विकास के साथ ही हिंदुत्व के झंडे गाड़ दिए|

Narendra Modi offering prayers at Janaki Mandir, in Janakpur, Nepal

Narendra Modi offering prayers at Janaki Mandir, in Janakpur, Nepal


झल्ला

ओ मेरे चतुर सेठ जी !मोदी भापा ,दुर्ग्याणा मंदिर को भी रामायण सर्किट में जोड़ पाएंगे?
ठीक है मोदी भांपे की इस कूटनीति के देवनीतिकरण से कईयों के सीने पर सांप लौटने लगे हैं,लेकिन अयोध्या से जनकपुर तक के पौराणिक इतिहास के पश्चात् राम और सीता के पुत्र लव और कुश की गाथाओं का स्मरण भी आवश्यक है |सेठ जी! पंजाब की धर्म नगरी अमृतसर के प्राचीन दुर्ग्याणा मंदिर में बढे हनुमान जी

 Narendra Modi & K.P. Sharma Oli flags off bus from Nepal’s Janakpur to Uttar Pradesh’s Ayodhya,

Narendra Modi & K.P. Sharma Oli flags off bus from Nepal’s Janakpur to Uttar Pradesh’s Ayodhya,


है| मान्यतानुसार यहां लव -कुश ने श्रीराम का अश्वमेघ यज्ञ का घोडा रोक कर हनुमान जी को बंदी बनाया था||यह झल्लयत आपके रामायण सर्किट के लिए प्रस्तुत है