Ad

सिद्धू भा जी! रिफ्यूजियों की जमीन ढूंढ लो वारे के न्यारे हो जाने हैं

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

पंजाब कांग्रेसी चेयर लीडर

औए झल्लेया मुबारकां !हसाड़े लोकल बॉडी मिनिस्टर नवजोत सिंह सिद्धू ओनली चैनल पर हँसते ही नहीं रहते वरन प्रदेश की खुशहाली के लिए काम भी कर रहे हैं |हसाड़े सिद्धू ने शहरी और पंचायती जमीनों के सरंक्षण का काम शुरू करा दिया है और ३० अप्रैल तक रिपोर्ट भी मांग ली है |यकीन करो इसके बाद तो पंजाब में चल रही जमीनों की बंदरबांट +लैंड ग्रैबिंग सब बंद होजानि है |सरकारी खजाना भर जाना है|

झल्ला

ओ मेरे भोले बादशाहो ! १९४७ में पंजाब छोड़ कर पकिस्तान गए मुस्लिम परिवारों की जमीने कागजों पर तो आने वाले रिफ्यूजियों के नाम कर दी गई लेकिन उन्हें कब्जा आज तक नहीं मिला है |ग्रामीण और शहरों में ऐसी जमीने ढूंढ निकाले तो हो जाने हैं सबके वारे न्यारे