Ad

छोटी सी मधुमखी प्रकृति का विशाल सृष्टि को वरदान है

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

पर्यावरण प्रेमी

औए झल्लेया मुबारकां!औए विभिन्न पुष्पों में पराग का संचार करने और मानवजाति मीठा+पौष्टिक शहद देने वाली मधुमखी के सरंक्षण के लिए विश्व भर में आज “पोलिनेटर बी” मधुमखी दिवस मनाया जा रहा है|औए हमें भी इस दिशा में अपना योगदान देना चाहिए |इससे टूरिज्म को भी बढ़ावा मिलेगा

झल्ला

बाऊ जी, वाकई पुष्पों का एक दुसरे में पराग पहुंचा कर ये छोटी सी मधुमखी प्रकृति का सृष्टि को वरदान है |भारत सरकार को भी मधुमखी पालन को बढ़ावा देना चाहिए |