Ad

कोयले की काली कमाई कांग्रेस और सरकार ने खाई= सुषमा

संसद को पांचवे दिन भी ठप्प रखने वाली भाजपा की लोक सभा में नेत्री श्रीमति सुषमा स्वराज़ ने एक प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि प्रधानमंत्री ने बस अपने बयान में एक अच्छी बात कही है कि वो मंत्रालय की ज़िम्मेदारी लेते हैं और उन्हें नैतिक ज़िम्मेदारी लेते हुए पद से इस्तीफा दे देना चाहिए |उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री अपनी नैतिक ज़िम्मेदारी लें. जबानी जमा खर्च न करें नैतिक ज़िम्मेदारी लेकर इस्तीफा दें और सारे कोल ब्लॉक के आवंटन रद्द किए जाएं|
सुषमा स्वराज ने कड़े तेवर अपनाते हुए कहा “मैं आरोप लगाती हूं कि कोयला ब्लॉक के आवंटन में जो भ्रष्टाचार हुआ है.इससे जो पैसा आया है वो कांग्रेस पार्टी को गया है सरकार को गया है. जांच हो इसकी निष्पक्ष तो

पार्टी और सरकार दोनों एक ही कटघरे में मिलेंगे”

पार्टी ने आरोप लगाया कि जितनी जल्दी नीति लाने में हुई उससे अधिक जल्दी कोयला के ब्लॉक आवंटित करने में जल्दी हुई. सरकार ने चार वर्षों में 142 कोयला ब्लॉक आवंटित किए जबकि इन्हीं चार वर्षों में राज्य सरकारों ने करीब 70 कोयला ब्लॉक आवंटित किए.
प्रधानमंत्री के बयान में शेर के जवाब में सुषमा का कहना था कि सवालों के जवाब से खुद बेआबरु होने से बचने के लिए आदमी चुप रहता है

संसदीय कार्यवाही पांचवे दिन भी हंगामे को भेंट

संसद की कार्यवाही आज पांचवे दिन भी हंगामे की भेंट चढ़ गई|
कोयला घोटाले में कथित अनियमितता पर नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (सीएजी) की रिपोर्ट को लेकर प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के इस्तीफे की मांग कर रहे विपक्षी दलों ने सोमवार को भी संसद के दोनों सदनों में जमकर हंगामा किया, जिसके कारण लोकसभा और राज्यसभा की कार्यवाही पूरे दिन के लिए स्थगित कर दी गई|.
कई बार के स्थगन के बाद संसद के दोनों सदनों की कार्यवाही जब एक बार फिर दोपहर दो बजे शुरू हुई तो विपक्षी दलों के सदस्य फिर इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के इस्तीफे की मांग करने लगे. उनके हंगामे को देखते हुए दोनों सदनों की कार्यवाही पूरे दिन के लिए स्थगित कर दी गई|
पी एम् का जवाब संसद में शोर के कारण सदन के पटल पर रखा गया|

पी एम् बेचारा चुप रहे या बोले एक यक्ष प्रश्न

अपनी वाणी पर नियंत्रण रखने में बदनाम प्रधानमंत्री डाक्टर मनमोहन सिंह ने कोयला आवंटन मुद्दे पर आज जब संसद में जवाब देना शुरू किया तब विपक्ष ने शोर किया तब उन्होंने अपनी श्रवण शक्ति पर भी कंट्रोल किया और संसद में शोर शराबे के बीच जवाब पेश कर ही दिया |पी एम् ने |कड़ा रुख अपनाते हुए कहा है कि इस मामले में गड़बड़ी के सारे आरोप गलत हैं और कैग की रिपोर्ट विवादास्पद जिसे पी ऐ सी में चुनौती दी जाएगी.
संसद से बाहर प्रधानमंत्री ने प्रेस को एड्रेस करते हुए कहा, ‘‘ मैं देश को ये आश्वासन देना चाहता हूं कि हमारा पक्ष बिल्कुल सही है. कैग की रिपोर्ट विवादास्पद है और जब ये रिपोर्ट संसदीय लेखा समिति के सामने आएगी तो हम उसे चुनौती देंगे. हम विपक्ष से आग्रह करते हैं कि संसद चलने दें ताकि जनता ये फैसला करे कि कौन सही है और कौन ग़लत.’’प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘ मेरा रवैय्या यही रहा है कि मैं आधारहीन बार बार लगाए जा रहे आरोपों पर नहीं बोलता हूं. मेरा रुख रहा है कि हज़ारों जवाबों से अच्छी है मेरी खामोशी, न जाने कितने सवालों की आबरु रखी.’’
गौर तलब है कि पिछले चार दिनों से प्रधानमंत्री के इस्तीफ़े की मांग को लेकर विपक्ष संसद नहीं चलने दे रही है.कल मंगलवार को पी एम् का देश से बाहर जाने का कार्यक्रम है सो इस मुद्दे पर आज सोमवार को प्रधानमंत्री ने संसद में बयान रखा| इस पर भी भारी शोर शराबा हुआ\

सूत्रों की अगर माने तो सरकार को बाहर से सहयोग कर रही बी एस पी को पी एम् के जवाब पर चर्चा कराने के लिए नोटिस देने पर राज़ी कर लिया गया है|मंगलवार को संसद में चर्चा कि कार्यवाही प्रारम्भ कराई जा सकती है|लेकिन भाजपा किसी भी कीमत पर पी एम् के इस्तीफे से कम पर राजी नहीं हुई है|

श्री सिंह ने यह भी कहा कि वो इस मुद्दे पर अपनी बात रखना चाहते थे. उनका कहना था, ‘‘ ये एक बड़ा मुद्दा था और मैं पूरे देश के सामने, संसद के सामने अपना पक्ष रखना चाहता था. मुझे दुख है कि विपक्ष ने मुझे अपनी बात नहीं रखने दी.’’प्रधानमंत्री ने भारी शोर शराबे के बीच लोकसभा में अपना बयान पढ़ा जिसे सुना जा सकना असंभव था.\ पी एम् के बयाँ के कुछ अंश ट्विट्टर पर भी डाले गए हैं\
भाजपा अविश्वाश प्रस्ताव ले आये

क़ानून मंत्री सलमान खुर्शीद ने भाजपा को अविश्वाश प्रस्ताव के घेरे में लाने को ललचाया \उन्होंने कहा है कि भाजपा अगर सरकार के जवाब से संतुष्ट नहीं है तो संसद में अविश्वाश प्रस्ताव ले आयें उस पर दूध का दूध और पानी का पानी हो जायेगा\

संसद का प्रश्न काल शोर गुल में स्वाहा हुआ

संसद के दोनों सदन आज ११.०५ पर १२.०० तक के लिए स्थगित कर दिए गए हैं|
लोक सभा में सबसे पहले व्योवर्द्ध अभिनेता पद्म विभूषण से अलंकृत ऐ के हंगल को श्रधांजलि दी गई इसके पश्चात शुरू हुए प्रशन काल में आंध्र प्रदेश के सांसद के प्रश्न का मंत्री द्वारा उतर देते समय भाजपा ने कोयला घोटाले के सिलसिले में पी एम् के इस्तीफे की मांग शुरू कर दी शोर शराबे के चलते स्पीकर मीरा कुमार ने सदन १२ बजे तक के लिए स्थगित कर दिया\
दूसरे सदन में मोहम्मद हामिद अंसारी ने अन्दर १९ क्रिकेट टीम और टीम इंडिया द्वारा सन्डे में दोहरी सफलता अर्जित करने पर बधाई पत्र पडा जिसका सभी ने मेजें थपथपा कर समर्थन किया इसके पश्चात कार्यवाही शुरू होते ही शोर शुरू हो गया और श्री अंसारी ने १२ बजे तक के लिए सदन स्थगित कर दिया

केजरीवाल ब्रिगेड के विरुद्ध केस दर्ज़

अरविन्द के कल के कोयला घेराव को पानी की बौछारों में धोने का प्रयास करने के उपरान्त अब अरविन्द और ४ सहयोगियों पर केस दर्ज करा दिया है|कोयला घोटाले को लेकर नेताओं का विरोध करने पहुंचे अरविन्द आदि को हिरासत में लेने के तत्काल बाद रिहा कर दिया गया था मगर इसके साथ ही संसद मार्ग थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है|
प्रशांत भूषण+मनीष शिशोदिया+गोपाल राय+नीरज कुमार के भी विरुद्ध दंगा भड़काने +सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाने+और सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने के आरोप लगाए गए हैं|

अमेरिका और भारत बनेंगें भू राजनीतिक सहयोगी

अमेरिकी व्हाईट हाउस की रेस में डेमोक्रेट्स और रिपब्लिकन्स दोनों ही भारतीय मूल के लोगों को लुभाने में लगे हैं|डेमोक्रेट बराक ओबामा जहां सिखों के जख्मो पर हमदर्दी का मलहम लगा रहे हैं तो उनके विरोधी रिपब्लिकन रोमनी की पार्टी ने भारत को अमेरिका का महत्वपूर्ण सहयोगी स्वीकार किया है। पार्टी अगले सप्ताह टांपा में आयोजित होने वाले पार्टी के राष्ट्रीय सम्मेलन में भारत को अपना भू राजनीतिक सहयोगी + रणनीतिक व्यापारिक भागीदार घोषित कर सकती है|इसके साथ ही पार्टी ने अमेरिकी निवासी भारतीयों की सुरक्षा की भी मांग की है।
रिपब्लिकन पार्टी प्लेटफार्म कमिटी की विदेश नीति व रक्षा उप समिति ने दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र के साथ मजबूत रिश्ते कायम करने के प्रस्तावित मसौदे को मंजूरी दे दी है। पार्टी द्वारा भारत के साथ राष्ट्रीय सुरक्षा सहित आर्थिक और सांस्कृतिक रूप से रिश्ते मजबूत करने की इच्छा जताई गई है|

किरण बेदी बोली “में केजरीवाल नहीं”

नई दिल्ली। अन्ना टीम की अहम् सहयोगी किरण बेदी ने खुल कर कह दिया है “में केजरीवाल नहीं”
बेदी ने केजरीवाल के कल के आन्दोलन का समर्थन नहीं किया था इसपर केजरीवाल ने बी जे पी के प्रति नर्म रुख अपनाने के लिए बेदी की आलोचना भी की थी\इसीका उतर देते हुए बेदी ने कहा है कि एक साथ दो फ्रंट खोलना अकल मंदी नहीं है\रातों रात बनाया गया संगठन कोई विकल्प नहीं बन सकता |
कोयला घोटाले में अरविंद केजरीवाल द्वारा भाजपा को भ्रष्टाचार में कांग्रेस के बराबर दोषी ठहराए जाने से उनकी प्रमुख सहयोगी किरण बेदी ने खुद को पूरी तरह अलग कर लिया है। यहां तक कि नेताओं के घेराव के कार्यक्रम में भी बेदी ने भाग नहीं लिया। उन्होंने अपनी पुराणी थेओरीको दोहराते हुए कहा कि अभी आंदोलन को सत्तारूढ़ दल के खिलाफ ही केंद्रित रहना चाहिए।
भाजपा के प्रति अपनी टीम में मतभेद की बात केजरीवाल ने भी मानी है।
उनके मुताबिक किरण बेदी को भाजपा से कुछ उम्मीदें हैं+ लेकिन मुझे इस पार्टी से कोई उम्मीद नहीं है। इस तरह उन्होंने न सिर्फ बेदी की भाजपा के प्रति नरमी का बल्कि इस पार्टी की ओर झुकाव की ओर भी इशारा कर दिया है। खुद अन्ना ने भी रविवार को साफ कह दिया कि भ्रष्टाचार के मामले में वे भाजपा और कांग्रेस को बराबर का दोषी मानते हैं।
इसके बावजूद किरण बेदी ने रविवार को कहा कि वे चाहती हैं कि अभी भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन सत्तारूढ़ पार्टी के विरोध तक ही केंद्रित रहना चाहिए। इसका दायरा बढ़ाना इस समय ठीक नहीं होगा।उन्होंने इसके बावजूद केजरीवाल और पूर्व टीम अन्नाके इस प्रदर्शन के साथ होने की बात कही है| रविवार को किरण बेदी इंडिया अगेंस्ट करप्शन के मंच पर नहीं पहुंचीं।गौरतलब है कि यह आन्दोलन पूरी तरह से अरविन्द केजरीवाल का शो था और उनके समर्थकों ने में अन्ना हूँ वाले टोपी के बजाय में केजरीवाल हूँ वाली टोपी पहनी हुई थी

मैथ्स में पास कराने को काली कमाई का हिसाब बच्चे से कराओ

२+२=5

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

एक मोटे पेट वाला नेता

ओये झल्लेया ये मैं अपने बेटे का क्या इलाज़ करूँ\
अब देख सारे विषयों में डिस्टिंक्शन और मैथ्स में फ़ैल
इसका मैथ्स कैसे सुधारूं ??

झल्ला

नेता जी इसका इलाज़ तो आप के घर में ही है|
आप की जो टेबल के नीचे की मेरा मतलब है
दो नंबर की अरे भाई काली कमाई का हिसाब किताब
इस बच्चे से करवाना शुरू कर दो | गारंटी है
एक महीने में मैथ्स में तो फर्राटे भरने लगेगा

मीरा ने कान्हा प्रेम बेल को विरह आंसुओं से सींचा

अंसुवन जल सींच-सींच प्रेम बेलि बोई
अब तो बेल फ़ैल गई, आनंद फल होई.

संत मीराबाई ने प्रभु के प्रति अपनी विरह वेदना प्रकट करते हुए कहा है
कि मैंने अपने विरह आंसुओं से प्रेम की बेल को सींचकर विकसित किया है
वह बेल तन, मन और प्राणों पर छा गई है अब उसपर आनंद के फल लगने
लगे हैं . मेरे स्नेही प्रभु ने मुझे ह्रदय से लगा लिया है अर्थात मैंने प्रभु के प्रेम
का आनंद प्राप्त कर लिया है.
उल्लेखनीय है कि मीरा की विरह व्यथा कवि की मात्र कल्पना उड़ान के समान नहीं
है. संत मीराबाई के पद उनके अनुभवों की अभिव्यक्ति हैं. वास्तव में उनके पद उस प्रेम
दीवानी के सुख-दुखों का वृतांत है.
संत मीरा वाणी

ऐ के हंगल पंचतत्व में विलीन

वयोवृद्ध फिल्म और स्टेज अभिनेता ए.के. हंगल का पार्थिव शरीर आज रविवार दोपहर को हो गया।श्री हंगल के पुत्र विजय ने चिता को मुखाग्नि दी।
श्री हंगल का रविवार सुबह निधन हो गया। वह कूल्हे की हड्डी टूट जाने के कारण लम्बे समय से बीमार थे। । उनकी मौत मुख्यरूप से उम्र सम्बंधित कारणों से हुई है।
श्री हंगल का अंतिम संस्कार एक बजे विले पार्ले श्मशान घाट में हुआ।
तीसरी कसम से हिन्दी फिल्म उद्योग का हिस्सा रहे श्री हंगल ने लगभग 225 फिल्मों में काम किया। बीते साल वह अपनी आय के साधन खत्म हो जाने के बाद आजीविका के लिए संघर्ष कर रहे थे और उनके पास भोजन और दवाइयों तक के लिए पैसे नहीं बचे थे। इसके बाद अभिनेता अमिताभ बच्चन और आमिर खान जैसे फिल्म उद्योग के बहुत से लोगों ने उन्हें आर्थिक मदद की पेशकश की थी। हंगल कुछ दिन पहले ही छोटे पर्दे के धारावाहिक ‘मधुबाला’ में नजर आए थे।>
वयोवृद्ध अभिनेता और वाम पंथी विचारों वाले ऐ के हंगल ने आज सुबह ९ बजे मुम्बई में अंतिम साँस ली |
वयोवृद्ध अभिनेता अवतार किशन हंगल[ ए के हंगल] की तबीयत ज्यादा खराब होने पर । मुंबई के आशा पारिख हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था
हालत में सुधार नहीं दिखने के कारण उन्हें वेंटिलेटर से हटा दिया गयाथा
, घर में गिरने की वजह से उनके हिप में फ्रेक्चर हुआ था जिसे ऑपरेट नहीं किया जा सकता है। ए के हंगल उम्र 95 साल थी और उन्हें 16 अगस्त को मुंबई के उपनगरीय इलाके में सांताक्रूज के आशा पारिख हॉस्पीटल में एडमिट किया गया था।गिरने से उनकी रीढ़ की हड्डी में चोट आई थी लेकिन उनकी उम्र और शरीर को देखते हुए इसे ऑपरेट करने का रिस्क एवोयड किया गया
एके हंगल 200 से अधिक फिल्मों में काम कर चुके हैं उनकी सबसे बेहतरीन फिल्मों में से नमक हराम+, शोले+, शौकीन+गर्म हवा और ‘आईना’ है। जिनमें उनकी भूमिका काफी बेहतरीन थीश्री हंगल ने राजेश खन्ना और अमिताभ बच्चन जैसे अभिनेताओं के साथ अभिनय किया है|लगान में उनके रोल को कम करके दूसरे अभिनेता को दे दिया गया मगर उन्होंने हिम्मत नहीं हारी और हमेशा आगे की तरफ देखते रहे|सियालकोट पकिस्तान से आये श्री हंगल ने तीसरी कसम से फ़िल्मी करियर शुरू किया था |अपनी इसी जुझारू प्रवर्ति के फलस्वरूप उन्हें पद्मभूषण एवार्ड से भी अलंकृत किया जा चुका है| श्री हंगल का नाटकों से भी विशेष लगाव रहा है|और नाटकों में अभिनय को देख कर ही एच एन चट्टोपाध्याय ने उन्हें एक फिल्म में लिया था |सूचना एवं प्रसारण मंत्री अम्बिका सोनी+सुभाषघई ने श्री हंगल के निधन पर दुःख व्यक्त किया है|