Ad

आई आई टी कानपूर भी सिब्बल की एस.ई.टी बास्केट में आ गिरा

आई आई टी कानपूर भी अब कपिल सिब्बल की बास्केट में आ गिरा है \मानव संसाधन विकास मंत्री कपिल सिब्बल के सिंगल एंट्रेंस टेस्ट के प्रस्ताव को पहले नकारने वाले कानपूर सीनेट ने अब संयुक्त प्रवेश परीक्षा[जे.ई.ई.] २०१३ को मंजूरी दे दी है|लेकिन इसके साथ ही २०१४ से एप्टीतियूड टेस्ट कराने की शर्त भी रख दी है|

जातीय दंगे राष्ट्र पर धब्बा = डाक्टर मन मोहन सिंह

प्रधान मंत्री ने अपने संसदीय प्रदेश में दंगा पीड़ित इलाकों का दौरा किया |इन जातीय दंगों को राष्ट्र के लिए एक कलंक बताया और सुरक्षा का महौल बनाने की जरुरत पर बल दिया छेत्र और पीड़ितों के लिए ३०० करोड़ रुपये के पैकेज सेंक्शन भी किये |इनमे से 100 करोड़ तत्काल सहायता के रूप में दिए जायेंगे |
असाम के कोकराझाड़ में जाते समय पहले तो पी एम् का हेलीकाप्टर तकनिकी कारणों से कोकराझाड़ में लैंड ही नहीं कर पाया उसके बाद दोबारा प्रयास करने पर सफलता मिल गई \पी एम् ने राहत शिविरों का मुआयना भी किया \उन्होंने अब बोडो और मुस्लिम समुदायों में आपसी शान्ति+ विशवास +भरोसे को कायम किये जाने को भी जरुरी बताया | डाक्टर मन मोहन सिंह ने पीड़ितों को सब कुछ जल्द ठीक हो जाने का भरोसा भी दिलाया|उन्होंने यह स्वीकार किया कि समस्या जटिल है और प्रारम्भिक स्टेज पर इसे कंट्रोल करने में कठिनाई आई थी मगर अब राज्य और केंद्र सरकारें मिल कर इसका समाधान निकाल लेंगी |
गौरतलब है कि अल्प संख्यक शरणार्थी और स्थानीय बोडो समुदायों में जमीन के कब्जे को लेकर यह विवाद बहुत पुराना है |बोडोस का मानना है कि अल्पसंख्यक बांग्ला देश से आये है जबकि सरकार ऐसा नहीं मानती |समय समय पर ये झगड़े होते रहते हैं और इस बार अब तक लगभग ५० लोग मारे जा चुके हैं लगभग ४००००० लोग बेघर हो चुके हैं|

पडोसी मुल्क शोर्टकट रास्ता बना रहा है

झल्ले दी झल्लियाँ गलां
पडोसी मुल्क द्वारा शोर्टकट रास्ता बनाया जा रहा है

एक देश वासी
ओये झल्लेया ये क्या हो रहा है ?एक तरफ तो पाकिस्तान धरती के ऊपर भारत से सम्बन्ध सुधारने के लिए क्रिकेट मैच करवाना चाहता है और हसाड़े सोने ते मन मोहने पी एम् को पाकिस्तान में अपने पूर्वजों के शहर और घर की सैर करने का न्यौता भी दे रहा मगर इसके साथ ही सीमा पर आतंकवादी गतिविधियों को रफ़्तार देने के किये जमीन के २२ फिट नीचे ५०० मीटर तक सुरंग बना ली है ओये ऐसे कैसे और कब तक चलेगा???
झल्ला
ओ भोले शाहजी असल में यह तो हमारे पडोसी मुल्क द्वारा शोर्टकट रास्ता बनाया जा रहा है इस मार्ग से होकर हसाड़े पी एम् और क्रिकेटर्स आराम से और जल्दी पाकिस्तान पहुँच सकेंगे और आप लोगों ने इसमें भी घरैड डाल दी है
हैं इंज वी कोई करदा ये भला

पमात्मा को वही पाता है जो उसे और उसकी कायनात से प्रेम करता है .

कहा भयो जो दोऊ लोचन मूंदी कै
बैठ रहियो बक धिआनु लगाइयो
न्हात फिरिओ लीए सात समुद्रण
लोक गएओ परलोक गवायो
बास कीयो बिखियन सों बैठि कै
ऐसे ही ऐसे सु बैस बिताईओ
सच कहूं सुनि लेहु सभै
जिनि प्रेम कीयो तिन ही प्रभु पाएओ

भाव : दोनों आँखें मूँद कर बगुले की तरह बैठने से क्या होगा जबकि अन्दर मन में कपट भरा हो. ऐसा व्यक्ति सात समुंदर
पार करके तीर्थों में नहाता फिरे तो समझो कि उसका इहलोक और परलोक दोनों बर्बाद हैं .विषय-विकारों में सदा
लिप्त रहने वाला अपनी आयु यूं ही गँवा देता है . मैं सच कहता हूँ पमात्मा को वही पाता है जो उसे और उसकी
कायनात से प्रेम करता है .
—- वाणी दशम पादशाही गुरु गोबिंद सिंह जी

चेंबर आफ कामर्स & इंडस्ट्रीज ने किया मेयर का अभिनन्दन

बाम्बे बाज़ार स्थित वेस्टर्न यूं पी चेंबर आफ कामर्स & इंडस्ट्रीज में आज नव निर्वाचित मेयर हरिकांत अहलुवालिया का अभिनन्दन किया गया ||इस अवसर पर चेंबर अध्यक्ष अरविन्द नाथ सेठ ने शहर की हालत सुधारने के लिए अनेक उपयोगी सुझाव भी दिए \श्री सेठ ने अंडर ग्राउंड ड्रेनेज और नाली के पानी को चारों और बांटने का सुझाव भी दिया \
मेयर ने सभी सुझावों पर कार्यवाही का आश्वासन भी दिया |इस अवसर पर एस पी देशवाल,आर के जैन, त्रिलोक आनंद आदि उपस्थित थे

मोदी से इंटरवियु लेकर शाहिद ने खोई सपा

वोट बैंक बचाने के लिए अबकी बार सपा ने अपने नेता शाहिद सिद्दीकी को पार्टी से बाहर कर दिया है|शाहिद को यह सजा गुजरात के मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी का साक्षात्कार लेकर उसे अपने उर्दू के अखबार में छापने के लिए दी गई है|
दरअसल श्री शाहिद नेता होने से पहले एक पत्रकार भी है १९७३ से अपना अख़बार भी चला रहे हैं इन्होने गुजरात के सी एम् का इंटरवियु लेकर बहुत तीखे सवाल किये गुजरात दंगों पर सीधे सीधे सवाल किये गए तो उनका बेबाकी से जवाब भी मिला अभी तक श्री मोदी पर आरोप तो लगाये जाते रहे मगर श्री मोदी को उत्तर देने का अवसर किसी ने नहीं दिया अब शाहिद ने अपना पत्रकारिकता धर्म निभाते हुए जवाबों को भी छापाजिसे पूरे देश ने हाथों हाथ लिया |अब विरोधियों ने कहना शुरू कर दिया कि शाहिद एक मुस्लिम हैं और सपा के नेता भी हैं इससे सपा को अपनी मुस्लिम वोट बैंक खिसकने का खतरा भी होने लगा|इससे पूर्व भाजपा से आये कल्याण सिंह को गले लगा कर पार्टी कि फजीहत हो ही चुकी है |इसके अलावा मायावती कि मूर्ति तोड़ने वाले सपा नेता अमितजानी से भी पार्टी किनारा कर चुकी है|इसी कड़ी में आज राम गोपाल यादव ने घोषणा की है कि शाहिद सिद्दीकी सपा के सदस्य भी नहीं हैं| सपा का इनसे कोई नाता नहीं है| वैसे तो शाहिद सिद्दीकी अपनी बेबाक अभिव्यक्ति के कारण कई राजनितिक दल बदल चुके हैं और यह निष्काशन उनके लिए कुछ नया नहीं है मगर जनवरी में स्वयम सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने शाहिद सिद्द्दिकी को सपा में लिया था और अब उनके भ्राता प्रोफ़ेसर राम गोपाल यादव का यह कहना कि शाहिद का सपा से कोई लेना देना ही नहीं है कुछ अटपटा जरूर लगता है|इसके साथ ही यह सवाल भी उठाना स्वाभाविक है कि नरेन्द्र मोदी का इंटरवियु लेना और उसमे दिए गए उत्तरों को छापना गुनाह हो गया है???

गलती का अहसास कराके एक बार फिर संभलने का अवसर दिया जाये.

छिमा बढ़न को चाहिए, छोटेन को उत्पात ,
का रहिमन हरी को घट्यो , जो भृगु मरी लात .

व्याख्या – छोटी आयु के लोगों के द्वारा उपद्रव करने पर बड़ों का क्षमादान करना ही शोभनीय है . कवि रहीम कहते हैं कि यदि भृगु ऋषि ने
क्रोध में आकर प्रभु की छाती पर लात मार दी तो भगवन की गरिमा में कोई कमी नहीं आई.
भाव – क्षमा करना आदमी का सबसे बड़ा गुण है. इसी गुण को लेकर कवि रहीम ने इस दोहे की रचना की है.. यदि छोटे लोग कोई अपराध
करते हैं तो बड़ों का बड़प्पन इसी में है कि उन्हें क्षमा कर दिया जाये और उन्हें उनकी गलती का अहसास कराके एक बार फिर
संभलने का अवसर दिया जाये.
इसे कवि ने एक विशेष पौराणिक घटना से जोड़कर दर्शाया है एक बार भृगु ऋषि भगवान् विष्णु से मिलने गए .विष्णु को सोता देखकर
भृगु ने उनकी छाती पर लात मार दी . इससे भगवान क्रोधित नहीं हुए .अपितु उनहोंने पूछा -ऋषिवर आपके पैर में चोट तो नहीं आई ?
विष्णु जी की बात सुनकर ऋषि का क्रोध शांत हो गया . प्रस्तुति राकेश खुराना

ज़रदारी ने मन मोहन को दिया पाक आने का न्यौता

भारत और पाकिस्तान के संबधों में आ रहे सुधारों को गति प्रदान करने के लिए पाकिस्तान के राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी ने भारत के प्रधान मंत्री डाक्टर मन मोहन सिंह को पाकिस्तान विजिट करने का न्यौता दिया है|
पकिस्तान के दूतावास के माध्यम से भेजे गए इस न्यौते में विशेषकर नवंबर में गुरु नानक देव जी के प्रकाशोत्सव पर अपने[डाक्टर सिंह] गृह शहर में आने को कहा गया है |गौरतलब है कि डाक्टर सिंह के पूर्वज [अब ]पाकिस्तान के ही हैं|
बीते दिन पाकिस्तान के टी वी चेनल पर लाईव टेलेकास्ट में एक हिन्दू युवक का धर्मांतरण दिखा कर भारत और पाकिस्तान के लोगों का दिल दुखाया गया है |यह न्यौता क्या उस जख्म को मलहम लगा पायेगा ????

वीर भद्र ने हिमाचल में अपनाए कर्नाटकी यदियुरप्पाई तेवर

वीर भद्र ने हिमाचल में अपनाए कर्नाटकी यदियुरप्पाई तेवर
लगता है कि डाक्टर मन मोहन सिंह के भाग्य में सत्ता की दूसरी पारी को बचाने के लिए बाधा दौड़ में भागते रहना ही लिखा है |अन्ना हजारे +बाबा रामदेव+सपा+बसपा+टी एम् सी के बाद शरद पवार कि बाधाओं को पार करने के बाद अब हिमाचल प्रदेश के वरिष्ठ कांग्रेसी नेता पूर्व मुख्यमंत्री वीर भद्र सिंह ने विद्रोही तेवर दिखाने शुरू कर दिए हैं| अपनी अनदेखी या प्रदेश में मुख्यमंत्री पद के लिए एन सी पी की घडी को चाबी भरने की खबर लीक करादी वर्तमान में इनके पास १२ विधायक है|
विद्रोही नेता को संतुष्ट करने के लिए चाणक्य की भूमिका के लिए दिग्विजय सिंह को चुना गया है| वीर भद्र सिंह की कडवाहट को कम करने को शिमला पहुंचे दिग्गी राजा ने जर्मन के बिस्मार्क+भारत के एतिहासिक चाणक्य और स्वतंत्र भारत के सरदार वल्लभ भाई पटेल के सारे फार्मूले अपना लिए मगर अभी तक कोई उपाय लाभकारी होता दिखाई नहीं दे रहा |
हिमाचल में चुनाव होने हैं|इसमें वीर भद्र सिंह को ३० सीटें चाहियें|इससे उन्हें प्रदेश में वर्चस्व मिलसकेगालेकिन आलाकमान यह आश्वासन नहीं दे पा रहा | इसीके फलस्वरूप शरद पवार की एन सी पी से वीर भद्र सिंह कि पींगें बढ रहीं हैं|
अगर वीर भद्र सिंह ने भाजपा के कर्नाटकी यदियुरप्पाई तेवरों को नहीं छोड़ा तो हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस को झटका लग सकता है

औरतों की मूर्तियों को भी नहीं छोड़ा जा रहा

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां
औरतों की मूर्तियों को भी नहीं छोड़ा जा रहा

एक बसपाई
ओये झल्लेया ये कया हो रहा है?ओये प्रदेश में बड़ते जा रहे क्राईम की रोक थाम के प्रति उदासीन इस सपा सरकार में अपने चुनावी अजेंडे को पूरा करने के लिए अब मूर्तियाँ को तोड़ने को प्राथमिकता दी जा रही है|चैन स्नेचिंग +चोरी+लूट+डकैती+अपहरण +मर्डर +बलात्कार का ग्राफ ऊपर जा रहा है और इन तालिबानिओं को मूर्ति तोड़ने से ही फुर्सत नहीं है |ओये अब क्राईम की रोक थाम कैसे होगी??
झल्ला
हाँ जी वाकई यूं पी का निकल रहा है दम क्राईम यहाँ नहीं हो रहा कम |यहाँ तो अब महिलाओं की छोड़ो महिलाओं की मूर्तियों को भी नहीं छोड़ा जा रहा| राजधानी में आप जी की बहन जी की सुरक्षा के घेरे में लगी सफ़ेद +सुन्दर+ बोलती हुई +हाथ में पर्स लिए+संगमरमर की मूर्ति को भी तोड़ डाला गया |ये तो भाई वाकई हद नालों वि वद ही है