Ad

नगर के विकास के बजाये चार विरोधियों पर निशाना साध गए नगर विकास मंत्री आज़म खान

[ मेरठ ] उत्तर प्रदेश के आदमकद नगर विकास मंत्री मो. आजम खां मेरठ में आये तो थे कन्या धन बांटने लेकिन उन्होंने अपनी आदत के अनुसार व्यंग बाण छोड़ कर एक साथ चार चार राजनीतिक विरोधियों को निशाना बना दिया|जाहिर है इससे यह कार्यक्रम सरकारी कम और सत्ता रूड सपा का चुनावी अभियान ज्यादा दिखाई दिया | इस विजिट में केवल सपा पार्टी के नेता और कार्यकर्ताओं का जमावाडा रहा |नगर विकास मंत्री के समक्ष नगर के विकास के लिए कोई यौजना रखने के लिए भाजपा के मेयर हरिकांत अहलुवालिया और सपा के ही आज़म विरोधी शाहीद मंजूर भी नहीं आये|

नगर के विकास के बजाये चार विरोधियों पर निशाना साध गए नगर विकास मंत्री आज़म खान


[१] अपनी आदत के अनुसार और पार्टी लाइन के अंतर्गत मंत्री आज़म खान ने अपने धुर्र राजनीतिक विरोधी रालोद के सुप्रीमो चौधरी अजित सिंह पर चुटकी लेते हुए कहा कि अगर एक जहाज़ के खरीद में कमीशन नही ली जाये तो उसके पैसे से मेरठ में हवाई पट्टी के विस्तार के लिए जमें ली जा सकती है|उन्होंने अपने राजनितिक विरोधी की नियत पर सवाल उठाते हुए पूछा कि केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री बताएं कि जब एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एएआइ) की महायोजना-2021 में मेरठ एयरपोर्ट का प्रस्ताव संशोधित हो चुका है। 427 एकड़ जमीन के बजाय 433 एकड़ जमीन अतिरिक्त रूप से महायोजना में संशोधित की गई है तो ऐसा कौन सा कारण है कि अभी तक केंद्र सरकार से इस जमीन के अधिग्रहण के लिए किसानों को मुआवजा देने के लिए पैसा नही मांगा गया है।
पत्रकार वार्ता में आजम ने यह दावा किया कि वह चाहते हैं कि मेरठ में एयरपोर्ट बने।लेकिन बागपत-सिवालखास के सांसद होने के नाते केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री चौधरी अजित सिंह का दायित्व है कि वह सच्चे अर्थों में पहल करें और 433 एकड़ जमीन के अधिग्रहण के लिए मुआवजे की व्यवस्था हेतु केंद्र सरकार को एक पत्र भेजें पर वह[अजित सिंह] लोस चुनाव को ध्यान में रखकर मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर फ्री में जमीन देने की बात कर रहे हैं। मेरठ की मौजूदा हवाई पट्टी पर 133 एकड़ जमीन का अधिग्रहण हो चुका है। अब अजित कह रहे है कि घरेलू उड़ान के लिए पहले यह जमीन प्रदेश सरकार दे दे और बाद में वह 433 एकड़ जमीन की बात करेंगे। सवाल उठता है कि जब 433 एकड़ जमीन का अधिग्रहण होगा तो किसानों को मुआवजे का भुगतान कौन देगा। ऐसी भी बात अजित सिंह प्रदेश के छह ओर एयरपोर्ट की कर रहे है। मेरठ में तो वह हैदराबाद व तमिलनाडु की तरह 600 करोड़ की लागत से विमान रखरखाव, मरम्मत एवं ओवर हॉल (एमआरओ) सेवा भी मुहैया कराने को आतुर है। ऐसे में सवाल उठता है कि अगर केंद्र उनको जमीन का पैसा नही दे रही है तो क्यों वह अपने मंत्रालय से पैसे की व्यवस्था नही करते हैं। वैसे

भी विमानों में होने वाला घोटाला किसी से छिपा नहीं है

यदि अजित सिंह चाहे तो यह घोटाला बंद करके मेरठ एयरपोर्ट स्थापित कर सकते है। बहरहाल, कुशीनगर व आगरा में प्रदेश सरकार अपने बलबूते प्राइवेट पब्लिक पार्टनरशिप आधार पर एयरपोर्ट की स्थापना करा रही है। मेरठ पर अभी तक कोई निर्णय नही लिया गया है।
[२]

पूर्व मुख्य मंत्री और प्रदेश में दूसरी राजनीतिक प्रतिस्पर्द्धी बसपा सुप्रीमो पूर्व मुख्य मंत्री मायावती

पर बाण चलते हुए उन्होंने लाभार्थी कन्यायों से कह डाला कि कुछ भी बनना मायावती नहीं बनना |
[३]

आज़म खान से विद्रोह कर चुके कमेला चर्चित हाजी याकूब कुरेशी

के विषय में उन्होंने कहा कि मै हाजी नमाजियों से बेहद डरता हूँ लेकिन ये कमेले वाला हाजी कैसे उसे नमाजी कहो
[४]

आज़म खान के पार्टी में ही विरोध का झंडा बुलंद करने वाले सपा के नेता और मंत्री शाहिद मंज़ूर

मंच पर नज़र नहीं आये सूत्रों की माने तो शाहिद को समारोह से बाहर रखा गया था
इसके आलावा भाजपा ,बसपा आदि दलों ने भी दूरी बनाए रखी

राम – नाम की धुन मात्र से दुःख , पीड़ा देने वाले शोक – संकट भाग जाते हैं

राम – नाम जो जन मन लावे ,
उस में शुभ सभी बस जावें ।
जहाँ हो राम – नाम धुन नाद ,
भागें वहाँ से विषम – विषाद ।

राम – नाम की धुन मात्र से दुःख , पीड़ा देने वाले शोक – संकट भाग जाते हैं ।

भाव : जो व्यक्ति अपने मन में राम – नाम को आसीन कर लेता है ,उसमें सभी प्रकार की धन्यता का वास हो जाता है । उसे सौभाग्य , सुख , समृद्धि अर्थात सब प्रकार के आशीर्वाद प्राप्त हो जाते हैं । जहाँ राम – नाम की धुन गूंजती है , वहां से दुःख , पीड़ा देने वाले शोक – संकट भाग जाते हैं ।
श्री स्वामी सत्यानन्द जी महाराज द्वारा रचित अमृत वाणी का एक अंश
प्रस्तुति राकेश खुराना

नितिन गडकरी ने तनावमुक्त मुद्रा में उन्मुक्त होकर इन्कम टैक्स और कांग्रेसको देख लेने की धमकी दे डाली

भाजपा के अध्यक्ष पद की दौड़ में राज नाथ सिंह के हाथों बाहर होने वाले निवृतमान अध्यक्ष नितिन गडकरी ने आज अपना तनाव मुक्त उन्मुक्त स्वरुप दिखाया अपने गृह प्रदेश में गडकरी ने आय कर अधिकारियों और कांग्रेस को खुली चुनौती दे डाली | कांग्रेस ने इस धमकी को पूरी तरह अनुचित बताया है।गडकरी ने कहा कि वह मर्द आदमी हैं।और पार्टी अध्यक्ष भी नहीं है इसीलिए पार्टी की किसी मर्यादा से भी बंधे नहीं हैं| अब दिल्ली के तमाम कांग्रेस नेताओं के करप्शन को उजागर करेंगे।कांग्रेस की प्रवक्ता रेणुका चौधरी ने संवाददाताओं द्वारा गडकरी की धमकी के बारे में पूछे जाने पर कहा कि वह कैसे सरकारी अधिकारियों को धमकी दे सकते है। अधिकारी तो अपना काम करेगें ही। उन्होंने कटाक्ष किया कि बीजेपी का सत्ता में आना बहुत दूर की बात है।

Nitin Gadakri[file]


गडकरी ने आज कहा कि कांग्रेस की नैया डूबने वाली है। जब ये सरकार चली जाएगी और बीजेपी की सरकार आएगी तो इन आयकर अधिकारियों को बचाने कौन आएगा। बीजेपी अध्यक्ष की कुर्सी छोड़ने के बाद नितिन गडकरी ने अपनी कंपनियों के खिलाफ जांच कर रहे आयकर अधिकारियों को साफ धमकी दे डाली। गडकरी ने एक सभा में साफ-साफ कहा कि अगर बीजेपी की सरकार आ गई, तो आयकर अधिकारियों को बचाने सोनिया गांधी और चिदंबरम नहीं आएंगे।मुझे मालूम है कि नागपुर, पुणे और दिल्ली में बैठकर आयकर अधिकारी क्या कर रहे हैं| मेरे और पार्टी के साथ सहानुभूति रखने वाले ऑफिसर भी आयकर विभाग में हैं, जो हमें बताते हैं कि कौन मेरे और भाजपा के खिलाफ काम कर रहे हैं| इस सरकार की नैया तो डूबने वाली है|
गडकरी ने कांग्रेस पर यह भी आरोप लगाया कि वह सीबीआई की तरह आयकर विभाग का भी बेजा इस्तेमाल करती है और जल्द ही उसकी नैया डूबने वाली है।इसके अलावा गडकरी ने कांग्रेस पर खुद को फंसाने का आरोप लगाते हुए खुली चुनौती दी और कहा कि वह भी कांग्रेसियों के भ्रष्टाचार को बेनकाब करेंगे।
गौरतलब है कि बीजेपी अध्यक्ष के चुनाव से एक दिन पहले 22 जनवरी को आयकर विभाग ने गडकरी के पूर्ती समूह से संबद्ध छद्म कंपनियों के सिलसिले में मुंबई में नौ स्थानों पर जांच की थी। गडकरी को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के समर्थन से फिर से बीजेपी अध्यक्ष पद मिलने की पूरी उम्मीद थी, लेकिन इस कार्रवाई के बाद उन्हें मैदान से हटना पड़ा।

आज़म खान ने कन्यायों को दिए ३०-३० हज़ार के चैक

आज़म खान ने कन्यायों को दिए ३०-३० हज़ार के चैक

उत्तर प्रदेश के नगर विकास मंत्री आज़म खान ने आज मेरठ में पढ़े बेटियां और हमारी बेटी उसका कल यौजना के अंतर्गत कन्यायों को३० -३० हज़ार के ८सो चैक बांटे| चौधरी चरण सिंह विश्व विद्यालय में स्थित नेता जी सुभाष चंद बोस प्रेक्षाग्रह में पढ़े बेटियां बढे बेटियां,दसवी पास बी पी एल ,अन्त्योद्या कार्ड धारक ,मुस्लिम कन्यायों को ३०- ३० हजार के चेक बांटे गए| दसवीं पास मुस्लिम कन्या को दोहरा लाभ मिला |
आज़म खान की कारों का काफ्ला आज सुबह लगभग साडे आठ बजे सर्किट हाउस पहुंचा जहां व्यवस्था छावनी में तब्दील थी |गैर नेताओं का आरोप है की सपा के अलावा किसी को मंत्री से मिलने नहीं दिया गया
पार्टी के दूसरे छेत्रिय नेता शहीद मंज़ूर और कमेला विवाद में चर्चित याकूब कुरेशी आदि कहीं दिखाई नहीं दिए |

शिंदे पर शिकंजा कसने के लिए भाजपा ने सड़क से संसद तक लड़ाई छेड़ी :मेरठ में प्रदर्शन कल

केन्द्रीय गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे पर शिकंजा कसने के लिए भाजपा ने आज सड़क से संसद तक लडाई जारी रखने का ऐलान किया|देश के ज़िलामुख्यालयों पर विरोध प्रदर्शन का ऐलान किया गया है|आज सुबह राजधानी में जंतर मंतर पर अपने २४ घंटे के धरने प्रदर्शन के शुरुआत में भाजपा के राष्ट्रीय न्रेतत्व ने सत्ता रूड कांग्रेस को चेतावनी देते हुए शिंदे को बर्खास्त करने और माफी मांगने की शर्त रखी है |लोक सभा में विपक्ष की अध्यक्षा श्री मति सुषमा स्वराज ने भगवा और आतंक वाद के मायने बताते हुए कहा कि भगवा और आतंकवाद दोनों के अर्थ एक दूसरे के विपरीत हैं|उन्होंने कहा कि अगर भगवा को देखना है तो अल्लाहाबाद के कुम्भ में जाकर देखना चाहिए | पार्टी के नवनिर्वाचित अध्यक्ष राज नाथ सिंह ने शिंदे के बयाँ पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि कांग्रेस ने सभी भाजपा सांसदों को उनके नेताओं के साथ आतंकवादी कहा है यह असहनीय हैं इसके दूरगामी परिणाम निकलेंगे| शिंदे के इस आपत्तिजनक बयाँ और कांग्रेस के मौन समर्थन से पाकिस्तान में बैठे आतंकवादी भारत को ही आतंकवाद का गढ़ बताने लग गए हैं इससे देश कि छवि धूमिल हुई है|राज नाथ सिंह ने आज अनेकों टी वी चेनलों पर कांग्रेस को चेतावनी दी है|

शिंदे पर शिकंजा कसने के लिए भाजपा ने सड़क से संसद तक लड़ाई छेड़ी :मेरठ में प्रदर्शन कल

गौरतलब है कि कांग्रेस के जयपुर में तीन दिवसीय चिंतन शिविर में सुशील कुमार शिंदे ने अपने भाषण में कहा था कि भाजपा और आर एस एस के शिविरों में आतंकवादियों को प्रशिक्षण दिया जाता है|और कुछ निर्दोष अल्प संख्यक फंस जाते हैं|इस ब्यान को कांग्रेस की तुष्टिकरणनिति का हिस्सा बता कर भाजपा ने भी मोर्चा खोल दिया है| इस जुबानी बाण का असर भाजपा पर हुआ और यह जुबानी जंग अब सडकों पर उतर आई है|यदि समय रहते इस विवाद का समाधान नही खोजा गया तो अगला संसद सत्र भी हंगामे की भेंट चढ़ जाएगा|

सुशील कुमार शिंदे

सुशील कुमार शिंदे से आज सुबह जब पत्रकारों ने जवाब माँगा तो शिंदे नो कमेंट्स कह कर निकल गए|

शिंदे के खिलाफ केस

दिल्ली निवासी वी पी कुमार ने दिल्ली की एक अदालत में सुशील कुमार शिंदे के विरुद्ध मान हानि का दावा दायर कर दिया है|इस याचिका में शिंदे पर दो समुदायों पर वैमनस्य फैलाने का आरोप लगाया गया है|

मेरठ

मेरठ के सांसद राजेंद्र अग्रवाल ने बताया कि मेरठ में कल २५ जनवरी को विरोध प्रदर्शन किया जाएगा

कमल हसन के ” विश्वरूपम” पर बैन :सांस्कृतिक आतंकवाद बता कर अब अदालत का दरवाजा खटखटाएंगे

सुप्रसिद्ध एक्टर,डायरेक्टर ,प्रोडूसर कमल हसन ने अपनी

कमल हसन के ” विश्वरूपम” पर बैन :अदालत का दरवाजा खटखटाएंगे

को सांस्कृतिक आतंकवाद बता कर तमिल नाडू सरकार के विरुद्ध न्यायालय की शरण लेंगे|कमल हसन की नई फिल्म विश्वरूपमरिलीज होने से पहले ही विवादों में घिर गई है|जहाँ मुस्लिम समाज के कुछ लोग इसे समाजियों के खिलाफ बता रहे हैं और इसे मुस्लिमो कि नेगेटिव छवि बता रहे हैं तो वही तमिल नाडू की सरकार ने इस फिल्म के प्रदर्शन पर रोक लगा दी है इससे आहत होकर कमल हसन ने फिल्म के विरोध को गैर जरुरी बताया और कहा कि फिल्म मुस्लिमों के लिए किसी भी सूरत में अपमान जनक नही है| फेस बुक केअपने पेज पर एक्टर ने अपनी व्यथा प्रकाशित करते हुए इस विरोध को राजनीति से प्रेरित बाताया है|कमल के अनुसारकुछ छोटे राजनितिक दलों ने अपनी राजनीती चमकाने के लिए उन्हें इस्तेमाल किया है| उन्होंने कहा है किउन्होंने हमेशा हिन्दू और मुस्लिमों के सौहार्द के लिए कम किया है और इस फिल्म का उद्देश्य भी यही है| को देख कर कोई भी निष्पक्ष और देश भक्त मुस्लिम गर्व महसूस करेगा|यही इस फिल्म का उद्देश्य भी है|इसीलिए इस के विरोध से उनकी भावनाएं आहत हुई हैं|
इससेपूर्व कमल हसन की फिल्म[१]हे राम[२]उन्नापोल ओरूवन भी विवादों में रही है| हे राम तो महात्मा गाँधी के हत्यारे नाथू राम गोडसेपर आधारित थी जबकि दूसरी फिल्म तो हिंदी फिल्म वेडनेसडे का रीमेक ही था| अब ये नई फिल्म विश्वरूपम बड़ी बजट की फिल्म है और इस फिल्म की दी टी एच या थियेटर पर रिलीज को रोक दिया गया है|

सुप्रीम कोर्ट ने एयर लाइन्स की हवाई गिरी को झटका देकर ट्रांजैक्शन फीस वसूली पर रोक लगाई

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

एक हवाई यात्री

ओये झल्लेया मुबारकां ओये अब एजेंटों के माध्यम से हवाई जहाज़ का टिकेट बुक कराना सस्ता हो गया है अब एजेंट के द्वारा टिकेट बुक कराने पर ट्रांजैक्शन फीस नहीं देनी पड़ेगी | सुप्रीम कोर्ट ने किसी भी नाम से ग्राहकों से ट्रांजैक्शन फीस वसूली पर कडाई से रोक लगा दी है|बैसिक किराए के बेतरतीब अंतर पर भी सर्वोच्च न्यायालय ने न्याय का हथौड़ा चला दिया है|ओये अब इन एयर लाइन्स की हवाई गिरी नहीं चलने वाली |

एयर लाइन्स की ट्रांजैक्शन फीस वसूली पर रोक


झल्ला

हाँ साहब जी पहले एयर लाइन्स यात्रियों के खींचने में बुकिंग या ट्रेवेल एजेंटों को कमीशन दिया करती थीउस कमीशन को बंद कर दिया गया तब इन्ही एयर लाइन्स ने ग्राहकों से ट्रांजैक्शन फीस वसूली शुरू कर दी|इसकी शिकायत किये जाने पर नागरिक उड्डयन नियामक [डी.जी.सी.ऐ] ने 17 दिसंबर को सर्कुलर जारी करके अपना मुह और ऑंखें दूसरी तरफ मौड़ ली \नतीजतन ये ट्रांजैक्शन फीस के नाम से की जा रही अवैध वसूली जारी है|अब डी जी सी ऐ का काम न्यायलय ने कर दिया है |न्यायमूर्ति डीके जैन व न्यायमूर्ति मदन बी लोकूर की पीठ ने इस पर यह कहते हुए नाराजगी भी जताई है कि डीजीसीए अपने ही परिपत्र [सर्कुलर] को लागू नहीं करा पा रहा है|इसके लिए पीठ को धन्यवाद
डी जी सी ऐ की अनदेखी और सुप्रीम कोर्ट के न्यायिक हथौड़े से एक बात तो साफ हो चली है कि उड्डयन छेत्र में सब कुछ साफ़ नही है|कुछ कोहरा जरूर है|जर्मन फायनेंसर डी वी बी ने फेवोरोटिस्मके आरोप लगा कर डी जी सी ऐ को कटघरे में खड़ा कर दिया था |अब कोर्ट ने डी जी सी ऐ की खिंचाई करके भ्रष्टाचार के कोहरे को साफ कराने का सराहनीय प्रयास किया है लेकिन झल्लेविचारानुसार अब दी जी सी ऐ और मन मानी कराने वाली एयर लाइन्स पर कुछ दंडात्मक कार्यवाही भी जरुरी हो गई है|

एयरलाइंस के टिकटों पर अस्वीकृत टैक्स और फीस लगाना मान्य नियमों का उल्लंघन है:सुप्रीम कोर्ट

एयरलाइंस के टिकटों पर सुप्रीम कोर्ट

देश की सर्वोच्च न्यायालय ने एयरलाइंस के अनियमित टैरिफ स्ट्रक्चर पर टिपण्णी करते हुए नागरिक उड्डयन नियामक [डीजीसीए] को एयरलाइंस के टैरिफ स्ट्रक्चर की जांच करने को कहा है|। मूल किराये पर अतिरिक्त चार्ज लगाने वाली एयरलाइंस पर जुर्माना नहीं लगाने के लिए उड्डयन नियामक की भी आलोचना की गई है।सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि एयरलाइंस यात्रियों से किसी भी रूप में ट्रांजैक्शन फीस नहीं ले सकती।फिलहाल बजट एयरलाइंस यात्रियों से 6 % ट्रांजैक्शन फीस लेती हैं। एयरलाइंस की तरफ से बेसिक किराये और फ्यूल सरचार्ज का 6 % बतौर ट्रांजैक्शन फीस वसूला जाता है।वहीं फुल सर्विस कैरियर इकोनॉमी क्लास के टिकट पर 220 रुपये ट्रांजैक्शन फीस वसूलती हैं। साथ ही फुल सर्विस कैरियर बिजनेस क्लास के टिकट पर 500 रुपये ट्रांजैक्शन फीस वसूलती हैं। इस पर कोर्ट ने कहा कि एयरलाइंस कंपनियां टिकटों पर अस्वीकृत टैक्स और फीस लगाकर मान्य नियमों का उल्लंघन कर रही हैं।

राहुल गाँधी सकारात्मकता के बल पर देश को आगे ले जायेंगे

अमेठी से सांसद नेहरू-गांधी परिवार के वारिस और कांग्रेस के युवा चेहरे राहुल गांधी ने आज२३ जनवरी बुधवार को औपचारिक रूप से कांग्रेस के उपाध्यक्ष पद का काम संभाल लिया| इस अवसर पर महासचिवों के साथ पहली मीटिंग भी ली| राहुल गाँधी ने कहा कि वह चाहते हैं कि कांग्रेस ऐसी पार्टी हो जहां अधिक से अधिक लोगों की पहुंच हो। उन्होंने कहा कि राजनीतिक चर्चाओं में हमेशा आपसी लड़ाई और नकारात्मकता दिखती है, इसे कम करने की जरूरत है। नकारात्मक राजनीति के स्थान पर सकारात्मक राजनीति करना चाहता हूँ क्योंकि सकारात्मकता ही देश को आगे ले जाएगी।

राहुल गाँधी Vice President of Congress


युवा नेता अकबर रोड स्थित कांग्रेस मुख्यालय आये और पार्टी पदाधिकारियों से बातचीत की। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि “हम एक अभुतपूर्व राष्ट्र हैं और यह राष्ट्र कई आश्चर्यजनक चीजें कर सकता है। मैंने महसूस किया है कि चर्चाओं में नकारात्मकता अधिक है जबकि हर दिन कई सकारात्मक राजनीति भी होती है। कई युवा यह बदलाव ला रहे हैं।”
उलेखनीय है कि जयपुर में पार्टी के चिंतन शिविर में राहुल को पार्टी के उपाध्यक्ष पद पर प्रोमोट किया गया था
उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि मैं सभी के प्रति आलोचनात्मक नहीं रहना चाहता। मैं सकारात्मक राजनीति करना चाहता हूं।
उन्होंने यह दावा भी किया कि देश में चीजों में बदलाव और युवाओं को राजनीति में लाने के लिए कांग्रेस पार्टी सबसे शक्तिशाली हथियार है और कांग्रेस देश में बदलाव ला सकती है।

भारत ने इंग्लैंड को मोहाली में हरा कर सीरीज को ३-१ से कब्जाया :रैना मैन आफ दी मैच

मोहाली में खेले गए चौथे वनडे में महिंदर सिंह धौनी ने टास जीता और धाकडों ने इंग्लैंड को पञ्च विकेट्स से धो कर ३-१ से सीरीज पर धाक जमाई| सुरेश रैना को मैन आफ दी मैच घोषित किया गया| और १२० अंको के साथ रैंकिंग में भी टाप पर पहुंचे

भारत ने इंग्लैंड को मोहाली में हरा कर सीरीज को ३-१ से कब्जाया :

सुरेश रैना के ७९ बाल्स पर नौ चौके व एक छक्के से शानदार ८९ रनों और रोहित शर्मा के ८३ की बदौलत भारत ने इंग्लैंड को मात्र ४७.५ ओवरों में 5 विकेट से हरा दिया। इंग्लैंड के सात विकेट्स पर २५७ रन के जवाब में टीम इंडिया ने 47.3 ओवर में 5 विकेट खोकर२५८ रन बनाये | भारत अब पांच मैचों की सीरीज में 3-1 की बढ़त के साथ आगे है।इंग्लैंड की हार के पीछे टास हार के अलावा उनके खिलाड़िओं के मिस फील्डिंग भी रही|
खासकर जोए रूट ने बल्लेबाजी करते हुए इंग्लैंड को मजबूत स्कोर तक पहुंचाया। रूट ने 57 रनों की नाबाद पारी खेली। एलिस्टर कुक ने और केविन पीटरसन ने 76-76 रनों की पारी खेली। एलिस्टर कुक को अश्विन ने जबकि पीटरसन को ईशांत ने पवेलियन भेजा। हालांकि इयोन मॉर्गन सस्ते में निपट गए, उन्हें तीन रन के निजी स्कोर पर अश्विन ने आउट किया।
टेस्ट क्रिकेट में पूरी तरह पराजित हो चुके मोहिंदर सिंह धौनी २०-२० के बाद इस वन डे सीरीज में भी धनी साबित हुए हैं लेकिन इसने एक प्रश्न को पुनः खडा कर दिया है जिसके जवाब में टेस्ट और वन डे में अलग अलग जरूर हो गए हैं|एक बार लिजेंड कपिल देव ने कहा भी था कि मैदान के हिसाब से खिलाड़ी चुने जाने चाहिए |