Ad

मुक़द्दस दरगाह में फिल्म वालों की एंट्री पर बैन हो = दरगाह दीवान

मुक़द्दस दरगाह अजमेर शरीफ के दीवान जैनुल आबेदीन ने दरगाह में आने वाले फिल्म वालों की एंट्री पर कड़ा एतराज जताया है|
इनके अनुसार इस्लाम में न्रत्य और फिल्मो की मनाही है|इसीलिए अपनी फिल्मो की सफलता के लिए यहाँ आकर कामना करना उचित नहीं है |
दरगाह अजमेर शरीफ पर हर धर्म के लोगों का विश्वास है। यहाँ आने वाले जायरीन चाहे वे किसी भी मजहब के क्यों न हों, ख्वाजा के दर पर दस्तक देने के बाद उनके जहन में सिर्फ अकीदा ही बाकी रहता हैयह हिन्दू मुस्लिम एकता का प्रतीक है|
इतिहास के पन्नों में झांकने पर पता चलता है कि बादशाह अकबर को भी इसी मुक़द्दस दरगाह पर माथा टेकने से पुत्र[सलीम] की प्राप्ति हुई थी ।ख्वाजा साहब का शुक्रिया अदा करने के लिए अकबर बादशाह ने आमेर से अजमेर शरीफ तक पैदल आये थे |पिछले दिनों पाकिस्तान के राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी भी आये थे और एक बड़ी राशि दे कर गए थे यहाँ हाजरी देने वालों में मज़हब की कोई दीवार नहीं है|फिल्म वाले भी अपनी फिल्मो कि सफलता और प्रसिद्धि के लिए आते हैं|इसी पर एतराज जताते हुए दरगाह दीवान[प्रमुख] श्री जैनुल द्वारा इस्लाम के बुद्धिजीवी+अनुयायी +उलेमाओं से फिल्म वालों की एंट्री पर विचार करने की|अपी;ल की गई है |
तारागढ़ पहाड़ी की तलहटी में स्थित दरगाह शरीफ वास्तुकला की दृष्टि से भी बेजोड़ है…यहाँ ईरानी और हिन्दुस्तानी वास्तुकला का सुंदर संगम दिखता है। दरगाह का प्रवेश द्वार और गुंबद बेहद खूबसूरत है। इसका कुछ भाग अकबर ने तो कुछ जहाँगीर ने पूरा करवाया था। माना जाता है कि दरगाह को पक्का करवाने का काम माण्डू के सुल्तान ग्यासुद्दीन खिलजी ने करवाया था। दरगाह के अंदर बेहतरीन नक्काशी किया हुआ एक चाँदी का कटघरा है। इस कटघरे के अंदर ख्वाजा साहब की मजार है। यह कटघरा जयपुर के महाराजा राजा जयसिंह ने बनवाया था। दरगाह में एक खूबसूरत महफिल खाना भी है, जहाँ कव्वाल ख्वाजा की शान में कव्वाली गाते हैं।

श्री प्रणव मुख़र्जी बन गए देश के पहले नागरिक

प्रणव मुख़र्जी आज ६९% वोट लेकर देश के पहले नागरिक बन गए हैं| श्री मुखेर्जी ने देश के संविधान की रक्षा के लिए समर्पण के अपने संकल्प को दोहराया है| पी ऐ संगमा को हारने वाले [किर्नाहारी] श्री मुख़र्जी को १३ वें राष्ट्रपति के रूप में २५ जुलाई को शपथ दिलाई जायेगी|
इससे पूर्व श्रीमती प्रतिभापटिल को ६३८११६ वोट मिले थे \अब श्री संगमा को ३१५९८७ वोट जबकि विजेता को ७१३७६३ वोट मिले हैं|यूं पी ने ८८% वोट देकर यूं पी ऐ में अपनी निष्ठां का प्रदर्शन किया है|श्री मुलायम सिंह यादव के अलावा १४ और सांसदों के वोट केंसिल हुए हैं|
यद्यपि प्रणव मुखर्जी का अपना व्यक्तित्व ही विजेता के रूप में रखा जाता रहा है मगर श्रीमती सोनिया गांधी की रणनीति और चुनावी पैंतरों से हुई इस जीत से एक बात फिर स्पष्ट हो गई है की वाकई श्रीमति सोनिया किसी ख़ास मिटटी की ही बनी है | यूं पी ऐ अध्यक्षा ने स्वयम एक बार विपक्ष को चुनौती देते हुए कहा था की वोह नहीं जानते की वह[श्रीमती सोनिया]किस मिटटी की बनी है आज उसी मिटटी ने यूं पी ऐ उम्मीदवार की जीत को इतने विशाल अंतर से सुनिश्चित करा दिया| भाजपा शासित तथा आदिवासी छेत्रों में भी क्रास वोटिंग की खबरें आ रही हैं|
अब पराजित नेता और भाजपा दोनों ही आर्थिक पैकेज दिए जाने और वोटरों को धमकाने का आरोप लगा रहे हैं | उत्तर प्रदेश से ८८ % वोट श्री प्रणव को मिले हैं|मामले को अदालत में जाने की संभावनाएं भी तलाशी जा रही हैं|
श्री प्रणव मुखेरी ने संविधान की रक्षा के लिए कार्य करने के अपने संकल्प को दोहराया है जबकि श्री संगमा ने भरे दिल से कहा की इस हार से यह स्पस्ट हो गया है कि नार्थ ईस्ट कभी भी केन्द्रीय सत्ता के विरुद्ध नहीं जा सकता

मेरठ में बादलों की आँख मिचौली

मेरठ में आज भी बादलों की आंख मिचौली जारी है
आसमान में दिखाई दे रहे हैं मगर ना तो बरस रहे हैं और ना गरज ही रहे हैं |मानसून के आगमन की सूचना दी जाने लगी है मगर मानसून तो तभी माना जाएगा जब बरसेगा

जीवन दाई जल बचाओ अपने वंश बचाओ

एन ऐ एस में आयोजित किये जा रहे भूजल सप्ताह का आज समापन हो गया
आने वाली पीड़ी के लिए भूजल बचाने का संकल्प लिया गया
आज सुबह शुरूआत प्रेमी जी के जल पर आधारित भजनो से हुई उसके बाद बच्चो की चित्रकला,स्लोगन,निबन्ध और भाषण प्रतियोगिता का आयोजन किया गया।जिसमें निबन्ध में सेठ बी.के.माहेश्वरी की अंजली रस्तौगी प्रथम, एस.एस.डी.गल्र्स इ.का.बुढ़ानागेट की चारू द्वितीय, जगदीश शरण राजवंशी कन्या इ.का.की शिवानी चैहान को तृतीय स्थान मिला।
चित्रकला प्रतियोगिता में प्रगति विज्ञान संस्था की नेहा को प्रथम, सेठ बी.के.माहेश्वरी की परविन्दर को द्वितीय स्थान मिला जबकि सेठ बी.के.माहेश्वरी की ही जेबा को तृतीय स्थान मिला।
स्लोगन में सेठ बी.के.माहेश्वरी की राशी को प्रथम और के.के.इन्टर कालिज के रोहित और गौरव को क्रमशः द्वितीय और तृतीय स्थान मिला।
भूजल पर भाषण प्रतियोगता में सेठ ईशा को द्वितीय और प्रगति विज्ञान संस्था की नेहा को तृतीय स्थान मिला।
निर्णयक मण्डल में डा0सुषमा शर्मा, डा0 ए0के0शुक्ला और व्यास मूनि मिश्रा रहे।
इससे पूर्व डा0ए0के0शुक्ला और डा0 आर.एस.यादव ने अपने भूजल को बचाने के तरीके और उसकी गंभीरता पर प्रकाश डाला और बेसिक शिक्षा से श्रीमती माला व गीता सचदेवा ने कठपुतली और गीत से सभी को प्रभावित किया।
कार्यक्रम की अध्यक्षता डा0अनील कुमार शर्मा जिला विकास अधिकारी मेरठ और संचालन जिला ग
न्ना विकास अधिकारी डा0आर0 बी0राम ने किया सभी का आभार समन्वयक दीपक शर्मा ने किया।
इस अवसर पर सह जिला विद्यालय निरिक्षक सी.पी.सिंह,प्रधानाचार्य अशोक कुमार शर्मा,तकनीकी अधिकारी राजबीर यादव,मौ0 मतीन अंसारी,राजकुमार शर्मा,पी.के.मिश्रा प्रधानाचार्य राजकीय इन्टर कालिज,हस्तीनापुर,चरण सिंह आादि भी उपस्थित रहे।

श्रद्धा भाव से आज पूजा गुग्गा

आज श्रद्धा भाव से गुग्गा पूजन किया गया और अपने पूर्वजों की आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की गई|
अविभाजित पंजाब में आज के दिन गावों के बाहर पीपल आदि के पेड़ों पर मीठे जवे[सेवैय्याँ]दूध,फल आदि चड़ा कर
दीपक जलाया जाता था और पूर्वजों की आत्मा की शांति की कामना की जातीथी |इस परम्परा को पर्यावरण संरक्षण
से भी जोड़ा जाता रहा है|
अब चूँकि शहर बसते जा रहे हैं इसीलिए मंदिर में ही पीपल की पूजा की जारही है|
एक और मान्यता के अनुसार गावों के रेंगने वाले जीवों को गावों के बाहर ही रखे जाने के लिए यह प्रथा चलाई गई थी
आज विभाजन के पश्चात भी यह प्रथा को जीवित रखा जा रहा है और इस सांस्कृतिक धार्मिक धरोहर को अगली पीडी
को सौंपा जा रहा है

दुकाने नहीं हैं मगर मीट लायसेंस दे दिए गए

बिना किसी दूकान या बिक्री संस्थान के ही मीट लायसेंस देने की अब पुष्ठी होने लग गई है|सेनेटरी इन्स्पेक्टर की जांच में १५० दुकानों का कोई अस्तित्व नहीं मिला| मीट लायसेंस घोटाले की जाँच में नगर स्वास्थ्य अधिकारी डाक्टर राजबीर सिंह के अधिकार पहले ही सीज किये जा चुके हैं|
गौरतलब हे की मीट व्यापारिओं को लायसेंस दिलवा कर मंत्री पद हासिल करने के विषय में पहले भी लिखा जा चूका है|

सेना की भूमि ३१ तक खाली कर दो

सैनिक भूमि के अतिक्रमणकारियों को सेना ने अब ३१ जुलाई तक जमीन खाली करने की मोहलत दे दी है|
बीते दिनों कसेरूखेड़ा में जनता के विरोध के चलते सेना बिना अतिक्रमण हटाये ही बाद में आने का कह
कर बैरकों में लौट गई थी \कल इसी सिलसिले में एक प्रतिनिधिमंडल सेना के अधिकारिओं से मिला
मगर उन्हें ३१ जुलाई तक भूमि खाली करने का अंतिम अल्टीमेटम दे दिया गया अब ये लोग डी एम् के दरबार में जाने की तैय्यारी कर रहे हैं|

मंत्री जी की नहीं मानी और बेचारे डाक्टर साहब पिट गए

उत्तर प्रदेश में सत्ता रूड़ समाज वादी पार्टी के मंत्री और कुछ नेता शनिवार को सर्किट हाउस में इकट्ठा हुए| आये तो थे लोक सभा के लिए उम्मीदवार तलाशने मगर ज़रा सा समय मिलते ही अनक्वालिफाईड और अपंजीकृत प्रेक्टिस सेल के प्रभारी डाक्टर वी के गुप्ता को बुलवा लिया| थोड़ी देर में खबर आई की समाजवादी युवजन सभा के एक नेता ने डाक्टर को थप्पड़ मार दिया|
पिछले दिनों में डाक्टर गुप्ता द्वारा झोला छाप चिकित्सकों के विरुद्ध अभियान चलाया गया था दोषी चिकित्सकों में कुछ सपा नेता के करीबी बताये जा रहे हैं\ लिहाजा केस को रफा दफा करने को दबाब बनाया गया|डाक्टर के इंकार किये जाने पर नेता का थप्पड़ डाक्टर के गाल पर चल गया|अब मंत्री और जिलाध्यक्ष की मौजूदगी में चले इस थप्पड़ की गूँज हाई कमान तक पहुँच गई है अब देखना है की युवा चीफ मिनिस्टर अपने युवा प्रतिनिधिओं के विरुद्ध कोई कार्यवाही करते हैं या दागी विधायक विजय मिश्रा के केस में निर्दोष सी ओ के स्थांतर किये जाने की

पुनरावर्ती करते हुए डाक्टर का तबादला होगा\

पहले एक दिवसीय क्रिकेट मैच में भारत जीता

भारत और श्रीलंका के बीच हबनतोता में खेले गए पहले एक दिवसीय को भारत ने [२१ रनों से]अपनी झोली मैं डाला |विराट कोहली ने फिर अपना विराट प्रदर्शन करके ११३ गेंदों पर १०६ रन [९ चौके]ठोक कर भारत की जीत को सुनिश्चित किया |वीरेंदर सहवाग ने भी ९७ गेंदों पर ९६ रनों [१०चौके]का यौगदान किया|
भारत ने ६ विकेट खो कर ३१४ रनों का विशाल स्कोर खडा किया जबकि मेजबान टीम ९ विकट्स पर २९३ रनों तक ही पहुँच पाई |रैना के पचास रनों के अलावा शेष रोहित,इरफ़ान,आश्विन,दहाई का आंकड़ा छूने में असफल हुए कप्तान धौनी ने जरूर ३ चौके और एक छक्के की मदद से २९ गेंदों पर ३५ रन बनाए\
इस मैच में विराट ने लगातार ५० रन बनाने के सचिन के रिकार्ड की भी बराबरी दर्ज कर ली है| जावेद मियाँ दाद के ९ [ ५० ] के विश्व रिकार्ड से महज़ ४ कदम पर रह गए हैं

दावा नियुक्लियर एनेर्जी का और इस्तेमाल के लिए लालटेन

झल्ले दी गल्लां
एक बुद्धिजीवी
ओये झल्लेया ये क्या ओये ये ज़माना तो नियुक्लियर एनेर्जी का है और तूं गुफाकाल की लालटेन लिए जा रहा है|
झल्ला
ओ बाऊ जी आज कल नियुक्लियर की छोड़ो बड़े बड़े बिल देने के बावजूद भी धुप+ पानी+ कोयले की बिजली भी नहीं मिल रही| फ्रिज+ टीवी+इनवर्टर भी फूंकने लग गए हैं|, मौजूदा व्यवस्था + बिजली उत्पादन और वितरण में कुप्रबंधन को देखते हुए लगता ही कि विकास का गतिचक्र उलटा घूमने लग गया है|अब तो वापिस लालटेन के युग में ही जाना पडेगा|Permalink: http://jamosnews.com/