Ad

भाजपा के प्रतीक्षारत कट्टर हिंदूवादी पी एम् मोदी ने कांग्रेस से मुद्दा छीनते हुए नया नारा दिया “पहले शौचालय,फिर देवालय”

[नयी दिल्ली] भाजपा के प्रधानमंत्री पद के प्रतीक्षारत उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस के हाथों से एक महत्त्व पूर्ण मुद्दा छीनते हुए बड़े साहस से कहा कि पहले शौचालय बनने चाहिए और मंदिर बाद में|
युवाओं के लिए आयोजित एक समारोह में गुजरात के मुख्य मंत्री श्री मोदी ने कहा कि हिंदुत्ववादी नेता की छवि होने के बाद भी उनमें यह बात कहने का साहस है। एनजीओ ‘सिटीजंस फॉर अकाउंटेबल गवर्नेंस’ द्वारा आयोजित युवा छात्रों के सम्मेलन में मोदी ने बुधवार को नया नारा दिया “पहले शौचालय, फिर देवालय।”
इस दौरान सेनिटेशन की समस्या से जुड़े सवाल पर उन्होंने कहा “मेरी छवि हिंदुत्ववादी नेता की। यह मुझे इस तरह कहने की इजाजत नहीं देती फिर भी मुझमें यह कहने का साहस है कि पहले शौचालय बनना चाहिए फिर देवालय बनाने चाहिए | महात्मा गांधी का संदर्भ देते हुए मोदी ने कहा कि ‘21वीं सदी में भी बहनों को खुले में शौच जाना पड़ता है यह , देश के लिए ज्यादा शर्मिंदगी की बात है |
दिल्ली के थ्यागराज स्टेडियम में आयोजित इस कार्यक्रम में करीब 200 कॉलेजों के 7 हजार छात्रों ने भाग लिया |
गौरतलब है कि महात्मा गाँधी जीवनपर्यंत शौचालयों की आवश्यकता पर बल देते रहे आज कल कांग्रेस के नेता जयराम रमेश भी बड चड . कर टॉयलेट्स के लिए वकालत करते फिर रहे हैं ऐसे में खुले रूप से मंदिर से टॉयलेट्स को प्राथमिकता का बयाँ देकर मोदी ने लगता है कि कांग्रेस के मुद्दे छीनने शुरू कर दिए हैं|