Ad

ममता +माया+मुलायम + करुणा मोह पगड़ी उछालता ही है|

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

एक कांग्रेसी

ओये झल्लेया इन समर्थक दलों ने क्या भसुडी डाल रखी है|हासाडी सरकार को भांबढ भूसे में गिरा रहे हैं|हसाड़े सोणे ते मन मोहने पी एम् ने अपनी चली चलाई सरकार को दावं पर लगा दिया | राष्ट्र हित में दूरगामी फैसले लेकर ऍफ़ डी आई को मंजूरी दे दी यानि गद्दी घेड़ मौल ले ली|कल तक बिना डकार लिए चिकनी चोपड़ी खाने वाले समर्थक दल आज आँखें दिखा रहे हैं|अल्टीमेटम दे रहे हैं|

झल्ला

भोले बादशाहों आप जी को मालूम होना चाहिए की पी एम् डाक्टर मन मोहन सिंह की राशि म से मिलाते हुए आपने ममता+माया+करुना|और मुलायम से राजनीतिक पींगें बडाई और ये भूल गए की सयाने कह गए हैं की ममता+माया के साथ मुलायमियत और करुना जरुरत से ज्यादा दुःख देती है|इनका मोह सरे बाज़ार पगड़ी उछालता है|