Ad

शरद पवार=सरकार में नंबर दो नहीं तो इस्तीफा लो

एन सी पी प्रमुख शरद पवार को सरकार में नंबर दो का मसला अभी तक सुलझा नहीं है| प्रफुल्ल पटेल ने सोमवार तक पटाक्षेप होजाने जी संभावना जताई है|प्रधान मंत्री ने शरद को वेल्युएबल साथी बता कर मानमंनोवल की तो शरद ने भी कहा की यूं पी ऐ में रहेंगे मगर हमें इसकी नीतियाँ मंज़ूर नहीं हैं|
कल की केबिनेट में एन सी पी [यूं पी ऐ एक घटक दल]शामिल नहीं हुआ इससे पहले भी उपराष्ट्रपति के उम्मीदवार के चयन की मीटिंग में भी अनुपस्थित रहे इससे एन सी पी के शरद पवार और प्रफुल्ल पटेल के सरकार से इस्तीफे की बात भी उड़ती रही है|गौरतलब है कि प्रणव मुखर्जी को राष्ट्रपति का उम्मीदवार बनाए जाने से नंबर दो कि पोजीशन खाली हो गई है जिसपर बीते दिनों डिफेंस मिनिस्टर ऐ के अंटोनी को बिठाया गया था इसीको लेकर शरद पवार उखड़े हुए हैं|
शरद पवार की श्रीमती सोनिया गाँधी से भी मुलाकात हुई और सरकार के कार्यप्रणाली पर प्रश्न चिन्ह लगाए गए इसके बाद प्रधान मंत्री ने शरद पवार को सरकार के लिए एक वेल्युएबल एसेट बताया और विवाद को.पेसिफाईकरने कि कौशिश की मगर आज की प्रेस कांफ्रेंस में हेवी इंडस्ट्री मिनिस्टर प्रफुल्ल पटेल द्वारा गतिरोध के टूटने की कोई संकेत नहीं दिए गए उलटे सरकार की कार्यप्रणाली के प्रति असंतोष ही व्यक्त किया गया |इससे ऐसा माना जा रहा है की शरद पवार सरकार में नंबर दो की हेसियत से कम पर राजी होने के लिए तैयार नहीं हैं|
दिग्विजय सिंह ने अपनी आदत अनुसार जलती में घी का काम कर दिया है उन्होंने एक ब्यान जारी करके कहा है कि कांग्रेस में कोई नंबर दो या तीन नहीं होता केवल प्रधान मंत्री के बाद सभी एक सामान होते हैं|