Ad

Tag: अरविन्द केजरीवाल

अपने नेताओं पर करप्शनआरोप झेल रहे केजरीवाल ने डीडीसीऐ की अनियमितताएं जांचने को कमेटी बनाई

[नई दिल्ली]अपने नेताओं पर करप्शन के आरोप झेल रहे अरविन्द केजरीवाल ने डीडीसीऐ में अनियमितताओं की जांच के लिए कमिटी गठित की
प्राप्त जानकारी के अनुसार अर्बन डेवलपमेंट+स्पोर्ट्स डिपार्टमेंट्स के सचिवों को इस कमिटी में शामिल किया गया है|दो सदस्यीय इस कमिटी को शनिवार तक अपनी रिपोर्ट मुख्य मंत्री को देने को कहा गया है |डी डी सी ऐ में अनियमितताओं की शिकायतों को इस जाँच का आधार बनाया गया है प्राप्त जानकारी के अनुसार वेटेरन क्रिकेटर बिशन सिंह बेदी+गौतम गंभीर भी सीएम सेमुलाक़ात कर चुके हैं .

अरविन्द केजरीवाल ने जून महीने में टैक्स पयेर्स की जेब से पूरे एक लाख की बिजली फूंक ही डाली

[नयी दिल्ली]अरविन्द केजरीवाल ने ,टैक्स पयेर्स की जेब से, जून महीने में पूरे एक लाख की बिजली फूंक ही डाली| केजरीवाल का जून का बिजली बिल 1.35 लाख आया है |इससे पूर्व दो माह के लिए ९१००० हजार रुपयों का बिल आया था |केजरीवाल पर व्यवसायिक काम के लिए घरेलू बिजली कनेक्शन का उपयोग करने का भी आरोप लगाया जा रहा है |
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के सरकारी आवास का जून महीने का बिजली बिल 1.35 लाख रुपये का आया है |जिसे लेकर कांग्रेस और भाजपा ने आम आदमी पार्टी की सरकार को घेरते हुए आरोप लगाया कि यह व्यक्तिगत सुविधाओं के लिए सरकारी पैसा बर्बाद कर रही है।
सिविल लाइन्स में केजरीवाल के 6, फ्लैग स्टाफ रोड स्थित आवास पर दो मीटर वाले कनेक्शन हैं। एक का बिल 22,689 रपये का और दूसरा बिल 1,13,598 रपये का है।
दिल्ली सरकार ने एक आरटीआई आवेदन के जवाब में पिछले महीने बताया था कि अप्रैल और मई के लिए केजरीवाल के घर का बिजली बिल करीब 91,000 रपये का था।
अप्रैल और मई के बिजली बिल आने के बाद दिल्ली सरकार ने कहा था कि इसमें शिविर कार्यालय और आंगतुकों के लिए बनाई गयी कई सुविधाओं का बिल भी शामिल है।
सरकार ने कहा था कि मुख्यमंत्री के आवास पर बिजली खपत का बिल बहुत कम है। सूत्रों के अनुसार केजरीवाल के आवास में कई एयर-कूलरों के अलावा 30 से ज्यादा एयर-कंडीशनर लगे हैं।जिसका खंडन नही किया गया है|
सूत्रों से प्राप्त जानकरी के अनुसार सिविल लाइन्स इलाके में बिजली आपूर्ति करने वाली वितरण कंपनी दफ्तर के काम के लिए घरेलू बिजली कनेक्शन का इस्तेमाल करने के मामले में मुख्यमंत्री आवास पर नोटिस भेज सकती है
दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन ने कहा, ‘‘अरविंद केजरीवाल व्यक्तिगत उपयोग के लिए सरकारी पैसा बर्बाद कर रहे हैं। सत्ता में आने के बाद आप नेताओं ने कहा था कि वे विलासिता में नहीं रहेंगे और आम आदमी की तरह रहेंगे। अब वे क्या कर रहे हैं।’’ भाजपा नेता विजेंद्र गुप्ता ने भी केजरीवाल पर निशाना साधते हुए कहा कि वह निजी सुविधाओं के लिए सरकारी धन का दुरपयोग कर रहे हैं।

भाजपा और कांग्रेस के वोटरों को देश का गद्दार कहने पर अरविन्द केजरीवाल को अदालती नोटिस

[अमेठी,यूं पी] भाजपा और कांग्रेस के वोटरों को देश का गद्दार कहने पर अरविन्द केजरीवाल को अदालती नोटिस
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल को भाजपा तथा कांग्रेस के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी करने के आरोप में उत्तर प्रदेश के अमेठी जिले की एक अदालत ने अदालत में पेश होने का निर्देश दिया है।
सिविल जज प्रवर खण्ड मुसाफिरखाना दुर्गेश पाण्डेय ने केजरीवाल को पिछले साल लोकसभा चुनाव के दौरान दो मई को मुसाफिरखाना के औरंगाबाद में आम आदमी पार्टी प्रत्याशी कुमार विश्वास के समर्थन में आयोजित चुनावी सभा में भाजपा तथा कांग्रेस को वोट देने को कथित तौर पर देश के साथ ‘गद्दारी’ करार दिये जाने के मामले में चार जून को नोटिस जारी किया। अदालत ने केजरीवाल को 29 जून को अदालत में पेश होने का निर्देश दिया है।
गौरतलब है कि चुनाव उड़न दस्ते के मजिस्ट्रेट प्रेम चन्द ने आपत्तिजनक टिप्पणी के मामले में जन प्रतिनिधित्व अधिनियम के तहत मुसाफिरखाना कोतवाली में केजरीवाल के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था।

अरविन्द केजरीवाल से इल्मी अलग हुई:”आप” को चौकड़ी की कैद में मुद्दों से भटकी पार्टी बताया

अरविन्द केजरीवाल से इल्मी अलग हुई |
आम आदमी पार्टी (आप) की संस्थापक सदस्या शाजिया इल्मी ने आज प्रेस कांफ्रेंस करके पार्टी छोड़ने का एलान कर दिया |शाजिया ने पत्रकारों के समक्ष “आप” पार्टी को एक विशेष चौकड़ी की कैद में मुद्दों से भटकी पार्टी बताया | दिल्ली के बजाये गाजियाबाद से चुनाव में उतारे जाने के समय से ही शाजिया ने पार्टी फोरम और प्रेस में अपनी नाराजगी जाहिर करनी शुरू कर दी थी| अब अरविन्द केजरीवाल की जेल यात्रा को केवल सुर्खियां बटोरने वाली सेंसेशनल पॉलिटिक्स बताते हुए केजरीवाल को जनता के बीच जाने का परामर्श भी दिया |
शाजिया इल्मी ने कहा कि पार्टी छोड़ने का फैसला कठिन था और वह दुखी मन से इस्तीफा दे रही हैं।उन्होंने कहा कि पार्टी के अंदर गुटबाजी है +आंतरिक लोकतंत्र नहीं है + इसीलिए लगातार गलतियां दोहराई जा रही हैं। केजरीवाल लोकतंत्र की बात करते हैं,पर अपनी ही पार्टी में वह लोकतंत्र बहाल नहीं कर पाए।
शाजिया ने दावा किया कि आम आदमी पार्टी के अनेकों विधायक उनके संपर्क में हैं।
अल्पसंख्यक चेहरा समझी जाने वाली शाजिया बहुत कम मार्जिन से आरके पुरम से दिल्ली विधानसभा चुनाव हार गई थीं। इसके अलावा गाजियाबाद चुनावों के दौरान इल्मी पर साम्प्रदायिक होने का आरोप भी लगा था|

अरविन्द केजरीवाल रिंद बन कर जन्नत कब्जाने को छब्बे बनने निकले और सत्ता मद में “दूबे”जी बन रहे हैं

B J P CHEEYAR LEEDAR

झल्ले दी झल्लियां गल्लां

उत्तेजित भाजपाई

ओये झल्लेया देख तो गणतंत्र की दुहाई देने वाले ही हसाडे सोणे गणतंत्र का कैसा मजाक उड़ा रहे है| कांग्रेस की गोद में बैठी ये आम आदमी की कथित पार्टी सत्ता कब्जाने और भ्रष्ट कांग्रेस को बचाने के लिए कैसे कैसे गुल खिलाने लग गई है| चुनावी संहिता लागूं होने के बावजूद इनके सुप्रीमो अरविन्द केजरीवाल ने गुजरात में पोलिटिकल रोड शो कर दिया | इस पर चुनाव आयोग के कब्जे में आ चुकी वहाँ की पोलिस ने केजरीवाल से जरा सी पूछ ताछ क्या कर ली कि अरविन्द की “जेबी” “आप”पार्टी ने संहिताओं को शर्म के सागर में डुबो दिया| ओये दिल्ली में दिन दिहाड़े हसाडे दफ्तर पर हमला बोल दिया| हसाडे नेताओं को गन्दी गन्दी गालियां दी +डंडे पत्थर भी बरसाए इस पर जब दिल्ली पोलिस ने आशुतोष + शाजिआ इल्मी को ठाणे में बुला कर घंटों बैठाये रखा तो इस पर भी बनने वाले हसाडे पी एम् नरेंद्र मोदी को ही गालियां निकालने लग गए| अब जब इन आक्रमण कारियों पर ऍफ़ आई आर लगाईं गई है तो सारी हेंकड़ी भूल गए और माफ़ी मांगते फिर रहे हैं |टी वी कैमरों और पोलिस के सामने शांति बनाये रखने के लिए अपील का ढोंग रच रहे हैं जबकि थाणे के बाहर चुनावी आचार संहिता की धज्जियां उड़ाते हुए हुए इनके नेता+कार्यकर्ता नारे लगते रहते हैं

"


झल्ला

सेठ जी थोड़ी ठण्ड रखो ठण्ड |पुरानी दो तीन कहावतें मुझे भी याद आ रही हैंइन्हे आपस में जोड़ कर कहा जा सकता है कि अरविन्द केजरीवाल की हालत उन “चौबे” जी की तरह हो गई है जो रिंद बन कर जन्नत कब्जाने के लिए छब्बे जी बनने निकले मगर अपने हुकूमत के नशे के कारण दूबे जी बन कर रह गए |नहीं समझे अरे भापा जी झल्ले कि जानकारी में आया है कि दिल्ली के मुख्य मंत्री की कुर्सी से भागे केजरीवाल ने अभी तक तिलक लेन के भव्य सरकारी आवास नहीं छोडे है इसके साथ ही विधायक बनने के लिए निर्धारित राशि से ५०% अधिक राशि खर्च की है

“आप”सरकार का दिल्ली सचिवालय के सामने सड़क पर लगा पहला जनता दरबार चरमराया

अरविन्द केजरीवाल सरकार ने सड़क पर उतर कर आम जनता को सुनने के लिए दिल्ली सचिवालय के बाहर जनता दरबार लगाया लेकिन अप्रत्याशित रेस्पोंस से व्यवस्था ही चरमरा गई जिसके फलस्वरूप सिक्यूरिटी आफिसर्स के कहने पर केजरीवाल को दरबार मात्र १५ मिनट के पश्चात ही छोड़ना पड गया |इससे जनता को परेशानी तो हुई लेकिन उनके हौंसले पस्त नहीं हुए अधिकांश अगले दरबार में लौटने के आस में वापिस चले गए|अरविन्द केजरीवाल के दृढ संकल्प को देखते हुए इस प्रयोग के अगले शनिवार को रीपीट होने के सम्भावना से भी इंकार नहीं किया जा सकतालेकिन इस अप्रत्याशित असफलता को लेकर आम आदमी पार्टी दवरा निर्धारित २०१४ का लक्ष्य को लेकर आम आदमी पार्टी की क्षमता पर कहीं न कहीं प्रश्न चिन्ह लगना स्वाभाविक है| केजरीवाल अभी तक सुरक्षा लेने से इंकार करते आये हैं यहाँ तक कि उन्होंने यूं पी से जेड+सुरक्षा भी लेने से इंकार किया है लेकिन आज सुरक्षा कर्मियों की सहायता से केजरीवाल जनता दरबार से बाहर निकल गए
आम आदमी पार्टी ने आज से प्रत्येक शनिवार को सचिवालय के बाहर सड़क पर सुबह साढ़े नौ बजे से डेढ़ घंटे केलिए जनता दरबार लगाने के घोषणा की है इसीलिए आज सुबह से ही सचिवालय के बाहर लोग जमा होने शुरू हो गए | इनमे से अधिकांश केजरीवाल को मिलने और उन्हें शुभ कामनाएं देने वाले ही थे जिसके चलते शिकायतकर्ता माइनॉरिटी में आगये और अपनी शिकायत केजरीवाल तक पहुँचाने से भी पिछड़ गए| राष्ट्रीय राजनीती करने का मन बना चुके केजरीवाल अपने विकल्प के रूप में किसी नए चेहरे को एस्टेब्लिश नहीं कर पाये जिसके चलते भीड़ का रुझान उनके कॉउंटर की तरफ ही रहा शेष मंत्री गण शिकायत पत्र प्राप्त करने के लिए तरसते रहे|एक समय ऐसा आया जब अनियंत्रित भीड़ ने सुरक्षा के लिए लगाये गए बैरियर्स को तोड़ दिया और भीड़ का रैला केजरीवाल की तरफ दौड़ चला जिससे घबरा कर सिक्यूरिटी को अपने चीफ मिनिस्टर को सुरक्षित बाहर निकालने के लिए शिकायतकर्ताओं तक से जूझना पड़ा इस असफलता में भीड़ के आगमन को लेकर आम आदमी पार्टी अपनी लोकप्रियता का दावा ठोक सकती है लेकिन लचर व्यवस्था को लेकर राष्ट्रीय स्तर पर उनके न्रेतत्व क्षमता पर प्रश्न चिन्ह लगाना स्वाभाविक ही है|

दिल्ली सरकार की हेल्प लाइन ज्यादातर व्यस्त मिली फिर भी ३९०० फोन रिसीव हुए : ५३ शिकायतें गम्भीर

[नई दिल्ली]भ्रष्टाचार की शिकायतों को दर्ज करने के लिए बनी हेल्प लाइन पर आज पहले दिन मात्र सात घंटों में ३९०० फोन आये जिनमे से ५३ शिकायतें गम्भीर किस्म की पाई गई है इसके बावजूद अधिकांश समय फोन करने पर “लाइन व्यस्त है” की टोन ही सुनाई दी |यहाँ तक कि मंत्रियों के साथ पार्टी कार्यालय के फोन भी व्यस्त ही रहे| कल तक चार और लाइने शुरू करने की घोषणा की गईहै
प्रेस कांफ्रेंस में मुख्य मंत्री अरविन्द केजरीवाल ने बताया कि हेल्प लाइन को लेकर आम जनता में बेहद उत्साह पाया गया है|सात घंटे में ३९०० काल्स आई जिनमे से ५३ शिकायतें गम्भीर किस्म की है |इनमे से कुछ केसों में शिकायत कर्ता ने भ्रष्ट अधिकारी के साथ सेटिंग भी की है औरंपर कार्यवाही भी प्रारम्भ हो गई है| केजरीवाल ने अपनी पार्टी के संकल्प को दोहराते हुए बताय कि दोषियों को बख्शा नहीं जायेगा |

“आप” पार्टी की दिल्ली सरकार ने भ्रष्टाचार के खात्मे के लिए हेल्प लाइन जारी की

[नई दिल्ली]आम आदमी पार्टी की दिल्ली सरकार ने अपने चुनावी घोषणा पत्र पर अमल करते हुए एक और नए आयाम स्थापित करने में आज सफलता पाई |भ्रष्टाचार सम्बन्धी शिकायतों के लिए हेल्प लाइन की घोषणा कर दी गई है |आज शाम एक प्रेस कांफ्रेंस में मुख्य मंत्री अरविन्द केजरीवाल ने ये हेल्प लाइन जारी किये इनका नंबर ०११ – २७३५७१६९ बताया गया है|केजरीवाल ने बताया कि इस नंबर से शिकायत कर्ता को भ्रष्ट अधिकारी को पकड़वाने के गुर सिखाये जायेंगे और उसे पकड़ने की व्यवस्था की जायेगी |यह हेल्प लाइन सुबह आठ बजे से रात दस बजे तक काम करेगी|केजरीवाल ने सपष्ट किया कि पीड़ित/शिकायतकर्ता अपने मोबाइल से आडिओ रिकॉर्डिंग कर सकता है उसे भी मान्यता दी जायेगी

कांग्रेस अगर “आप” वालों से ईमानदारी ही सीख लेँ तो सारा टंटा[मुसीबत] ही मुक[खत्म] जायेगा

झल्ले दी झल्लियां गल्लां

कांग्रेसी चीयर लीडर

ओये झल्लेया देखा हसाडे अरविंदर सिंह का लवली दिमाग? ओये हमें दिल्ली में हराने और हमें लगातार गालियां कड्डण वाली अल्प मत “आप” को कितनी सादगी और विनम्रता से समर्थन देकर दिल्ली वासियों के हित में गाली गाफटोरों की सरकार बनवा दी |ओये ये भाजपाइयों ने हमसे कुछ नहीं सीखने तो कसम खाई हुई है लेकिन हसाडे राजा दिग्विजय सिंह जी के नवीनतम ट्वीट उपदेश को ही मान लेँ और भाजपाई नरेंदर मोदी जी “आप” के अरविन्द केजरीवाल से ही विनम्रता सीख लेँ बड़ी बड़ी गाड़ियों के बजाय अपने प्रदेश में बनने वाली नैनो का ही इस्तेमाल शुरू कर देँ तो इनके कथनी और करनी का फर्क खत्म हो जायेगा|

झल्ला

हाँ जी वाकई सही कहा गया है कि “पर उपदेश चतुर बहुतेरे” अरे कांग्रेस वाले अगर आप वालों से ईमानदारी ही सीख लेँ तो सारा टंटा ही मुक[खत्म]हो जायेगा|वैसे ये तो बताते जाओ कि अपनी इज्जत+रेपुटेशन+स्वाभिमान+अभिमान को किस सौदे में बेच कर “आप” वालों को समर्थन दिया है|

“आप” अगर आज फेयरली पानी नहीं देते तो “लवली” ने फेयर सरकार पर ही पानी फेर देना था

झल्ले दी झल्लियां गल्लां

“आप ‘पार्टी चीयर लीडर

ओये झल्लेया देखा हसाडे सोणे वड्डे साहब जी दा कमाल ओये धोती को फाड़ कर कर दिया ना रुमाल| आज पहले दिन ही मेनिफेस्टो पर अमल करके दिल्ली वासियों को २०००० लीटर पानी मुफ्त देने की घोषणा कर दी गई है|बेशक यह सुविधा अभी तीन महीने तक रहेगी लेकिन ये तो देख कि [१]सरकार का पहला दिन है[२] मुख्य मंत्री खांसता हुआ बीमार पड़ा है[३] प्रेस वालों ने सेक्टेरिएट में ऐसी की तैसी की हुई है इसके बावजूदएक एक करके चुनावी वायदा पूरा किया जा रहा है|

झल्ला

अरे मेरे चतुर महान जीअगर आप फेयरली पानी नहीं देते तो कांग्रेसी लवली[अरविंदर सिंह] ने “आप” पर ही पानी फेर देना था| ये जो आप की फेयर[आप]+लवली[कोंग्रेस] सरकार बनी है वोह अगली[UGLY] फेयर[ Fair]बन कर रह जायेगा |