Ad

Tag: उ प न्यूज़

राज्‍य सभा की उत्तरप्रदेश से दो सीटों के लिए 20 दिसम्बर को उपचुनाव होंगें :नामांकन की अंतिम तिथि10 दिसम्बर

उत्तरप्रदेश से राज्‍य सभाकी दो सीटों के लिए 20 दिसम्बर, 2013 (शुक्रवार)को उपचुनाव कराये जायेंगे इसके लिए 10 दिसम्बर, 2013 (मंगलवार)तक नामांकन भरे जा सकेंगे |तीन माह पूर्व राज्य सभा सदस्य समाजवादी पार्टी के महा सचिव मोहन सिंह की मृत्यु हुई थी और कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ता रशीद मसूद को न्यायलय द्वारा अयोग्य घोषित किया गया था |
उत्‍तर प्रदेश से राज्‍य सभा के लि‍ए दो आकस्‍मि‍क रि‍क्‍ति‍यां हुई हैं। इनका वि‍वरण नीचे दि‍या गया है:-
क्रम सं.=====सदस्‍य का नाम========================कार्यकाल अवधि‍======================================टि‍प्‍पणी
[१]========श्री मोहन सिंह=========================4 जुलाई, २०१६================22 सि‍तम्‍बर, 2013 को मृत्‍यु होने के कारण
[२].========श्री रशीद मसूद========================2 अप्रैल, २०१८==========19 सि‍तम्‍बर, 2013 को अयोग्‍य घोषि‍त होने के कारण
आयोग ने उपर्युक्त रिक्तियों को भरने के लिए निम्नलिखित कार्यक्रम के अनुसार उत्तरप्रदेश से राज्य सभा के लिए उपचुनाव आयोजित कराने का निर्णय लिया हैः-
क्र. स.=====कार्यक्रम=====तिथि और दिवस
[१]===अधिसूचना जारी====3 दिसम्बर, 2013 (मंगलवार)
[२]नामांकन भरने की अंतिम तिथि============================================10 दिसम्बर, 2013 (मंगलवार)
[३]नामांकनों की जांच============================11 दिसम्बर, 2013 (बुधवार)
[४]==नाम वापस लेने की अंतिम तिथि==================13 दिसम्बर, 2013 (शुक्रवार)
[५]===मतदान तिथि=======================================================20 दिसम्बर, 2013 (शुक्रवार)
[६]===मतदान का समय=================================================सुबह 9.00 बजे से सांय 4.00 बजे तक
[७]====मतगणना===============20 दिसम्बर, 2013 (शुक्रवार) सांय 5.00 बजे
[८]=चुनाव प्रक्रिया पूर्ण करने की तिथि=========================================23 दिसम्बर, 2013 (सोमवार)

अखिलेश यादव ने दीपावली को सामाजिक सदभाव+आपसी मेल जोल के साथ मनाने की अपील की

उत्तर प्रदेश के मुख्य मंत्री अखिलेश यादव ने दीपावली के पावन पर्व को सामाजिक सदभाव+आपसी मेल जोल के साथ मनाने और पर्यावरण सरंक्षण के लिए पटाखों आदि के इस्तेमाल नहीं करने की अपील की|
दीपावली पर अपने बधाई सन्देश में सी एम् ने कहा कि दीपावली असत्य +अन्याय+शोषण के विरुद्ध संघर्ष+विजय का उत्सव है इसे सामाजिक सदभाव +आपसी मेल जोल से मनाया जाना चाहिए|उन्होंने कहा कि पटाखों से पर्यावरण की हानि को भी ध्यान रखना चाहिए

केन्द्रीय विद्यालयों के लिए कन्नौज+संभल+लखीम पुर खीरी+सीतापुर में प्रदेश सरकार भूमि उपलब्ध करायेगी

अखिलेश यादव ने उत्तर प्रदेश में केन्द्रीय विद्यालयों के लिए भूमि उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया
मुख्य मंत्री अखिलेश यादव से शनिवार को उनके सरकारी आवास पर केन्द्रीय मानव संसाधन मंत्री जितिन प्रसाद ने मुलाकात की और कुछ केन्द्रीय विद्यालयों के लिए भूमि का आग्रह किया|
जिसे स्वीकार करते हुए सी एम् ने कन्नौज में भी केन्द्रीय विद्यालय स्थापित कराने का आग्रह किया|इसके आलावा जितिन प्रसाद ने मौलाना आजाद नॅशनल उर्दू यूनिवर्सिटी[ MANUU ] का कैम्पस संभल में स्थापित करने के लिए भूमि की मांग की |
इस मुलाकात के बाद अब कन्नौज+संभल+लखीम पुर खीरी+सीतापुर में शिक्षा के स्तर को सुधारा जा सकेगा|

उत्तर प्रदेश की सत्ता में दबंग विधायक रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया की वापिसी हो गई है

[लखनऊ] उत्तर प्रदेश की सत्ता में दबंग विधायक रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया की वापिसी हो गई है| मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कुंडा प्रतापगढ़: के निर्दलीय दबंग विधायक रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया को पुन: अपने मंत्रिपरिषद में शामिल कर लिया है।
राजभवन में आयोजित एक सादा समारोह में राज्यपाल बीएल जोशी ने रघुराज प्रताप सिंह को कैबिनेट मंत्री के रुप में पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई।
शपथ ग्रहण समारोह में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के अलावा सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव और वरिष्ठ मंत्री आजम खां+कैबिनेट मंत्री शिवपाल सिंह यादव भी मौजूद थे। |
पश्चिमी उत्तर प्रदेश में दंगों के बाद राजनीतिक संतुलन साधने को सपा सरकार ने निर्दलीय विधायक रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया एक बार फिर मंत्रिपरिषद में जगह दे दी है। राज भैय्या के माध्यम से अब ठाकुरों को मनाने की शुरुआत की जायेगी |
गौरतलब है के इसी वर्ष मार्च में प्रतापगढ़ के कुंडा में पुलिस क्षेत्राधिकारी जियाउल हक की हत्या के मामले में नाम आने पर राजा भैया को मंत्रिमंडल से हटना पड़ा था।
यह डेढ़ साल पुरानी अखिलेश यादव सरकार का चौथा मंत्रिपरिषद विस्तार होगा।
उल्लेखनीय है कि लगातार पांच बार से कुंडा विधानसभा से चुनाव जीतने वाले निर्दलीय विधायक राजा भैया अखिलेश सरकार में खाद्य रसद तथा कारागार मंत्री थे। बीते मार्च में डीएसपी जिया उल हक की कुंडा में हुई हत्या के मामले में डीएसपी की पत्‍‌नी ने राजा भैया के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई। जिसके चलते राजा भैया ने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया। डीएसपी हत्याकांड की सीबीआइ जांच में राजा भैया को निर्दोष बताया गया है ।
राजा भैया पहली बार सन 1993 में कुंडा सीट से निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में रिकॉर्ड मतों से जीते थे। इसके बाद से अभी तक उन्होंने कभी हार का स्वाद नहीं चखा है |
2002 में मायावती की अगुवाई में गठबंधन की सरकार बनी तो बगावत करते हुए निर्दलीय विधायकों के अगुवा बन राजा भैया ने 25 अक्टूबर, 2002 को मायावती सरकार से समर्थन ले लिया था।