Ad

Tag: झल्ली गल्लां

अरविन्द केजरीवाल के झाड़ू की सीखें बिखेरने के लिए भाजपा और कांग्रेस दुबले हो रहे हैं

झल्ले दी झल्लियां गल्लां

आम परेशान

ओये झल्लेया ये दिल्ली में क्या भसूड़ी पै गई|आम आदमी पार्टी की जुम्मा जुम्मा एक महीने की सरकार को पालने में ही खत्म करने की साजिश रची जाने लगी है |एक तरफ “आप” के जन लोक पाल बिल को रोकने के लिए भाजपा और कांग्रेस तमाम तरह के कानूनी अडंगे लगा रहे हैं तो दूसरी तरफ बिन्नी+शौकीन+शोएब इकबाल ++जैसी सीखों को अलग करके एक नया झाड़ू बनाने का षड्यंत्र रचा जा रहा है सरकार को माइनॉरिटी में लाने की कंस्प्रेसी हो रही है |२८ में से अब ओनली २७ विधायक ही रह गए हैं |ऐसा चलता रहा तो आप का झाड़ू बिखर जायेगा
कांग्रेस और भाजपा दोनों ही २०१४ के चुनावों में फेस सेविंग की फिक्र में दुबले हुए जा रहे हैं इस सबको देख कर अब यह चिंता सताने लगी है कि कही जन लोक पाल के मुद्दे को लेकर ये अरविन्द केजरीवाल सरकार ही छोड़ दे अगर ऐसा हो गया तो समझो पांच सालों के लिए गई भैंस फिर से पानी में

झल्ला

अरे भाई जान ये सत्ता का नशा है जब चढ़ता है तो नाचता है और जब उतरता है तो नचाता है |और इसी नशे के नशेड़ी कभी कभी नए नशे के चक्कर में छछूंदर सरीखे मुह में रख लेते हैं और ये तो आप भी जानते हो कि छछूंधर बड़े से बड़े विषधर की भी ऎसी की तैसी कर देता है

जाति आधारित आरक्षण को समाप्त करने के लिए राहुल के किसी निर्णय के पीछे “यूं पी ऐ”खड़ी रह पायेगी?


झल्ले दी झल्लियां गल्लां

कांग्रेसी चीयर लीडर

ओये झल्लेया मुबारकां ओये हसाडे नॅशनल महासचिव जनार्दन द्विवेदी जी ने देश में जाति के अधर पर रिजर्वेशन को खत्म करने के लिए मुहीम छेड़ दी है अब देखना हसाडे सोणे राहुल गांधी जी चुनावी मेनिफेस्टो में इसे शामिल कर ही लेंगे फिर हम लोग मोदी+मुलायम+माया+ममता+नितीश+++ सभी को देख लेंगे

JamosJhalla

JamosJhalla


झल्ला

चतुर सुजाण जीआप जी की पार्टी में इंदिरा गांधी ही एक ऎसी पर्सनालिटी थी जो चुनावों में जनता का रुख अपनी तरफ मोड़ने के लिए हर बार एक नया क्रांतिकारी कदम उठानेका हौंसला और क़ाबलियत रखती थी वोह बेचारी तो अब स्वर्गीय हैं और वर्त्तमान नेताओं ने पिछले दस सालों में किसी चमत्कार का ट्रैलर भी नहीं दिखाया है ऐसे में राहुल गांधी के हौंसलों के पीछे पार्टी खड़ी रह पायेगी इसमें झल्ले को तो संदेह है+शक है+संशय है+बिलकुल डाउट ही है जी

जनाब आजम खान साहब की भैसों के लिए जेड प्लस की सुरक्षा का रास्ता साफ़ हो गया है


झल्ले दी झल्लियां गल्लां

पीड़ित आम नागरिक

ओये झल्लेया ये समाज वादी हुकमरानों की बची खुची अक्ल भी चारा चरने चली गई है क्या ?देख तो प्रदेश में एक से बढ़ कर एक अपराधिक वारदातें हो रही है और सपा सरकार अपने खासुलखास कद्दावर मंत्री आजम खां की सात भैंसे ढूढ़ने में २४ घंटे मस्त रही ओये ऐसे चलती है सरकार कभी? पोलिस वाले भी खुनी बाघिन +बलात्कारी+डकैत+लुटेरों को पकड़ने के बजाय भैसों की अक्ल के पीछे लट्ठ लेकर दौड़ते रहे

जनाब आजम खान साहब की भैसों के लिए जेड प्लस की सुरक्षा का रास्ता साफ़ हो गया है

जनाब आजम खान साहब की भैसों के लिए जेड प्लस की सुरक्षा का रास्ता साफ़ हो गया है


झल्ला

भोले बाबू समाजवादी हुकुमनराणों ने अपनी अक्ल तो अपनी सरकार बचाने और केंद्र की कुर्सी कब्जाने के लिए बचा कर रखी है जहाँ तक बात पोलिस की है तो उन्होंने पुराणी कहावत से फायदा उठाने के लिए भैसों के पीछे भागना शुरू कर दिया है ताकि भैसों के आगे आकर बीण बजा सकें और मन वंचित लाभ प्राप्त कर सकें |रही बात जनाब आजम खान साहब की तो अब उनकी भैसों के लिए जेड प्लस की सुरक्षा का इंतेजाम कराने का रास्ता साफ़ हो गया है

केजरीवाल ने राजनीतिक चक्रव्यूह में खुद ही प्रवेश किया अब कांग्रेस+भाजपा+बिजली कम्पनी के व्यूह से निकलने की जुगत भी तो उसे ही लड़ानी होगी

झल्ले दी झल्लियां गल्लां

दिल्ली का आम दुखी नागरिक

ओये झल्लेया बता तो हमने अगर आम आदमी पार्टी को वोट दे दी तो कौन सा गुनाह कर दिया?”आप” पार्टी की सरकार के बनाने के केवल एक महीने के पश्चात ही दूध+डीजल+बिजली महंगी हो गई और भाजपा हो या कांग्रेस सभी एक जुट होकर खाती + पीती गुर्राती बिजली कंपनियों की घेरा बंदी करने के बजाय शिशुकाल में ही “आप” पार्टी को मारने के लिए हुड़दंग मचाने लग गई हैं

झल्ला

अरे मेरे भोले साथी तुम लोग शायद महाभारत के अभिमन्यु के चैप्टर को भूल गए वरना ऐसा रोना नही रोते|अरे बाबा केजरीवाल ने राजनीतिक चक्रव्यूह में खुद ही तो जोर शोर से प्रवेश किया था अब कांग्रेस+भाजपा+बिजली कम्पनी आदि के इस व्यूह रचना को भेद कर उसमे से बाहर निकलने की जुगत भी तो उसे ही लड़ानी होगी

बाबा राम देव नरेंद्र मोदी की पी आर करते हुए अब लालू प्रसाद यादव को ही लुभाने [Lure] लग गए

झल्ले दी झल्लियां गल्लां

कोंग्रेसी चीयर लीडर

ओये झल्लेया ये क्या हो रहा है ? देख तो ये योग गुरु बाबा राम देव जी महाराज अब भाजपाई नरेंदर मोदी के पी आर ओ बन गए हैं आये दिन कोई न कोई नया गुल खिलाने लग गए हैं और तो और हसाडे परम सहयोगी लालू प्रसाद यादव जी को ही ललचाने लग गए हैं कहते हैं कि मोदी को पी एम् बनवा दो तो तुम्हें सी एम् बनवा देंगें

झल्ला

ओ मेरे चतुर सुजाण जी महाराज आपके बुजुर्गों ने कहा है कि” वंड[ बाँट] खाओ ते खंड[मीठा ]खाओ नही ते ठण्ड खाओ” और बाँट के खंड खाने का तो आपका ही पुराना और हिट फार्मूला है अब ये हिट फार्मूला आपके विरोधियों को भी मालूम चल ही गया है

अखिलेश यादव ने भी अपने पिता की गलती को दोहराते हुए लोकतंत्र के चौथे स्थम्भ के खिलाफ मोर्चा खोला

झल्ले दी झल्ली गल्लां

आक्रोशित सपाई चीयर लीडर

ओये झल्लेया ये आप लोगों ने क्या ष्टराग फैला रखा है ओये हमने सैफई में सांस्कृतिक महोत्सव मना कर कोई गुनाह नहीं किया उलटे लोगों को रोजगार के अवसर दिए हैं|हसाडे युवा मुख्य मंत्री अखिलेश यादव ने भी कह दिया है कि कोई ३०० करोड़ वरोड खर्च नहीं हुए केवल १० करोड़ ही तो लगे हैं और राज्य सरकार ने तो ओनली एक करोड़ ही दिया है
एवंई ये सारा का सारा मीडिया उनकी छवि खराब करने पर तुला है इसके लिए तो भई माफी मांगनी चाहिए|

झल्ला

अरे पहलवान जी जरा लट्ठ को साइड में और कान मेरी तरफ करो | आप जी के ही प्रदेश की जनता हाड़ कंपाने वाली सर्दी में जहां तन ढकने + दो जून की रोटी के लिए दर दर भटक रही है ऐसे में आप जी की राजमद में डूबी समाजवादी सरकार करोड़ों रुपये पानी की तरह बहा रही हैं।अपनी गलती को तो स्वीकार कर नही रहे उलटे अपनी बौखलाहट दिखाने के लिए लोकतंत्र के चौथे स्थम्भ को ही हिटलर के स्टाइल में धमकाने लग गए | सवाल पूछने पर एन डी टी वी के पत्रकार को लाइन में जाने को कह दिया और टाइम्स नाउ के पत्रकार को नासमझ बता कर उसे धमकाने की कोशिश की अब माफ़ी मांगने को कह रहे हैं |झल्ले विचारानुसार आप जी के नेता जी माननीय मुलायम सिंह यादव ने भी अपने समय में अमर उजाला और दैनिक जागरण से पंगा लिया था उस समय ये दोनों समाचार पत्रों ने एक होकर आप जी की पार्टी का ब्लैक आउट कर दिया था वोही गलती अब नेता जी के पुत्र अखिलेश यादव भी दोहरा रहे हैं |ये अच्छी बात है क्या?

पी एम् ने मुम्बई में अति आधुनिक एयर पोर्ट के उद्घाटन की बधाइयाँ ली तो रेल स्ट्राइक में फंसे लाखो यात्रियों ने गालियां दी

झल्ले दी झल्लियां गल्लां

कांग्रेसी चीयर लीडर

ओये झल्लेया मुबारकां ओये हसाडे सोणे मन मोहने पी एम् ने मुम्बई में अति आधुनिक नए एकीकृत टर्मिनल -2 को राष्ट्र को समर्पित किया और एविएशन छेत्र कमाल कर दिया ओये हुन एयरपोर्ट सेवा क्वालिटी रेटिंग 2007 में 3.53 से बढ़कर 2012 में 4.64 हो गई है। यह अब 25 से 40 मिलियन यात्री क्षमता श्रेणी में तीसरा श्रेष्ठ हवाई अड्डा है मानता है न कि देश में असली विकास तो हम ही कर रहे हैं

झल्ला

चतुर सुजाण जी ऐसी विकास की धारा से तौबा भली |अरे एक तरफ आप लोग एयर पोर्ट के वैभव में डूबे थे तो उसी समयमुम्बई में ही रेल कर्मियों की हड़ताल से लाखो यात्री व्यवस्था को गालियां निकाल रहे थे|झल्लेविचारानुसार दिमाग बेशक आकाश में रखो मगर अपने पावँ हमेशा जमीन पर ही रहने चाहिए

मुलायम बेचारे मन के भी मुलायम ठहरे सो मुजफ्फर नगर के दर्दनाक मंजरों के बजाये सैफई के राग रंग में व्यस्त हैं

झल्ले दी झल्लियां गल्लां

आक्रोशित कांग्रेसी

ओये झल्लेया प्रधान मंत्री की कुर्सी पर नजरें गढ़ाए ये सपाई मुलायम सिंह यादव के पास मुजफ्फर नगर के दंगा पीड़ितों के आंसू पूछने के लिए तो समय और पैसा है नहीं लेकिन अपनी सैफई महोत्सव में नाच गाने का आनंद लेने के लिए पर्याप्त समय और करोडो रुपये उड़ाने के लिए हैं ओये ऐसे तेवर दिखा कर ही ये प्रधान मंत्री बनना चाहते हैं?

झल्ला

अरे सेठ जी आप जी ने सैफई में गाये जा रहे गाने के बोल पर ध्यान नहीं दिया “मुलायम मन के भी मुलायम हैं ” और जो बेचारा मन का मुलायम होता है उसे तो मुजफ्फर नगर जैसे दर्दनाक मंजरों से बच कर ही रहना चाहिए और जहाँ तक हो सके मधु+पराग में ही डूबे रहना चाहिए

कुमार विश्वास ने राहुल को अमेठी में चुनौती दी तो शोएब ने कुमार के खिलाफ दिल्ली में पुराने धार्मिक उन्माद के शोशे छोड़े

झल्ले दी झल्लियां गल्लां

जनता दल [यूं] का चीयर लीडर

ओये झल्लेया देख तो इन “आप” पार्टी वालों की धोखा धड़ी अपने किये वायदों को एक के बाद एक टालते जा रहे हैं |और तो और इनके नेता कुमार विश्वास हसाडे मजहब का भी मजाक उड़ाने लग गए हैं ओये इसीलिए हसाडे दिल्ली में एक मात्र विधायक शोएब इकबाल ने “आप” की दिल्ली में जुम्मे जुम्मे आठ दिन की सरकार से समर्थन वापिसी लेने की धमकी दे डाली है

झल्ला

अरे मियाँ भाई क्यों ख्वाहमखाः उछल रहे हो ?अरे आप से “आप “वालों ने समर्थन मांगा नहीऔर आपके शोएब इकबाल के समर्थन वापिस लेने से भी इनके पास ३६ विधायकों का समर्थन रहेगा सो इनका कुछ बिगड़ना नही| क्योंकि आप जी के नेता ने महीनों पुराने इस शोशे को अब हवा दी है तो कुछ ना कुछ परदे दारी जरुर होगी |कहीं ऐसा तो नहीं कि अमेठी में कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी को चुनौती देने वाले कुमार विश्वास की टांग खींचने के लिए कोई डील हुई है???

आज़म खान साहब मेरठ में कमेले की जमीन पर स्कूल के शिलान्यास समारोह में धर्म के साथ राजनीती निरपेक्षता भी दिखा देते तो हो जाती बल्ले बल्ले

झल्ले दी झल्लियां गल्लां

सपाई चीयर लीडर

Azam Khan In Meerut

Azam Khan In Meerut

ओये झल्लेया देखी हसाडे जनाब आज़म खान साहब की दरियादिली| ओये एक झटके में उन्होंने मेरठ में कट्टर मुस्लिमों के कब्जे में कमेले के नासूर को नेस्तनाबूत करके वहाँ कन्यायों के लिए कॉलेज का शिलान्यास कर ही दिया |ओये हसाडे पवित्र कुरआन का पहला अक्षर है “इकरा” जिसका मतलब होता है “पढ़ो ” कुरआन का पालन करने के लिए लड़कियों को शिक्षित करने में यह कालेज अहम् भूमिका निभाएगाअब मानता है ना हसाडे आजम खान को धर्मनिरपेक्ष?
झल्ला

Black Flags Shown To Azam Khan In Meerut

Black Flags Shown To Azam Khan In Meerut

भापा जी बात तो आप ठीक ही कह रहे हो लेकिन आँखों देखी है कि मेरठ में आज़म खान साहब को कुछ लोगों ने काले झंडे भी दिखाए लेकिन आप लोगों ने उनपर लाठियां बरसवाई |अब काले झंडो के प्रदर्शन से ज्यादा पोलिसीआई लाठी चार्ज को कवरेज मिला |रास्ते में ट्रैफिक रोक कर घंटों के जाम लगवा दिए | आम जनता को परेशानी हुई | भापा जी धर्म निरपेक्षता के साथ साथ राजनीती निरपेक्षता भी दिखा देते तो हो जाती बल्ले बल्ले