Ad

Tag: समाजवादी पार्टी

कांग्रेस ने मोदी+अखिलेश के विकास के दावों और केजरीवाल की विज्ञापन निति की धज्जियां उड़ाई

[नई दिल्ली] कांग्रेस ने मोदी+अखिलेश के विकास के दावों और केजरीवाल की विज्ञापन निति की धज्जियां उड़ाई
कांग्रेस ने विकास का नारा देते हुए मोदी+अखिलेश के विकास के दावों और केजरीवाल की विज्ञापन निति की धज्जियां उड़ाई
कांग्रेस के वेबसाइट और फेस बुक अकाउंट पर प्रामाणिक फोटोस के साथ बड़े रोचक तरीके से प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी+उत्तर प्रदेश के मुख्य मंत्री अखिलेश यादव और दिल्ली प्रदेश के मुख्य मंत्री अरविन्द केजरीवाल द्वारा किये जा रहे विकास के दावों की जम कर खिल्ली उड़ाई गई है|
इन पोस्ट को लोग लाइक भी कर रहे हैं |मात्र दो घंटे में २८५५ द्वारा लाइक्स+१३२ ने कमेंट्स+और ३३५ द्वारा पोस्ट शेयर की जा चुकी हैं |
पहली पोस्ट में ऍनडीऐ शासित केंद्र +सपा शासित यूपी के दावों की पोल खोलते फोटो हैं और इसके साथ ही कांग्रेस शासित दिल्ली के विकास की झलक भी दिखाई गई है| इन फोटो के साथ लिखा गया है के
[१]मोदी मॉडल – विकास पर्दे की आड़ में
[2]अखिलेश यादव मॉडल – खोखली सड़क
[३]कांग्रेस मॉडल – दिल्ली में विश्वस्तरीय मेट्रो और सड़कें
दूसरी पोस्ट में
अरविन्द केजरीवाल की फोटो हैं और उनके द्वार अख़बारों में दिए जा रहे विज्ञापन दिखाए गए हैं”
और लिखा गया है के
“राजनीति बदलने आये थे वो तो नहीं बदली लेकिन विज्ञापन देने के तरीके जरुर बदल दिए और कहते हैं के हमें[आप]बदनाम किया जा रहा है|”,

वीआईपी कल्चर के खिलाफ पनप रहा जनाक्रोश आज सपा नेता की मर्सडीज के बोनट पर चढ़ कर बोला

[आगरा]वीआईपी कल्चर के खिलाफ पनप रहा जनाक्रोश आज सपा नेता की मर्सडीज के बोनट पर चढ़ कर बोला|
एक महिला ने सपा नेता के गार्ड पर अश्लील हरकत करने का आरोप लगाते हुए बीच बाजार में हंगामा किया |नेता अभिनव शर्मा की गाड़ी के बोनट पर चढ़ कर पार्टी का झंडा उतारा और फिर उसी झंडे से विंड स्क्रीन तोड़ी| इसी बीच नेता के परिजनों ने साढ़े छह हजार रुपये देकर मामले को सुलटाने का प्रयास किया |
आगरा में एक समाजवादी पार्टी के नेता की गाड़ी पर सवार पोलिस कर्मी पर दो बहनों ने अभद्रता करने का आरोप लगाया है।पीड़ित महिला का आरोप है कि समाजवादी नेता अभिनव के बॉडीगार्ड ने एक्टिवा से जाते समय उन्हें आंख मारी जिसके बाद महिलाओं ने गाड़ी बीच सड़क में ही रोक दी। इसके बाद महिला अपने मोबाइल से उनकी मर्सिडीज कार की तस्वीरें खींचने लगी।
महिला ने यह भी आरोप लगाया है कि कि बॉडीगार्ड ने उनका मोबाइल छीनकर तोड़ दिया जिसके बाद महिला गुस्से में आग बबूला होकर उनकी गाड़ी पर चढ़ गई और तोड़फोड़ शुरू कर दी।साध्वी पांडे और उसकी बड़ी बहन का नाम ज्योति पांडे बताया गया है |सपा नेता द्वारा महिलाओां के इस उत्पीड़न कि शिकायत के पश्चात सपा पार्टी बैक फुट पर आ गई है |एक नेता ने तो अभिनव को सैप का नेता ही मानने से इंकार कर दिया|पार्टी प्रवक्ता और अधिवक्ता गौरव भाटिया ने पार्टी कि इमेज बचाने के लिए कमान संभाली है उन्होंने मीडिया को बताया कि मामले की विवेचना करवा कर दोषियों को शीघ्र दण्डित कराया जाएगा
फाइल फोटो

राज्‍य सभा की उत्तरप्रदेश से दो सीटों के लिए 20 दिसम्बर को उपचुनाव होंगें :नामांकन की अंतिम तिथि10 दिसम्बर

उत्तरप्रदेश से राज्‍य सभाकी दो सीटों के लिए 20 दिसम्बर, 2013 (शुक्रवार)को उपचुनाव कराये जायेंगे इसके लिए 10 दिसम्बर, 2013 (मंगलवार)तक नामांकन भरे जा सकेंगे |तीन माह पूर्व राज्य सभा सदस्य समाजवादी पार्टी के महा सचिव मोहन सिंह की मृत्यु हुई थी और कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ता रशीद मसूद को न्यायलय द्वारा अयोग्य घोषित किया गया था |
उत्‍तर प्रदेश से राज्‍य सभा के लि‍ए दो आकस्‍मि‍क रि‍क्‍ति‍यां हुई हैं। इनका वि‍वरण नीचे दि‍या गया है:-
क्रम सं.=====सदस्‍य का नाम========================कार्यकाल अवधि‍======================================टि‍प्‍पणी
[१]========श्री मोहन सिंह=========================4 जुलाई, २०१६================22 सि‍तम्‍बर, 2013 को मृत्‍यु होने के कारण
[२].========श्री रशीद मसूद========================2 अप्रैल, २०१८==========19 सि‍तम्‍बर, 2013 को अयोग्‍य घोषि‍त होने के कारण
आयोग ने उपर्युक्त रिक्तियों को भरने के लिए निम्नलिखित कार्यक्रम के अनुसार उत्तरप्रदेश से राज्य सभा के लिए उपचुनाव आयोजित कराने का निर्णय लिया हैः-
क्र. स.=====कार्यक्रम=====तिथि और दिवस
[१]===अधिसूचना जारी====3 दिसम्बर, 2013 (मंगलवार)
[२]नामांकन भरने की अंतिम तिथि============================================10 दिसम्बर, 2013 (मंगलवार)
[३]नामांकनों की जांच============================11 दिसम्बर, 2013 (बुधवार)
[४]==नाम वापस लेने की अंतिम तिथि==================13 दिसम्बर, 2013 (शुक्रवार)
[५]===मतदान तिथि=======================================================20 दिसम्बर, 2013 (शुक्रवार)
[६]===मतदान का समय=================================================सुबह 9.00 बजे से सांय 4.00 बजे तक
[७]====मतगणना===============20 दिसम्बर, 2013 (शुक्रवार) सांय 5.00 बजे
[८]=चुनाव प्रक्रिया पूर्ण करने की तिथि=========================================23 दिसम्बर, 2013 (सोमवार)

प्.उ.प्र.में समाजवादियों के निर्णय तो जनहित में हैं लेकिन इनका पालन शायद “तुगलकी” स्टाइल में हो रहा है

झल्ले दी झल्लियां गल्लां

प्.यूं पी का चिंतित वोटर

ओये झल्लेया ये कथित समाज वादियों के दिमाग को क्या हो गया है ?देख तो अपने मुखिया माननीय मुलायम सिंह यादव के जन्म दिन पर हमसे लोक सभा की ८० में से ७५ सीटों का तोहफा मांग रहे हैं जबकि कर्म इनके ऐसे हैं कि इन्हें दहाई तक सीटें मिल जाएँ तो गनीमत समझना |अरे भई
[१]मुजफ्फर नगर के दंगों के ओनली मुस्लिम विस्थापितों को ही पांच -पांच लाख की इमदाद दे रहे हैं |अब लोग बाग ये पैसे लेकर फिर शरणार्थी शिविरों में आ बसे हैं | मुस्लिम तुष्टिकरण का आरोप लगा कर कोर्ट ने अलग से फटकार लगा दी है|
[२] इतने महंगे लैप टॉप बांटे जा रहे हैं और प्राप्त कर्ता उन्हें औने पोने दामों बेच रहे हैं|
[३]गन्ना किसान अपने गन्ने की मिठास की कीमत के लिए आंदोलन कर रहे हैं|
[४]राज्य कर्मचारियों की हड़ताल समाप्त करवाने के लिए हाई कोर्ट को दखल देना पड़ रहा है
[५]मेरठ में हाई कोर्ट की बेंच के लिए ये लोग आँखे मूंदे बैठे हैं|
[६] एयर पोर्ट्स के लिए जमीन को केंद्र अलग से हाथ फैलाये खड़ा है |
अब तू ही बता कि किस मुँह से ये लोग ७५ सीटों की उम्मीद भी लगा सकते हैं?

झल्ला

आज कल सभी लोग इतिहास की बात करने लगे हैं सो झल्ला भी इतिहास के पन्नों को फलोल रहा है |1325 से १३५१ तक तुगलक वंश के एक शासक मोहम्मद बिन तुगलक हुए हैं उस बेचारे ने भी तत्कालीन समस्यायों को निबटाने के लिए समाज वादियों कि तरह ही हाथ पावँ चलाये थे लेकिन निर्णय ऐसे ले लिए जिनका दुरूपयोग हुआ उसकी नीतियों से फायदा क्या होना था नुक्सान ज्यादा हुआ और जग हसाई हुई सो अलग |तुगलक ने अपने को मशहूर करने के लिए सिक्के ढलवाए “tanka” लेकिन जनता ने उसका दुरूपयोग किया उसने उलेमाओं को भर्ती किया फिर उनके शक्तियों को कम करने में लग गया सूफी भी विरोधी हो गए
राजधानी को दयोगीर Deogirले गए रास्ते में ही बेहद नुकसान हो गया
सूखे के हालत में भी दोआबे में लैंड टैक्स लगा दिया आज भी वोह कलंक धुला नहीं है कोई गलत निर्णय या पालिसी के लिए पर्यायवाची के रूप में “तुगलकी फरमान” का इस्तेमाल किया जाता है|यहाँ एक बात और समझ लो की इस झल्लयत में समाजवादियों की तुलना तुगलक से नहीं कर रहा बल्कि केवल उदहारण दे रहा हूँ

मुलायम सिंह यादव और बेनी प्रसाद वर्मा लोक सभा में भीड़ गए:संसद नहीं चली

अपने अपने प्रभावी छेत्रों में एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप लगाने वाले सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव और केन्द्रीय इस्पात मंत्री बेनी प्रसाद वर्मा आज सोमवार को लोक सभा में भीड़ गए| मुलायम सिंह यादव ने कहा कि या तो बेनी प्रसाद को बर्खास्त किया जाना चाहिए वरना सबूत होतोउन्हें [ मुलायम सिंह] को गिरफ्तार किया जाना चाहिए
लोकसभा में समाजवादी पार्टी सुप्रीमो नेता मुलायम सिंह यादव और केंद्रीय इस्पात मंत्री बेनी प्रसाद वर्मा ने एक दूसरे पर तीखे हमले बोले। इसे लेकर सदन में समाजवादी पार्टी के सांसदों ने जमकर हंगामा किया। शोर न थमते देख लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार को सदन की कार्यवाही स्थगित करनी पड़ी। मुलायम सिंह ने लोकसभा में बेनी प्रसाद को यहां तक कह दिया कि इनकी औकात क्या है, यह खुद को क्या समझते हैं। इसके बाद समाजवादी पार्टी ने बेनी प्रसाद वर्मा को मंत्री पद से बर्खास्त करने की मांग की।
उधर, बेनी के बयान पर बढ़ते बवाल को देखते हुए सरकार ने उनके बयान से किनारा कर लिया है। संसदीय कार्यमंत्री कमलनाथ ने मुलायम सिंह के बारे में दिए गए बेनी प्रसाद वर्मा के बयान की निंदा की। कांग्रेस पार्टी ने मुलायम सिंह के प्रति नरम रुख अपनाते हुए अपने मंत्री के बयान को खेदजनक बताया।
गौरतलब है कि बेनी प्रसाद वर्मा ने एक विवादित बयान में मुलायम सिंह यादव पर आतंकियों को संरक्षण देने का गंभीर आरोप लगाया इससे पूर्व उन्होंने मुलायम सिंह को बदमाश तक कहा |और अपनी उनसे अपनी[बेनी] जान को खतरा बताया जिस पर समाजवादी पार्टी और मुलायम सिंह की तरफ से कड़ी आपत्ति जताई गई।

मुलायम सिंह यादव और बेनी प्रसाद वर्मा लोक सभा में भीड़ गए:संसद नहीं चली

मुलायम सिंह यादव और बेनी प्रसाद वर्मा लोक सभा में भीड़ गए:संसद नहीं चली


सपा सदस्यों के हंगामे के कारण उच्च सदन की बैठक भी स्थगित कर दी गई।
गौरतलब है कि बेनी प्रसाद वर्मा ने अपने लोकसभा क्षेत्र गोंडा में एक रैली को संबोधित करते हुए मुलायम सिंह को लूटेरा और आतंकवादियों को मदद करने वाला शख्स बताया था। इन आरोपों से भड़के मुलायम सिंह ने लोकसभा में बेनी प्रसाद पर हमला बोला, लेकिन केंद्रीय मंत्री बेनी प्रसाद ने मुलायम को फिर से करारा जवाब दिया। उन्होंने कहा कि जो मैंने कहा था उस पर कायम हूं।लेकिन इस बार उन्होंने अपने पूर्व की ब्यान को करवट देते हुए कहा किउन्होंने किसी धर्म का नाम नहीं लिया| इससे पूर्व समाज वादी पार्टी बेनी प्रसाद को पागल कह चुकी है|
उन्होंने कहा, ‘आतंकवाद का कोई धर्म नहीं होता है और न ही जाति, लेकिन मुलायम सिंह आतंकवादियों को मदद करते हैं।
मुलायम सिंह की बर्खास्त करने की मांग पर बेनी प्रसाद ने कहा कि मुलायम कौन होते हैं हटाने की मांग करने वाले। बेनी प्रसाद फिलहाल यूपीए सरकार में स्टील मंत्री हैं। वह कांग्रेस में आने से पहले समाजावादी पार्टी में ही थे। मुलायम और किसी कांग्रेस नेता के बीच इतनी तल्खी तब है जब समाजवादी पार्टी केंद्र में कांग्रेस के नेतृत्व वाली सरकार को समर्थन कर रही है।आलोचनाओं के बावजूद बेनी प्रसाद वर्मा अपने कहे पर अडिग हैं।

पोलिस उपाधीक्षक की हत्या की साजिश रचने के आरोपी बनांये जाने पर खाद्य एवं रसद मंत्री रघुराज प्रताप सिंह ने इस्तीफा दिया

पोलिस उपाधीक्षक की हत्या की साजिश रचने के आरोपी बनांये जाने पर खाद्य एवं रसद मंत्री रघुराज प्रताप सिंह ने इस्तीफा दिया

पोलिस उपाधीक्षक की हत्या की साजिश रचने के आरोपी बनांये जाने पर खाद्य एवं रसद मंत्री रघुराज प्रताप सिंह ने इस्तीफा दिया

उत्तर प्रदेश के खाद्य एवं रसद मंत्री रघुराज प्रताप सिंह [राजा भैया ]ने आज ४ मार्च सोमवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया है| राजा भैया के खिलाफ आपराधिक साजिश रचने का मामला दर्ज है. राज भैया प्रतापगढ़ में उप पोलिस अधीक्षक जिया हक की हत्या की साजिश रचने काआरोपी बनाया गया है|
सोमवार सुबह राजा भैया स्वयम अपनी सफ़ेद गाडी चला कर मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से मिलने गए और बातचीत करके इस्तीफा देने का निर्णय लिया.
राजा भैया के अलावा उनके चार अन्य सहयोगियों के खिलाफ भी मामला दर्ज है|
जिले में बलीपुर गांव में शनिवार शाम ग्राम प्रधान और उनके भाई की हत्या की गई थी. इसके बाद भीड़ ने पुलिस पर हमला कर दिया था. इस हमले में डीएसपी की मौत हो गई. आठ पुलिसकर्मी भी घायल हो गए.
बाहुबली नेता राजा भैया के नाम से पुकारे जाने वाले कुंडा से लगातार पांचवीं बार विधायक चुने गए हैं| कुंडा के राज परिवार से आये और अकसर विवादों में रहने वाले राजा भैया सबसे पहले [१]1993 में कुंडा से निर्दलीय विधायक चुने गए थे.[२] साल 2002 में तत्कालीन
मुख्यमंत्री मायावाती ने राजा भैया को जेल में डाल दिया था.

लेकिन एक साल बाद में मुलायम की मेहरबानी से राजा भैया जेल से बाहर आए और [३]साल 2005 में मुलायम सरकार में खाद्य मंत्री बने. पिछले साल जब यूपी में समाजवादी पार्टी की सरकार बनी, तो [४]राजा भैया को जेल मंत्री के साथ खाद्य मंत्री भी बना दिया गया. इसी साल फरवरी में मंत्रिमंडल फेरबदल में [५]राजा भैया से जेल मंत्रालय ले लिया गया पर शेष मंत्रालय उनके पास छोड़ दिए गए|
[अ]गुडडू सिंह[आ] रोहित सिंह [इ] कुंडा नगरपालिका के चेयरमैन गुलशन यादव के खिलाफ सीओ की हत्या करने और बलवे में शामिल होने की एफआईआर दर्ज कर ली गई है। राजा भैया को मुख्य साजिशकर्ता बनाया गया है। उनके खिलाफ 120 बी का मामला दर्ज किया गया है। इस मामले में गुड्डू सिंह और रोहित सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया है, जबकि गुलशन यादव फरारबताया जा रहा है|
डीएसपी के अल्पसंख्यक समुदाय के होने की वजह से यह मामला समाजवादी पार्टी के लिए काफी संवेदनशील माना जा रहा है। सरकार इस मामले में कार्रवाई नहीं करती दिखेगी तो मुस्लिम वोट बैंक में सेंध लगने का डर है।शहरी विकास मंत्री आजम खान ने रविवार को कहा था कि डीएसपी की हत्या ने सरकार को समाज के आगे मुंह दिखाने लायक नहीं छोड़ा।लेकिन इसके साथ ही उन्होंने पोलिस की भूमिका पर भी प्रश्न चिन्ह लगाया था|
शासन ने प्रतापगढ़ के पुलिस अधीक्षक (एसपी) अनिल कुमार राय का तबादला कर दिया। अनिल के स्थान पर एल.आर. कुमार को प्रतापगढ़ की कमान सौंपी गई है।इस पर प्रतिक्रया व्यक्त करते हुए पूर्व मुख्य मंत्री माया वती ने प्रदेश में अराजकता का महौल बताते हुए प्रदेश सरकार की बर्खास्ती की मांग की है|भाजपा प्रवक्ता मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा है कि कानून व्यवस्था में ढिलाई बरतने में अगर मायावती सरकार सेर थी तो सपा की सरकार सवा सेर साबित हो रही है| |प्राप्त जानकारी के अनुसार राजा भैया के निवास पर राजपूत विधायकों का आना शुरू हो गया है और एक नए समीकरण उभरने के कयास लगाए जाने लगे हैं|

देश में अराजकता है: मुलायम सिंह यादव जी ये क्या कह दिया?

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

एक चतुर +चौकन्ना लेकिन चकित कांग्रेसी

ओये झल्लेया माननीय मुलायम सिंह यादव ने ये कौन सी नई भसूडी डाल दी| संसद में राष्ट्रपति के भाषण पर बोलते हुए उन्होंने हैदराबाद और कर्मी संघों कि यूनियनों के हड़ताल का हवाला देकर कह दिया कि यह भाषण केवल इन्ही दो बिदुओं पर टिका है इसीलिए भारत में अराजकता की स्थिति है|इतना ही नहीं अपने सबसे बड़े दुश्मन भाजपा से भी खुले आम पींगे बढानी शुरू कर दी हैं|ओये अभीहमारी सरकार ज़िंदा हैं और इन सपाईयों ने अपना चुल्ला+चौका [रसोई]अलग करने की तैय्यारी शुरू कर दी है|

देश में अराजकता है: मुलायम सिंह यादव जी ये क्या कह दिया?

देश में अराजकता है: मुलायम सिंह यादव जी ये क्या कह दिया?


झल्ला

चतुर सुजाण जी आप जी को मालूम होना चाहिए कि लोअर मिडल क्लास को साईकिल की जरुरत है और समाजवादी पार्टी की साईकिल में दो लोगों को बैठाने की जगह है [१]आगे डंडा [२] पीछे कैरियर |आपने लग्जरी ट्रेन+हवाई जहाज़+और कारों में दिलचस्पी लेना शुरू कर दिया है इसीलिए अब आप लोगों को साईकिल की सवारी की जरुरत नहीं रही | शायद इसीलिए साईकिल के छोटे मोटे खर्चे निकालने के लिए दूसरी वैकल्पिक सवारी की व्यवस्था किये जाने को राजनीतिक अकलमंदी कहा जाता है|

मुलायम सिंह यादव , लोक सभा में दो विपरीत दिशाओं वाली पार्टियों को अपनी साइकिल पर सवार करने के इच्छुक दिखे

.समाज वादी पार्टी सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव आज लोक सभा में दो विपरीत दिशाओं वाली राजनीतिक पार्टियों को अपनी साईकिल पर सवार करने के इच्छुक दिखाई दिए| मुलायम सिंह यादव ने भाजपा अध्यक्ष राज नाथ सिंह के बाद बोलना शुरू ही किया तो विघ्न पड़ने शुरू हो गए|सबसे पहले जनरल सेक्रेटरी बोलने खड़े हो गए|उसके बाद चेयर पर्सन बदल गए|जैसे तैसे मुलायम सिंह यादव ने ट्रांसलेट करने वाले स्पीकर[हेड फ़ोन ] उतार कर बोलना शुरू कर दिया| यदपि उन्होंने कांग्रेस और भाजपा की आलोचना की मगर इसके साथ ही बड़ी सफाई से उन्होंने दोनों को सहला भी दिया|
एक तरफ उन्होंने गृह मंत्रालय पर टिपण्णी करके अपनी पीड़ा को उजागर किया तो इसके साथ ही प्रधान मंत्री की टीम के अर्थ शास्त्र की उन्मुक्त सराहना भी कर दी|दूसरी तरफ भाजपा को मुस्लिम विरोधी बताया तो इसके तुरंत बाद भाजपा की देश भक्ति+अनुशासन और भाषा की जम कर तारीफ़ करने लगे|
गौरतलब है के अभी तक मुलायम सिंह यादव भारतीय जनता पार्टी के साथ आने के सवालों को एक सिरे से खारिज करते रहे हैं और पार्टी का विरोध करते आ रहे हैं| आज इस मुख्य विपक्षी पार्टी के प्रति इनका रुख कुछ हद तक नरम दिखाई दिया है|उन्होंने यहाँ तक कह दिया के बीजेपी अगर कश्मीर और मुस्लिम सम्बन्धी अपनी नीति बदल ले तो सपा से बीजेपी के बीच की दूरी कम हो जाएगी|मुलायम ने कहा कि देशभक्ति, सीमा सुरक्षा और भाषा के मामले में उनकी पार्टी और भाजपा की एक नीति है.|

.समाज वादी सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव , लोक सभा में दो विपरीत दिशाओं वाली पार्टियों रूपी नावों में सवार होने के इच्छुक दिखाई दिए

.समाज वादी सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव , लोक सभा में दो विपरीत दिशाओं वाली पार्टियों रूपी नावों में सवार होने के इच्छुक दिखाई दिए


मुलायम सिंह ने अपनी बातों पर एक बार फिर जोर देते हुए कहा, ‘मैं फिर कह रहा हूं और इस सदन में कह रहा हूं कि बीजेपी अपनी नीति बदल रही.है|
राजनाथ सिंह ने मौके को लपकते हुए इसके जवाब में कहा कि हमारे और आपके बीच दूरी कहां है?अगली बार आप निश्चित तौर पर हमारे साथ होंगे.इससे पूर्व भाजपा अध्यक्ष ने समाज वाद की प्रशंसा भी की थी|.
अगर मुलायम सिंह यादव के इस बयान पर गौर किया जाए तो आने वाले समय के राजनीतिक समीकरण का अनुमान लगाया जा सकता है सपा सुप्रीमो ने यह मान लिया है के कांग्रेस के बाद प्रदेश में अपनीसरकार और सी बी आई के डंडे से सवयम को बचाने के लिए एक सशक्त समर्थक बेहद जरुरी है|इसके अलावा प्रधान मंत्री की कुर्सी पर भी नज़र है ऐसे में भाजपा का विरोध कुछ हद तक कम किया ही जा सकता है|

जनरल वी के सिंह ने किसानो के मसीहा रालोद के प्रभावी छेत्र और सपा के की रियासत में धरने का हल चला कर गन्ना किसानो के हक़ के बीज बोये

जनरल वी के सिंह ने किसानो के मसीहा रालोद के प्रभावी छेत्र और सपा के की रियासत में धरने का हल चला कर गन्ना किसानो के हक़ के बीज बोये

जनरल वी के सिंह ने किसानो के मसीहा रालोद के प्रभावी छेत्र और सपा के की रियासत में धरने का हल चला कर गन्ना किसानो के हक़ के बीज बोये

[ मेरठ] सेवानिवृत सेनाध्यक्ष वी के सिंह ने किसानो के मसीहा रालोद के चौधरी अजित सिंह के प्रभावी छेत्र और सपा के मुलायम सिंह यादव की रियासत में धरने का हल चला कर गन्ना किसानो के हक़ के बीज बोये|:राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन के बैनर तले किसानों ने २६ फरवरी मंगलवार को कमिश्नरी पार्क पर अनिश्चित कालीन डेरा डाल दिया है।इस अवसर पर जय जवान जय किसान का नारा देते हुए किसान और जवान की एक सेना बनाने का भी एलान किया गया|
उधर, उप गन्ना आयुक्त बीवी सिंह का कहना है कि किसानों से धरना समाप्त करने का आग्रह किया गया है। आठ मार्च को बीएम सिंह को पक्ष रखने को बुलाया है।
कमिश्नरी के सामने स्थित चौधरी चरण सिंह पार्क में किसानों की मांगों को लेकर मंगलवार से शुरूहुए राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन के अनिश्चितकालीन धरने के दौरान पूर्व जनरल वीके सिंह ने कहा कि देश के अस्सी फीसदी वोटर किसान हैं। इसके बाद भी दिल्ली लखनऊ के सिंहासन पर बैठने वाले लोग किसानों के साथ न्याय नहीं करते। देश में सबसे ज्यादा पीड़ित किसान ही है। किसानों को उनकी फसलों के दाम तय करने का भी हक नही है। ऐसे में वक्त आ गया है कि किसानों को संगठित हो जाना चाहिए। उन्होंने किसान सेना के गठन का ऐलान करते हुए कहा कि सेवानिवृत्त फौजियों और किसान नौजवानों को संगठित करके एक किसान सेना का गठन किया जाएगा। जो केवल किसानों के हकों की लड़ाई शांति के साथ लड़ेगी।
हराष्ट्रीय किसान मजूदर संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष सरदार वीएम सिंह ने कहा कि जब तक सरकार किसानों की मांग पूरी नही करेगी। धरना जारी रहेगा। इसके लिए अगर दस बीस साल भी लगे तो उन्हे परवाह नही है। मांगों में मुख्यत मय ब्याज गन्ना भुगतान, नियमित बिजली सुविधा, सी रंगराजन आयोग की रिपोर्ट लागू करना आदि हैं। मंच संचालन मेजर डाक्टर [सेवानिवृत]हिमांशु ने किया
कार चोरी
कमिश्नरी पार्क में शुरू हुए धरने के दौरान भारी पुलिस फोर्स की मौजूदगी में ही वाहन चोरों ने अपना करतब दिखा दिया। पार्क के बाहर पुलिस फोर्स के बीचों बीच खड़ी मारुति 800 चोरी हो गई। किसानों ने मंच से कार चोरी की जानकारी देते हुए पुलिस फोर्स से कार बरामद करने को कहा। लेकिन पुलिस के कानों पर जूं नही रेंगी।
किसान के बेहोश
होनेपर मची अफरा-तफरीपीलीभीत के किसान जगमोहन पार्क के बाहर अचानक ही बेहोश होकर गिर पड़ा जिससे धरना स्थल पर अफरातफरी मच गई। बाद में पुलिस ने उसे अपनी गाड़ी में डालकर जिला अस्पताल पहुंचाया तो पता चला कि उसे दौरा पड़ गया था।

साफ सफाई की अव्यवस्था से त्रस्त नगर में विवेकानंद की विशाल मूर्ति लगाने को निगम में घमासान मच गया है

बेशक नगर में साफ़ सफाई की व्यवस्था चरमरा रही है मगर मूर्ती स्थापना को लेकर मेरठ के भाजपाई महापौर हरिकांत अहलूवालिया व नगर आयुक्त राजकुमार सचान आमने-सामने आ गए हैं। नगर आयुक्त को कहना है कि प्रतिमा स्थापना के लिए नियमानुसार बोर्ड से प्रस्ताव पारित नहीं है। ऐसी स्थिति में शासन की अनुमति जरूरी है, जबकि महापौर का कहना है कि नगर आयुक्त जानबूझकर प्रतिमा स्थापना में अड़ंगा डाल रहे हैं। नगर आयुक्त चाहे जो भी कहें पर 12 जनवरी को सांसद वरूण गांधी इस मूर्ति का अनावरण जरूर करेंगे।बताते हैं कि इस मामले को लेकर दोनों के बीच तनातनी हुई। महापौर ने तो अपने गुस्से का भी इजहार किया। कहा कि नगर आयुक्त नहीं चाहते हैं कि शहर में किसी अच्छे स्थान पर महापुरूष की प्रतिमा की स्थापना हो।
दूसरी ओर, नगर आयुक्त का कहना है कि सूरजकुंड में स्वामी विवेकांनद की मूर्ति स्थापना के लिए अनुमति मांगी गयी है। उम्मीद है कि शुक्रवार तक यह अनुमति उन्हें मिल जाएगी।
इस कार्यक्रम को लेकर भाजपा महानगर की मुकंदी देवी धर्मशाला में महानगर अध्यक्ष सुरेश चंद जैन रितुराज की अध्यक्षता में बैठक हुई। जिसमें सुरजकुंड के कार्यक्रम के अलावा 11 स्थानों पर शोभा यात्रा निकालने का निर्णय हुआ। संचालन कमल दत्त शर्मा ने किया। जयकरण गुप्ता, जगदीश चौधरी, राखी त्यागी, वासित अली, पंकज कतीरा, गजेन्द्र शर्मा, सरिता गुप्ता आदि थे।गौरतलब है कि स्वामी विवेकानंद की १५० वी जयंती के अवसर पर मेरठ के एतिहासिक सूरज कुंड में स्वामी विवेकानंदकी १० फीट की प्रतिमा स्थापित किये जाने पर निगम में आम सहमती बन गई थी लेकिन मूर्ती के के अनावरण के लिए भाजपा के सांसद वरुण गाँधी का नाम आने से यहाँ राजनीती गरमा गई और सपा के पार्षदों ने विरोध के स्वर उठाने शुरू कर दिए हैं|मेयर गुट ने भी इसे प्रतिष्ठा का प्रश्न बना लिया है तभी आज कल अपने दल बल के साथ सूरज कुंड में ही नज़र आते हैं

साफ सफाई की अव्यवस्था से त्रस्त नगर में विवेकानंद की विशाल मूर्ति लगाने को निगम में घमासान मच गया है