Ad

Tag: BlackMoney

स्विस बैंकों में भारतीयों के निष्क्रिय १० खातों पर क्या भारत सरकार दावा करेगी

(नयी दिल्ली)स्विस बैंकों में भारतीयों के निष्क्रिय दर्जन खातों पर क्या भारत सरकार दावा करेगी
काला धन वापिस लाने को दृढ़संकल्प लिए भारत सरकार द्वारा इन निष्क्रिय खातों पर भी समयावधि में दावा किया जाना लाजमी है
स्विस के बैंकों में भारतीयों के करीब एक दर्जन निष्क्रिय खातों के लिए कोई दावेदार सामने नहीं आया है। ऐसे में यह आशंका बन रही है कि इन खातों में पड़े धन को स्विट्जरलैंड सरकार को स्थानांतरित किया जा सकता है। ऐसे में भारत का धन वापिस देश मे लाने के लिए व्यापक रणनीति और इच्छाशक्ति की आवश्यकता है
स्विट्जरलैंड सरकार ने 2015 में निष्क्रिया खातों के ब्योरे को सार्वजनिक करना शुरू किया था। इसके तहत इन खातों के दावेदारों को खाते के धन को हासिल करने के लिए आवश्यक प्रमाण उपलब्ध कराने थे। इनमें से दस खाते भारतीयों के भी हैं।
इनमें से कुछ खाते भारतीय निवासियों और ब्रिटिश राज के दौर के नागरिकों से जुड़े हैं। स्विस प्राधिकरणों के पास उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार पिछले छह साल के दौरान इनमें से एक भी खाते पर किसी भारतीय के ‘वारिस’ ने सफलतापूर्वक दावा नहीं किया है।
इनमें से कुछ खातों के लिए दावा करने की अवधि अगले महीने समाप्त हो जाएगी। वहीं कुछ अन्य खातों पर 2020 के अंत तक दावा किया जा सकता है।
दिलचस्प यह है कि निष्क्रिय खातों में से पाकिस्तानी निवासियों से संबंधित कुछ खातों पर दावा किया गया है। इसकेअलावा खुद स्विट्जरलैंड सहित कुछ और देशों के निवासियों के खातों पर भी दावा किया गया है।

नोटबंदी पश्चात् आये नए नोटों में चिप की बात सत्य तो नहीं हैं:आईटी के छापे

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

भाजपाई चेयर लीडर

औए झल्लेया ! देखा हसाड़े मोदी जी का कमाल !! ना खाएंगे और ना ही खाने देंगे!!!
कांग्रेस के मध्य प्रदेश में सी एम कमल नाथ के पेट में हाथडॉल कर निकाल लिए करोड़ों अवैध रु| इस पर भी इनके राहुल गाँधी काळा धन पर चर्चा के लिए चुनौती देते फिर रहे हैं

झल्ला

मेरे चतुर सेठ जी ! वाकई इनकम टैक्स के छापे सटीक जगहों पर पढ़े हैं | और छापेमारों ने हाथोंहाथ अपनी उपलब्धि को मीडिया में दिखा भी दिया लेकिन एक बात दिमाग का दही किये जा रही है के कहीं नोट बंदी के बाद आये नए नोटों में चिप की बात सत्य तो नहीं हैं !

बसपा सुप्रीमो अपनी और भाई की बेहिसाबी “माया” का हिसाब देने को तैयार

[लखनऊ,यूपी]बसपा सुप्रीमो माया अपनी और भाई की बेहिसाबी “माया” का हिसाब देने को तैयार
आज की प्रेस कांफ्रेंस में सुश्री मायावती ने भाजपा के आरोपण का जवाब देते हुए बताया के नोटबंदी के तत्काल पश्चात् बैंक में जमा करवाये गए १०४ करोड़ रुपये पार्टी सदस्यों ने दिए हैं पार्टी कार्यालय में इस पैसा का हिसाब बनाया जा रहा था इसीबीच नोटबंदी की घोषणा कर दी गई अब उनके पास बैंकों में पैसा जमा करवाने के अतिरिक्त कोई और विकल्प नहीं रह गया था|उन्होंने दावा किया के इस पैसा का उनके पास पाई पाई का हिसाब है |अपने भाई के खाते में आये सवा करोड़ रुपयों के विषय में उन्होंने बताया के उनका भाई प्रथक व्यवसाय करता है यह उसकी अपनी आय है
इससे पूर्व भारतीय जनता पार्टी के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य ने आज कहा कि प्रदेश की गरीब जनता मायावती से बसपा के खातों में आई करोडों रूपये की धनराशि पर सवाल खड़ा कर रही है।
मौर्य के अनुसार , बसपा के खातों में नोटबन्दी के तुरन्त बाद 10 नवम्बर के बाद जमा हुई बडी धनराशि एक बडा सवाल है। मायावती बसपा के खातों में आये 104 करोड़ रूपये का हिसाब दें।’’ उन्होंने कहा, ‘‘आज उत्तर प्रदेश की गरीब जनता मायावती से बसपा के खातों में आई अरबों से अधिक धनराशि पर सवाल खड़ा कर रही है। प्रदेश की गरीब जनता और अनुसूचित जाति वर्ग के लोग मायावती से पार्टी खाते में नोटबंदी के बाद आये एक अरब रूपये से भी अधिक की धनराशि पर प्रश्न कर रहे हैं।’’ मौर्य ने कहा कि जनता जर्नादन को बाबा साहब भीमराव अम्बडेकर के सपने दिखाकर उनके वोटों का व्यापार कर यह अरबों की राशि एकत्रित की गयी, जिसका हिसाब उ प्र की गरीब जनता पूछ रही है।
भाजपा अध्यक्ष ने कहा अब लोगों को नोटबन्दी के बाद मायावती की अनर्गल बयानबाजी का सच पता चल रहा है। उनकी परेशानी का असली कारण वोटों के व्यापार से एकत्रित कालाधन है

कालेधन पर नूराकुश्ती के खिलाफ देशव्यापी जन-आँदोलन का संकल्प:स्वराज इंडिया रैली

swaraj-abhiyan-prem-nagar[नई दिल्ली ]कालेधन के मुद्दे पर देशव्यापी जन-आँदोलन का लिया संकल्प:स्वराज इंडिया की जंतर मन्त्र पर रैली
-जंतर मन्त्र पर स्वराज इंडिया की रैली में
गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री सुरेश मेहता,
जगदीश चोकर,
अंजलि भारद्वाज,
प्रो. अरूण कुमार आदि शामिल हुए |
आज जंतर-मंतर पर उमड़ी भारी भीड़ जुटाकर ‘स्वराज इंडिया’ ने राष्ट्रीय राजनीति में अपनी पहली उपस्थिति दर्ज कराई।
स्वराज अभियान के अध्यक्ष प्रशांत भूषण ने रैली को संबोधित करते हुए कहा –
“मैंनें जुलाई 2014 में ही प्रधानमंत्री को चिट्ठी लिखी। बताया कि कालेधन को कैसे रोकना है। लेकिन उसपर कोई कार्यवाई नहीं हुई। कार्यवाई तो छोड़िए, भ्रष्टाचार और कालेधन पर रोक लगाने वाले मौजूदा क़ानूनों और संस्थाओं को कमज़ोर किया जाने लगा। भ्रष्ट अधिकारियों को भ्रष्टाचार निरोधक संस्थाओं में मुख्य पदों पर नियुक्त किया जा रहा है। तीन साल हो गए
लोकपाल कानून को बने लेकिन अब तक लोकपाल की नियुक्ति नहीं हुई है।
आज न्यायपालिका की स्वतंत्रता भी खतरे में है वर्तमान मुख्यन्यायधीश के 15 दिन शेष रहते हुए भी नए न्यायधीश की घोषणा नहीं हुई है |
भारतीय सेना के अध्यक्ष जैसे अति महत्वपूर्ण पद पर भी दो वरिष्ट अधिकारीयों को दरकीनार कर के तीसरे अधिकारी की न्युक्ति की गई है|
इस सरकार ने सीबीआई का भी यही हश्र किया|
जगदीश चोकर जो ADR के संस्थापक हैं ने आज के परिस्थिति पर कटाक्ष करते हुए कहा -‘जालिमों अपनी किस्मत पर नाज न हो दौर बदलेगा ये वक्त की बात है वो यकीनन सुनेगा सदाएं मेरी क्या वो तुम्हारा खुदा है,हमारा नहीं’|
अंजलि भारद्वाज ने स्वराज इंडिया के RTI में आने पर सराहना करते हुए कहा “जब स्वराज इंडिया RTI में आ सकती है तो बाकी पार्टियाँ क्यों नहीं आ सकतीं?”
गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री सुरेश मेहता ने बताया की CAG की अनेकों रिपोर्ट से यह साबित होता है कि गुजरात की सरकार ने अदानी ग्रुप को फ़ायदे पहुचाये|
अध्यक्ष योगेंद्र यादव ने कहा कि “कालाधन दस सिरों वाला रावण है। कैश उस रावण का एक सिर है।
रियल स्टेट,
गोल्ड, बेनामी संपत्ति,
पी-नोट,
विदेशी अकाउंट और
निवेश उसके बाक़ी के सिर हैं। अब रावण के एक सिर पर वार कर आप रावण को नहीं मार सकते। रावण को मारने के लिए उसकी नाभी पर वार करना होगा। कालेधन रूपी रावण की नाभी है – राजनैतिक भ्रष्टाचार। इस रावण को मारने में हमारी संसद नाकाम रही है। आज समय की माँग है कि कालेधन के मुद्दे पर एक देशव्यापी जन आँदोलन शुरू किया जाए।”
उन्होंने ने कहा “आज सत्ता और विपक्ष के बीच मैच फिक्सिंग जैसा माहौल है” आप सभी आए हुए लोगों की अभूतपूर्व उर्जा और भारी संख्या को देखते हुए ऐसा लगता है की हमें अगली रैली रामलीला मैदान में करनी होगी|”
प्रो आनंद कुमार और स्वराज इंडिया के मुख्य प्रवक्ता अनुपम ने इस जनसभा का संचालन किया|

स्वराज इंडिया काले धन पर जंतर मंत्र से १८ दिसंबर को हल्ला बोलेगा

[नई दिल्ली]स्वराज इंडिया काले धन पर जंतर मंत्र से हल्ला बोलेगा
इसमें शामिल होने के लिए सभी यौद्धाओं को 18 दिसंबर, सुबह 10 बजे जंतर मन्त्र पर पहुँचने को कहा जा रहा है|पहले योगेंद्र यादव और आज प्रशांत भूषण द्वारा आई वी आर के माध्यम से सन्देश प्रसारित किये गए हैं |
गुरुवार को जारी किये गए एक ऑडियो सन्देश में स्वराज अभियान के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रशांत भूषण ने देश भर के भ्रष्टाचार विरोधी योद्धाओं से 18 दिसंबर को जंतर मंतर पहुँचने की अपील की है। उन्होंने कहा है कि काले धन और भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ शुरू हुए आंदोलन को आज और बुलंद करने की ज़रूरत है।
आईवीआर के जरिये लोगों को उनके फोन पर प्राप्त हुए सन्देश में प्रशांत भूषण ने कहा, “नमस्कार दोस्तों, रविवार 18 दिसंबर को जंतर मंतर पर काले धन के ख़िलाफ़ एक बड़ी रैली है।
क्यूँकि भ्रष्टाचार के खिलाफ 4 साल पहले शुरू हुए जिस आंदोलन का आप हिस्सा रहे हैं उसकी आवाज़ को आज और भी बुलंद करने की ज़रूरत है। देश को काले धन से लड़ने वाले सच्चे सिपाहियों की ज़रूरत है। एक आंदोलन खड़ा करने की ज़रूरत है। आप आ रहे हैं ना जंतर मंतर? रविवार को सुबह 10 बजे।”
स्वराज इंडिया का कहना है कि राजनितिक पार्टियों में काले धन को लेकर केवल नूराकुश्ती हो रही है
स्वराज इंडिया ने 18 दिसंबर की रैली से सम्बंधित निम्नलिखित सवाल पूछे हैं:
१]पार्टियों से भी उनके हज़ारों करोड़ों के कैश चंदे का हिसाब क्यों नहीं माँगा जा सकता?
२]बीजेपी और काँग्रेस जैसी विदेशी फ़ंड लेने वाली पार्टियों को सज़ा क्यों नहीं हो सकती?
३]विदेशों में बेनामी कंपनी खोलकर ब्लैक को ह्वाइट करने का धंधा बंद क्यों नहीं हो सकता?
४]बैंकों के लाखों करोड़ डुबाने वाले अडानी-अंबानी और माल्या बंद क्यों नहीं हो सकते?
५]भ्रष्टाचार निरोधक कानून (PCA) को ढीला करने की साज़िश क्यों नहीं रूक सकती?
६]पिछले ढाई साल से लोकपाल की नियुक्ति क्यों नहीं हो सकी?
फाइल [सिंबॉलिक] फोटो

ब्लैकमनी को वाइट में बदलवाने के लिए अन्य के बैंक खातों के उपयोगियों को चेतावनी

[नईदिल्ली]ब्लैकमनी को वाइट में बदलवाने के लिए अन्य के बैंक खातों के उपयोगियों को चेतावनी
ब्लैकमनी को वाइट में परिवर्तित करने के लिए अन्य के बैंक खातों का उपयोग करने वाले टैक्स चोरों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी
इस उद्देश्‍य के लिए अपने बैंक खातों के दुरुपयोग की अनु‍मति देने वाले लोगों पर उकसाने के लिए आयकर अधिनियम के तहत मुकदमा चल सकता है, सरकार ने लोगों से अपील की है कि वे काले धन को परिवर्तित करने वालों के लालच में न आएं और इस तरीके से काले धन को सफेद करने के अपराध में भागीदार न बनें तथा इसे समाप्‍त करने में सरकार से जुड़कर उसकी मदद करें
पहले घोषणा की गई थी कि कारीगरों, कामगारों, गृहणियों इत्‍यादि द्वारा बैंकों में जमा की जाने वाली छोटी राशियों पर आयकर विभाग वर्तमान आयकर छूट सीमा के 2.5 लाख रुपये रहने के तथ्‍य को ध्‍यान में रखते हुए कोई भी सवाल नहीं करेगा। इस बीच, ऐसी जानकारियां मिली हैं कि कुछ लोग अपने काले धन को नये नोटों में बदलने के लिए अन्‍य व्‍यक्तियों के बैंक खातों का उपयोग कर रहे हैं, जिसके लिए उन खाताधारकों को इनाम भी दिया जा रहा है जो अपने खातों के इस्‍तेमाल की अनुमति देने पर सहमत हो जाते हैं। इस तरह की गतिविधि जन धन खातों में भी होने की सूचना मिली है।
यह स्‍पष्‍ट किया गया है कि यदि यह बात साबित हो जाती है कि किसी बैंक खाते में जमा की गई राशि खाताधारक के बज़ाय किसी और व्‍यक्ति की है तो इस तरह की कर चोरी पर आयकर के साथ-साथ जुर्माना भी लगाया जा सकता है। यही नहीं, जो व्‍यक्ति इस उद्देश्‍य के लिए अपने खाते के दुरुपयोग की अनुमति देगा उस पर उकसाने के लिए आयकर अधिनियम के तहत मुकदमा चलाया जा सकता है।
हालांकि, अपनी ही नकद बचत राशि को बैंक खाते में जमा करने वाले वास्‍तविक व्‍यक्तियों से कोई भी सवाल नहीं पूछा जायेगा।

पीएम “मोदी” को “कांग्रेस” मरवा सकती है?

[पणजी,गोवा] पीएम मोदी ने सार्वजनिक रूप से आरोप लगाया के कांग्रेस उन्हें मरवा सकती है|गोवा में विकास कार्यों के शिलान्यास समारोह में जनसमूह को संबोधित करतेहुए पीएम् ने कहा के जो लोग ७० सालों से देश को लूटने में लगे थे वोह आज स्वयम लुट गए हैं |८ नवम्बर की रात ८ बजे १००० और ५०० रुपयों के पुराने नोटों को बंदकिए जाने से २ जी +३ जी और कोयला घोटाला आदि में करोड़ों अरबों रुपये डकारने वाले अब सभी लोग लुट गए हैं |ये लोग अब चार हजार रुपयों के लिए बैंकों की लाईनों में लगे हैं|
भारत के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने सार्वजनिक सभा में आरोप लगाया के उन्हें मालूम है उन्होंने किन लोगों से दुश्मनी मोल ली है ये लोग मुझे जिन्दा नहीं छोड़ेंगे |उन्हें बर्बाद करने के लिए कुछ भी कर सकते हैं|नमक जैसी जीवन की आवश्यकता को लेकर अफवाहें फ़ैलाने के अलावा ये लोग उन्हें [मोदी]ज़िंदा भी जलवा सकते हैं लेकिन उन्हें परवाह नही है देश के लिए घर परिवार ,संपत्ति छोड़ा |उन्हें कभी भी कुर्सी का मोह नही रहा |

पीएम “मोदी” ने नोटबंदी के खिलाफ नोटंकी करने वालों पर करारा प्रहार किया

[गोवा,पणजी ]मोदी ने नोटबंदी के खिलाफ नोटंकी करने वालों पर करारा प्रहार किया|भारत के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने गोआ में जनसभा को संबोधित करते हुए कहा के जो लोग कलतक २ जी +कोयला घोटाला के जरिये करोड़ों अरबों रुपये डकार गए वोह आज रु ४००० बदलने के लिए बैंकों की लाईनों में खड़े है |बीते दिन कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गाँधी ने एक बैंक की लाइन में लग कर बैंकिंग की थी औरइस व्यवस्था को आम आदमी के विरुद्ध बताया कर कांग्रेसजनों को पैसा nikalavane के लिए आम आदमी की मदद के लिए आह्वाहन किया था |कांग्रेस के इसी कदम पर पी एम् मोदी ने यह टिपण्णी की

मोदी ने काळाधन वालों को धमकी दी और स्कीम का लाभ लेने की अपील भी कर डाली

[नई दिल्ली]मोदी ने काळाधन वालों को धमकी दी और स्कीम का लाभ लेने की अपील भी कर डाली
मोदी ने काळाधन निकालने को नई स्कीम निकाली है जिसका लाभ लेने की अपील भी की है |
काळा धन निकालने के अपने चुनावी घोषणा को अमली जामा पहनाने के लिए प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने नई स्कीम निकाली है और इस योजना में भागीदार बनने की अपील भी कर दी है|
पीएम मोदी ने हिंदी और इंग्लिश दोनों भाषाओं में ट्वीट करके यह अपील की है इस अपील के साथ ही आयकर विभाग का एक विज्ञापन नुमा फोटो भी अपलोड किया गया है जिसके अंतर्गत काला धन वालों को एक प्रकार से चुनौती दी गई है के तनाव को निष्क्रिय केलिए आय घोषणा २०१६ के अंतर्गत अपनी अघोषित आय घोषित करे अन्यथा यह एक टाइम बम्ब की तरह कभी भी फट सकता है| अर्थार्त
निकट भविष्य में ब्लैकमनी वालों के विरुद्ध कभी भी कार्यवाहोि हो सकती है [गौरतलब हे के पी एम मोदी स्विट्ज़रलैंड की अपनी प्रस्तावित यात्रा में ब्लैक मनी के मुद्दे को जोर शोर से उठा सकते हैं |
पी एम ने ट्वीट किया
१]इस योजना में भागीदार बनें, इसके बारे में जानकारी ज़्यादा से ज़्यादा लोगों तक पहुँचायें.यह देश की बड़ी सेवा होगी
[२]Follow this scheme & forward details about the scheme to others too…this can be a great service to the nation.

मोदी सरकार के सरकारी खजाने ने 3,770 करोड़ रुपये के काले धन की वसूली से बोनी कर ही ली

[नयी दिल्ली]मोदी सरकार के सरकारी खजाने ने 3,770 करोड़ रुपये के काले धन की वसूली से बौनी कर ही ली
सरकार ने आज कहा कि उसे कल [३० सितम्बर] समाप्त कालाधन अनुपालन सुविधा के तहत किए गए 638 खुलासों के जरिए 3,770 करोड़ रपए की राशि प्राप्त हुई।
वित्त मंत्रालय ने सीबीडीटी द्वारा सौंपे गए आंकड़ों के आधार पर जारी एक बयान में कहा ‘‘अनुपालन सुविधा के तहत विदेश में गैरकानूनी तौर पर जमा 3,770 करोड़ रपए के बारे में खुलासे से जुड़े 638 हलफनामे मिले। इन आंकड़ों पर अंतिम मिलान बाकी है।’’ बयान में कहा गया कि उक्त खुलासे के संबंध में 31 दिसंबर 2015 तक 30 प्रतिशत कर और जुर्माने के तौर पर 30 प्रतिशत का भुगतान किया जाना है