Ad

Tag: CBI

CBI Issues Lookout Notice Against Banker Chanda Kochhar in Corruption Case

[New Delhi]CBI Issues Lookout Notice Against Banker Chanda Kochhar in Corruption Case
The CBI has issued lookout notices against former ICICI Bank CEO Chanda Kochhar, her husband Deepak and MD of the Videocon Group Venugopal Dhoot
She is facing corruption charges in clearing loans worth Rs 1,875 crore to the Videocon Group
The Central Bureau of Investigation had to cut a sorry figure after its dilution of lookout circular against liquor baron Vijay Mallya led to his escape to the UK in 2016.
No summons have been issued against Chanda Kochhar to record her statement so far
It is alleged that during the tenure of Chanda Kochhar, six loans worth Rs 1,875 crore were cleared for the Videocon Group and its associated companies, in which in two cases she herself was on the sanctioning committees.

TMC Shouting in Parliament: Both Houses Adjourned

[New Delhi] TMC Shouting in Parliament: Both Houses Adjourned
The proceedings of Lok Sabha and Rajya Sabha were adjourned on Monday morning amid protests by Trinamool Congress members over alleged “misuse” of the CBI by the central government.
As soon as Lok Sabha paid obituaries to former members who had died in the recent past, members of the TMC raised the issue, saying they have given notice for an adjournment motion to discuss the issue.
When Speaker Sumitra Mahajan said they can raise the issue after Question Hour, TMC members rushed to the Well of the House and started raising slogans against the BJP.
Members of the Telangana Rashtra Samiti (TRS) were also in the Well supporting the TMC.
Later, Congress members entered the Well holding placards about the Rafale jet deal and unemployment figures
The Speaker continued with the Question Hour for 15 minutes and later adjourned the House till noon.
The treasury benches were largely empty with only a few members present in the House. M V Naidu Adjourned Rajya Sabha
West Bengal Chief Minister and TMC leader Mamata Banerjee has begun a sit-in protest in Kolkata over the CBI’s attempt to question the Kolkata Police chief in connection with chit fund scams.
The chief minister skipped meals and remained awake the entire night on a makeshift dais here along with some senior ministers and party members.
In an unprecedented development Sunday evening, Banerjee sat on a dharna, protesting CBI’s attempt to quiz Kolkata Police chief Rajeev Kumar in connection with chit fund scams.
A CBI team, which went to Kumar’s residence in the city’s Loudon Street area, was denied permission, bundled into police jeeps and was whisked to a police station.
The CBI wants to quiz Kumar, who led a Special Investigation Team of West Bengal Police probing the scams, regarding missing documents and files.
Several political leaders, including Congress President Rahul Gandhi, Delhi Chief Minister Arvind Kejriwal, Andhra Pradesh Chief Minister Chandrababu Naidu and RJD national president Lalu Prasad, came out in support of Banerjee.
File Photo

CBI Gets four New Officers

[New Delhi]CBI Gets four New Officers
Full-fledged director is yet to be appointed,
A day before high-powered selection committee is to meet to decide the new CBI chief, the government has appointed four officers in the central agency,
Government is understood to have also considered the views of CBI interim chief M Nageswara Rao
Akhilesh Kumar Singh, 2003-batch IPS from Assam Meghalaya cadre and A T Durai Kumar, 2004-batch IPS from Tamil Nadu cadre have been appointed as DIG in the CBI,
Putta Vimaladitya, a 2008 batch IPS from Kerala cadres and Akhilesh Kumar Chaurasia, 2009 batch IPS from Uttar Pradesh cadre have been appointed as superintendent of police
Rao was given the duties and responsibilities of the CBI director after a high-level committee transferred the then chief Alok Verma as DG Fire Services on January 10 as a hunt for the new CBI director started.

हुड्डा के घर पर सीबीआई के छापे:रोबर्ट वाड्रा का मार्ग यहीं से होकर गुजरता है

[नयी दिल्ली]हुड्डा के घर पर सीबीआई के छापे:रोबर्ट वाड्रा का मार्ग यहीं से होकर गुजरता है
केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने भूमि आवंटन में अनियमितता के एक मामले में हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपिंदर सिंह हुड्डा के निवास स्थान पर शुक्रवार को छापे मारे।
अधिकारियों ने बताया कि सीबीआई ने दिल्ली एवं राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) में 30 अन्य स्थानों पर भी छापे मारे।
इस संबंध में ज्यादा जानकारी की प्रतीक्षा की जा रही है| जानकारों द्वारा यह माना जा रहा है के हुड्डा की सरकार में ही रोबर्ट वाड्रा को सस्ती जमीने अलॉट की गई और फिर उन्हें ऊंचे दाम दिलवाये गए |अब चूँकि रोबर्ट वाड्रा की पत्नी प्रियंका वाड्रा रजनीति में उत्तर चुकी हैं और केंद्र सरकार को चुनौती दे रही हैं ऐसे में आज के इस छापे को कांग्रेस से स्वाभाविक रूप से जोड़ा जा रहा है|

कांग्रेस ,दागी आलोक वर्मा को सीबीआई से हटाने के बहुमत के फैसले के खिलाफ

[नयी दिल्ली] कांग्रेस दागी आलोक वर्मा को सीबीआई प्रमुख के पद से हटाने के फैसले के खिलाफ
सी आई एस एफ से सी बी आई में लाये गए अलोक वर्मा को अग्नि शमन विभाग में भेज दिया गया है| वर्मा पर भ्र्ष्टाचार के गंभीर आरोप बताये जा रहे हैं जिनकी जांच जारी है|
एक तरफ कांग्रेस अध्यक्ष अपनी जन सभाओं और संसद में लगातार स्वयं को करप्शन के खिलाफ यौद्धा के रूप में प्रस्तुत करने में लगे हैं लेकिन दूसरी तरफ अलोक वर्मा जैसे दागी अधिकारियों को बचाने में भी लगे हुए है| कांग्रेस द्वारा बार बार राफेल के साथ अलोक वर्मा का नाम जोड़ा जा रहा है|राहुल गाँधी के अनुसार अलोक वर्मा राफेल की जांच करना चाहते थे, इसीलिए उन्हें सीबीआई से बाहर किया गया लेकिन दुसरे पक्ष के अनुसार वर्मा के अधीनस्थ अस्थाना द्वारा वर्मा पर करप्शन के गंभीर आरोप लगाए गए हैं और उनकी जांच चल रही है जांच प्रभावित न हो इसीलिए इसीलिए वर्मा को भी जबरन छुट्टी पर भेजा गया था लेकिन वर्मा सुप्रीम कोर्ट के मार्ग से निदेशक पद पुनः प्राप्त करने में सफल हो गए |पद पर पहुँचते ही आनन् फानन में ट्रांसफर करने शुरू कर दिए| नवीनतम घटना अकरम के अनुसार सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर तीन सदस्यीय सलेक्ट कमिटी ने बहुमत के आधार पर अलोक वर्मा को सी बी आई के लायक नहीं समझा और उन्हने अग्नि शमन विभाग में भेज दिया|
आलोक वर्मा के भविष्य पर विचार करने के लिये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में गुरुवार को हुई उच्चाधिकार प्राप्त सलेक्ट कमिटी की बैठक में लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने सीबीआई निदेशक को पद से हटाने के कदम का विरोध किया।
सलेक्ट कमिटी ने वर्मा को पद से हटाने का फैसला किया है। दो दिन पहले ही उच्चतम न्यायालय ने वर्मा को इस पद पर बहाल किया था।
सूत्रों के अनुसार बैठक के दौरान समिति के सदस्य खड़गे ने कहा कि वर्मा को दंडित नहीं किया जाना चाहिये और उनका कार्यकाल 77 दिन के लिये बढ़ाया जाना चाहिये। इस अवधि के लिये वर्मा को छुट्टी पर भेज दिया गया था।
यह दूसरा मौका है जब खड़गे ने वर्मा को पद से हटाने पर आपत्ति जताई।
तीन सदस्यीय समिति में प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई के प्रतिनिधि के तौर पर न्यायमूर्ति ए के सीकरी भी शामिल थे।
सूत्रों के अनुसार बैठक के दौरान न्यायमूर्ति सीकरी ने कहा कि वर्मा के खिलाफ कुछ आरोप हैं, इसपर खड़गे ने कहा, ‘‘आरोप कहां हैं।’’
कांग्रेस ने अपने ट्विटर हैंडल से किये गए ट्वीट में कहा, ‘‘आलोक वर्मा को उनका पक्ष रखने का मौका दिये बिना पद से हटाकर प्रधानमंत्री मोदी ने एकबार फिर दिखा दिया है कि वह जांच–चाहे वह स्वतंत्र सीबीआई निदेशक से हो या संसद या जेपीसी के जरिये– को लेकर काफी भयभीत हैं।’’
वर्मा को भ्रष्टाचार और कर्तव्य निर्वहन में लापरवाही के आरोप में पद से हटाया गया। इसके साथ ही एजेंसी के इतिहास में इस तरह की कार्रवाई का सामना करने वाले वह सीबीआई के पहले प्रमुख बन गए हैं।

CBI Serching Residence Of Bureucrates Including B Chandrakala:Sand Mining

[New Delhi]CBI Serching Residence Of Bureucrates Including B Chandrakala:Sand Mining
The Central Bureau of Investigation on Saturday carried out searches at 12 locations in Uttar Pradesh and Delhi in connection with illegal sand mining case,
The residences of senior officers, including IAS officer B Chandrakala, who is famous on social media for her anti-corruption crusade, were also raided in connection with the case,
The searches were spread across multiple districts including Jalaun, Hamirpur, Lucknow and also in the national capital,
The agency had taken up the case on the instructions of Allahabad High Court.

Top Court Not Convinced By CBI On The Bofors

[New Delhi]Top Court Not Convinced By CBI On The Bofors So Dismisses CBI’s Appeal
The Supreme Court on Friday dismissed CBI’s appeal against the Delhi High Court verdict discharging all the accused including Hinduja brothers in Rs 64 crore Bofors pay-off case.
A bench headed by Chief Justice Ranjan Gogoi said it was not convinced with the grounds of the CBI on the delay in filing the appeal.
The apex court, however, said that an appeal against the same HC verdict filed by advocate Ajay Agarwal is pending and the CBI can raise all grounds in it.
The Rs 1,437-crore deal between India and Swedish arms manufacturer AB Bofors for the supply of 400 units of 155-mm Howitzer guns for the Indian Army was entered into on March 24, 1986.

जैटली ने सीबीआई रार पर विपक्ष के आरोपों को सिरे से खारिज किया

[नई दिल्ली] जैटली ने सी बी आई रार पर विपक्ष के आरोपों को सिरे से खारिज किया | सीबीआई में उपजे आंतरिक विवाद को लेकर विपक्ष लगातार सरकार पर हमले बोल रहा है
केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जैटली ने कहा के सी बी आई एक प्रीमियर जांच एजेंसी हैं और इसकी साख बचाये रखने के लिए सीवीसी को जांच का अधिकार है\इसी उद्देश्य को लेकर विशेष निदेशक राकेश अस्थाना और ब्यूरो के निदेशक आलोक वर्मा को छुट्टी पर भेजने का निर्णय लिया गया है| अस्थाना के पी एम के करीबी होने की खबरों को मीडिया की उपज बताया|

Rahul Gandhi Tweets Modi With “CBI”

[New Delhi]Rahul Gandhi Hits Modi With “CBI”
In an unprecedented move, the agency has booked its special director for allegedly receiving bribes from middlemen to give relief to a businessman being probed by him in a case involving meat exporter Moin Qureshi, officials had said Sunday.
Congress president Rahul Gandhi Monday alleged the CBI was being used as a “weapon of political vendetta” under the Modi government and that the premier investigation agency was on a terminal decline and “at war with itself”.
Taking to Twitter, he cited a media report where the Central Bureau of Investigation’s (CBI) second in command Rakesh Asthana has been named as an accused in a bribery case.
Congress chief and his party has been attacking PM over the appointment of Asthana as CBI special director.

फैजाबाद के कैंटोनमेंट बोर्ड में सीबीआई का छह घंटे तक चला छापा

[फैज़ाबाद,यूपी]फैजाबाद के कैंटोनमेंट बोर्ड में सीबीआई का छह घंटे तक चला छापा
सी बी आई ने फैजाबाद के कैंटोनमेंट बोर्ड कार्यालय में छापा मारा
प्राप्त जानकारी के अनुसार आठ सदस्यीय सीबीआई की टीम ने फैज़ाबाद के कैंटोनमेंट बोर्ड में लगभग छह घंटे तक छान बीन की |
कार्यालय के प्रभारी सीईओ अभिनव सिंह हैं |
छापे के नतीज़ों को अभी तक उजागर नहीं किया गया है |
कैंटोनमेंट बोर्ड का लोगो