Ad

Tag: Delhi Jan lok pal

AAP Party Has Magnetized,More Then 700%,Donors:Response Of sacrifice Of Delhi Govt

AAP Party Has Successfully Magnetized 1050 New ,On Line, donors And Enriched Party Fund With More Then 700% Which Is 25.25 lakh rupees ..
Party has Claimed ,This Rise In Party Fund, a Stamp On The decision Of SACRIFICE Of Delhi Govt. For Jan lok pal Yesterday .
Sh. Arvind Kejriwal and his cabinet’s decision to sacrifice the government on the issue of Janlokpal, after Congress and BJP MLAs voted against the introduction of the Bill, has received a very good response from the donors.
[1]The party had received less than 1 lakh rupees from 93 donors till 12 noon yesterday.
[2] After 12 noon the number of donors reached upto 592 and amount collected was 11.77 lakh.
[3]Online donations to the Aam Aadmi Party rose to more than 700 percent today. Till 7 PM today the party had received 25.25 lakh rupees from 1050 donors.

“आप” ने केजरीवाल को मुख्य मंत्री प्रोजेक्ट किया,सत्ता प्राप्त होने पर सबसे पहले अन्ना हजारे के जन लोक पाल को पास करने का आश्वासन भी दिया

आप ने केजरीवाल को मुख्य मंत्री प्रोजेक्ट किया,सत्ता प्राप्त होने पर सबसे पहले अन्ना हजारे के जन लोक पाल को पास करने का आश्वासन भी दिया आम आदमी पार्टी[आप]ने आज दिल्ली के मुख्य मंत्री केप्रत्याशी के रूप में अरविन्द केजरीवाल को प्रोजेक्ट करके कांग्रेस और भाजपा को अपने सियासी कार्ड खोलने को बाध्य किया | अपनी पार्टी की जीत के प्रति आश्वस्त आप ने यह भी आश्वासन दिया कि सत्ता में आने पर सबसे पहले 29 दिसंबर को दिल्ली विधानसभा स्पेशल सत्र बुलाया जाएगा और अन्ना हजारे की उम्मीदों का जनलोकपाल बिल पास कराया जाएगा|
मुख्य चुनाव अधिकारी[CEC] की घोषणा के अनुसार 4 दिसंबर को दिल्ली विधानसभा के चुनाव होने हैं। जिसके नतीजे 8 दिसंबर को घोषित किए जाएंगे।और 15 दिसंबर तक ‘आम आदमी पार्टी’ की सरकार बन जाएगी।
29 दिसंबर को दिल्ली विधानसभा स्पेशल सत्र बुलाया जाएगा और वही जनलोकपाल बिल (जिसका नाम दिल्ली जनलोकपाल बिल होगा) सबसे पहले दिल्ली में पास किया जाएगा, इसी के लिए अन्ना हजारे को रामलीला मैदान में 13 दिन का अनशन करना पड़ा था। यह स्पेशल सत्र दिल्ली विधानसभा के हॉल में नहीं होगा। यह सत्र दिल्ली के रामलीला मैदान में होगा। इस सत्र को देखने के लिए दिल्ली की सारी जनता को आमंत्रित किया जाएगा।
16 अगस्त 2011 से अन्ना हजारे जी ने दिल्ली के रामलीला मैदान में अनशन किया था। अन्ना के 13 दिन के अनशन के बाद संसद में बैठकर सारी पार्टियों ने प्रस्ताव पारित किया था कि अन्ना जी हमें आपकी तीनों शर्तें मंजूर हैं।
आज दो साल हो गए। लेकिन अभी तक उन्होंने लोकपाल बिल पास नहीं किया। अन्ना जी के अनशन के दौरान लाखों लोग रामलीला मैदान आएं थे। देशभर से करोड़ों लोगों ने इस आंदोलन का समर्थन किया। प्रधानमंत्री ने और इन सभी पार्टियों ने देश के लोगों को धोखा दिया है।
29 दिसंबर, 2013 को ‘आम आदमी पार्टी’ की सरकार अन्ना जी का वो जनलोकपाल बिल दिल्ली में पास करके, दिल्ली के उन लाखों लोगों का सपना पूरा करेगी। इस ऐतिहासिक घड़ी को देखने के लिए और दिल्ली विधानसभा के उस स्पेशल सत्र के गवाह बनने के लिए लाखों की तादाद में 29 दिसंबर को फिर से लोग रामलीला मैदान में इकट्ठे होंगे। भ्रष्टाचार और महंगाई से छुटकारा पाने का लोगों का सपना सबसे पहले दिल्ली में पूरा होगा।गौरतलब है कि कांग्रेस और भाजपा ने अभी तक दिल्ली के भावी सी एम् के रूप में किसी नाम को आगे नहीं बढाया है बीते दिन मुख्य मंत्री शीला दीक्षित ने यह तो दवा किया था कि चौथी बार दिल्ली में कांग्रेस की सरकार बनेगी मगर मुख्य मंत्री कौन होगा इस परउन्होंने कन्नी काट ली थी अब आप पार्टी के केंडीडेट की घोषण से कांग्रेस और भाजपा को अपने सियासी कार्ड खोलने के लिए स्वाभाविक दबाब बनेगा |