Ad

Tag: DelhiGovt

स्वराजइंडिया ने दैनिक सफाईकर्मियों के वेतन घटाने पर दिल्लीसरकार को लताड़ा

[नई दिल्ली].स्वराजइंडिया ने दैनिक सफाईकर्मियों के वेतन में ४००० की घटौती करने पर दिल्लीसरकार को लताड़ा
स्वराज इंडिया ने दिल्ली सरकार द्वारा दिल्ली नगर निगम के दैनिक वेटनभोगी स्वच्छता कर्मचारियों के वेतन को घटाकर 13,820 से 9724 किए जाने का कड़ा विरोध किया है।
स्वराज इंडिया के अनुसार एक ओर दिल्ली के विधायकों की वेतन में अभूतपूर्व वृद्धि की गई है तो वहीं दूसरी ओर सफ़ाई कर्मचारियों के वेतन को घटाकर सरकार द्वारा ही निर्धारित मिनिमम वेज से भी कम कर दिया गया है।
नवगठित राजनितिक पार्टी स्वराज इंडिया ने दमनकारी फैसले को तुरंत वापस लेने की मांग की है

कांग्रेसी आशीर्वाद से”आप”को शत्रुघ्न के भाषण+आशीर्वाद+प्यार मिलते रहे

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

आम आदमी पार्टी चेयर लीडर

औए झल्लेया! मार दिया ना पापड़ वाले को |औए अब तो भाजपाई हीरो शत्रुघ्न सिन्हा ने भी हसाडी दिल्ली सरकार के शिक्षा और स्वास्थ्य कार्यक्रमों को मोदी की केंद्र में सरकार से बेहतर बता दिया |
उन्होंने हसाड़े सरकार के स्किल डेवलपमेंट ट्रेनिंग प्रोग्राम को भी स्वयं शरू कराया |

झल्ला

कांग्रेस के आशीर्वाद से आप जी को शत्रुघ्न की उपस्थिति+भाषण+आशीर्वाद+प्यार मिलता रहे
उन्हें भी पटना से किसी दूसरी पार्टी से टिकट की दरकार होगी

सुप्रीम कोर्ट ने “आप” और दिल्ली के उपराज्यपाल दोनों को खुश किया

[नई दिल्ली] सुप्रीम कोर्ट ने “आप” और दिल्ली के उपराज्यपाल दोनों को खुश किया|सुप्रीम कोर्ट में “आप” पार्टी द्वारा दिल्ली पर पूर्ण कब्जे के लिए यह मुकद्दमा दो सालों से चलाया जा रहा था|
सुप्रीम कोर्ट ने “आप” और एलजी दोनों को खुश करते हुए कहा के दिल्ली के प्रशासक उपराज्यपाल हैं लेकिन वे चुनी हुई सरकार की केबिनेट की सलाह पर काम करें

मेरा स्वास्थ्य तेरे स्वास्थ्य से गिरा:दिल्ली में अहंकारी राजनिति की नौटंकी

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

दिल्ली वासी

औए झल्लेया ये क्या हो रहा है? यारा दिल्ली राज्य में सत्तारूढ़ “आप” और केंद्र में राज कर रही भाजपा के आपस के कॉम्पिटिशन में हम तो पिसे जा रहे हैं |
गर्मी में प्यासे+बिना बिजली के भीषण प्रदुषण में मरे जा रहे हैं और ये आम आदमी पार्टी और भारतीय जनता पार्टी वाले एयर कंडीशंड कमरों में हफ्ते से पावँ पसारे पढ़े हुए है|वहीँ से एक दूसरे पर बयानबाजी में समय नष्ट कर रहे हैं|

झल्ला

भापा जी! फ़िक्र नॉट!! अभी ये कम्पटीशन इनके स्वास्थ्य को लेकर भी शुरू होगा |आप के कद्दावर मगर दागी मंत्री सत्येंद्र जैन, जिनका एल जी ऑफिस में आमरण अनशन के दौरान वजन बढ़ रहा था , अस्पताल में पहुंचाए जा चुके हैं |
दिल्ली सी एम् के ऑफिस में धरनारत भाजपा के विजेंदर गुप्ता+मनजिंदर सिरसा + जगदीश प्रधान +पश्चिम दिल्ली के सांसद परवेश वर्मा और आप के बागी विधायक कपिल मिश्रा की तबियत भी बिगड़नेके समाचार आने लगे है |
इस राजनीतिक नौटंकी +अहंकार के चलते अब टैक्स पयेर्स का पैसा इनके स्वास्थ्य पर भी खर्च होगा|

केजरीवाल सुरक्षा की नौटंकी छोड़ ,पिटे आईऐएस से माफ़ी भर मांगलें

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

आप पार्टी चेयर लीडर

औए झल्लेया अब तो हसाड़े सीएम केजरीवाल साहिब ने भी हड़ताली आई ऐ एस अधिकारीयों को सुरक्षा का भरोसा दे दिया अब तो दिल्ली वासिये के लिए इन्हें काम पर लौट आना चाहिए

झल्ला

मी चतुर महाराज ! केजरीवाल सुरक्षा की नौटंकी छोड़ कर पिटे आईऐएस से माफ़ी भर मांगलें
आप तो कहते फिर रहे हो के पुलिस आपके अंडर नहीं है ,ऐसे में कैसे सुरक्षा का भरोसा दे रहे हो|हाँ पिटे आई ऐ एस से केजरीवाल जी माफ़ी भर मांगलें तो सात दिन से चली आ रही नौटंकी समाप्त हो जाएगी

“आप”ने केंद्र के खिलाफ बयानबाजी के लिए किससे सुपारी उठाई

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

दिल्ली में सत्तारूढ़ आप पार्टी चेयर लीडर

औए झल्लेया ये क्या हो रहा है?औए इस प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) कार्यालय को हमारे सिवा कुछ दिखता है के नहीं?? देख तो केंद्र सरकार की सारी एजेंसियों को हसाड़े खिलाफ लगा रखा है |आये दिन आई ऐ एस+सी बी आई+ईडी +इनकम टैक्स के साथ ही दिल्ली पुलिस को भी हम पर ही छोड़ रखा है|राज्यपाल अनिल बैजल को तो विशेष रूप से हमारे खिलाफ कार्य करने के आदेश दिए गए हैं | ऐसे कैसे चलेगा लोक तंत्र ???

झल्ला

ओ मेरे चतुर शतुरमुर्ग ! आप लोगों ने ही केंद्र के खिलाफ मोर्चा खोला हुआ है|अब तो आप की सरकार ही धरना -धरना खेलने लग गई है |इसीलिए पहले ये बताओ के केंद्र के खिलाफ आये दिन बयानबाजी के लिए आप लोगों ने किस्से सुपारी ली हुई है????

शिमला+पंजाब+दिल्ली के नेताओं में पानी समाप्त

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

आम पीड़ित नागरिक

औए झल्लेया ये क्या हो रहा है? औए अभी तक तो रेगिस्तानों में पानी की कमी की सुनते आये थे अब ये खुशहाल शहरों में भी पानी के लिए हाहाकरा मच रही है |हिमांचल प्रदेश के शिमला+पंजाब के लुधियाना+दिल्ली में पानी के लिए मारामारी हो रही है और ये भाजपा+कांग्रेस +आप की सरकारें एक दूसरे पर दोषारोपण में ही लिप्त हैं

झल्ला

भापा जी ये पानी की कमी किसी एक प्रदेश या किसी एक राजनितिक पार्टी की सरकार में नहीं हैं| ऐसा लगता है के राजनितिक दलों के अंदर पानी समाप्त होने लगा गया है|

एलजी+एमसीडी पर 15000 करोड़ की भूमि के घोटाले का आरोप

[नई दिल्ली] दिल्ली में सत्तारूढ़ “आप” ने एलजी और एमसीडी पर भूमि घोटाले का आरोप लगाया
बुधवार को आप पार्टी कार्यालय में पत्रकारों को संबोधित करते हुए आम आदमी पार्टी [आप]के राष्ट्रीय प्रवक्ता दिलीप पाण्डेय ने कहा कि दिल्ली की भाजपा शासित निगम में भाजपा के आशीर्वाद से दिल्ली के इतिहास का सबसे बड़ा भूमि घोटाला हुआ है। नॉर्थ एमसीडी की एडिशनल कमिश्नर रेनू जगदेव की चिट्ठी का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि नॉर्थ दिल्ली में स्थित खैबर-पास गांव इलाके के नज़दीक स्थित 95 एकड़ ज़मीन का एक टुकड़ा जिसकी अनुमानित कीमत 15000 करोड़ है, अवैध तरीके से कुछ निजी लोगों को फायदा पहुंचाने के इरादे से एक प्राइवेट बिल्डर को दे दिया।
दिलीप पाण्डेय ने कहा कि चूँकि ये सरकारी संस्थान उप-राज्यपाल साहब के अधीन आते हैं, तो ये संभव ही नहीं है कि इसकी जानकारी उपराज्यपाल साहब को नहीं है। *इस पूरे प्रकरण की जानकारी दिल्ली के उप-राज्यपाल साहब के साथ-साथ एमसीडी के कमिश्नर और अधिकारियों और भाजपा के सचिव साहब को भी थी। तो सवाल ये उठता है कि भाजपा इस भ्रष्टाचार पर चुप क्यों है।
आतिशी मारलीना ने भाजपा, उपराज्यपाल और मुख्य सचिव के समक्ष कुछ सवाल रखे…
१]ये 95 एकड़ ज़मीन किसकी थी और किसने ये ज़मीन प्राइवेट बिल्डर को दी?
२]क्या भाजपा, उप-राज्यपाल और मुख्य सचिव को इस महा-घोटाले की जानकारी नहीं थी?
३]क्या इस ज़मीन का आबंटन बिना भाजपा, उपराज्यपाल और मुख्य सचिव की जानकारी के दिल्ली मेट्रो को कर दिया गया?
४]वो कौन सा अधिकारी है जिसने इस ज़मीन के आबंटन को मंज़ूरी दी?
५] भाजपा से लेकर सभी संसथान इस महा घोटाले पर चुप क्यों हैं?
आप नेताओं ने पूछा के इस ज़मीन के 15000 करोड़ रूपए किस-किस की जेब में गए?
फाइल सिंबॉलिक फोटो

आप पार्टी पर दिल्ली के मजदूरों का हक़ हड़पने के आरोप

[नई दिल्ली] आप पार्टी पर दिल्ली के मजदूरों का हक़ हड़पने के आरोप केजरीवाल की “आप” पार्टी पर भ्र्ष्टाचार के आरोप
करप्शन पर जीरो टोलेरेंस निति का दवा करने वाली आम आदमी पार्टी [आप] पर एक के बाद एक आरोप लगाने शुरू हो गए हैं|
सीसीटीवी प्रोजेक्ट में अरबों रु के करप्शन के पश्चात् अब लेबर फंड्स में १३९ करोड़ रु के घोटाले को उजागर किया गया है|
यद्पि सी सी टी वी मामले में अभी आरोप प्रत्यरोप का दौर चल रहा है लेकिन एंटी करप्शन बोर्ड[ऐ सी बी] ने दिल्ली के श्रम विभाग के खिलाफ मुकद्दमा दर्ज कर लिया है |दिल्ली के लेबर वेलफेयर बोर्ड के पूर्व अधिकारी सुखबीर शर्मा की शिकायत पर यह कार्यवाही की गई है |बताया जा रहा है के पार्टी के कार्यकर्ताओं को अवैध तरीके से मजदूर वर्ग में पंजीकृत करवा कर उन्हें आर्थिक लाभ पहुँचाया गया|
२००२ में मजदूरों को लगभग १७ सुविधाएँ देने के लिए दिल्ली लेबर वेलफेयर बोर्ड का गठन किया गया था|इस लाभ को अपने कार्यकर्ताओं तक पहुँचाने के लिए उन्हें अवैध तरीके से पंजीकृत करवाया गया |इस प्रकार नौकरी करने वाले भी श्रमिकों को मिलने वाले लाभ को हड़पने में सफल हो गए

“आप” के २० विधायकों के निरस्तीकरण के मामले को न्यायालय ने चुनाव आयोग को भेजा

[नयी दिल्ली]”आप” के २० विधायकों के निरस्तीकरण के मामले को न्यायालय ने चुनाव आयोग को भेजा
दिल्ली में सत्तारूढ़ आप के 20 विधायकों को अयोग्य ठहराने वाली अधिसूचना पर दिल्ली उच्च न्यायालय ने चुनाव आयोग को दोबारा सुनवाई करने के लिए
कहा |इससे आप पार्टी खेमे में जश्न का माहौल है |मिठाइयां बांटी जा रही है| आह्लादित मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इसे सच्चाई की जीत करार दिया।
न्यायमूर्ति संजीव खन्ना और न्यायमूर्ति चंद्रशेखर की पीठ ने कहा कि आप विधायकों को अयोग्य ठहराने वाली अधिसूचना कानूनन सही नहीं थी और उनका मामला फिर सेसुनवाई के लिये चुनाव आयोग के पास भेज दिया।
इसमें नैसर्गिक न्याय के उल्लंघन का हवाला दिया गया है |
दागी विधायकों की यह दलील थी के चुनाव आयोग ने इन विधायकों को दिल्ली विधानसभा की सदस्यता के लिये अयोग्य ठहराने की सिफारिश करने से पहले कोई मौखिक सुनवाई का अवसर नहीं दिया।