Ad

Tag: DrManMohanSingh

डॉ मनमोहन सिंह ने राज्य सभा के लिए राजस्थान से नामांकन भरा

[जयपुर]डॉ मनमोहन सिंह ने राज्य सभा के लिए राजस्थान से नामांकन भरा
भाजपा के राज्यसभा सदस्य सैनी के निधन से यह सीट खाली हुई है जिनका जून में निधन हो गया था।
सिंह ने कहा कि वह राज्य की जनता के हित के लिए जो बन पड़ेगा, करेंगे।
विधानसभा में कांग्रेस के बहुमत को देखते हुए राज्यसभा उपचुनाव में सिंह (86) के जीतने की पूरी संभावना है।
राजस्थान विधानसभा में कुल 200 सीटें हैं। इनमें से दो फिलहाल खाली हैं। कांग्रेस के पास 100 विधायक हैं जबकि उसके गठबंधन सहयोगी राष्ट्रीय लोकदल का एक विधायक है। भारतीय जनता पार्टी के पास 72, बहुजन समाज पार्टी के पास छह, भारतीय ट्राइबल पार्टी, माकपा व राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के पास दो दो विधायक है। 13 निर्दलीय विधायक हैं तो दो सीट खाली हैं।
सत्तारूढ़ कांग्रेस के पास 12 निर्दलीय एवं बसपा के विधायकों का बाहर से समर्थन भी है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मनमोहन सिंह लगभग तीन दशक तक असम से राज्यसभा सदस्य निर्वाचित होते रहे। वह 1991 से 2019 तक लगातार पांच बार राज्यसभा सदस्य रहे और 2004 से 2014 तक लगातार दो बार प्रधानमंत्री पद पर रहे।

यूपीए ने अपने स्वयं के भारत रत्न “सचिन” को खेल पर ही संसद में बोलने नहीं दिया

[नयी दिल्ली]यूपीए ने अपने स्वयं के भारत रत्न “सचिन” को खेल पर ही संसद में बोलने नहीं दिया
यूपीए ने अपनी हुकूमत के दौरान जिस भावना से अवार्ड्स बांटे उसका मुजाहिरा आजकल संसद में बखूबी हो रहा है |
क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर को स्वयम #भारतरत्न देने वाली यूपीए ने सचिन तक को संसद में खेल पर ही बोलने नही दिया
यूपीए राज्यसभा में बहुमत होने के फलस्वरूप सदन को आज भी चलने नहीं दिया |
अपने खुद के ही बनाये भारत रत्न सचिन को 10 मिनट्स तक हाउस में खड़े भी रखा|
सीबीआई की विशेष अदालत द्वारा २ जी घोटाले पर दिए गए निर्णय से उत्साहित यूपीऐ आज कल राज्यसभा में लगातार दबाब बनाने में व्यस्त है जिसके फलस्वरूप राज्य सभा की कार्यवाही रौजाना बाधित हो रही है
वर्तमान गतिरोध पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के खिलाफ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की कथित टिप्पणी
को लेकर है| कांग्रेस के सदस्य पी एम् से माफ़ी मगवाने पर अड़े है जबकि भाजपा और चेयर के अनुसार पी एम् ने डॉ मनमोहन सिंह पर ब्यान गुजरात चुनावों के दौरान राज्यसभा के बाहर दिया था इसीलिए माफ़ी का सवाल ही पैदा नहीं होता ||कहने को कांग्रेस ने आज गतिरोध समाप्त करने के लिए मध्यमार्ग खोजे जाने की बात कही लेकिन होहल्ला जारी रखा |नतीजतन चेयर में बैठे वेंकैय्या नायडू ने सदन की कार्यवाही २७ दिसंबर तक स्थगित कर दी |
सदन की कार्यवाही शुरू होने के कुछ देर बाद राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद ने प्रधानमंत्री की कथित टिप्पणी के मामले में गतिरोध का मुद्दा उठाया। आजाद ने कहा कि गतिरोध को दूर करने के लिये बनी समिति की अब तक सिर्फ एक बैठक ही हुयी है। आज सप्ताह का आखिरी कामकाजी दिन है और फिर अवकाश के मद्देनजर गतिरोध दूर करने के प्रयास भी लंबित ही रहेंगे। इसलिये गतिरोध दूर होने तक सदन की कार्यवाही स्थगित की जाये।
इस पर संसदीय कार्य राज्य मंत्री विजय गोयल ने सदन स्थगित करने की मांग कर रहे कांग्रेस के सदस्यों से बैठक चलने देने का अनुरोध करते हुये कहा कि गतिरोध दूर करने के लिये दोनों पक्षों के बीच वार्ता चल रही है और उन्हें विश्वास है कि कोई न कोई हल निकल आयेगा। गोयल ने कहा ‘‘कांग्रेस के सदस्य सदन की बैठक चलने दें…जनता सब देख रही है।’’ इस पर सदन में कांग्रेस के उपनेता आनंद शर्मा ने कहा कि विपक्ष भी चाहता है कि सदन में चर्चा हो और विधेयक पारित हों, लेकिन गतिरोध दूर होने तक सदन की कार्यवाही स्थगित करनी चाहिये।
नायडू ने अपने स्थान से बैठक को स्थगित करने की मांग कर कांग्रेस सदस्यों से कहा कि कल भी इसी मुद्दे पर हंगामे के कारण सचिन तेंदुलकर को बोलने नहीं दिया गया, यह सदन की मर्यादा के लिये उचित नहीं है। उन्होंने कांग्रेस सदस्यों से यह स्पष्ट करने को कहा कि उनकी मांग गतिरोध दूर करने की है या सदन को स्थगित करने की।
शोरगुल नहीं थमने पर नायडू ने सदन की कार्यवाही 27 दिसंबर को सुबह 11 बजे तक के लिये स्थगित कर दी।
सप्ताहांत के कारण 23-24 दिसंबर को बैठक नहीं होगी जबकि 25 दिसंबर को क्रिसमस के कारण अवकाश रहेगा। 26 दिसंबर को सदन की बैठक नहीं होने का निर्णय पहले ही किया जा चुका था।
उल्लेखनीय है कि 15 दिसंबर से शुरू हुए संसद के शीतकालीन सत्र में मनमोहन सिंह के खिलाफ प्रधानमंत्री की कथित टिप्पणी को लेकर उच्च सदन में गतिरोध बना हुआ है। हालांकि गत मंगलवार को सदन की कार्यवाही सामान्य ढंग से चली तथा चर्चा के बाद दो विधेयकों को पारित किया गया।
कांग्रेस इस मुद्दे पर पहले प्रधानमंत्री मोदी से माफी की मांग कर रही थी किन्तु बाद में उसने अपने रूख में कुछ नरमी लाते हुए कहा कि प्रधानमंत्री को इस मुद्दे पर सदन में आकर स्पष्टीकरण देना चाहिए क्योंकि मनमोहन भी उच्च सदन के सदस्य हैं

नोटबंदी पर विपक्ष संसद में अपने अड़ियल रुख से आज भी हटता नहीं दिखा

[नयी दिल्ली]नोटबंदी पर विपक्ष अपने अड़ियल रुख से आज भी हटता नहीं दिख रहा |लोक सभा चली नही लेकिन शुक्र है राज्य सभा में चर्चा शुरू हो गई|अब विपक्ष के आरोपी भाषण नुमा चर्चा के पश्चात् सत्ता पक्ष को बोलने दिया जायेगा इस पर अभी संदेह हैं |वैसे पूर्व प्रधान मंत्री डॉ मन मोहन सिंह ने सार्वगर्वित भाषण में चर्चा को शुरू किया |जिसे वर्तमान प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने दिन से सुना |
नोटबंदी के मुद्दे पर संसद में जारी गतिरोध को समाप्त करने को सरकार की विपक्षी दलों के साथ अनौपचारिक बैठक नहीं हो पाई।
लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकाजरुन खड़गे ने कहा कि अगर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी या लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन सर्वदलीय बैठक बुलाते हैं तब वे जायेंगे।
खड़गे ने कहा कि विपक्षी दलों के नेता इस बारे में बैठेंगे और इस मुद्दे पर चर्चा करेंगे।
इसके बाद विभिन्न विपक्षी दलों के नेताओं ने राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद के कक्ष में बैठक की।
इससे पहले संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार ने कहा कि विपक्षी दलों के साथ एक अनौपचारिक बैठक बुलाई गई है और सरकार उनकी चिंताओं को सुनने को तैयार है।
नोटबंदी पर लोक सभा में आज भी प्रश्नकाल बाधित रहा
निचले सदन में विपक्षी सदस्यों के हंगामे के बीच समाजवादी पार्टी के सदस्य अक्षय यादव ने कुछ कागज फाड़कर आसन से लगे सभापटल की ओर उछाल दिये।सपजवादी पार्टी के नेता नरेश अग्रवाल ने राज्य सभा में अपनी पार्टी के कार्ड खोलते हुए नोटबंदी के विरोध में चर्चा की
इस विषय पर अपनी मांग के समर्थन में कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस, वाम दल के सदस्य अध्यक्ष के आसन के समीप आकर नारेबाजी करने लगे। वे सदन में कार्य स्थगित करके मतविभाजन वाले नियम 56 के तहत तत्काल चर्चा कराने की मांग दोहरा रहे थे।
सरकार का कहना है कि उसका यह कदम कालाधन, भ्रष्टाचार और जाली नोट के खिलाफ उठाया गया है और वह नियम 193 के तहत चर्चा कराने को तैयार है हालांकि विपक्षी दल शुरू से ही कार्य स्थगित करके चर्चा कराने की मांग पर अड़े हुए हैं।
अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने कहा कि कार्यस्थगन के बारे में प्रश्नकाल के बाद बात करेंगे। अभी प्रश्नकाल चलने दें।
इसके बाद अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने सदन की कार्यवाही शुरू होने के 10 मिनट बाद दोपहर 12 बजे तक के लिए स्थगित की दी

Congress Mocks Event Management And Teaches Foreign Policy To Modi

[New Delhi] Congress Mocks Event Management And Teaches Foreign Policy To Modi
Congress Says diplomacy and geopolitics is about getting favorable terms
Congress In a Letter To Its Mail List Said
“Prime Minister Shri Narendra Modi has made event management the corner stone of his foreign policy.
He peacocks around the globe, gets to meet world leaders, and attends grand events.
But, no one seems to have informed our ‘all knowing’ Prime Minister that diplomacy and geopolitics is more than simply organizing events and being feted by world leaders. It is about getting favorable terms for India and Indians.
The latest casualty of Shri Modi’s desire to massage his ego has been the humiliation at the NSG meet, where the issue of India’s membership wasn’t even taken up due to the political machinations of China and Pakistan.
Our ill-fated attempt to join the NSG highlights the ignorance of Shri Modi.
The 2008 NSG waiver, orchestrated by UPA Prime Minister Dr Manmohan Singh, ensured that India could engage in nuclear commerce with world powers. Shri Modi’s failure at the NSG has hurt India globally

यूंपीऐ के दागी कोयला मंत्री दसारी नारायण राव ने कोल् स्कैम का ठीकरा पूर्व पीएम पर फोड़ा

[नयी दिल्ली] यूंपीऐ के दागी मंत्री दसारी नारायण राव ने कोल् स्कैम का ठीकरा पूर्व पी एम पर फोड़ते हुए कहा कि सारे निर्णय डॉ मन मोहन सिंह ने ही किये थे |
पूर्व कोयला राज्य मंत्री दसारी नारायण राव ने आज कहा कि कोयला ब्लाकों के आबंटन के बारे में सभी निर्णय तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने किये जो उस समय कोयला मंत्रालय भी जिम्मेदारी संभाल रहे थे। राव झारखंड के अमरकोंडा मुरगादंगल कोयला ब्लाक के आबंटन में कथित घोटाले से जुड़े मामले में आरोपी हैं।
राजधानी में पटियाला हाउस अदालत के बाहर संवाददाताओं से बातचीत में राव ने कहा, ‘‘मैं केवल राज्यमंत्री था। कोयला ब्लाक आबंटन की सभी शक्तियां तत्कालीन कोयला मंत्री के पास थीं और उस समय कोयला मंत्री मनमोहन सिंह थे। सभी निर्णय प्रधानमंत्री सिंह ने किये।’’ राव और उद्योगपति कांग्रेस नेता नवीन जिंदल एवं अन्य के साथ विशेष अदालत में पेश हुए थे।
यह मामला जिंदल समूह की कंपनियों जिंदल स्टील एंड पावर लि. :जेएसपीएल: तथा गगन स्पांज आयरन प्राइवेट लि. :जीएसआईपीएल: को अमरकोंडा मुरगादंगल कोयला ब्लाक के आबंटन में कथित अनियमितता से जुड़ा है।
राव के अलावा झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा, जिंदल रीयल्टी प्राइवेट लि. के निदेशक राजीव जैन, गगन स्पांज आयरन प्राइवेट लि. :जीएसआईपीएल: के निदेशक गिरीश कुमार सुनेजा समेत 14 को इस मामले में आरोपी बनाया गया है।

डॉ मनमोहन सिंह ने ७ रेस कोर्स में पीएम से भेंट करके साबित किया कि राजनीती में कोई स्थाई शत्रु नहीं है

कटु सत्य है कि राजनीती में कोई स्थाई शत्रु नहीं होता और यह सत्य भारतीय राजनीती में भी विराजमान है |सम्भवत इसी लिए विपक्ष के डॉ मन मोहन सिंह मुस्कुराते हुए अपने उत्तराधिकारी पीएम नरेंद्र मोदी के सरकारी आवास पर मिलने जा पहुंचे|वर्तमान पीएम ने भी अपने “आज” के कटु आलोचक डॉ सिंह से मिल कर प्रसन्नता प्रगट की |पूर्व प्रधान मंत्री डॉ मन मोहन सिंह २७ मई को नरेंद्र मोदी से उनके सरकारी निवास ७ रेस कोर्स पर भेंट करने पहुंचे|इस पर श्री मोदी ने अपनी प्रसन्नता ट्वीट करते हुए लिखा है कि डॉ मन मोहन सिंह से मिल कर उन्हें बढ़ी प्रसन्नता हुई और ७ रेस कोर्स पर आगंतुक का पुनःस्वागत किया |”Very happy to meet Dr. Manmohan Singh ji & welcome him back to 7RCR. We had a great meeting.”इससे पूर्व डॉ मन मोहन सिंह ने २ जी स्कैम में अपना बचाव करते हुए मुंह खोला और नरेंद्र मोदी की एन डी ऐ सरकार पर करप्शन हार्पर का टैग लगाया था|
फोटो कैप्शन
The former Prime Minister, Dr. Manmohan Singh calling on the Prime Minister, Shri Narendra Modi, in New Delhi on May 27, 2015.

Dr.ManMohan Singh Brakes,Long Awaited,Silence On 2G And Tagged NDA a Corruption Harper

[New Delhi]After Keeping Mum For One Year Dr Man Mohan Singh Has Broken, Long Awaited, Silence And Tagged NDA a Corruption Harper
Ex PM Dr Manmohan Singh Said “I have not used public office to enrich myself+ family+friends”,
Attacking BJP Ex PM Said “BJP harps on corruption to divert people’s attention to non-issues”
Congress Leader ,Dr Singh’s This Clarification came the day after Pradeep Baijal, the former head of the country’s telecom regulator, said that Dr Singh asked him not to obstruct policies that were being implemented to allow a massive scam in the allocation of mobile network licenses
Mr Baijal Asserted media yesterday that Dr Singh Questioned “Why are you not cooperating with the minister?”
Mr Baijal’s accusations of the PM’s refusal to prevent his ministers from indulging in graft comes after similar claims by his former aide and media advisor Sanjaya Baru and former Coal Secretary PC Parakh. Former TRAI Chairman Baijal alleging that the then Prime Minister Manmohan Singh had warned him of harm if he did not cooperate on 2G telecom licenses.

Congress Remembers First Nehru Pt Motilal Nehru on his Birth Anniversary

[New Delhi]Congress Parliamentarians Remembers The First Nehru Pt Motilal Nehru on his Birth Anniversary
Former Prime Minister, Dr. Manmohan Singh +Congress President Smt Sonia Gandhi+Mallikarjun Khadge + and other dignitaries paid tributes to Pandit Motilal Nehru, on his Birth Anniversary, at Parliament House, in New Delhi on May 06, 2015.
The The Speaker, Lok Sabha, Smt. Sumitra Mahajan+Lal Krishan Advani+ also paid tributes To Pandit Moti Lal Nehru
Photo Caption
The Speaker, Lok Sabha, Smt. Sumitra Mahajan, the former Prime Minister, Dr. Manmohan Singh and other dignitaries paid tributes to Pandit Motilal Nehru, on his Birth Anniversary, at Parliament House, in New Delhi on May 06, 2015.

सीबीआई वालो होशियार!हसाडे सोणे ते मन मोहने को अडवाणी ने ज्वाइन कर लिया है 1+1=11

झल्ले दी झल्लियां गल्लाँ

कांग्रेसी चीयर लीडर

ओये झल्लेया ये भाजपाइयों ने अपने ही भीष्म पितामह लाल कृष्ण अडवाणी की क्या गत बना दी |ओये बेंगलुरु की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में अडवाणी जी को बोलने ही नहीं दिया गया|अब तो इनसे इनकी मार्ग दर्शक की भूमिका भी छीन ली

झल्ला

ओ मेरे चतुर सुजान बता मेरी सुनो खोल कर दोनों कान !अडवाणी जी के मौन से मत हो इतना परेशान क्योंकि असली कारण जान कर आपने भी हो जाना है हैरान |दरअसल आजकल डॉ मन मोहन सिंह को अकेला मौन सिंह जान कर सीबीआई कुछ ज्यादा ही मजे ले रही है अब ये तो भारतीय संस्कृति है के दुर्बल के प्रति सहानुभूति हो ही जाती है शायद इसीलिए अडवाणी ने मन मोहने का साथ देने के लिए मौन रहना पसंद किया है|इसीलिए सी बी आई वालो होशियार हसाड़ा सोणा ते मन मोहना अकेला नहीं है |हसाडे सोणे ते मन मोहने को अडवाणी ने ज्वाइन कर लिया है |एक और एक ग्यारह होते हैं

कांग्रेस ने अपनी कोयला पालिसी के समर्थन में दिल्लीमार्च निकाला तो मोदी भापे ने उत्तर मॉरिशस में दे दिया

झल्ले दी झल्लियां गल्लाँ

भाजपाई चीयर लीडर

ओये झल्लेया हसाडे सोणे नरेंद्र भाई दामोदर दास मोदी जी ने मॉरिशस जैसे छोटे से देश में भी साबित कर दिया कि मोदी मैजिक अभी भी माकूल है+मौजूद है| मॉरिशस की जनता ने पलक पावड़े बिछा कर मोदी जी का स्वागत किया+आदर किया+सत्कार किया है |१.२ मिलियन पापुलेशन वाले इस छोटे भारत में भी १.२ बिलियन लोगों का प्रतिनिधित्व कर रहे मोदी ने भ्रष्टाचार से लड़ने का पालिसी मंत्र भी दे दिया |मोदी जी ने बता दिया कि मात्र २० कोल ब्लॉक की नीलामी से अभी तक दो लाख करोड़ से भी अधिक राशि जुटाई जा चुकी है ओये अच्छे दिन लाने के लिए इसे कहते हैं गुड गवर्नेंस

झल्ला

ओ मेरे चतुर सेठ जी मॉरिशस में मोदी मैजिक की मौजूदगी तो ठीक ठाक दिख रही है लेकिन उन्होंने जो कोल ब्लॉक्स का उदाहरण दिया है वोह कांग्रेस द्वारा डॉ मन मोहन सिंह के समर्थन में दिल्ली में निकाले गए मार्च के उत्तर में दिया है !कांग्रेस ने अपनी कोयला पालिसी के समर्थन में दिल्लीमार्च निकाला तो मोदी भापे ने उसी दिन उत्तर मॉरिशस में दे दिया है