Ad

Tag: India Today Satire

श्मशान कर्मकांड के भाव बढ़े,नेता और व्यवसाई! करो टेकओवर की तैयारी

झल्लीगल्लां
श्मशानकाआचार्यजी
Jamos cartoonओए झल्लेया!हसाडे मेहनत के कर्मकांड के लिए दान दक्षिणा पर भी कथित समाजसेवी नाक भों सिकोड़ने लग गए।अरे हमे कोई शादी व्याह में तो बुलाता नही अब ले दे के कोई मरने पर ही यहां आता है।हम पूर्ण निष्ठा से 13 दिन कर्मकांड कराते हैं और अपना परिवार पालते हैं।अब ये कोरोना हमारे कहने से तो आया नही जो इसे लेकर हमारी थोड़ी बहुत इनकम को कोसा जा रहा है।
झल्लाझल्ला
महाराज!थोड़ा हंस वी लया करो।श्मशान में कर्मकांड के भाव बढ़ने से धन्नासेठ और राजनेता भी आकर्षित होंगे और इस कमाऊ व्यवस्था को टेकओवर करने को जुगत लड़ाएंगे।इससे आप लोगों के भी अच्छे दिन आ जाएंगे

उपराष्ट्रपति जी! पीड़ित किसकी मां को मासी कहे

झल्लीगल्लां
भजपाईलेखक
VP M Venkaiyya naiduओए झल्लेया!हसाडे सुयोग्य उपराष्ट्रपति और राज्यसभा के सभापति एम. वेंकैया नायडू ने आज अपनी मूल जड़ों को याद रखने तथा अपनी माता, मातृभाषा, मातृभूमि और पैतृक स्थान को सम्मान देने का आह्वाहन किया है।
ओए श्री नायडू ने भुवनेश्वर राजभवन में “नीलिमारानी- माई मदर-माई हीरो” नामक पुस्तक का विमोचन करने के बाद जनसमूह को संबोधित करते हुए शिक्षा, न्यायपालिका तथा प्रशासन में मातृभाषा के व्यापक उपयोग की अपील की। “साझा करने एवं देखभाल करने” की सच्ची भावना में, उन्होंने सफल पुरूषों एवं महिलाओं को अपने पैतृक गांवों में रहने वाले लोगों की सहायता एवं समर्थन करने की अपील है।
झल्ला
चतुर सेठ जी!
झल्लाहसाडी माता रब्ब के चरणों मे समा गई।हसाडे पुरखों की मातृभूमि (रावलपिंडी/दन्दी)दूसरों को दे दी गई।मातृभाषा (पंजाबी) वालों ने 1947 के रिफ्यूजियों को लूट लिया।पैतृक स्थान वाले हुक्मरां पीड़ा सुनने तक को तैयार नही।ऐसे मैं आप ही बताओ कि मैं किसकी मां को मासी खून???

काहे की होली? काहे की हमजोली ??जब दो गज की दूरी और मास्क भी जरूरी!

झल्लीगल्लां
भजपाईचेयरलीडर
ओए झल्लेया!रंगों के मस्त त्यौहार होली दियाँ लख लख मुबारकां।
ओए कल होलिका के दहन से बुराईओं का खात्मा हो चुका अब खुल के रंग बरसाओ।बरसाने से अयोध्या या फिर काशी नहाओ।
झल्ला

Holi

Holi

चतुर सेठ जी!हमारी काहे की होली??? काहे की होली? काहे की हमजोली ??जब दो गज की दूरी और मास्क भी जरूरी!
संग खड़ी हमजोली!फिर भी दो गज की दूरी ऊपर से मास्क भी जरूरी।हाँ तुम लोगों ने तो महाराष्ट्र के फार्म हाउस में एन सी पी वालों से होली मिलन कर ही लिया।बंगाल में ममता और आसाम में कांग्रेस के गाल बिना गुलाल के ही लाल कर लिए।
बुरा ना मानो
होली के हुलियारे बेचारे ,तुम्हारी कोरोना चेतावनियों के मारे
ढूंढ रहे रघुबीरा,लेकर सोने का बीड़ा,दिख नही रहा हुड़दंगी कन्हाई
किलस किलस गुलाल से कर रहे अपने ही दोनों गाल लाल
काहे की खुशियां ?काहे के रंग ?? होली हुई बदरंग

मेरठ का1वाहन कमेला तो कंट्रोल नही हो रहा,देश भर में कमेले खोलने चले

झल्लीगल्लां
व्यंगकार
 ओए झल्लेया !ये क्या हो रहा है? ओए मोदी सरकार स्क्रैप पालिसी थोप कर पुरानी एंटीक गाड़ियों के दर्शन दुर्लभ करने जा रही है।ओए अब एंटीक गाड़ियों का प्रदर्शन/रेस नही होगी । वाहन निर्माता भी अपने वाहन की लंबी लाइफ का दावा नही कर पाएंगे
झल्ला
झल्ला भापा जी!मेरठ का1वाहन कमेला तो कंट्रोल नही हो रहा,देश भर में कमेले खोलने चले
मेरठ के सोतीगंज में एक वाहन कमेला लखनऊ से लेकर दिल्ली के शासन+प्रशासन के काबू नही आ रहा और ये परिवहन मंत्री नितिन गडकरी पूरे देश मे वाहन कमेले खोलने जा रहे हैं और उम्मीद है कि इन कमेलों को पर्यटन केंद्र बना कर प्रवेश टिकट भी लगा दिया जाएगा

मोदीभापे!हमारे टैक्स से सोने की लंका बनाई,देखने के लिए टिकट दिखाते हो

झल्लीगल्लां
भजपाईचेयरलीडर
ओए झल्लेया! उत्तरप्रदेश में पंचायत चुनाव आने वाले है सो हसाडे यशस्वी+तेजस्वी मुख्यमंत्री महंत आदित्यनाथ योगी ने कह दिया है कि चुनांवों से डरने की जरूरत नही क्योंकि हसाडी सरकार की लोक कल्याण पर आधारित ढेरों उपलब्धियां हैं जिन्हें घर घर पहुंचाना जरूरी है।ओए उनके आदेशों का पालन करने को हमने भी टीम स्प्रिट से कमर कस ली है
झल्ला
चतुर सेठ जी! आपकी सरकारों की सबसे बड़ी उपलब्धि ये है कि जिस नागरिक के टैक्स से सोने की लँकाएं बना रहे हो उन्ही लँकाओं को देखने के लिए करदाता से टिकट के पैसे वसूल रहे हो।

गडकरी जी! स्कैनिया के खिलाफ मानहानि का दावा कब कर रहे हो?

झल्लीगल्लां
तपाहुआभजपाई
Jamos Cartoonओए झल्लेया! ऐ की हो रेया? अब स्वीडन की स्कैनिया भी हम पर रिश्वतखोरी का कीचड़ उछालने लगी।राज्यों में चुनाव होने जा रहे हैं और एन वक्त पर हसाडे मंत्री पर रिश्वत के रूप में बसें लेने की बात कही जाने लगी गी।ये तो हसाडे खिलाफ कोई नया षड्यन्त्र ही है । बताओ !कह रहे हैं कि मंत्री की बेटी की शादी में बस दी ।अरे भाई बेटी की शादी में तो लोग पता नही क्या क्या दे जाते हैं और ये स्वीडिश बस के पैसे की बात कर रहे है।हसाडे कर्मठ मंत्री नितिन गडकरी जी ने तत्काल इसका खण्डन कर दिया है
Jhallaa Cartoonझल्ला मेरे भोले सेठ जी!गडकरी जी अपनी और पार्टी की छवि बचाने के लिए स्कैनिया पर कब मान हानि का दावा ठोंक रहे हैं और तब तक बसों के अस्तित्व से इनकार की प्रतीक्षा भी रहेगी।वरना विपक्ष इन अति आधुनिकबसों के हॉर्न चुनांवों में बजायेंगे ही बजायेंगे

नही छडणी,कैप्टेन ने गद्दी नही छडणी;प्रशांत किशोर को बनाया कैबिनेट मंत्री

झल्लीगल्लां
कैप्टेनगुटकांग्रेसी
ओए झल्लेया! मुबारकां!!ओये हसाडे धाकड़ सीएम कैप्टेन अमरिन्दर सिंह जी ने बिहार+बंगाल में धूम मचा चुके विश्व विख्यात चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर साहब को एक ₹ कि तनख्वाह पर कैबनेट मंत्री बणा लिया है। ओए देख लेना अब 2022 में भी हसाडी ही सरकार बनेगी
झल्ला
भा जी
ठंड रखो ठंड।आपके कैप्टेन साहिब ने तो कहा था कि पिछला चुनाव उनका आखरी चुनाव फिर भी आप लोगों ने गोटियाँ बिठानी शुरू कर दी हैं।पहले सुनील जाखड़ ने आधार बनाने के लिए 2022 में कैप्टेन साहिब के लिए भविष्यवाणी कर दी थी और अब प्रशांत किशोर की नियुक्ति आपके कैप्टेन का यूटर्न ही है।यह यूटर्न लाफिंग जट्ट नवजोत सिंह सिधू और उस पर दावँ लगाए बैठे आलाकमान जरूर अशांत हो सकते हैं

कोरोना नियमो के अपराधियों के पश्चात आंदोलनकारी किसानों को भी अभयदान मिलेगा ?

झल्लीगल्लां
दिल्लीनिवासी
ओए झल्लेया! ये क्या हो रहा है? ओए कोरोना और किसानों को लेकर वैसै ही आटा गिला है ऊपर से हुक्मरानों ने ट्रैफिक और कोरोना के नाम पर पौने दो सौ करोड़ ₹ का जुर्माना थोप कर गरीबों को आटा गूंथने लायक भी नही छोड़ा ।
झल्ला
झल्लाभापा जी! कोरोना नियमो के अपराधियों के पश्चात आंदोलनकारी किसानों को भी अभयदान मिलेगा ?
इसीको तो कहते है बनाना रिपब्लिक यानि अपनी ढपली अपना राग। नहीं समझे अरे दिल्ली के कानून यूपी में नही चलते ।नही समझे? अरे कोरोना नियमों को तोड़ने वालों से जुर्माना वसूलना तो दूर अब उनके खिलाफ दर्ज हजारों मुकद्दमे वापिस लेने का फरमान योगी जी महाराज निकाल चुके है।अब शायद कुछ समय पश्चात आंदोलनकारी किसानों को भी अभयदान मिल ही जाना है

आन्दोलनजीविओं से पनप रहे परजीवियों के लिए प्रथक कोपभवन जरूरी

न्यायविद
Judiciaryओएझल्लेया!अब तो खुश हो जा।ओए सर्वोच्च न्यायालय ने दोबारा सुना दिया है कि कभी भी और कहीं भी कैसे भी प्रदर्शन का अधिकार नही मिल सकता।ठीक है असहमति का हक सबको है लेकिन यारा ये तो आन्दोलनजीवी शाहीन बाग के बाद अब सिंधुऔर गाजीपुर बोर्डरों पर परजीवियों को जन्म देने में जुट गए हैं।टॉप कोर्ट के तमाचे से शायद आंदोलन के नाम पर सार्वजनिक स्थलों पर कब्जा करने और अराजकता फैलाने वालों को सद्बुद्धि मिलेगी
झल्ला

झल्ला

झल्ला

भापा जी! अभी तक आन्दोलनजीवियों से पनप रहे परजीवियों के नाश को कोई वैक्सीन नही बनी है इसीलिए रामायणकालीन कैकई को याद करके आन्दोलनजीविओं के लिए प्रथक कोपभवनों की व्यवस्था करवा दो

राममंदिर के लिए धनसंग्रह और संग्रहकर्ताओं का सेनिटाइज़ेशन जरूरी है

#मनमयूरनचाताभाजपाई
ओए झल्लेया! मुबारकां!!ओए ये विपक्षी राममंदिर निर्माण की तारीख को लेकर रामभक्तों को चिढ़ाते थे ।अब वोह ध्याड़ा आ गया है ।ओए 39 दिनों में भव्य राम मंदिर बन कर तैयार हो जाएगा। राष्ट्र के इस गौरव के लिए गौरवशाली राष्ट्रपति श्री राम नाथ कोविंद जी ने पांच लाख एक सौ ₹ का चेक देकर धनसंग्रह की शुरुआत करवा दी है
#झल्ला
चतुर सुजाण जी!राम नाम की लूट है सो आपके दागी छुटभैय्ये भी धनसंग्रह टोलियों में शामिल करा लिए गए है। झल्लेविचारानुसार धनसंग्रह और संग्रहकर्ताओं का सेनिटाइज़ेशन बहुत जरूरी है क्योंकि दूषित धन और दूषित धन संग्रहकर्ताओं से धार्मिक उद्देश्य पर सदैव प्रश्नचिन्ह लगा करते है