Ad

Tag: JantarMantar

कालेधन पर नूराकुश्ती के खिलाफ देशव्यापी जन-आँदोलन का संकल्प:स्वराज इंडिया रैली

swaraj-abhiyan-prem-nagar[नई दिल्ली ]कालेधन के मुद्दे पर देशव्यापी जन-आँदोलन का लिया संकल्प:स्वराज इंडिया की जंतर मन्त्र पर रैली
-जंतर मन्त्र पर स्वराज इंडिया की रैली में
गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री सुरेश मेहता,
जगदीश चोकर,
अंजलि भारद्वाज,
प्रो. अरूण कुमार आदि शामिल हुए |
आज जंतर-मंतर पर उमड़ी भारी भीड़ जुटाकर ‘स्वराज इंडिया’ ने राष्ट्रीय राजनीति में अपनी पहली उपस्थिति दर्ज कराई।
स्वराज अभियान के अध्यक्ष प्रशांत भूषण ने रैली को संबोधित करते हुए कहा –
“मैंनें जुलाई 2014 में ही प्रधानमंत्री को चिट्ठी लिखी। बताया कि कालेधन को कैसे रोकना है। लेकिन उसपर कोई कार्यवाई नहीं हुई। कार्यवाई तो छोड़िए, भ्रष्टाचार और कालेधन पर रोक लगाने वाले मौजूदा क़ानूनों और संस्थाओं को कमज़ोर किया जाने लगा। भ्रष्ट अधिकारियों को भ्रष्टाचार निरोधक संस्थाओं में मुख्य पदों पर नियुक्त किया जा रहा है। तीन साल हो गए
लोकपाल कानून को बने लेकिन अब तक लोकपाल की नियुक्ति नहीं हुई है।
आज न्यायपालिका की स्वतंत्रता भी खतरे में है वर्तमान मुख्यन्यायधीश के 15 दिन शेष रहते हुए भी नए न्यायधीश की घोषणा नहीं हुई है |
भारतीय सेना के अध्यक्ष जैसे अति महत्वपूर्ण पद पर भी दो वरिष्ट अधिकारीयों को दरकीनार कर के तीसरे अधिकारी की न्युक्ति की गई है|
इस सरकार ने सीबीआई का भी यही हश्र किया|
जगदीश चोकर जो ADR के संस्थापक हैं ने आज के परिस्थिति पर कटाक्ष करते हुए कहा -‘जालिमों अपनी किस्मत पर नाज न हो दौर बदलेगा ये वक्त की बात है वो यकीनन सुनेगा सदाएं मेरी क्या वो तुम्हारा खुदा है,हमारा नहीं’|
अंजलि भारद्वाज ने स्वराज इंडिया के RTI में आने पर सराहना करते हुए कहा “जब स्वराज इंडिया RTI में आ सकती है तो बाकी पार्टियाँ क्यों नहीं आ सकतीं?”
गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री सुरेश मेहता ने बताया की CAG की अनेकों रिपोर्ट से यह साबित होता है कि गुजरात की सरकार ने अदानी ग्रुप को फ़ायदे पहुचाये|
अध्यक्ष योगेंद्र यादव ने कहा कि “कालाधन दस सिरों वाला रावण है। कैश उस रावण का एक सिर है।
रियल स्टेट,
गोल्ड, बेनामी संपत्ति,
पी-नोट,
विदेशी अकाउंट और
निवेश उसके बाक़ी के सिर हैं। अब रावण के एक सिर पर वार कर आप रावण को नहीं मार सकते। रावण को मारने के लिए उसकी नाभी पर वार करना होगा। कालेधन रूपी रावण की नाभी है – राजनैतिक भ्रष्टाचार। इस रावण को मारने में हमारी संसद नाकाम रही है। आज समय की माँग है कि कालेधन के मुद्दे पर एक देशव्यापी जन आँदोलन शुरू किया जाए।”
उन्होंने ने कहा “आज सत्ता और विपक्ष के बीच मैच फिक्सिंग जैसा माहौल है” आप सभी आए हुए लोगों की अभूतपूर्व उर्जा और भारी संख्या को देखते हुए ऐसा लगता है की हमें अगली रैली रामलीला मैदान में करनी होगी|”
प्रो आनंद कुमार और स्वराज इंडिया के मुख्य प्रवक्ता अनुपम ने इस जनसभा का संचालन किया|

स्वराज इंडिया काले धन पर जंतर मंत्र से १८ दिसंबर को हल्ला बोलेगा

[नई दिल्ली]स्वराज इंडिया काले धन पर जंतर मंत्र से हल्ला बोलेगा
इसमें शामिल होने के लिए सभी यौद्धाओं को 18 दिसंबर, सुबह 10 बजे जंतर मन्त्र पर पहुँचने को कहा जा रहा है|पहले योगेंद्र यादव और आज प्रशांत भूषण द्वारा आई वी आर के माध्यम से सन्देश प्रसारित किये गए हैं |
गुरुवार को जारी किये गए एक ऑडियो सन्देश में स्वराज अभियान के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रशांत भूषण ने देश भर के भ्रष्टाचार विरोधी योद्धाओं से 18 दिसंबर को जंतर मंतर पहुँचने की अपील की है। उन्होंने कहा है कि काले धन और भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ शुरू हुए आंदोलन को आज और बुलंद करने की ज़रूरत है।
आईवीआर के जरिये लोगों को उनके फोन पर प्राप्त हुए सन्देश में प्रशांत भूषण ने कहा, “नमस्कार दोस्तों, रविवार 18 दिसंबर को जंतर मंतर पर काले धन के ख़िलाफ़ एक बड़ी रैली है।
क्यूँकि भ्रष्टाचार के खिलाफ 4 साल पहले शुरू हुए जिस आंदोलन का आप हिस्सा रहे हैं उसकी आवाज़ को आज और भी बुलंद करने की ज़रूरत है। देश को काले धन से लड़ने वाले सच्चे सिपाहियों की ज़रूरत है। एक आंदोलन खड़ा करने की ज़रूरत है। आप आ रहे हैं ना जंतर मंतर? रविवार को सुबह 10 बजे।”
स्वराज इंडिया का कहना है कि राजनितिक पार्टियों में काले धन को लेकर केवल नूराकुश्ती हो रही है
स्वराज इंडिया ने 18 दिसंबर की रैली से सम्बंधित निम्नलिखित सवाल पूछे हैं:
१]पार्टियों से भी उनके हज़ारों करोड़ों के कैश चंदे का हिसाब क्यों नहीं माँगा जा सकता?
२]बीजेपी और काँग्रेस जैसी विदेशी फ़ंड लेने वाली पार्टियों को सज़ा क्यों नहीं हो सकती?
३]विदेशों में बेनामी कंपनी खोलकर ब्लैक को ह्वाइट करने का धंधा बंद क्यों नहीं हो सकता?
४]बैंकों के लाखों करोड़ डुबाने वाले अडानी-अंबानी और माल्या बंद क्यों नहीं हो सकते?
५]भ्रष्टाचार निरोधक कानून (PCA) को ढीला करने की साज़िश क्यों नहीं रूक सकती?
६]पिछले ढाई साल से लोकपाल की नियुक्ति क्यों नहीं हो सकी?
फाइल [सिंबॉलिक] फोटो

“आप” पार्टी ने किया कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर पलटवार

[नयी दिल्ली]”आप” पार्टी ने किया कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर पलटवार |इसे पूर्व राहुल गांधी ने ‘मोदी+केजरीवाल की यह कहते हुए आलोचना की थी कि ये सोचते हैं कि सिर्फ वादे करके ही वे बदलाव ला सकते हैं
महज वादों के जरिए बदलाव लाने वाले यह बयान देने के लिए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर हमला करते हुए “आप” ने आज कहा कि अगर उन्होंने अपनी पार्टी द्वारा किए गए वादों को पूरा किया होता तो उन्हें लोकसभा चुनाव में करारी हार का सामना नहीं करना पड़ता।
आप के वरिष्ठ नेता संजय सिंह ने लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को मिली करारी हार का उल्लेख करते हुए कहा, ‘‘अगर राहुल गांधी और उनकी पार्टी ने जो वादे किए थे उन्हें पूरा किया होता तो उन्हें ये दिन नहीं देखने पड़ते जो आज वह देख रहे हैं।’’ जंतर मंतर पर यहां सफाई कर्मचारियों को संबोधित करते हुए गांधी ने अपने भाषण में कहा था, ‘‘मोदी और केजरीवाल सोचते हैं कि सिर्फ वादे करके वे बदलाव ला सकते हैं। वादों के जरिए कोई बदलाव नहीं लाए जा सकते। बदलाव यहां खड़ा होकर और दबाव डालकर लाए जा सकते हैं।