Ad

Tag: jhalli gallan

बातें कम कर काम ज्यादा राहुल बाबा काम से होगा नाम ज्यादा बाबा

झल्ले दी झल्लियां गल्लां

कांग्रेसी चीयर लीडर

ओये झल्लेया ये क्या मजाक हो रहा है ओये हम लोग जनता की सेवा करते मरे जा रहे हैं और तुम लोगों को मोदी+केजरीवाल ही दिख रहे हैं ओये हसाड़ी ऐतिहासिक पार्टी ही ऎसी पार्टी है जो अमीर+ गरीब+ हिंदू + मुसलमान सभी को एकजुट रख सकती है|हसाडे राहुल गांधी जी ने भी कह दिया है कि हसाड़ी कांग्रेस सबसे ज्यादा काम करती है लेकिन विपक्षियों की दुकाने ही अच्छी चल रही है|

झल्ला

चतुर सुजाण जी हमने सीता और गीता में “मन्ना डे” की आवाज में ही मैन “धर्मेन्द्र” से एक गाना सुना था जिसके बोल को इस प्रकार भी कहा जा सकता है “बातें कम कर काम ज्यादा राहुल बाबा काम से होगा नाम ज्यादा बाबा” If You Want To Do Just Do Don’t Talk

सोणा ते मन मोहणा पी एम् २०१४ तक सियासी रण छोड़ कर भागने वाला नहीं है

झल्ले दी झल्लियां गल्लां

खोजी पत्रकार

ओये झल्लेया देखा हसाड़ी खोजी पत्रकारिता का कमाल ओये हमने कहा था ना कि २०१४ के इलेक्शन से पह्ले डॉ मन मोहन सिंह को प्रधान मंत्री पद से हटा दिया जायेगा ओये अब सत्ता के गलियारों से आवाजें आ रही हैं कि डॉ मन मोहन सिंह खुद ही राहुल हन्दी के लिए प्रधान मंत्री के पद को छोड़ रहे हैं

झल्ला

अरे भोले भापा जी वोह दिन हवा हुए जब खलील मियां फाख्ता उड़ाया करते थे हसाडा सोणा ते मन मोहणा २०१४ तक सियासी रण छोड़ कर भागने वाला नहीं है यकीं नहीं आता तो पी एम् ओ का ब्यान पड लो

“आप” पार्टी ने दिल्ली में अपनी धमक से “झाड़ू” कल्चर के अस्तित्व को खतरे में डाला

झल्ले दी झल्लियां गल्लां

आप पार्टी का चीयर लीडर

ओये झल्लेया देखा हसाडे अरविन्द केजरीवाल ने कमाल कर ही दिया|दिल्ली में एक साथ झाड़ू लगा कर बाहुबली+धनबलि+दुष्प्रचारी कांग्रेस+भाजपा+सपा+बसपा+जे डी[यूं]आदि आदि को ईमान दारी से २८ सीटों से किनारे[Trash] कर दिया |ओये अब २०१४ में देश भर के लिए होने वाले चुनावों में वैकल्पिक राजनीती खड़ी करके दिखा देंगे

झल्ला

ओहो भापा जी फिर तो बधाईयां +मुबारकां दे नाल ढेरों सारी कांग्रेचुलेशनास |लेकिन आप जी की इस जीत से बेचारे झाड़ू बनाने और लगाने वालों की शामत आ सकती है |हारी हुई पार्टियां झाड़ू संस्कृति को देश से गायब[ERASE]करने को तुल जाएंगी इसीलिए झल्ले विचारानुसार कृपया करके झाड़ू बनाने और लगाने वालों को इनके कहर से बचाने के लिए लाल किला /राम लीला ग्राउंड पर एक सांकेतिक धरना प्रदर्शन [Precautionary]कर ही डालो

चाय बेचने वाले प्रधान मंत्री के पद के हक़दार नही ओनली फ्री की साड़ी+चावल+लैपटॉप के ही लायक हैं

झल्ले दी झल्लियां गल्लां

कांग्रेस टाइप सपाई चीयर लीडर

ओये ये चाय बेचने वाला हसाङा प्रधान मंत्री कैसे बन सकता है |ओये झल्लेया क्या हसाडे दिन इतने माड़े हो गए हैं कि अब मुल्क की बाग़डोर चाय बेचने वाले नरेंदर मोदी के हाथ में आ जायेगी ?हमने तो देश तक को बेच दिय अब क्या इस चाय बेचने वाले के इशारों पर काम करना होगा?

झल्ला

अरे डबल चतुर सुजाण जी आप जी की थ्योरी के अनुसार तो चाय+चीनी +पान+पानी+पकोड़ा+बेचने वाले +झुग्गी+झोंपड़ी में रहने वाले +खोखों में रोजगार तलाशने वाले तो इलेक्शन फेस्टिवल में १००/=२००/=लेकर ओनली वोट देने के हक़दार होते हैं|या कभी कभी इन्हे मुफ्त के चावल + साड़ी+कम्बल+लैप टॉप तक भी दिया जा सकता है | सत्ता+सियासत+पर काबिज रहने का पैदायशी हक़ का तो आपजी का ही बनता है| हुकूमत करते हुए देश की अस्मत का सौदा करने का हक़ भी जाहिर है आप जी की ही विरासती मिलकियत है|

अच्छा खासा सी बी आई जैसा पला+पलाया +हरा भरा तोते को आजाद करने का मन किसका करता है

झल्ले दी झल्लियां गल्लां

प्रफुल्लित भाजपाई

ओये झल्लेया आज मजा आ गया ओये गुवाहाटी हाई कोर्ट के सी बी आई पर दिए फैसले पर सारे कांग्रेसी भम्भड़भूसे में पड़ गए हैं |देख तो आज शनिवार के अवकाश पर भी हाई कोर्ट के आदेश पर स्टे लेने अटॉर्नी जनरल वाहनवती के साथ सुप्रीम कोर्ट के चक्कर लगा रहे हैं | सी बी आई को असंवैधानिक बताये जाने पर 2जी घोटाले के आरोपी बगावत पर उतर आये हैं

झल्ला

अरे सेठ जी अच्छा खासा पला+पलाया +हरा भरा तोता आजाद करने का मन किसका करता है सीबीआई को असंवैधानिक बताने वाले गुवाहाटी हाइकोर्ट के फैसले के खिलाफ केंद्र सरकार की बौखलाहट पर बेशक आपका दिल फिलहाल बल्लियां उछल रहा है मगर आप भी सत्ता में आने पर आप भी अपने आप बगले झांकने लगोगे ||

सचिन तेदुलकर को,गलत एलबीडबल्यू आउट से,शैतानी विदाई देने के षड्यंत्र की सी बी आई से जांच करवा ली जाए

झल्ले दी झल्लियां गल्लां

नाराज क्रिकेटर

ओये झल्लेया ये क्या हो रहा है ?ओये हसाडा सोणा सचिन तेदुंलकर अभी पूरी तरह रिटायर भी नहीं हुए कि उनके खिलाफ साजिश रची जाने लग गई है| देख तो सेंचुअरी मारने में एक्सपर्ट सचिन को शेन शिलिंगफोर्ड की एक गलत बाल पर ओनली १० रन बनाने पर ही एम्पायर निजेल लॉन्ग ने पग बाधा करार देकर साजिशन पेवेलियन लौटा दिया|इसके बाद फिर से क्रांतिकारी कलकत्ता के इसी ईडन गार्डन पर ही बेचारे रोहित शर्मा को भी वीरासैमी परमॉल की गेंद पर पग बाधा आउट करके लौटा दिया गया ओये क्रिकेट के इस भगवान को ऐसे शैतानी विदाई |मैंने टी वी पर खुद देखा था ये लोग नोट आउट थे | यार ये बात कुछ हजम नहीं हो रही|

झल्ला

अच्छा! फिर तो ये घपला जांच का विषय हैं |पहले सचिन को राज्य सभा में लाये फिर कांग्रेसी छूटभइयों ने सचिन को चुनाव प्रचार के लिए मनाने की कोशिश की इस पर भी जब ये नहीं माने तो राहुल गांधी ने भी सचिन की तारीफों के पुल बाँध दिए | ये सचिन है कि कांग्रेस का चुनाव प्रचार करने को तैयार ही नहीं हो रहे|चलो हसाडा क्या है ? अभी तक सी बी आई को फायनली असंवैधानिक करार नहीं दिया जा सका है इसीलिए इस मामले की जांच को सी बी आई को सोंपने की झल्ली सिफारिश निशुल्क उछाल देते हैं|हो जायेगा दूध का दूध और पानी का पानी |नहीं तो बेचारा बोझ से तो दबेगा |

भाजपाइयों की बेशर्मी तो देखो हसाड़े सोणे राहुल गाँधी जी को शहजादा कह कर सरे आम उनका मजाक उड़ा रहे हैं

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

कांग्रेसी चीयर लीडर

ओये झल्लेया इन भाजपाइयों की बेशर्मी तो देख हसाड़े सोणे राहुल गाँधी जी को शहजादा कह कर सरे आम उनका मजाक उड़ा रहे हैं इन्हें मना करने के बावजूद भी ये लगातार सर पर चड जा रहे हैं ओये अगर हम अपनी पे आ गए तो इन सबकी बैंड बजा देंगे

झल्ला

अरे अरे चतुर सुजाण जी आप बजा फरमाते हो ये भाजपाई तो बुजुर्गों की कहीहुई तमाम वैल्युएबल बातों को भी अलमारी में रख कर चाबी गायब किये बैठे हैं भला उनसे कोई पूछे के आदमी जो है उसे वोही कभी नहीं कहना चाहिए क्यों ठीक हैं न ठीक ?

नरेन्द्र मोदी के डर का कोहरा छांटने का मौलाना महमूद मदनी प्रयास काबिले गौर +इबरत+और लाजमी तौर पर काबिले तामीर है

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

भाजपाई चीयर लीडर

ओये झल्लेया अब तो मानता है न कि हसाड़े वड्डे वढेरे लाल कृषण अडवाणी जी जो कहते हैं ठीक ही कहते हैं |ओये अडवाणी जी का कहना है कि कांग्रेस ने छद्म धर्म निरपेक्षता का चौला ही पहना हुआ है वास्तव में सबसे बड़ी सम्प्रदाइक पार्टी तो यही कांग्रेस ही है ओये अडवाणी जी की बात को कोई ध्यान नहीं दे रह था अब देख मुसलमानों के बड़े नेता मौलाना महमूद मदनी ने भी इसकी पुष्ठी कर दी है|ओये जनाब मदनी साहब ने बड़े ही अदब से फरमाया है कि हसाड़े नरेंदर मोदी का डर दिखा कर मुसलमानों की वोट हासिल करने का कोई दुस्स्साह न करे |मुस्लमान किसी से भी अब डरने वाले नहीं हैं|यदि कांग्रेस मुसलमानों के वोट चाहती है तो उसे मुसलमानों को डराने के बजाय उनकी भलाई के काम करने ही होंगे | ओये इससे तो कांग्रेसियों के साथ ही उनके सहयोगी एन सी पी और जे डी [यूं ] वालों का भी पायजामा ढीला हो गया | ओये अब तो मुसलमान भाई लोग मोदी से डर कर कांग्रेस की झोली में एक मुश्त गिरने से रहे

झल्ला

हाँ सेठ जी बेशक कुदरती वातावरण में कोहरा छाने की बहार आई है लेकिन मौलाना मदनी ने जो मुस्लिम समाज पर छाए सियासी कोहरे को छांटने का प्रयास किया है यह अपने आप में अहम् है +काबिले गौर है +काबिले इबरत है + और लाजमी तौर पर काबिले तामीर है|

तीन सांसदों वाले रालोद को पाला बदलने से रोकने के लिए सुप्रीमो अजित सिंह को जेट+एतिहाद की सैर कराना जरुरी है

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

एक कांग्रेसी चीयर लीडर

ओये झल्लेया मुबारकां ओये देश में सबसे बड़े विदेशी निवेशक एतिहाद के लिए जेट एयरवेज के २४% शेयर्स खरीदने का रास्ता साफ़ हो गया है| ओये अब २०५७ करोड़ रुपयों की विदेशी मुद्रा का भंडार आ जाएगा| इकनोमिक अफेयर्स की कैबिनेट समिति [ Cabinet Committee on Economic Affairs (CCEA) ]की इस अप्रोवल से सिंगापोर +एयर एशिया वालों के लिए भी रास्ता साफ़ हो जाएगा| अमेरिकन डालर के मुकाबिले हसाड़े रुपये की कीमत सुधर जायेगी| सुब्रामनियम स्वामी+ दिनेश त्रिवेदी + जसवंत सिंह+गुरुदास गुप्ता जैसे धुरंधरों के ऐतराज धरे के धरे रह गए| ओये हमारे यहाँ देर हैं अंधेर नहीं है|

झल्ला

अरे मेरे चतुर सुजाण जी दरअसल रात घाट रही है इसीलिए खैरात बंट रही है |चुनावी मोड़ में आने से एक एक सीट की कीमत बड जाती है अब देख आप जी ने चौधरी अजित सिंह के किसी भी लाभकारी प्रपोजल को स्वीकार नहीं किया [१]जाट आरक्षण[२] हरित प्रदेश+[३]उत्तरप्रदेश मेंगवर्नर राज्य [४] मेरठ में है कोर्ट की बेंच जैसे महत्वपूर्ण मुद्दों को ठन्डे बसते से निकाला नहीं गया यहाँ तक कि जेट एतिहाद सौदे को भी रोक दिया गया ऐसे में तीन सांसदों वाले रालोद के सुप्रीमो अजित सिंह को पाला बदलने से रोकने के लिए जेट एतिहाद की सैर कराना जरुरी है|

बकवास विधेयक को फाड़ने का क्रेडिट तो जनता ही देगी इसीलिए अपने दागी सांसदों को पार्टी से कब तक बाहर निकालोगे?

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

कांग्रेसी चीयर लीडर

ओये झल्लेया देख तो ये हसाड़े साथ क्या जुल्म हो रहा है?ओये हमने इतनी मुश्किल से जनप्रतिनिधित्व अधिनियम[दागी सांसदों से सम्बंधित] को फाड़ कर नरेंदर मोदी के सामने राहुल गाँधी को निकाला |अपनी सरकार की परवाह किये बगैर हमने लोक तंत्र की रक्षा के लिए इस बकवास विधेयक को वापिस ले लिया लेकिन यार ये भाजपाई[BJP] +सपाई[SP ]+राक्पई [ NCP ]+के साथ साथ अब नेशनल नेशनल कांफ्रेंस वाले भी क्रेडिट लेने के लिए तिकड़म लगाने लग गए हैं|

झल्ला

ओ मेरे चतुर सुजाण जी असली क्रेडिट तो चुनावों में जनता ही देगी|इसीलिए अपनी बातों पर कायम रहते हुए कितने दागी सांसदों को बाहर का रास्ता दिखाओगे पहले यह बताओ