Ad

Tag: LoksabhaElections

“आप” ने दिल्ली में 7वें लोकसभा प्रत्याशी के नाम की घोषणा भी कर ही दी

[नई दिल्ली]आम आदमी पार्टी ने दिल्ली में सातवें लोकसभा प्रत्याशी के नाम की घोषणा भी कर ही दी ।
पश्चिमी दिल्ली से बलबीर सिंह जाखड़ होंगे “आप “के लोकसभा प्रत्याशी
रविवार को एक प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए दिल्ली प्रदेश संयोजक एवं कैबिनेट मंत्री गोपाल राय ने बलबीर सिंह जाखड़ को पश्चिमी लोकसभा सीट से अपना लोकसभा प्रत्याशी घोषित किया है।
बलवीर सिंह जाखड़ लोकपाल आंदोलन के समय से ही पार्टी के साथ जुड़े रहे हैं। मुख्य तौर पर अधिवक्ता राजनीति में सक्रिय रहे हैं। बलबीर सिंह जी बी ए एलएलबी पास है।
पार्टी के सातों लोकसभा प्रत्याशीयों की सूची निम्न प्रकार से है….
-चांदनी चौक लोकसभा-पंकज गुप्ता
-पूर्वी दिल्ली लोकसभा-आतिशी
-उत्तर-पूर्वी लोकसभा-दिलीप पांडे
-नई दिल्ली लोकसभा-बृजेश गोयल
-दक्षिणी दिल्ली लोकसभा-राघव चड्ढा
-उत्तर-पश्चिम लोकसभा-गुगन सिंह
-पश्चिमी दिल्ली लोकसभा- बलबीर सिंह जाखड़

पंजाब में सर्दी कम नहीं हो रही मगर कांग्रेसियों ने चंडीगढ़ में राजनितिक तापमान बढ़ा दिया

[चंडीगढ़,पंजाब] पंजाब में सर्दी कम होने का नाम नहीं ले रही लेकिन राजनीती का तापमान लगातार बढ़ता जा रहा है|इसका प्रमाण चंडीगढ़ में देखा जा सकता है| १७ वीं लोक सभा के लिए इस धनाढ्य यूनियन टेरिटरी से अपना भाग्य आजमाने के लिए कांग्रेस के दिग्गज ताल थोक रहे हैं | अभी तक कांग्रेस के पूर्व केंद्रीय मंत्री पवन बंसल+कांग्रेस के ही पूर्व केंद्रीय मंत्री मनीष तिवारी के अलावा आश्चर्यजनक रूप से कांग्रेस में अभी अभी आये डॉ नवजोत कौर सिद्धू ने भी कांग्रेस से दावे दारी पेश कर दी है|इस सीट पर फिलहाल भाजपा की किरण खेर काबिज हैं|कांग्रेस के लिए इन तीनों में से उपयुक्त चयन टेडी खीर ही रहेगी |पवन बंसल बूढ़े हो चुके हैं और इनपर भ्र्ष्टाचार के आरोप भी लगे हैं | चंडीगढ़ विशेष में इनका कोई विशेष योगदान भी स्मरणीय नहीं हैं | इसीलिए नवजोत कौर सिद्धू को प्राथमिकता देने के लिए बंसल को काटने में न्रेतत्व कोई देर नहीं लगाएगा लेकिन मनीष तिवारी ने अपनी दावेदारी छोड़ कर इस दौड़ को रोचक बना दिया है|| अब देखना है के राष्ट्रीय अध्यक्ष अपनी पार्टी के समर्पित +अनुभवी को प्राथमिकता देते हैं या फिर अभी अभी पार्टी में आये और इनकी प्रशंसा में जुटे सिद्धू परिवार को टिकट नवाजते हैं |
जीवन के सात दशक पूर्ण कर चुके पवन बंसल दसवीं+ तेरहवीं +चौदहवीं और पन्द्रवीं लोकसभा में प्रतिनिधित्व कर चुके हैं | सोलहवीं लोक सभा के लिए चंडीगढ़ में किरण खेर के हाथों हार माँ मुंह देख चुके हैं|डॉ मन मोहन सिंह के मंत्रीपरिषद में ७ माह के लिए रेलवे मंत्रालय संभाल चुके हैं| इसी काल में बंसल और इनके भतीजे पर करप्शन के आरोप लगे लेकिन कांग्रेस राज में उन्हने साबित नहीं किया जा सका|
५३ वर्षीय मनीष तिवारी ने भी अपनी पार्टी का यहां से टिकट माँगा है| तिवारी के परिवार में राजनीतिज्ञों का पुराना इतिहास है | साम्प्रदाइक सौहार्द की भी मिसाल है| दादके ब्राह्मण+नानके सिख+ पत्नी मुस्लिम हैं|
दादके नानके राजनीती में रहे हैं|इनके परिवार ने आतंकवाद के दंश झेले हैं| १९८४ में चंडीगढ़ में डॉ वी ऍन तिवारी[पिता] को आतंकवादियों ने गोली मार कार शहीद किया था |माता चंडीगढ़ में डेंटिस्ट हैं और पत्नी मुस्लिम समाज से हैं| केंद्र में महत्वपूर्ण मंत्रालय संभाल चुके हैं लेकिन अन्ना हजारे की आलोचना करके आलोचकों के निशाने पर रहे हैं |इन्होने लुधियाना से अकाली लीडर ग़ालिब को लगभग एक लाख वोटों के अंतर् से हराया था |
डॉ नवजोत कौर सिद्धू क्रिकेटर से कॉमेडियन और फिर पॉलिटिशियन बने नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी हैं और अमृतसर से भाजपा के टिकट पर विधायक बन चुकी हैं|इन्होने स्वास्थ्य विभाग में सेवायें देते हुए चिकित्स्कों के स्टिंग ऑपरेशन किये थे|पंजाब में भाजपा और सहयोगी अकाली दल से हमेशा ३६ का आंकड़ा रहा है|वर्तमान में सिद्धू का कांग्रेस के प्रथम परिवार से नजदीकियां बढ़ी हैं|

चंडीगढ़ की सीट के लिए तो कांग्रेसी जमालों का तूतक तूतक तूतिया शुरू भी हो गया

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

पंजाबी कांग्रेसी

औए झल्लेया !बल्ले बल्ले हो गई औए!! प्रियंका गाँधी के मैदान में आने से हसाडी कांग्रेस में नई जान आ गई है | अब हमने २०१९ के चुनावों में पंजाब की सभी १३ सीटों को उनकी झोली में डाल देना है|

झल्ला

ये तो ठीक है अतिउत्साहित जी!लेकिन एक गल दस्सो ?आपजी के कैप्टेन साहिब पंजाब कांग्रेस में प्रताप सिंह बाजवा+सुनील जाखड़ + और खुदे के धड़ों को एक रख पाएंगे? वैसे चंडीगढ़ की सीट के लिए तो जमालों का तूतक तूतिया शुरू भी हो गया |

रालोद ने लोक सभा में अमरोहा सीट के लिए तुरुप के आठवें कार्ड के रूप में राकेश टिकैत पर दावं लगाया

चौधरी अजित सिंह ने अपनी तुरुप का आठवां कार्ड खेलते हुए राकेश टिकैत को अमरोहा से टिकट दिया|राकेश टिकैत ने प्रदेश के गन्ना किसान और टोल प्लाजा को लेकर बड़े आंदोलन किये हैं|
भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत अमरोहा से रालोद के टिकट पर लोक सभा का इलेक्शन लड़ेंगे |

Rakesh Tikait Kisan Union Spokesperson

Rakesh Tikait Kisan Union Spokesperson

राकेश टिकैत आज राष्ट्रीय लोकदल में शामिल हो गए। रालोद अध्यक्ष चौ. अजित सिंह जी ने इसकी विधिवत घोषणा की और अमरोहा लोकसभा के लिए राष्ट्रीय लोकदल की कमान सौंपी| श्री टिकैत भाकियू के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष स्व. चौ. महेन्द्र सिंह[बाबा] टिकैत के पुत्र हैं।
श्री राकेश टिकैत ने कहा है कि रालोद और किसान यूनियन के मुद्दे एक ही हैं। राजनीतिक ताकत के बिना किसानों की लड़ाई नहीं लड़ी जा सकती। हमें चौ. चरण सिंह जी की सोच को आगे बढ़ाना है। उन्होंने कहा है कि हम चौ. अजित सिंह जी के नेतृत्व में किसानों की लड़ाई जारी रखेंगे और उनके हाथों को मजबूत करेंगे।गौरतलब है कि अमरोहा से रालोद के टिकट पर २००९ में चुनाव जीते देवेन्द्र नागपाल ने रालोद छोड़ कर सत्ता रुड सपा ज्वाइन करके चुनाव नहीं लड़ने का एलान किया हुआ है ऐसे में यहाँ कडा मुकाबिला होने के आसार हैं पिछले दिनों यहाँ ग्लैमर कार्ड खेले जाने की ख़बरें आ रही थी लेकिन मुकाबिला कड़ा देख अब राकेश टिकैत को मैदान में उतारा गया है| इस नएसमीकरण से बिजनौर के सांसद संजय चौहान की उम्मीदें समाप्त हो गई हैं

केजरीवाल की बिन्नी ने की किरकिरी,”आप”को कांग्रेस की फ्रेंचाईजी बताया तो “आप” ने भी अपने विधायक को भाजपा का खिलौना बताने में देर नहीं की

केजरीवाल की किरकिरी करने के लिए विधायक विनोद कुमार बिन्नी ने “आप” को कांग्रेस की फ्रेंचाइजी साबित करने में कोई कसर नही छोड़ी जबकि “आप” ने भी जवाबी प्रेस कांफ्रेंस करके “बिन्नी” को भाजपा का खिलौना बता कर अपना बचाव किया|रोचक रूप से “आप” पार्टी के प्रमुख राष्ट्रीय प्रवक्ता योगेंदर यादव ने अपने इस बागी विधायक को पार्टी फोरम में मुद्दे को नहीं उठाने के लिए अनुशासनहीनता का आरोप तो लगाया लेकिन इसके साथ ही इस मुद्दे को स्व्यम भी प्रेस कांफ्रेंस में ले आये|इससे पूर्व भी बिन्नी असंतोष व्यक्त कर चुके हैं लेकिन उस समय तक सरकार का गठन नहीं हुआ था सम्भवत इसीलिए योगेंदर यादव ने प्रेस में बिन्नी का बचाव करते हुए पार्टी को संकट से उभारा था लेकिन इस समय ऐसा कोई प्रयास होता नहीं दिख रहा यहाँ तक कि अरविन्द केजरीवाल ने भी बीते दिन पार्टी फोरम में बिन्नी को बुलाने के बजाय प्रेस के समक्ष ही बिन्नी पर लोभी और अवसर वादी होने के आरोप लगा कर अपना रुख स्प्ष्ट कर दिया था
इसके अलावा आशुतोष ने भी समझौते के बजाय कड़ा रुख ही जाहिर किया था आज योगेन्द्र यादव ने भी सार्वजनिक रूप से अपने ही विधायक को भाजपा का खिलौना बता दिया और अनुशासनात्मक कार्यवाही का संकेत दिया है इस सारे घटना क्रम से लगता है पार्टी ने विनोद कुमार बिन्नी को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाने का मन बना ही लिया है |इसके अलावा आप पार्टी की नई सदस्या मल्लिका साराभाई ने जिस तरह राहुल गांधी के खिलाफ चुनाव लड़ने की घोषणा कर चुके डॉ कुमार विश्वास की आलोचना शुरू की है उससे लगता है कि आप “पार्टी” वर्त्तमान में दो विचारधाराओं में बंटी हुई है | ये विचारधाराएं भाजपा और कांग्रेस की है अभी तक इन विचारधाराओं से समान दूरी बनाये रखने में समर्थ दिखी यह नई पार्टी लोक सभा के चुनावों में तीसरे विकप के रूप में उतरने से पूर्व इस विकट समस्या और इससे उपज रही नकारात्मक पब्लिसिटी से कहाँ तक उबर पायेगी यह लोक सभा में उनकी सफलता को भी प्रभावित करेगी |

आम आदमी पार्टी ने १६ वी लोक सभा में भी “झाड़ू” ले जाने का एलान किया

[नई दिल्ली]आम आदमी पार्टी (आप) ने १६ वी लोक सभा में भी झाड़ू लगाने का एलान किया है|
दिल्ली विधानसभा चुनावों में अप्रत्याशित और ऐतिहासिक जीत दर्ज करने के बाद अब आम आदमी पार्टी (आप) ने लोकसभा के चुनावी समर में उतरने का एलान कर दिया है।यधपि अभी तक यह खुलासा नहीं किया गया है कि कितनी सीट या राज्यों में यह प्रयोग किया जायेगा लेकिन इस घोषणा से कांग्रेस और भाजपा पर दबाब पड़ना स्वाभाविक हैऔर इस परिपेक्ष्य में दिल्ली राज्य में “आप ” की सरकार परइन पार्टियों का दबाब कम हो सकेगा |
26 दिसंबर [आज] को एक प्रेस कांफ्रेंस में पार्टी ने इसकी घोषणा की।इसकी रूप रेखा तैयार करने के लिए संजय सिंह + पंकज गुप्ता को जिम्मेदारी सोंपी गई है “आप” के वरिष्ठ योगेंद्र यादव ने कहा ” हम ऐसे ईमानदार लोगों को खोज रहे हैं जो पार्टी का हिस्सा बन सकें। हम दूसरी पार्टियों और संगठनों के ईमानदार लोगों को भी मौका देंगे। हमने लोकसभा चुनाव में लड़ने के इच्छुक लोगों के लिए एक फॉर्म तैयार किया है। इसमें सारी जानकारी भरकर देना होगा। साथ ही प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र से 100 लोगों के हस्ताक्षर भी करवाने होंगे। यह फॉर्म आम आदमी पार्टी की वेबसाइट (www.aamaadmiparty.org) से डाउनलोड किया जा सकता है। यह फॉर्म हिंदी और अंग्रेजी दोनों में है। इसे भरकर ई-मेल भी किया जा सकता है।”
श्री यादव ने कहा, हम कई राज्यों के 309 जिलों में काम कर रहे हैं। हालांकि हम अभी यह नहीं बता सकते कि हम कितने राज्यों में चुनाव लड़ेंगे। हम उम्मीद करते हैं कि ईमानदार राजनीति की दिशा में काम करने वाले लोग आगे आएंगे।