Ad

Tag: Miyan Nawaz Sharif

काश भारत के “लालू” भी मियाँ नवाज से कुछ सीख सकते

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

नवाज शरीफ का पाकिस्तानी चेयर लीडर

औए झल्लेया ! देखा हसाड़े नेताओं का जिगरा ? औए हसाड़े
68 वर्षीय मियाँ नवाज शरीफ का गुर्दा खराब होने की कगार पर हैडॉक्टरों की टीम ने उन्हें अस्पताल में शिफ्ट करने की सलाह दी है लेकिन मियाँ ने अस्पताल के बजाय जेल में ही इलाज करवाए जाने को कह दिया है

झल्ला

काश भारत के “लालू” भी मियाँ नवाज से कुछ सीख सकते

Narendra Modi Again Shows Sharafat,Extends Best Wishes to Nawaz

[New Delhi] Modi Again Shows Sharafat ,Extends Best Wishes to His Pakistani Counterpart Sharif for his Heart Surgery
Prime Minister Of India Narendra Modi today extended best wishes to his Pakistani counterpart Nawaz Sharif for his open-heart surgey to be held in UK next Tuesday.
PM Modi Tweeted
“My best wishes to PM Nawaz Sharif Sahab for his open heart surgery on Tuesday. And for his speedy recovery & good health,”
As per Defence Minister Khawaja Asif ,Sharif will undergo an open-heart surgery on Tuesday
Asif, also a confidante of 66-year-old Sharif, had said doctors have advised the prime minister to undergo an open-heart surgery, following which he will be staying in the hospital for a week.
Sharif’s daughter, Maryam Nawaz had confirmed on twitter that her father will undergo an open-heart surgery on Tuesday.
file photo
PM Of India With His Pakistani Counterpart

पाकिस्तान की गोलियों के जवाब में भारत ने पोलियो उन्मूलन में मानवतावादी सहयोग की पेशकश भेजी

[नई दिल्ली]पाकिस्तान की गोलियों के जवाब में भारत ने मानववादी उत्तर में पोलियो उन्मूलन में सहयोग की पेशकश भेजी | भारत को पोलियो मुक्त राष्ट्र घोषित किया जा चुका है|
केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने पोलियो उन्मूलन में पाकिस्तान को सहयोग की पेशकश की है
उन्होंने विश्व पोलियो दिवस पर सभी पक्षों से आत्मसंतुष्ट हुए बगैर पोलियो के खिलाफ जंग जारी रखने का आह्वाहन किया |
केन्द्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने पाकिस्तान में पोलियो उन्मूलन में मदद के लिए वहां की सरकार को पूर्ण सहयोग देने की पेशकश की है।
विश्वभर में आज पोलियो के जितने भी मामले सामने आ रहे हैं, उनमें से 85 % का वास्ता पाकिस्तान से ही है। यह पाकिस्तान के पड़ोसी देश भारत के लिए चिंता का विषय है।
विश्व पोलियो दिवस पर डॉ. हर्षवर्धन ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री श्री नवाज शरीफ की उस हालिया घोषणा का स्वागत किया जिसमें उन्होंने एक ‘राष्ट्रीय आपात कार्य योजना-2014’ पर अमल करने की बात कही है। इस कार्यक्रम पर आने वाले समूचे खर्च का वहन सरकार वर्ष 2018 तक करेगी।
मंत्री ने पड़ौसी मुल्क की ,इस योजना को सटीक बताया |
पोलियो के खिलाफ जंग के लिए भारत के सामाजिक समूहों की मदद लेने के कदम की सभी अंतर्राष्ट्रीय संगठनों ने सराहना की है, जिनमें विश्व स्वास्थ्य संगठन, यूनिसेफ, रोटरी इंटरनेशनल और बीमारी नियंत्रण के लिए अमेरिकी केन्द्र भी शामिल हैं। पोलियो के खिलाफ जंग के लिए इस तरह की पहल के बारे में सबसे पहले वर्ष 1994 में दिल्ली में कल्पना की गई थी, जिस दौरान डॉ. हर्षवर्धन इस राज्य के स्वास्थ्य मंत्री थे।
डॉ. हर्षवर्धन ने इस ओर ध्यान दिलाया कि यह विशेष मॉडल अपनाने से पाकिस्तान को भी पोलियो उन्मूलन अभियान में अच्छी कामयाबी मिलेगी। जब तक समाज के सभी समूहों खास कर पाकिस्तान के मौलवियों को इस मुहिम में शामिल नहीं किया जाएगा, तब तक पोलियो का जड़ से उन्मूलन करने के लक्ष्य को पाना संभव नहीं हो पाएगा।
‘ पोलियो उन्मूलन में अपने उल्लेखनीय कार्य के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ), रोटरी फाउंडेशन, लायंस इंटरनेशनल, भारतीय चिकित्सा संघ और अनेक अन्य राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय संस्थानों से पुरस्कार प्राप्त कर चुके डॉ. हर्षवर्धन ने कहा, ’विश्व पोलियो दिवस इसलिए मनाया जाता है क्योंकि कोई भी बीमारी राष्ट्रीय सीमाओं का ख्याल नहीं रखती है। विश्व स्तर पर वर्ष 1998 से ही तकरीबन 40 देशों को कहर ढाने वाले पोलियो वायरस से एक या उससे ज्यादा मर्तबा जूझना पड़ा है, जबकि ये मुल्क पोलियो मुक्त घोषित किये जा चुके थे।‘
जहां तक पाकिस्तान और अफगानिस्तान का सवाल है, वहां से पोलियो महज एक बस यात्रा जितनी दूर है। डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि इसके लिए सीमाओं पर अनेक तरह की व्यवस्था की गई है। मसलन, पाकिस्तान से यहां आने-जाने वाले यात्रियों को टीका लगवाने की सुविधाएं मुहैया करायी गई हैं। इसके अलावा, विशेष टीमों को तैनात कर आपात स्थिति में बचाव के लिए भी योजनाएं बनाई गई हैं।
फोटो कैप्शन
The Union Minister for Health and Family Welfare, Dr. Harsh Vardhan administering the polio vaccine drops to children under-five years to mark the World Polio Day, in New Delhi on October 24, 2014.

नरेन्द्र मोदी को मिली रिकार्ड जीत पर विदेशों से भी बधाई सन्देश और निमंत्रण आने लग गए हैं

१६ वी लोक सभा के लिए भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेन्द्र मोदी को पूर्ण बहुमत से रिकार्ड जीत पर विदेशों से भी बधाई सन्देश और निमंत्रण आने लग गए हैं| अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा+पाकिस्तान के नवाज शरीफ के साथ+बांग्ला देश की पी एम शेख हसीना के अलावा+चीन+श्रीलंका ने भी नरेंद्र मोदी को जबरदस्त जीत की बधाई भेजी हैं |
बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने इस जीत पर नरेंद्र मोदी को आज बधाई दी और उन्हें बांग्ला देश आने को इस आग्रह के साथ आमंत्रित किया कि वह अपनी राजकीय विदेशी यात्रा का आगाज बांग्लादेश से करें।
श्रीलंका के राष्ट्रपति महिंदा राजपक्षे ने नरेन्द्र मोदी को बधाई दी और उन्हें राजकीय दौरे पर आमंत्रित किया।
राष्ट्रपति के प्रवक्ता मोहन समरनायके के हवाले से “भाषा” ने बताया कि राजपक्षे ने मोदी को उनकी शानदार जीत के लिए फोन कर बधाई दी और उन्हें श्रीलंका के दौरे के लिए आमंत्रित किया। श्रीलंका भाजपा की जीत का स्वागत कर रहा है क्योंकि पिछले कुछ सालों में राजपक्षे सरकार के कांग्रेस नीत संप्रग सरकार के साथ संबंध बिगड़ गए थे। पाकिस्तान के वर्तमान सुप्रीमो नवाज शरीफ और अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने भी बधाई दी है प्रेजिडेंट ओबामा ने बधाई सन्देश के साथ टेलीफोन पर ही वाशिंगटन आने का निमंत्रण भी दिया है
.गौरतलब है कि भाजपा के पी एम पद के उम्मेदवार नरेन्द्र मोदी ने लोकसभा चुनाव में एन डी ऐ को जहां 336 सीटें दिलवायी वहीं भाजपा को भी पहली बार अपने बूते पर शुद्ध रूप से पूर्ण बहुमत मिल गया है जिसके फलस्वरूप कांग्रेस का अभी तक का सबसे निराशाजनक प्रदर्शन दर्ज हुआ है| कांग्रेस विरोधी लहर पर सवार होते हुए गुजरात के 63 वर्षीय मुख्यमंत्री ने अपनी पार्टी को भारत के विभिन्न छेत्रोँ में मजबूत स्थिति में ला खड़ा है
Source
BJP
Bureau

B J P Again Criticized weak kneed policy of Center against terrorism and Opposed Talk Diplomacy With Pakistan

B J P Again Criticized weak kneed policy of Center against terrorism and Opposed Talk Diplomacy With Pakistan Bhartiya Janata Party[ B J P ]strongly condemned the terrorist attack launched today on the police and security forces in Jammu region. Criticized weak kneed policy of Center against terrorism and demanded that meeting of the Prime Minister Dr. Manmohan Singh with his Pakistani counterpart at New York should have been called off.
B J P President Raj Nath Singh said “These terror strikes on Indian soil are carried out by anti- India forces operating from Pakistan. Since the incumbent UPA government has been pursuing a weak kneed policy against terrorism for the past many years, the terrorists have been emboldened to strike anywhere in India, almost at will.
Contrary to the Prime Minister Dr. Manmohan Singh’s belief there is no signs of improvement on the ground in Pakistan as the ISI and Pakistan army continue to play its active role in destabilising India’s internal and external security.
Let the newly elected government led by Miyan Nawaz Sharif be given some time to prepare the ground for talks by taking strong action anti- India forces operating from Pakistan. Therefore the scheduled meeting of the Prime Minister Dr. Manmohan Singh with his Pakistani counterpart at New York later this week should have been immediately be called off.
As per media reports the Prime Minister has shown no indication to cancel his appointment with Pakistan PM. Ever since the UPA government has come to power it has adopted a compromising Pakistan policy. Be it ‘ Havana Declaration’ or the ‘Sharm al Sheikh’ fiasco the UPA govt has considerably weakened India’s position in Indo-Pak bilateral relations.
When the NDA was in power we had engaged Pakistan from a position of strength and achieved the ‘Islamabad Declaration’ in which Pakistan promised to us that terrorist activities would not be carried out from Pakistani soil. The UPA government has lost that diplomatic edge. Pakistan should be pursued compelled to implement ‘ Islamabad Declaration’ signed on January 6, 2004 before initiating any meaningful dialogue.
Pursuing a spineless diplomacy at this juncture will present India as a ‘soft state’ which could be pushed around by any big or small country. The Prime Minister and the UPA government seems to be in a hurry to initiate dialogue with Pakistan. It also gives an impression as if he is motivated by certain conservative political motive instead of safeguarding our national interest. The BJP believes that there should be no talks with Pakistan unless the environment is conducive for dialogue.