Ad

Tag: MPgovt

नोटबंदी पश्चात् आये नए नोटों में चिप की बात सत्य तो नहीं हैं:आईटी के छापे

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

भाजपाई चेयर लीडर

औए झल्लेया ! देखा हसाड़े मोदी जी का कमाल !! ना खाएंगे और ना ही खाने देंगे!!!
कांग्रेस के मध्य प्रदेश में सी एम कमल नाथ के पेट में हाथडॉल कर निकाल लिए करोड़ों अवैध रु| इस पर भी इनके राहुल गाँधी काळा धन पर चर्चा के लिए चुनौती देते फिर रहे हैं

झल्ला

मेरे चतुर सेठ जी ! वाकई इनकम टैक्स के छापे सटीक जगहों पर पढ़े हैं | और छापेमारों ने हाथोंहाथ अपनी उपलब्धि को मीडिया में दिखा भी दिया लेकिन एक बात दिमाग का दही किये जा रही है के कहीं नोट बंदी के बाद आये नए नोटों में चिप की बात सत्य तो नहीं हैं !

मायावती ने कांग्रेस की एमपी और भाजपाई यूपी की सरकारों को बता डाला “आतंकी सरकार “

[लखनऊ,यूपी]मायावती ने कांग्रेसी कमलनाथ और भाजपाई योगी सरकार दोनों की ही कर दी आलोचना
सपा की नई नई वेलेंटाइन बनी बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की राष्ट्रीय अध्यक्ष सुश्री मायावती ने मध्य प्रदेश की कांग्रेस सरकार द्वारा गोहत्या के शक में अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों पर कथित ‘बर्बर’ कार्रवाई करने और उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में 14 छात्रों पर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किये जाने की निंदा की है।
मायावती ने ट्वीट किया ‘मध्य प्रदेश में कांग्रेस की सरकार ने पूर्ववर्ती भाजपा की तरह गोहत्या के संदेह में मुसलमानों पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) के तहत बर्बर कार्रवाई की।’
दोनों सरकारी आतंक है और अति—निन्दनीय हैं। लोग फैसला करें कि दोनों सरकारों में क्या अंतर है?’
मालूम हो कि मध्य प्रदेश सरकार ने गोहत्या के संदेह के आधार पर अल्पसंख्यक समुदाय के कुछ लोगों के खिलाफ रासुका की कार्यवाही की है। वहीं, अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में कल 14 छात्रों पर देश विरोधी नारे लगाने के आरोप में देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किया गया है।

एमपी में किसान की आत्महत्या ने राज्य में कर्ज माफ़ी के दावे को खोखला साबित किया

[गुना,मध्यप्रदेश]एमपी में किसान की आत्महत्या ने राज्य में कर्ज माफ़ी के दावे को खोखला साबित किया
प्राप्त जानकारी के अनुसार किसान ने कर्ज से परेशां होकर यह घातक कदम उठाया|
बमौरी क्षेत्र के मंडीखेडा गांव के किसान नागजी भील ने जमीन गिरवी रख कर साहूकार से 40,000 रूपये का कर्ज लिया था। साहूकार ने उससे उसकी जमीन के कागजात वापस करने के एवज में उससे ब्याज सहित 70,000 रूपये की मांग कर रहा था।
कर्ज वापस न करने से वह परेशान था और शुक्रवार को उसने कीटनाशक खा लिया, जिससे उसकी मौत हो गई।
मालूम हो के प्रदेश में नव निर्वाचित सरकार द्वारा किसानों का कर्ज माफ़ किये जाने के दावे किये जा रहे हैं |

मप्र में पत्रकारों की कैशलेस उपचार सीमा होगी रू ४ लाख

[भोपाल,म प्र]मप्र में पत्रकारों की कैशलेस उपचार सीमा होगी रू ४ लाख
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पत्रकारों के लिए स्वास्थ्य एवं दुर्घटना समूह बीमा योजना में कैशलेस इलाज की व्यवस्था को बढ़ाकर चार लाख रूपये करने की घोषणा की है। अभी यह सीमा दो लाख रूपये की है।
इस योजना में प्रीमियम का 25 प्रतिशत अंश बीमा करवाने वाले पत्रकार को देना होता है, जबकि शेष 75 प्रतिशत अंश मध्यप्रदेश सरकार देती है।
मध्यप्रदेश सरकार द्वारा आयोजित पत्रकारिता सम्मान समारोह को कल रात यहां संबोधित करते हुए चौहान ने पत्रकारों की मृत्यु होने पर आर्थिक सहायता देने की अधिकतम राशि को भी एक लाख से बढ़ाकर चार लाख रूपये करने एवं पत्रकारों के कैमरे क्षतिग्रस्त होने पर आर्थिक सहायता राशि 25,000 से बढ़ाकर 50,000 रूपये करने की भी घोषणा की।
इसके अलावा, उन्होंने यह भी घोषणा की कि पत्रकारों को 25 लाख रूपये तक के आवास ऋण पर पाँच प्रतिशत ब्याज अनुदान दिया जाएगा।
वर्ष 2015 एवं 2016 के लिये पत्रकारिता सम्मान से 30 पत्रकारों को अलंकृत भी किया गया
जिनमें
नलिनी सिंह,
रामबहादुर राय,
रमेश पतंगे एवं
अनिल दुबे शामिल हैं।